लखौरी

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

लखौरी ^१ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ लाक्षा, हिं॰ लाखा + औरी (प्रत्य॰) (तु॰ आवृत्ति)]

१. एक प्रकार की भ्रमरी का घर जो वह मिट्टी से घरों के कोनों में बनाती है । भृंगी का घर ।

२. भारत की एक प्रकार की छोटी पतली ईंट जो प्रायः पुराने मकानों में पाई जाती है और जिसका व्यवहार अब कम होता जा रहा है । नौतेरही ईंट । ककैया ईंट । लखौरिया ईंट ।

लखौरी ^२ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ लक्ष, हिं॰ लाख(संख्या)] किसी देवता को उसके प्रिय वृक्ष की एक लाख पत्तियाँ या फल आदि चढ़ाना । जैसे,— शिव जी को बेलपत्र की या लक्ष्मीनारायण को तुलसी की लखौरी चढ़ाना । क्रि॰ प्र॰—चढ़ाना ।—जलाना या बालना=लाख बत्तियों की आरती करना ।