लंक

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

लंक ^१ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ लङ्क] कमर । कटि । उ॰—अति ही सुकु- वारि उरोजनि भार भटै मधुरी डग लंक लफै ।—घनानंद, पृ॰ २०९ ।

लंक ^२ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ लङ्कन] लंका नामक द्वीप । उ॰—कुसगुन लंक अवध अति सोकू । हरष विषाद विवस सुरलोकू ।— मानस, २ ।८१ । विशेष—इस रूप में इसका प्रयोग प्रायः यौगिक शब्दों में होता है । जैसे,—लंकानाथ, लंकपति ।