बुरा

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

विश्लेषण[सम्पादन]

यदि किसी के कार्य से कोई किसी का नुकसान हो तो वह बुरा कहलाता है।

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

बुरा ^१ वि॰ [सं॰ विरूप] [वि॰ स्त्री॰ बुरी] जो अच्छा या उत्तम न हो । खराब । निकृष्ट । मंदा ।

बुरा ^२ संज्ञा पुं॰ हानि । बुराई । शत्रुता । मुहा॰— बुरा करना= हानि करना । बुराई करना । बुरा मानना =द्वेष रखना । बैर रखना । खार खाना । उ॰— यह वाकौ वचन सुनत ही हरिदास के ऊपर राजा ने बोहोत बुरी मान्यो ।—दो सौ बावन, भा॰ १, पृ॰ २४४ । बुरा लोग जगना या लगाना=बुरे दिन आना । उ॰— जाण ी कै फतैपुर झूँझुणूँ कै बुरो जोग जाग्यो ।—शिखर॰, पृ॰ ५४ । बुरी नजर से देखना । अविश्वास से देखना । बूरी भावना से देखना उ॰— उसने फकीर को बुरी नजर से देखा तो देखते ही आग में गिर पड़ी ।— फिसाना॰, भा॰ ३, पृ॰ १४३ । यौ॰—बुरा भला=(१) हानि लाभ । अच्छा और खराब । (२) गाली गलौज । लानत मलामत । बुरा हाल=बुरे दिन । बुरे दिन का साथी=कष्ट और विपत्ति के समय साथ देनेवाला । बुरी नजर=अशुभ दृष्टि ।