वगैरह

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

वगैरह अव्य॰ [अ॰ वगैरह] एक अव्यय जिसका अर्थ यह होता है कि 'इसी प्रकार और भी समझिए' । इत्यादि । आदि । जैसे,— बैल, ऊँट, हाथी, वगैरह बहुत से जानवर वहाँ आए थे । विशेष—इसका प्रयोग वस्तुओं को गिनाने में उनके नामों के अंत में संक्षेप या लाधव के लिये होता है ।