बादशाह

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

बादशाह संज्ञा पुं॰ [फा॰ तुल॰ सं॰ पाटशासक]

१. तख्त का मालिक । राजसिंहासन पर बैठनेवाला । राजा । शासक ।

२. सबसे श्रेष्ठ पुरुष । सरदार । सबसे बड़ा आदमी । जैसे, झूठीं के बादशाह ।

३. स्वतंत्र । मनमाना । करनेवाला जैसे, तबीयत का बादशाह ।

४. शतरंज का एक मुहारा जो किस्त लगने के पहले केवल एक बार घोड़े की चाल चलता है और दौड़धूप से बाचा रहता है ।

५. ताश का एक पत्ता जिसपर बादशाह की तसवीर बनी रहती है ।