भँवारा

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

भँवारा † वि॰ [हिं॰ भँवना + आरा (प्रत्य॰)] भ्रमणशील । घूमनेवाला । फिरनेवाला । उ॰—बिलग मत मानो ऊधो प्यारे । यह मथुरा काजर की डाबरि जे आवै ते कारे । तुम कारे सुफलक सुत कारे कारे मधुप भँवारे । ता गुण श्याम अधिक छबि उपजत कमल नैन मणि पारे ।—सूर (शब्द॰) । (ख) बिबरन आनन अरिगनी निरखि भँवारे मोर । दरकि गई आँगी नई फरकि उठे कुच कोर ।—श्रृं॰ सत॰ (शब्द॰) ।