लहर

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

लहर संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ लहरी]

१. हवा के झोंके से एक दूसरे के पीछे ऊँची उठती हुई जल की राशि । बड़ा हिलोरा । मौज । उ॰—लोल लहर उठि एक एक पै चलि इमि आवत ।—हरिश्चंद्र (शब्द॰) ।