बाजू

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

बाजू संज्ञा पुं॰ [फ़ा॰ बाजू]

१. भुजा । बाहु । बाँह । विशेष— दे॰ 'बाँह' । उ॰—तब कुरता बाजू तन खोला । पहिरायों सो बसन अमोला ।—हिंदी प्रेमगाथा॰, पृ॰ २४१ । यौ॰—बाजूबद ।

२. बाँह पर पहनने का बाजूबंद नाम का गहना । विशेष—दे॰ 'बाजूबंद' ।

३. सेना का किसी ओर का एक पक्ष ।

४. वह जो हर काम में बराबर साथ रहे और सहायता दे । जैसे, भाई, मित्र आदि । (बोलचाल) ।

५. एक प्रकार का गोदना जो बाँह पर गादा जाता है और बाजूबंद के आकार का होता है ।

६. पक्षी का डैना ।