बराह

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

बराह ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰] दे॰ 'बराह' । उ॰—सेसनाग और राजा बासुक बराह मुछित होइ आई ।—कबीर॰ श॰, भा॰ २, पृ॰ १२ ।

बराह ^२ क्रि॰ वि॰ [फा॰]

१. के तौर पर । जैसे, बराह मेहर- बानी ।

२. जरिए से । द्वारा ।