मेला

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

मेला ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰ मेलक]

१. बहुत से लोगों का जमावड़ा । भीड़ भाड़ ।

२. देवदर्शन, उत्सव, खेल, तमाशी आदि के लिये बहुत से लोगों का जमावड़ा । जैसे, माघमेला, हरिहरक्षेत्र का मेला । यौ॰—मेला ठेला । मेला तमाशा । मुहा॰—मेला भरना = किसी खेल तमाशी या उत्सव में काफी भीड़- भाड़ एकट्ठी होना । मेला लगना = जमाव होना । भीड़ लगना ।

मेला ^२ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰]

१. बहुत से लोगों का जमावड़ा ।

२. मिलन । समागम । मिलाप ।

३. स्याही । रोशनाई ।

४. अजंन ।

५. महानीली ।