रेचक

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

रेचक ^१ वि॰ [सं॰] [वि॰ स्त्री॰ रेचिका]

१. जिसके खाने से दस्त आवे । कोष्ठशुद्धि करनेवाला । दस्तावर ।

रेचक ^२ संज्ञा पुं॰

१. पिचकारी ।

२. जवाखार ।

३. जमालगोटा ।

४. प्राणायाम की तीसरी क्रिया, जिसमें खींचे हुए साँस को विधिपूर्वक बाहर निकालना होता है । उ॰—(क) पूरक कुंभक रेचक करई । उलटि ध्यान त्रिकुटी को धरई ।—विश्राम (शब्द॰) । (ख) सब आसन रेचक अरु पूरक कुंभक सीखे पाइ । बिन गुरु निकट सँदेसन कैसे यह अवगाह्यो जाइ ।—सूर (शब्द॰) ।