भक

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

भक संज्ञा स्त्री॰ [अनु॰] सहसा अथवा रह रहकर आग के जल उठने अथवा वेग से धुएँ के निकलने के कारण उत्पन्न होनेवाला शब्द । इसका प्रयोग प्रायः 'से' विभक्ति के साथ होता है । जैसे लंप भक से जल उठा ।