बेजड़

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

बेजड़ वि॰ [फ़ा॰ बे + हिं॰ जड़] जिसकी कोई जड़ या बुनियाद न हो । जिसके मूल में कोई तत्व या सार न हो । जो यों ही मन से गढ़ा या बना लिया गया हो । निर्मूल । जैसे,— आप तो रोज यों ही बेजड़ की बातें उड़ाया करते हैं ।