भगरना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

भगरना क्रि॰ अ॰ [सं॰ विकरण, हिं॰ बिगड़ना] खत्ते में गर्मी पाकर अनाज का सड़ने लगना । संयो॰ क्रि॰—जाना ।