भंडपना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

भंडपना संज्ञा पुं॰ [हिं॰ भाँड + पना]

१. भाँड़ों की क्रिया या भाव । भँडै़ती ।

२. भ्रष्टता । उ॰—भला और क्या चाहेंगे, हमारा भडपना जारी ही रहा ।—भारतेंदु ग्रं॰, भा॰ १, पृ॰ ३६७ ।