बिगार

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

बिगार † संज्ञा पुं॰ [हिं॰] दे॰ 'बिगाड़' । उ॰—बुधि न बिचार, न बिगार न सुधार सुधि देह गेह नेह नाते मन से निसरिगे ।—तुलसी ग्रं॰, पृ॰ ३३९ ।

बिगार ^२ संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰] दे॰ 'बेगार' ।