माँगना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

माँगना क्रि॰ स॰ [सं॰ मार्गण ( = याचना)]

१. किसी से यह कहना कि तुम अमुक पदार्थ मुझे दो । कुछ पाने के लिये प्रार्थना करना या कहना । याचना करना । जैसे,—(क) मैने उनसे १० रुपए माँगे थे । (ख) तुम अपनी पुस्तक उनसे माँग लो । उ॰—(क) सो प्रभु सों सरिता तरिबे कहँ माँगत नाउ करारे ह्वै ठाढ़े ।—तुलसी (शब्द॰) । (ख) माँगउँ दूसर वर कर जोरी ।—तुलसी (शब्द॰) ।

२. किसी से कोई आकांक्षा पूरी करने के लिये कहना । जैसे,—हम तो ईश्वर से दिन रात यही माँगते है कि आप निरोग हों । उ॰—माँगत तुलसिदास कर जोरे । बसहिं राससिय मानस मोरे ।—तुलसी (शब्द॰) । मुहा॰—माँग जाँचकर = इधर उधर से माँगकर । लोगों से लेकर । माँग तोँ कर = दे॰ 'माँग जाँचकर' । माँग बुलाना = किसी के द्वार किसी को अपने पास बुलवाना ।