भरणी

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

भरणी संज्ञा स्त्री॰ [सं॰]

१. घोषक लता । कड़वी तरोई । पिया तरोई ।

२. सत्ताइस नक्षत्रों में दूसरा नक्षत्र । तीन तारों के कारण इसकी आकृति त्रिकोण सी है । इसकै अधिष्ठाता देवता यम है । यमदैवत । यमभू ।

३. एक लग्न जो भूमि खोदने के लिये अच्छा माना जाता है ।

भरणी ^२ वि॰ भरण करनेवाली । पालन करनेवाली । उ॰— तोहीं कर्णि हरणी । तोहीं विश्वभरणी ।—विश्राम (शब्द॰) ।