वंधुर

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

वंधुर संज्ञा पुं॰ [सं॰ वन्धुर]

१. रथ या गाड़ी का आश्रय जिसमें दोनों इरसे और धुरा प्रधान हैं ।

२. गाड़ी में का वह स्थान जहाँ सारथी या गाड़ीवान बैठकर उसे चलाता है ।

वंधुर ^२ वि॰ दे॰ 'बंधुर' ।