रसूल

विक्षनरी से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

रसूल संज्ञा पुं॰ [अं॰] वह जो अपने आपको ईश्वर का दूत कहता हो और सर्वसाधारण मे माना जाता हो । पैगंबर । जैसे— मुहम्मद साहब खुदा के रसुल थे ।