बल्कि

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

बल्कि अव्य॰ [फा॰]

१. अन्यथा । इसके विरुद्ध । प्रत्युत । जैसे,—उसे मैंने नहीं उभारा बल्कि मैंने तो बहुत रोका ।

२. ऐसा न होकर ऐसा हो तो और अच्छा । बेहतर है । जैसे,—बल्कि तुम्हीं चले जाओ, यह सब बखेड़ा ही दूर हो जाय ।