महल

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

महल ^१ संज्ञा पुं॰ [अ॰]

१. राजा या रईस आदि के रहने का बहुत बडा और बढ़िया मकान । प्रासाद । उ॰—निसि गई पंच पल एक जाम । राजन्न महल प्रावेस ताम ।—पृ॰ रा॰, १ ।३६९ ।

२. राजप्रासाद का वह विभाग जिसमें रानिया आदि रहती हों । रनिवास । अंतःपुर । उ॰—कुंज कुंज नवपुंज महल सुबस बसो यह गाँव री ।—स्वामी हरिदास (शब्द॰) ।

३. बड़ा कमरा ।

४. अवसर । मौका । वक्त ।

५. पहाड़ी मधु- मक्खी । सारंग । डंगर ।

६. पत्नी । बीवी (को॰) ।

७. मकान । घर (को॰) ।

८. जगह । स्थान (को॰) । यौ॰—महलदार = वह व्यक्ति जो मकान की व्यवस्था और रक्षा करे । महलसरा । महलख स = पटरानी । बड़ी बेगम ।

महल पु ^२ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ महिला] दे॰ 'महिला' । उ॰—जो मारू बीजी महल आखइ झूठ एवाल ।—ढोला॰, दू॰ ४४० ।