रसिया

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

रसिया संज्ञा पुं॰ [सं॰ रसिक, यारस+इया (हिं॰ प्रत्य॰)]

१. रस लेनेवाला । रसिक ।

२. एक प्रकार का गाना जो फागुन के मौसिम में व्रज और वुदेलखंड़ आदि में गाया जाता है ।