मेरी

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

मेरी ^१ सर्व॰ [हिं॰] 'मेरा' का स्त्री॰ रूप ।

मेरी ^२ संज्ञा स्त्री॰ अहंकार । उ॰—मेरी मिटी मुक्ता भया पाया ब्रह्म विस्वास । मेरे दूजा कोउ नहीं एक तुम्हारी आस ।—कबीर (शब्द॰) ।