राता

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

राता पु [सं॰ रक्त, प्रा॰ रत्त] [वि॰ स्त्री॰ राती]

१. लाल । सुर्ख । उ॰— (क) बन बाटनि पिक बटपरा तकि विरहिन मन मैन ।— कुहै कुहौ कहि कहि उठै करि करि राते नैन ।— बिहारी (शब्द॰) । (ख) भृकुटी कुटिल नैन रिस राते ।— तुलसी (शब्द॰) ।

२. रँगा हुआ ।