बेईमान

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

बेईमान वि॰ [फ़ा॰]

१. जिसका ईमान ठाक न हो । जिसे धर्म का विचार न हो । अधर्मी । उ॰—कभी उस बेईमान से लड़कर फतह नहीं मिलनी है ।—भारतेंदु ग्रं॰, भा॰ १, पृ॰ ५२१ ।

२. जो विश्वास के योग्य न हो । अविश्वसनीय ।

३. जो अन्याय, कपट या और किसी प्रकार का अनाचार करता हो ।