बिरादरी

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

बिरादरी संज्ञा स्त्री॰ [फा़॰]

१. भाईचारा । बंधुत्व ।

२. जातीय समाज । एक ही जाति के लोगों का समूह । मुहा॰—बिरादरी से बाहर या खारिज होना = जाति से बहिष्कृत होना । जातिच्युत होना ।