रजनी

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

रजनी संज्ञा स्त्री॰ [सं॰]

१. रात । रात्रि । निशा । उ॰—(क) मंगल ही जु करी रजनी बिधि याही ते मंगली नाम घरयो है ।—केशव (शब्द॰) । (ख) है रजनी रज में रुचि केती, कहा रुचि रोचक रंक रसाल में ।—द्विजदेव (शब्द॰) ।

३. जतुका लता । पहाड़ी ।

४. नीली । नील ।

५. दारुहलदी ।

६. पुराणानुसार शाल्मदी द्वीप की एक नदी का नाम ।

७. लाख । लाह ।

८. दुर्गा का एक नाम (को॰) ।