भइरव

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

भइरव † संज्ञा पुं॰ [सं॰ भैरव] दे॰ 'भैरव' । उ॰—तोही आँणू भइरव चाँपा का फूल, चोवा चंदन अंग कपूर ।—बी॰ रासो, पृ॰ २१ ।