मकड़ा

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

मकड़ा ^१ संज्ञा पुं॰ [हिं॰ मकड़ी] बड़ी मकड़ी ।

मकड़ा ^२ संज्ञा पुं॰ [देश॰] एक प्रकार की घास । मधाना । खमकरा । मनसा । विशेष—यह बहुत शीघ्रता से बढ़ती है । यह पशुओं और विशेषतः घोड़ों के लिये बहुत पुष्टिकारक होती है । यह दस बरस तक सुखाकर रखी जा सकती है । कहीं कहीं गरीब लोग इसके बीज अनाज की भाँति खाते हैं ।