बैल

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

बैल ^१ वि॰ [सं॰ बिल]

१. बिल में रहनेवाला । जैसे, चूहा ।

२. बिल से संबंध रखनेवाला कोई भी जानवर [को॰] ।

बैल ^२ संज्ञा पुं॰ [सं॰ बलद बलीवर्द] [स्त्री॰ गाय]

१. चौपाया जिसकी मादा को गाय कहते हैं । विशेष—यह चौपाया बड़ा मेहनती और बोझा उठानेवाला होता है । यह हल में जोता जाता है और गाड़ियों को खींचता है । दे॰ 'गाय' । यौ॰—बैलगाड़ी । पर्या॰—उत्ता । भद्र । बलोवदं । बृषभ । अनड्वान । गो ।

२. मूख मनुष्य । जड़ बुद्धि का मनुष्य । जैसे,—वह पूरा बैल है । उ॰—बातचीत में भी देखा जाता है कि कभी हम किसी को मूर्ख न कहकर बैल कह देते हैं ।—रस॰, पृ॰ ३४ ।