यमज

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

यमज संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. एक गर्भ से एक ही समय में और एक साथ उत्पन्न होनेवाली दो संतानों । एक साथ जन्म लेनेवाले दो बच्चों का जोडा । जौऔँ ।

२. ऐसा घोड़ा जिसका एक और का अंग हीन और दुर्बल हो और दूसरी और का वही अंग ठीक हो । यह दोष माना जाता है ।

३. अश्विनीकुमार ।