भक्तिवाद

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

भक्तिवाद संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. भक्ति विषयक वार्ता या कथा ।

२. भक्ति को रस, रूप और ईश्वरप्राप्ति का सर्वोत्कृष्ट साधन माननेवाला मतवाद ।