रहने

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

रहने की जगह । उ॰—चारि भाँति नृपता तुम कहियो । चारि मंत्रिमत मन में गहियो । राम मारि सुर एक न बचिहै । इंद्रलोक बसोबासहिं रचिहैं ।—केशव (शव्द॰) ।