भिन्न

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

भिन्न ^१ वि॰ [सं॰]

१. अलग । पृथक् । जुदा । जैसे,—ये दोनों बातें एक दूसरी से भिन्न हैं ।

२. कटा हुआ । छिन्न (को॰) ।

३. प्रस्फुटित । विकसित (को॰) ।

४. अस्तव्यस्त । इतस्ततः (को॰) ।

५. परिवर्तित ।

६. शिथिलीकृत । ठीला किया हुआ (को॰) ।

७. मिश्रित । एक में मिला जुला (को॰) ।

७. खड़ा या उठा हुआ । जैसे, रोआँ (को॰) ।

८. इतर । दूसरा । अन्य । जैसे,—इस से भिन्न और कोई कारण हो ही नहीं सकता ।

भिन्न ^२ संज्ञा पुं॰

१. नीलम का एक दोष जिसके कारण पहननेवाले को पति, पुत्रादि का शोक प्राप्त होना माना जाता है ।

२. वह संख्या जो इकाई से कुछ कम हो । (गणित) ।

३. पुष्प । कुसुम (को॰) ।

४. किसी तेज धारवाले शस्त्र आदि से शरीर के किसी भाग का कट जाना । (वैद्यक) ।