विक्षनरी:राजनीति विज्ञान परिभाषा कोश

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search
  • A B C countries -- ए. बी. सी. देश. अ. ब. चि. देश
अर्जेन्टीना, ब्राज़ील, चिली देशों के आद्यक्षरों से बना नाम। दक्षिणी अमेरिका के उक्त तीन राष्ट्रों ने इस महाद्वीप के देशों के पारस्परिक विवादों में प्रायः मध्यस्थता का कार्य किया।
  • A B C weapons -- ए. बी. सी शस्त्रास्त्र, प. जै. रा. आयुध
परमाणविक, जैवीय तथा रासायनिक आयुध जो जनसंहारक माने जाते हैं।
  • Abdication of an office/power -- परित्याग, पद-परित्याग
पद विशेषधिकारों, परमाधिकारों अथवा दावों का औपचारिक रूप से परित्याग। यह व्यक्तिगत होता है और पद-उत्तराधिकार संबंधी प्रचलित नियमों को प्रभावित नहीं करता।
  • Abolitionism -- उन्मूलनवाद
किसी प्रथा अथवा व्यवस्था (जैसे, दासप्रथा अथवा मृत्युदंड) के उन्मूलन का पक्षपोषक सिद्धांत।
  • Abolitionist -- उन्मूलनवादी
किसी प्रथा अथवा व्यवस्था (जैसे, दासप्रथा अथवा मृत्युदंड) के उन्मूलन में विश्वास करने वाला व्यक्ति अथवा व्यक्ति-समूह। संयुक्त राज्य अमेरिका में दासप्रथा के विरोधियों को उन्मूलनवादी कहा गया है क्योंकि ये लोग दासप्रथा को समूल नष्ट करना चाहते थे। इनमें से कुछ कानून द्वारा, कुछ नैतिक-मानसिक परिवर्तन द्वारा और कुछ राजनैतिक आंदोलनों अथवा बल प्रयोग के द्वारा इस लक्ष्य की प्राप्ति करना चाहते थे।
  • Aboriginal rights -- 1. आद्य अधिकार 2. आदिम अधिकार, आदिवासीय अधिकार
1. आद्य अधिकार : वे अधिकार जो मनुष्य को आदिम अवस्था में प्राप्त थे और जो किसी राज्य या सरकार की देन न होकर उनके जन्मजात अधिकार थे।
2. आदिम अधिकार, आदिवासीय अधिकार: आदिवासियों अथवा आदिम जातियों के अधिकार जो उन्हें आदिम परंपरा से प्राप्त हुए है और जिनका उद्देश्य उनके क्षेत्रीय, जातीय तथा सांस्कृतिक स्वरूप को सुरक्षित रखना है।
  • Abrogation -- निराकरण, समाप्ति
सक्षम अधिकारी अथवा अधिकरण (जैसे, विधान सभा आदि) द्वारा किसी विधि, अधिनियम या आज्ञप्ति द्वारा किसी विधि, अध्यादेश, संधि आदि का निरस्त किया जाना। संधियों की समाप्ति संबंधित पक्षकारों की सहमति अथवा संधि में निर्धारित प्रक्रिया अथवा अंतर्राष्ट्रीय विधि के नियमों के अनुसार की जा सकती है।
  • Absentec voting -- अनुपस्थित मतदान
किसी कारणवश मतदान केंद्र में जाकर मतदान करने में असमर्थ मतदाता द्वारा डाक से मतपत्र भेजकर मतदान में भाग लेना। प्रायः सैनिकों, राजनयिकों और कुछ विशिष्ट अधिकारियों को यह सुविधा प्रदान की जाती है। विभिन्न देशों में इसके विभिन्न नियम पाए जाते हैं।
  • Absolute coutraband -- पूर्ण विनिषिद्ध (वस्तु)
युद्ध में प्रयुक्त अथवा तदर्थ प्रयोजनीय वे पदार्थ जिनका युद्धकाल में गमनागमन किसी युद्धकारी राज्य द्वारा पूरी तरह विर्जित उद्घोषित किया गया हो। विशुद्ध रूप से युद्ध में काम आने वाली सभी ऐसी वस्तुएँ (जैसे, अस्त्र-शस्त्र एवं उपकरण आदि) जिनको शत्रु देश को ले जाए जाने पर युद्धकारी राज्य सार्वजनिक घोषणा द्वारा प्रतिबंध लगा सकता है।
  • Absolute dominion -- पूर्ण आधिपत्य
किसी क्षेत्र, प्रदेश या भूखंड विशेष पर निर्दवंदव, निर्बाध और निरंकुश स्वामित्व या प्रभुत्व होना।
  • Absolute equality -- पूर्ण समानता, निरपेक्ष समानता
सभी व्यवित्तयों के पूर्ण रूप से एक समान होने की स्थिति: व्यक्तियों के मध्य पारस्परिक स्थिति, गुण, मान, महत्व आदि में तुल्यता या बराबरी होना।
  • Absolute government -- निरंकुश सरकार
अबाध, असीम, अमर्यादित और परम सत्तायुक्त राजकीय शासन। वह स्वहितापेक्षी शासन सत्ता जो अपनी रीतियों-नीतियों के निष्पादन में पूर्ण स्वतंत्र और परम शक्ति-संपन्न हो तथा जिस पर कोई अंकुश या प्रतिबंध न हो। इसे स्वेच्छाचारी सरकार भी कहा जाता है।
  • Absolute majority -- पूर्ण बहुमत
1. किसी सदन के कुल सदस्यों के आधे से अधिक सदस्यों का मत। 2. उपस्थित सदस्यों में से आधे से अधिक सदस्यों का मत भी “पूर्ण बहुमत” मत कहा जाएगा।
  • Absolute monarchy -- निरंकुश राजतंत्र
ऐसी शासन व्यवस्था जिसमें संपूर्ण राज्यसत्ता एक व्यक्ति में केंद्रित हो (जो प्रायः वंशानुगत होता है) जिसका वह मनोवांछित उपभोग कर सकता हो और जिसके प्रयोग में उसके ऊपर कोई वैधिक अथवा संवैधानिक सीमा अथवा मर्यादा न हो। इस व्यवस्था में शासक पूर्णतः स्वेच्छाचारी होता है।
  • Absolute neutrality (= perfect neutrality) -- पूण तटस्थता
युद्ध काल में युद्धकारी पक्षों में से किसी भी पक्ष को किसी भी प्रकार की प्रत्यक्ष अथवा परोक्ष सहायता न देना।
  • Absolute power -- निरंकुश शवित्त
निर्बाध, असीमित, निरपवाद पूर्ण शक्ति अथवा क्षेत्राधिकार।
  • Absolute ruler -- निरंकुश शासक
ऐसा शासक जो किसी वैधिक सीमा से मर्यादित न हो और राज्यसत्ता का स्वेच्छापूर्वक उपभोग करता हो।
  • Absolute sovereignty -- पूर्ण प्रभुता, पूर्ण प्रभुसत्ता
अमर्यादित, अविभाज्य, निरपेक्ष शासनाधिकार अथवा राज्यशक्ति।
  • Absolute veto -- पूर्ण निषेधाधिकार
1. किसी निर्णय-प्रक्रिया को अवरुद्ध करने या निर्णय को निरस्त करने का अधिकार जिसका कोई उपचार न हो। उदाहरण के लिए, मुख्य-कार्यपालक का विधान मंडल द्वारा पारित किसी विधेयक को स्वीकृति न देकर उसे रद्द कर देने का अधिकार जिसके विरुद्ध किसी अधिकारी अथवा निकाय को कोई कार्रवाई करने का अधिकार न हो।
2. निर्णय-प्रक्रिया में किसी एक सदस्य का ऐसा नकारात्मक मत जो अन्य सदस्यों के निर्णय को निरस्त कर दे। उदाहरणार्थ, सुरक्षा परिषद् में किसी निर्णय के लिए पाँचों महाशक्तियों का सहमत होना आवश्यक है और किसी एक शक्ति का नकारात्मक मत अंतिम रूप से निर्णायक होता है। ऐसे नकारात्मक मत को पूर्ण नकारात्मक निषेधाधिकार कहा जाता है।
  • Absolutism -- 1. निरंकुशता, 2. निरंकुशतावाद, 3. निरंकुशतंत्र
1. स्वेच्छाचारिता, हर प्रकार के अंकुश या प्रतिबंध से मुक्ति।
2. वह राजनीतिक सिद्धांत जिसके अंतर्गत किसी एक राष्ट्र, तानाशाह या गुटतंत्र विशेष में निर्बाध शक्ति और संपूर्ण प्रभुसत्ता निहित रहती है। इसे “स्वेच्छाचारवाद” भी कहा जाता है।
3. जनता के हित व लोक कल्याण को भूलकर किसी राजा, तानाशाह या शासक द्वारा स्वेच्छाचारिता पूर्ण शासन।
  • Abstention from voting -- मतदान में भाग न लेना
अपना विरोध, विमति, असहयोग अथवा तटस्थ भाव प्रकट करने के लिए किसी विषय के पक्ष अथवा विपक्ष में मत न देना।
  • Abuse of flag -- ध्वज का दुरूपयोग
किसी पोत, जहाज़, नौका, जलयान आदि द्वारा अनधिकृत या अवैध रूप में किया गया अन्य देशीय ध्वज का प्रयोग।
  • Academic freedom -- शैक्षिक स्वतंत्रता
अपनी व्यक्तिगत आस्था या धारणानुसार बिना किसी भय, बाधा, दबाव या प्रतिशोध की आशंका के शिक्षण देने का अधिकार। उच्च शिक्षा संस्थानों का बिना किसी सरकारी दबाव, भय अथवा प्रतिशोध की आशंका के अपना शिक्षण पाठयक्रम निर्थारित करने, अपने संस्थानों का संचालन करने, शोध कार्य करने और शिक्षकों एवं शिक्षाविदों द्वारा विचार व्यक्त करने की स्वतंत्रता का अधिकार।
  • Acceptance speech (= speech of acceptance) --
संयुक्त राज्य अमेरिका में नाम निर्देशन की औपचारिक अधिसूचना के उत्तर में राष्ट्रपति या राज्यपाल पद के अभ्यर्थी का अभिभाषण जिसमें उसके निर्वाचित होने की दशा में उसके द्वारा अनुसरण की जाने वाली नीतियों का निरूपण होता है।
  • Accession -- 1. अधिमिलन, 2. राज्यरोहण, पदारोहण
1. अ-संघ, परिसंघ या महासंघ में शामिल होना। आ-किसी राष्ट्र का अन्य राष्ट्रों द्वारा संपादित अनुबंध या संधि को स्वीकार करना। 2. उच्च पद या प्रतिष्ठित पदवी अथवा राजगद्दी पर आरूढ़ होना।
  • Accession clause -- अधिमिलन धारा/खंड
किसी संधि में इस प्रकार का खंड जिसके अनुसार संधि के संपादित होने पर, अन्य राज्य भी अधिमिलन की प्रक्रिया से इसमें भागीदार हो सकते हैं।
  • Accessory belligerent -- सहायक युद्धकारी
शत्रु पक्ष के विरुद्ध युद्ध में सक्रिय सहयोग देने वाला राष्ट्र।
  • Acclamation (=voice vote) -- मौखिक मतदान
संसदीय पद्धति के अंतर्गत, सदस्यों द्वारा किसी प्रस्ताव पर मतपत्र के माध्यम से औपचारिक मतदान न करके हर्षध्वनि अथवा करतलध्वनि से अनुमोदन दिया जाना।
  • Accreditation -- प्रत्यायन
राज्य द्वारा अधिकृत अभिकर्ता अथवा प्रतिनिधि अथवा राजदूत को नियुक्त एवं अधिकार प्रदान करने की क्रिया।
  • Accredited agent -- प्रत्यायित एजेंट
एक राज्य द्वारा दूसरे राज्य के लिए नियमित रूप से अथवा विशेष प्रयोजन के लिए नियुक्त प्रतिनिधि।
  • Acheson Plan -- एचेसन योजना
1946 में संयुक्त राष्ट्र आणविक ऊर्जा आयोग के समक्ष प्रस्तुत आणविक शक्ति के नियंत्रण एवं निरस्त्रीकरण से संबंधित एक प्रस्ताव जो विशिष्ट सलाहकारों की एक परिषद् की संस्तुतियों पर आधारित था। इसे एचेसन लिलिंथल रिपोर्ट के नाम से जाना जाता है। इस प्रस्ताव में अमेरिकी सरकार ने निम्न शर्तों पर एक अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा व्यवस्था के अंतर्गत अपने आणविक अस्त्रों के एकाधिकार का परित्याग करना स्वीकार किया : – (1) नाभिकीय ऊर्जा शक्ति के विकास एवं उपयोग की अवस्थाओं के नियंत्रण के लिए एक अंतर्राष्ट्रीय आणविक विकास प्राधिकरण (आई. डी. ए.) की स्थापना ; (2) उपर्युक्त प्राधिकरण को निरीक्षण का असीमित अधिकार दिया जाना ताकि प्रस्तावित व्यवस्था के उल्लंघनों को रोका जा सके; (3) प्राधिकरण की स्थापना के उपरांत आणविक अस्त्रों के निर्माण पर प्रतिबंध एवं वर्तमान आणविक अस्त्रों के संपूर्ण भंडारों को नष्ट किया जाना : तथा (4) संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद् में निषेधाधिकार की समाप्ति ताकि कोई महाशक्ति व्यवस्था का उल्लंघन करने पर दंड से हट न सके।
  • Acquired right -- अर्जित अधिकार
वे अनुबंधात्मक, रियायती, व्यक्तिगत अथवा संपत्ति संबंधी तथा अन्य अधिकार जो प्रचलित कानून के अंतर्गत निर्धारित प्रक्रिया पूरी करके सद्भावपूर्वक प्राप्त किए गए हों।
  • Acquisition -- अर्जन
राज्य द्वारा सार्वजनिक उद्देश्यों के लिए कानून के अंतर्गत मुआवजा देकर वैयक्तिक संपत्ति पर स्वामित्व की प्राप्ति।
  • Acquisition of citizenship -- नागारिकता-अर्जन
किसी व्यक्ति द्वारा किसी विदेशी राज्य की निर्धारित शर्तों को पूरा करके उसकी नागरिकता प्राप्त करना। इस प्रक्रिया को “देशीयकरण” भी कहते हैं। यह दीर्घकालीन निवास, जन्म विवाह, अचल संपत्ति के अर्जन आदि के द्वारा प्राप्त की जा सकती है परंतु विभिन्न देशों में इसके लिए विभिन्न नियम हैं। दे. naturalization भी।
  • Acta-general (= generalact) -- सामान्य विधि, आम कानून
स्थानीय या विशिष्ट नियमों, विनियमों और विधियों से भिन्न वे कानून जो किसी देश के संपूर्ण भागों, वर्गों, व्यक्तियों आदि पर समान रूप से लागू हों।
  • Action copy (= substantive copy) -- मूल प्रतिलेख
राजनयिक वाद-विवाद, चर्चा, वार्ता आदि का प्रतिलेख जिसमें चर्चित विषय पर सहमति-असहमति अथवा अन्य नीति विषयक बातें उल्लिखित होती हैं।
  • Action Francaise -- आवित्सओं फ्रांसेज
19 वीं. शताब्दी के अंत में फ्रांस में गठित एक दक्षिणपंथी राजतंत्रवादी राजनीतिक गुट जो वहाँ राजतंत्र के पुनरावर्तन के पक्ष में था।
  • Active burgher -- सक्रिय नगरवासी
बर्घ (अंग्रेज़ी क़स्बा) का रहने वाला राजनीतिक कार्य-क्रिया में रुचि रखने व भाग लेने वाला नागरिक। बर्घ-क्षेत्र का क्रियाशील और जागरूक प्रतिनिधि।
  • Active politics -- सक्रिय राजनीति
राजनीति अथवा राजनैतिक गतिविधियों का क्रिया क्षेत्र अथवा व्यवहारिक पक्ष जैसे निर्वाचनों, राजनैतिक प्रदर्शनों सम्मेलनों, सभाओं में भाग लेना आदि।
  • Activism -- सक्रियतावाद
वह सिद्धांत या व्यवहार जो राजनीतिक या सार्वजनिक उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए तात्कालिक अथवा प्रबल कार्रवार्ई पर बल देता है और जो संबंधित कानूनी व्यवस्था तक ही सीमित नहीं रहता। तु. दे. Judicial activism
  • Activist -- सक्रियतावादी
किसी वर्ग, व्यवसाय या संगठन में वह व्यक्ति या व्यक्ति-समूह जो अपेक्षाकृत अधिक सक्रिय और जागरूक हो और जो उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए कार्यक्रमों की उद्धोषणा मात्र से संतुष्ट न होकर उसके कार्यान्वयन के लिए आवश्यक तात्कालिक कार्रवाई करने के लिए तत्पर हो।
  • Act of aggression -- आक्रामक कार्य
किसी राज्य द्वारा किसी दूसरे राज्य के विरुद्ध किया गया सशस्त्र सैनिक बल प्रयोग जिससे उसकी प्रादेशिक अखंडता या राजनीतिक स्वतंत्रता एवं संप्रभुता का हनन हो। वर्तमान अंतर्राष्ट्रीय विधि के अनुसार इस प्रकार का आक्रमण अवैध माना जाता है।
  • Act of belligerancy -- युद्धात्मक कार्य
किसी राज्य द्वारा दूसरे राज्य के विरुद्ध सशस्त्र सैनिक बलप्रयोग जिससे युद्धावस्था शूरू हो सकती है। कभी-कभी किसी देश में गृहयुद्ध की स्थिति में भी विद्रोह की कार्रवाइयों को युद्धात्मक कार्य के रूप में मान्यता दी जा सकती है।
  • Act of espionage -- गुप्तचर कार्य
किसी राज्य द्वारा किसी दूसरे राज्य के भेदों (मानचित्रों, प्रपत्रों, आँकड़ों योजनाओं आदि) को गुप्त रूप से विभिन्न वैध-अवैध युक्तियों द्वारा प्राप्त करने का कार्य।
  • Act of grace -- अनुग्रह, शासनानुग्रह
किसी विशिष्ट अवसर या परिस्थिति में राज्य द्वारा किया गया अनुकंपा का कार्य जैसे, अपराधियों को क्षमादान।
  • Act of hostility -- शत्रुतापूर्ण कार्य
किसी राज्य द्वारा किसी दूसरे राज्य के प्रति किया गया ऐसा आचरण जिसे राज्य अवैध या अनुचित और अपने लिए हानिकारक मानता हो और जिसे वह उस राज्य के विरूद्ध बल प्रयोग करने का पर्याप्त आधार मान सकता हो और जिसके फलस्वरूप दोनों के मध्य युद्ध की स्थिति उत्पन्न हो सकती है।
  • Act of State -- राज्य-कृत्य
एक राज्य के न्यायालय किसी दूसरे राज्य के सार्वजनिक कार्यों की वैधता की जाँच नहीं कर सकते क्योंकि प्रत्येक राज्य स्वतंत्र और संप्रभु हैं। विदेशी संपत्ति के राष्ट्रीयकरण से क्षतिग्रस्त नागरिकों द्वारा प्रायः इस प्रकार के वाद उठाए गए हैं परंतु न्यायालयों ने यह दृष्टिकोण अपनाया है कि वे किसी विदेशी सरकार द्वारा अपने प्रादेशिक क्षेत्राधिकार में किए गए कार्यों की वैधता की जाँच करने में सक्षम नहीं हैं।
  • Act of Stateact of unfriendliness -- अमैत्रीपूर्ण कार्य
दो पक्षों के मध्य एक पक्ष द्वारा दूसरे के विरुद्ध किया गया ऐसा कार्य जो अवैध न होते हुए भी दोनो के बीच सद्भाव, सहयोग या घनिष्ठता भंग करने वाला हो और जिसे दूसरा पक्ष शत्रुतापूर्ण कार्य मान सकता हो।
  • Act of war -- युद्धात्मक कार्य, युद्धजनक कार्य
कोई ऐसा कार्य जिसके फलस्वरूप अंतर्राष्ट्रीय युद्ध-अवस्था उत्पन्न हो सकती हो, जैसे युद्ध की पूर्व घोषणा करके या बिना इसके भी किसी देश द्वारा दूसंरे देश पर सशस्त्र आक्रमण।
  • Actural will -- वास्तविक इच्छा
इस अवधारणा का प्रयोग आदर्शवादी (प्रत्ययवादी) राजनीतिक विचारधारा में किया गया है। इसके अनुसार प्रत्येक मनुष्य में दो प्रवृत्तियाँ अथवा भावनाएँ विद्यमान रहती हैं। एक वह जो विवेकपूर्ण परमार्थिक एवं सार्वदेशीय होती है जिसे रूसों ने विशुद्ध इच्छा (रियल विल) कहा है। इसके विपरीत दूसरी स्वार्थी, वासनामयी एवं संकीर्ण प्रवृत्ति अथवा भावना जिसे उसकी “वास्तविक इच्छा” कहा गया है।
  • A D C (aide-de-camp) -- ए. डी. सी. राज्याध्यक्ष
राज्यपाल, सैनिक प्रमुख जैसे अतिमहत्वपूर्ण अधिकारियों की सहायतार्थ नियुक्त सैनिक या पुलिस अधिकारी।
  • Additional act -- अतिरिक्त विनियम
पहले की कई संधि के उपबंधों का ही विस्तार या संशोधन या पूरक जो एक अलग प्रपत्र के रूप में स्वीकार किया जाए। इसमें इसके सत्यांकन या अनुसमर्थन किए जाने की व्यवस्था हो भी सकती है और नहीं भी।
  • Additional article -- अतिरिक्त अनुच्छेद
किसी अंतर्राष्ट्रीय संधि या समझौते के साथ संलग्न वह विशेष अनुच्छेद या प्रावधान जो मूल संधि का पूरक अथवा सहायक होता है और जिसका उद्देश्य मूल संधि के किसी प्रावधान का स्पष्टीकरण अथवा परिवर्धन करना होता है। इसे मूल संधि के संपादन के साथ ही स्वीकार किया जाता है।
  • Address to the crown -- राजा को अभ्यावेदन, काउन को अभ्यावेदन
1. ब्रिटिश संसद में राजा या रानी द्वारा दिए गए अभिभाषण का प्रत्युत्तर। 2. इंग्लैंड के राजा या रानी को किया गया मौखिक या लिखित निवेदन जिसका उद्देश्य किसी एक या अधिक विषयों की ओर उनका ध्यान आकर्षित करना होता है। 3. क्राउन को प्रस्तुत प्रार्थना-पत्र।
  • Adherence -- संसक्ति, दे. Adhesion.
  • Adhesion (= accession + adherence) -- संसक्ति
अंतर्राष्ट्रीय विधि में संधि कानून के प्रसंग में इस पद का प्रयोग होता है। इसका अर्थ है- दो या अधिक राज्यों के मध्य हुई संधि अथवा समझौते को किसी तीसरे राज्य द्वारा अंगीकार करना।
  • Ajacent waters -- आसन्न समुद्र
किसी देश की सीमा के सन्निकट अथवा उससे संलग्न समुद्री क्षेत्र।
  • Adjournment motion -- स्थगन-प्रस्ताव, ‘कामरोको’ प्रस्ताव
सदन की कार्यसूची से हटकर तात्कालिक सार्वजनिक महत्व के किसी प्रश्न पर विचार- विमर्श किए जाने की माँग का प्रस्ताव। इसका स्वीकार किया जाना सदन के अध्यक्ष के अधिकार क्षेत्र में है। स्वीकार कर लिए जाने पर इस पर विचार-विमर्श उसी दिन अपराहन में होता है। “स्थगन-प्रस्ताव” को स्वीकार किया जाना सरकार के लिए निंदनीय होता है इसलिए इसे स्वीकार कराना कठिन होता है।
  • Adjudication -- अधिनिर्णयन, न्यायानिर्णयन
1. न्यायालय में विवादों का निर्णय करने की प्रक्रिया। 2. न्यायालय द्वारा किया गया निर्णय जो विवादी पक्षों के लिए बाध्यकारी होता है।
  • Adjudication board -- अधिनिर्णायक मंडल/अधिनिर्णायक बोर्ड
ऐसा न्यायाधिकरण जो किसी वाद विशेष का निर्णय करने के लिए गठित किया जाता है। यह अर्ध-न्यायिक निकाय का एक उदाहरण है।
  • Administering state -- प्रशासी राज्य
इस पद का प्रयोग संयुक्त राष्ट्र की न्याय प्रणाली के प्रसंग में किया जाता है। जिन राज्यों को संयुक्त राष्ट्र के द्वारा प्रदेश अथवा प्रदेशों के प्रशासन का कार्यभार न्यास के रूप में सौंपा जाता है, उन राज्यों को प्रशासी राज्य कहा जाता है।
  • Administration -- प्रशासन, प्रशासन-तंत्र
कार्यपालिका का वह अंग जिसपर सरकार की नीतियों, नियमों, अधिनियमों और विधियों के कार्यान्वयन का दायित्व होता है।
  • Administrative state -- प्रशासकीय राज्य
वर्तमान काल में राज्य के कार्य-क्षेत्र में विस्तार होने के कारण उसके प्रशासकीय अंगों और प्रशासनतंत्र की प्रधानता और प्रबल महत्व के फलस्वरूप राज्य का परिवर्तित स्वरूप। इस परिवर्तित स्वरूप को ही प्रशासकीय राज्य कहा जाने लगा है।
  • Admiralty jurisdiction -- समुद्री क्षेत्राधिकार, नावाधिपति अधिकार-क्षेत्र
समुद्री अथवा राष्ट्रीय जल मार्गों में नौ परिवहन, व्यापार, वाणिज्य आदि से संबंधित किसी भी मामले की न्यायिक जाँच करने तथा तत्संबंधी निर्णय करने का अधिकार।
  • Admission of adjournment motion -- स्थगन-प्रस्ताव की स्वीकृति
सदन की नियमित कार्यसूची से हटकर किसी ऐसे प्रश्न पर विचार करने के प्रस्ताव को स्वीकार करना जो तात्कालिक सार्वजनिक महत्व का हो। इसे स्वीकार करने या न करने का अधिकार स्पीकर को होता है।
  • Admonition -- भर्त्सना
सदन की मर्यादा अथवा अनुशासन भंग करने वाले सदस्यों को अध्यक्ष द्वारा दी गई प्रताड़ना जिसमें दंड की धमकी का भाव भी निहित होता है।
  • Adult -- वयस्क, बालिग
विधि द्वारा निर्धारित आयु प्राप्त स्त्री अथवा पुरुष। अनेक देशों में (भारत, अमेरिका, इंग्लैंड) मताधिकार 18 वर्ष की आयु होने पर प्राप्त हो जाता है। अतः प्रत्येक 18 वर्ष के युवक, युवती को वयस्क माना जा सकता है।
  • Adult franchise ( = adult suffrage) -- वयस्क मताधिकार
निर्वाचन प्रक्रिया में भाग लेने के लिए मतदान का वह अधिकार जो किसी देश के सभी वयस्क नागरिकों को बिना धर्म, मूलवंश, जाति, जन्म स्थान आदि के भेदभाव के प्राप्त होता है। अनेक देशों में (भारत, अमेरिका, इंग्लैंड) 18 वर्ष की आयु होने पर यह अधिकार प्राप्त हो जाता है।
  • Adult suffrage -- वयस्क मताधिकार, दे. Adult franchise.
  • Adverse motion -- प्रतिकूल प्रस्ताव
किसी प्रस्ताव को निरस्त करने या उसके विपरीत व्यवस्था स्थापित करने के प्रयोजन से प्रस्तुत प्रस्ताव।
  • Adviser (= advisor) -- सलाहकार
इस पद का प्रयोग प्रशासन और राजनीति में विभिन्न अर्थों में किया जाता है। भारत में केंद्रीय मंत्रालयों के शीर्षस्थ अधिकारियों को “सलाहकार” कहा जाता है। राज्यों में राष्ट्रपति शासन लागू होने पर राज्यपालों के सहायतार्थ केंद्रीय सरकार द्वारा “सलाहकार” नियुक्त किए जाते हैं जो वास्तव में उच्च प्रशासकीय पदाधिंकारी होते हैं। इनके अतिरिक्त अनेक आयोगों में विशेषज्ञों को सलाहकार अथवा परामर्शदाता कहा जाता है।
  • Advisory ballot -- सलाहकारी मतदान
वह मत-संग्रह जिसका परिणाम अनिवार्य या बाध्यकारी नहीं होता। इसका उद्देश्य वस्तुतः मतदाताओं की किसी विषय पर वरीयता अथवा अभिरुचि प्रदर्शित करना और उनके प्रतिनिधि को उनके मत से अवगत कराना और संभवतः प्रभावित करना होता है।
  • Advisory board -- सलाहकार बोर्ड, सलाहकार मंडल
विचार-विमर्श कर उपयुक्त मंत्रणा देने वाला समूह या समिति जो किसी विभाग अथवा संस्था से संबंद्ध होता है और जिसे सलाहकार बोर्ड या मंडल कहा जाता है।
  • Advisory commission -- सलाहकार आयोग
किसी विषय-विशेष पर विचार-विमर्श करने एवं उपयुक्त संस्तुति करने के लिए गठित आयोग अथवा निकाय जो अपने निर्दिष्ट क्षेत्र में स्वायत्त रूप से कार्य करता है।
  • Advisory committee -- सलाहकार समिति
ऐसी समिति जो किसी विभाग, संस्था या निकाय को किसी विषय-विशेष अथवा समस्या पर या नियमित रूप से परामर्श देने के लिए नियुक्त की जाती है।
  • Advisory jurisdiction -- परामर्शदायी अधिकार-क्षेत्र
न्यायालयों का किसी प्रश्न अथवा विवाद पर न्यायिक परामर्श देने का अधिकार जो केवल परामर्शमात्र होता है। इस प्रकार का अधिकार भारत में उच्चतम न्यायालय को प्राप्त है। उच्चतम न्यायालय केवल राष्ट्रपति के अनुरोध पर परामर्शी मत दे सकता है। हेग स्थिति अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय को भी परामर्शी मत देने का अधिकार प्राप्त है। केवल संयुक्त राष्ट्र संघ के अंग ही इस मत के लिए अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय से अनुरोध कर सकते हैं।
  • Advisory opinion -- परामर्शदायी मत
परामर्शदायी क्षेत्राधिकार के अंतर्गत किसी सक्षम न्यायालय द्वारा दिया गया मत जो केवल परामर्शदायी होता है और जिसका मानना या न मानना परामर्शा माँगने वाले प्राधिकार या निकाय के ऊपर निर्भर करता है।
  • Advocate General -- महाधिवक्ता, एडवोकेट जनरल
भारत के राज्यों में राज्यपालों द्वारा नियुक्त वह अधिवक्ता जो राज्य सरकार का मुख्य क़ानूनी सलाहकार होता है और न्यायालयों में महत्वपूर्ण मामलों में सरकार की ओर से पैरवी करता है। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 165 के अनुसार “उच्च न्यायालय के न्यायाधीश नियुक्त होने की अर्हता रखने वाले व्यक्ति को प्रत्येक राज्य का राज्यपाल राज्य का महाधिवक्ता नियुक्त” कर सकता है, जिसका कर्तव्य “राज्य की सरकार को ऐसे विधि संबंधी विषयों पर मंत्रणा देना” तथा ऐसे विधि रूप दूसरे कर्तव्यों का पालन करना होता है जो राज्यपाल उसे समय-समय पर भेजे या सौंपे तथा उन कृत्यों का निर्वहन करे, जो उसे (इस) संविधान अथवा अन्य किसी तत्समय प्रवृत्त विधि के द्वारा या अधीन दिए गए हों।”
  • Aerial domain -- हवाई अधिकार क्षेत्र
प्रथागत अंतर्राष्ट्रीय विधि के अनुसार प्रत्येक राष्ट्र को अपने भूभाग के ऊपरी आकाश पर पूर्ण तथा अनन्य प्रभुत्व प्राप्त है जिसका अतिक्रमण या उल्लंघन किए जाने पर उसे प्रतिरक्षात्मक कार्रवाई करने का अधिकार है। सन् 1919 के पेरिस विमानचालन अभिसमय द्वारा इस अधिकार की पुष्टि हुई।
  • Aeiral inspection -- हवाई निरीक्षण, आकाशी-निरीक्षण
वायुमंडल में उड़ते हवाई जहाजों आदि के माध्यम से किसी क्षेत्र विशेष का पर्यवेक्षण करना और सूचना एकत्र करना।
  • Aerial navigation -- विमानचालन
आकाश में वायुयानों द्वारा परिवहन।
  • Aerial Navigation Convention -- विमानचालन अभिसमय
सन् 1919 के “पेरिस विमानचालन सम्मेलन” द्वारा शांतिकाल में विमानचालन के लिए नियम निर्धारित करने का प्रयास किया गया। इस अभिसमय ने, प्रत्येक राष्ट्र के अपने भूभाग के ऊपरी आकाश पर संपूर्ण तथा एक मात्र प्रभुत्व को मान्यता दी। इस के हस्ताक्षरकर्त्ताओं ने संविदाकारी पक्षों के विमानों को, शांतिकाल में एक दूसरे के हवाई क्षेत्रों से निर्दोष गमन की अनुमति प्रदान की। परन्तु संविदाकारी देशों को यह प्राधिकार मिला कि यदि वे चाहें तो सैनिक कारणों एवं अपनी सुरक्षा के हित में, किसी अन्य देश के विमानों को, अपने भूभाग के ऊपरी आकाश में विमानचालन की सुविधा न दें।
  • Aerial survey -- हवाई सर्वेक्षण
वायुयानों द्वारा किसी विशेष उद्देश्य से भूभाग का पर्यावलोकन।
  • Aerial surveillance -- हवाई निगरानी
आकाश में विमानों द्वारा अथवा अंतरिक्ष से उपग्रहों द्वारा दूसरे देशों की गतिविधियों पर नज़र रखना।
  • Afro-Asian Bloc -- अफ्रेशियाई गुट
अफ्रीकी-एशियाई राज्यों का एक शिथिल तथा अनौपचारिक समूह जो अपने समान उद्देश्यों तथा नीतियों के कारण संयुक्त राष्ट्र में एक गुट के रूप में कार्य करते प्रतीत होते हैं और जिनका बहुमत महासभा में है। बहुधा ये उपनिवेशवाद, प्रजातिवाद, पार्थक्यवाद के विरोधी हैं। ये चार उपगुटों में विभक्त हैं:- (1) केसाब्लांका गुट: गिनी, घाना, माली, मोरक्को और संयुक्त अरब गणतंत्र। (2) मोनरोवीय गुट : जिसमें पूर्व ब्रिटिश उपनिवेश व संरक्षित राज्य हैं। (3) ब्रजाविला गुट : जिसमें पूर्व फ्रांसिसी उपनिवेश तथा संरक्षित राज्य हैं। ये दो गुट पूर्वी-पश्चिमी मामलों से दूर रहते थे, परन्तु संयुक्त राज्य अमेरिका के उग्र दबाव पड़ने पर जैसे, कांगो को मान्यता देने के प्रश्न पर और संयुक्त राष्ट्र में चीनी प्रतिनिधित्व के प्रश्न पर, बहुत से देशों ने संयुक्त राज्य का साथ दिया। (4) एशियाई राज्य।
  • Afro-Asian Conference (= Bandung Conference) -- अफ्रोशियाई सम्मेलन, बांडुंग सम्मेलन
सन 1955 में इंडोनेशिया के बांडुंग नगर में एशियाई-अफ्रीकी देशों का एक सम्मेलन हुआ जिसका उद्देश्य इन देशों द्वारा विश्व राजनीति में एशियाई-अफ्रीकी राज्यों की सुदृढ़ता प्रदर्शित करना था। इस सम्मेलन में साम्यवादी चीन की उपस्थिति उल्लेखनीय थी।
  • Agency for International Development -- अंतर्राष्ट्रीय विकास अभिकरण
इस अभिकरण की स्थापना संयुक्त राज्य अमेरिका की काग्रेस ने 1961 में विदेशी सहायता अधिनियम के अंतर्गत की थी। इसका मुख्य उद्देश्य विकासशील देशों के विकास – कार्यक्रमों में जैसे-शैक्षणिक औद्योगिक कृषि तथा स्वास्थ्य के क्षेत्रों में, तकनीकी एवं आर्थिक सहायता प्रदान करना है।
  • Agent provocateur -- प्रोत्तेजक
यह मूल रूप से फ्रांसीसी पद है। यह ऐसे व्यक्ति के लिए प्रयुक्त किया जाता है जिसे राजनीतिक अथवा सामाजिक संघर्षों की स्थिति में एक पक्ष द्वारा अपने विरोधियों के बीच मित्र के छद्म वेश में परन्तु वास्तव में उनको भड़काने या उकसाने तथा उनमें उत्तेजना अथवा अव्यवस्था फैलाने के लिए भेजा जाता है।
  • Aggrandizement -- विवर्धन (नीति)
राज्य की विस्तारवादी नीति का वह रूप जिसके अंतर्गत बलप्रयोग अथवा बलप्रयोग की धमकी तथा युद्ध के द्वारा अपनी सीमा का विस्तार करने अथवा पड़ौसी राज्यों को हड़पने का प्रयत्न किया जाता है। आरंभ में, रोम साम्राज्य की विस्तारवादी नीति के लिए और बाद में फ्रांस के लुई चतुर्दश की क्षेत्रीय विस्तार की नीति के लिए यह शब्द प्रयुक्त हुआ। जर्मन राष्ट्रवादी आंदोलन के सूत्रधारों ने इसी विवर्धन नीति का अनुसरण किया।
  • Aggression -- आक्रमण, अग्र आक्रमण
किसी राष्ट्र की दूसरे राष्ट्र के विरुद्ध वैध अथवा प्रयोजनों से सशस्त्र कार्रवाई करने की स्थिति या दशा जिससे उसकी प्रादेशिक अखंडता अथवा राजनैतिक संप्रमुता का हनन होता है।
  • Aggressive militarism -- आक्रामक सैन्यवाद
किसी अन्य देश पर आक्रमण करने, उसे नीचा दिखाने या अपने देश की सीमा का विस्तार करने की नीति से प्रेरित सैन्य तैयारी। इसके अंतर्गत सैनिकों में साहस, धैर्य, अनुशासन और राजनीतिक मूल्यों के प्रति कट्टर आस्था के साथ-साथ अपने राष्ट्र के प्रति उत्कट प्रेम और आत्मबलिदान की क्षमता उत्पन्न की जाती है। यह उग्र राष्ट्रवाद का प्रतीक है। जर्मनी में हिटलर तथा जापान में 1932-45 तक टोजो सरकार इसके ज्वलंत उदाहरण हैं।
  • Aggressive nationalism -- आक्रामक राष्ट्रवाद
राष्ट्रवाद की वह उग्र एवं संकीर्ण भावना जो राष्ट्र के सीमोत्कर्ष और विस्तार की आकांक्षाओं से प्रेरित होकर सरकार पर सैनिक तैयारियाँ करने और उग्र नीतियाँ अपनाने के लिए दबाव डालती है। दे. Chauvinism भी।
  • Aggressive war -- आक्रामक युद्ध
वर्तमान अतर्राष्ट्रीय विधि के अनुसार कोई राज्य केवल आत्मरक्षार्थ युद्ध कर सकता है। यदि प्रदेश का विस्तार करने अथवा अन्य किसी प्रयोजन से अंतर्राष्ट्रीय विधि अथवा संधि समझौते के विपरीत, युद्ध किया जाए तो उसे आक्रामक युद्ध माना जाता है। (3) जब उसकी नौ, स्थल तथा वायु सेनाएँ युद्ध घोषणा कर या बिना पूर्व घोषणा किए ही, किसी दूसरे राज्य के भूभाग, पोतों या विभानों पर आक्रमण कर देती हैं। (4) वर्तमान अंतर्राष्ट्रीय विधि के अनुसार अग्र-आक्रमण अवैध माना जाता है और सुरक्षा परिषद् को संयुक्त राष्ट्र संघ के चार्टर के अर्तगत यह अधिकार दिया गया कि वह किसी सशस्त्र आक्रमण की परिस्थिति में निश्चित करे कि अग्र आक्रामक राज्य कौन है।
  • Aggressor -- आक्रामक
सन् 1933 में, निरस्त्रीकरण सम्मेलन की सुरक्षा विषयक प्रश्न समिति ने आक्रामक शब्द का प्रयोग उस राज्य के लिए किया था, जो निम्न प्रकार की कार्रवाई करने में पहल करता हो :- (1) जब वह किसी दूसरे राज्य पर युद्ध-घोषणा कर आक्रमण कर देता है। (2) जब उसकी सशस्त्र सेनाएँ, बिना युद्ध घोषणा किए किसी दूसरे राज्य के भूभाग पर आक्रमण कर देती हैं।
  • Agitation -- आंदोलन
किसी सामान्य हित से संबंधित माँगों अथवा शिकायतों के लिए सरकार अथवा संस्था, प्रतिष्ठान या कल-कारखाने के प्रबंधक मंडल के विरुद्ध किया गया सामूहिक और व्यापक संघर्ष।
  • Agitator -- आंदोलक, आंदोलनकर्ता, आंदोलनकारी
किसी प्रकार के राजनीतिक, आर्थिक, धार्मिक अथवा सामाजिक आंदोलन या संघर्ष को उकसाने या. भड़काने वाला या उनका नेतृत्व या प्रतिनिधित्व करने वाला व्यक्ति।
  • Agrarianism -- भूमिसुधारवाद
1. भू-संपत्ति के समान विभाजन – अथवा उसके न्यायपूर्ण और उचित पुनर्वितरण का सिद्धांत। 2. ऐसा सामाजिक अथवा राजनीतिक आंदोलन जिसका ध्येय भूमिसुधारों को क्रियान्वित कराना और कृषकों की आर्थिक स्थिति को सुधारना हो। यह उल्लेखनीय है कि भूमि सुधारवाद की दिशा में, भारत में जमीदारी प्रथा का उन्मूलन हुआ और भूदान आंदोलन का सूत्रपात हुआ।
  • Agrarian law -- भूमि संबंधी विधि
खेती योग्य भूमि के आबंटन, वितरण अथवा सीमा-निर्धारण करने अथवा भूमि स्वामित्व में परिवर्तन करने अथवा कृषि-उत्पादन में सुधार करने वाले कानून।
  • Agrarian movement -- भूमि संबंधी आंदोलन, कृषिक आंदोलन
इस प्रकार के आंदोलन विश्व के विभिन्न भागों में समय-समय पर होते रहे हैं। इन आंदोलनों के मुख्यतः दो लक्ष्य रहे हैं: (1) भूमि व्यवस्था से उत्पन्न किसानों के शोषण का अंत। उदाहरण के लिए भारत में जमींदारी व्यवस्था का उन्मूलन। (2) किसानों की दशाओं में सुधार और इसके लिए उन्हें विभिन्न प्रकार की सुविधाएँ उपलब्ध कराया जाना जिनमें यह माँग प्रमुख रही है कि भूमि पर स्वामित्व किसान का हो और उसे कृषि के लिए अच्छे बीज, उर्वरक, जल, बिजली, यातायात एवं भंडारण की सुविधाएँ तथा कम ब्याज पर ऋण उपलब्ध कराए जाएँ। इस प्रकार के आंदोलनों का स्वरूप विभिन्न परिस्थितियों में इस बात पर निर्मर रहा है कि इसका नेतृत्व किस राजनीतिक विचारधारा से प्रेरित था जैसे, भूमिहीन और खेतिहर मजदूरों के हितों के समर्थन में छेड़े गए आंदोलन का नेतृत्व समाजवादी एवं साम्यवादी विचारघाराओं से प्रभावित रहा। दूसरी ओर, मध्यवर्गीय और बड़े किसानों के हितार्थ आंदोलनों का नेतृत्व प्रायः आर्थिक व्यवस्था को यथापूर्व बनाए रखने वाले लोगों के हाथ में रहा है। भारत के संदर्भ में इस प्रकार के आंदोलन की उभरती हुई प्रवृत्ति यह है कि राजनीति में कृषकों की सक्रिय सहभागिता और प्रभावी भूमिका हो।
  • Agrarian reforms -- कृषि सुधार
इससे अभिप्राय है कृषि उत्पादन एवं कृषकों की दशाओं में सुधार लाया जाए। भारत के संदर्भ में कृषि सुधार का मुख्य लक्ष्य जमींदारी व्यवस्था का उन्मूलन था। परंतु इसके साथ ही, कृषि सुधार के अनेक विषय उभर कर आए जैसे वैयक्तिक स्वामित्व में कृषि भूमि की अधिकतम सीमा निर्धारित करना, अतिरिक्त भूमि का भूमिहीनों में वितरण, चकबंदी, खेतिहर मजदूरों की उचित मजदूरी निर्धारित करना, कृषकों के लिए उचित ब्याज पर ऋण उपलब्ध कराना एवं कृषि- उत्पादन के क्रय-विक्रय की व्यवस्था करना आदि। कृषि सुधार के अंतर्गत एक महत्वपूर्ण योजना बंजर, ऊसर या परती भूमि को कृषि योग्य बनाने की भी है।
  • Agreation -- प्रतिस्वीकृति
एक राजनयिक प्रक्रिया जिसके अंतर्गत कोई राज्य पहले ही यह निश्चय कर लेता है कि उसका प्रेष्य (या प्रस्तावित) दूत भेजे जाने वाले राज्य को स्वीकार्य है या नहीं।
  • Agricultural tariff -- कृषि टैरिफ, कृषि प्रशुल्क
खेती संबंधी उन्नतशील कार्योपायों को बढ़ावा देने के लिए कृषकों और भूमिधारियों पर लगाया गया प्रशुल्क।
  • Agricultural revolution (=Green Revolution) -- कृषि क्रांति, हरित क्रांति
कृषि के क्षेत्र में, वैज्ञानिक कार्योपायों द्वारा लाया गया नवप्रवर्तन। वैज्ञानिक यंत्रों, उपकरणों, उर्वरकों रासायनिक द्रव्यों आदि के प्रयोग-व्यवहार से कृषि के क्षेत्र में आमूल परिवर्तन की स्थिति आ गई है जिसे कृषि-क्रांति कहा जाता है। भारत में इसे “हरित क्रांति” कहा जाता है।
  • Aide memoire -- स्मारक पत्र
किसी प्रस्तावित समझौते अथवा राजनयिक संसूचना का लिखित सारांश या उसकी रूपरेखा ताकि भाविष्य में समझौता या संधि करते समय या वार्तालाप में वह उपयोगी हो।
  • Air attack -- हवाई आक्रमण
वायु सेनाओं का आकाशीय विमानों से प्रहार करना। इस प्रकार के आक्रमण में हवाई सेनाएँ वायुयानों से शत्रुदेश पर हमला करती हैं जिसके अंतर्गत वायुयान से बम आदि गिराकर शत्रु की छावनियों, सैन्य टुकड़ियों तथा रसद केंद्र और सैनिक महत्व के स्थानों को ही ध्वस्त नहीं किया जाता बल्कि शत्रु-सेना की गति को रोकना और अपनी सेना को हवाई संरक्षण प्रदान करना भी इसके उद्देश्य होते हैं।
  • Air base -- हवाई केंद्र, विमान स्थल
सैनिक वायुयानों की संक्रियाओं का केंद्र जहाँ पर वायुयानों के ठहरने और उनकी मरम्मत करने की व्यवस्था होती है, युद्ध-सामग्री को सुरक्षित रखने का भंडार होता है, विमान मरम्मत करने की व्यवस्था होती है, युद्ध-सामग्री को सुरक्षित रखने का भंडार होता है, विमान अधिकारियों को ठहराया जाता है और सैनिक-असैनिक उड़ानों पर नियंत्रण रखने का प्रशासनिक केंद्र होता है।
  • Air corridor -- हवाई गलियारा
किसी राज्य द्वारा विदेशी वायुयानों के पारगमन के लिए अपने आकाशवर्ती क्षेत्र में निर्दिष्ट की गई वायु-वीथि।
  • Aircraft carrier -- विमानवाहक पोत
ऐसा युद्धपोत जिस पर विमानों के परिवहन, उनके उतरने-उड़ने तथा उनकी मरम्मत और सुरक्षा आदि की व्यवस्था हो।
  • Air defence -- हवाई रक्षा
शत्रु के विमानों अथवा हवाई हमलों के आक्रामक प्रमाव को रोकने या न्यून करने के लिए अपनाए गए रक्षात्मक साधन तत्संबंधी तकनीक और व्यवस्था।
  • Air force -- वायु सेना
शस्त्रधारी वायुयानों का संगठन जो किसी देश के सैन्य बल का भाग होता है, इसका अपना प्रधान सेनापति होता है तथा यह वायुयुद्ध नियमावली से शासित होता है।
  • Airforce contingent -- वायु-सेना दल, वायु सेना का दस्ता, वायुसैनिकों का दल या वायु सैन्य टुकड़ी।
  • Air law -- हवाई परिवहन विधि हवाई
परिवहन से संबंधित नियमावली, जिसकी व्याख्या 1919 के पेरिस अभिसमय और 1944 के शिकागो अभिसमय द्वारा की गई है।
  • Airlift -- वायुवहन
1. वायुयान द्वारा कुमक अथवा रसद पानी पहुँचाना जैसे बर्लिंन नाकाबंदी के समय पश्चिमी राष्ट्रों द्वारा वहाँ वायुयानों से आवश्यक वस्तुएँ पहुँचाई गई थीं। 2. शत्रु सेना से धिरी या आपदग्रस्त सेना को हेलीकाप्टरों आदि के द्वारा सुरक्षित क्षेत्र में पहुँचाना।
  • Air operations -- हवाई संक्रियाएं
युद्ध काल में किसी राज्य के सैनिक – विमानों द्वारा शत्रु राज्य के विरुद्ध की गई आक्रामक कार्रवाई। इसमें सैनिक कार्रवाई की योजना तथा उसका क्रियान्वयन दोनों सम्मिलित हैं।
  • Air passage -- वायु मार्ग
वायुयानों के आवागमन का आकाशीय मार्ग।
  • Air raid -- हवाई हमला
किसी देश के जलक्षेत्र या भूमितल पर बमबार विमानों अथवा प्रक्षेपास्त्रों द्वारा आक्रमण।
  • Air raid precautions -- हवाई हमले से बचाव
शस्त्रु के हवाई हमले से बचने के लिए एहतियाती कार्रवाई जिसके अंतर्गत उपयुक्त स्थानों पर खंदकों, खाइयों और सुरक्षा शेडों के निर्माण आदि की ही व्यवस्था नहीं की जाती बल्कि बमबारी और उससे होनेवाले विस्फोट, आगज़नी और विनाश से बचाव के लिए पूर्वोपाय भी व्यापक रूप से किए जाते है और नागरिकों को उनके विषय में प्रशिक्षित क्रिया जाता है।
  • Air raid shelter -- हवाई हमला आश्रयस्थल,
हवाई हमला रक्षास्थल शत्रु के वायुयानों, लड़ाकू बमबारों, युद्ध पोतों आदि द्वारा बमबारी किए जाने या वैमानिक हमला होने की स्थिति में रक्षात्मक पूर्वोपायों के रूप में बने सुरक्षा शेड, दुर्मेद्य शरण स्थल, आदि जहाँ सैनिक-असैनिक लोग अपने प्राणों की रक्षा कर सकें।
  • Air sovereignty -- आकाशी प्रभुसत्ता,
हवाई प्रभुता प्रत्येक देश को अपने भू भाग और जलक्षेत्र के ऊपर के आकाश पर पूर्ण प्रभुत्व प्राप्त होता है। किसी देश के आकाशी अधिकार-क्षेत्र से गुजरने से पूर्व किसी भी अन्य देशीय वायुयान को, उस देश से अनुमति लेनी पड़ती है। वस्तुतः जल-क्षेत्र और स्थल-क्षेत्र के समान ही नम-क्षेत्र भी अंतर्राष्ट्रीय विधि के अनुसार अनुल्लंघनीय माना गया है। आकाशी अधिकार-क्षेत्र का अतिक्रमण या उल्लंघन अंतर्राष्ट्रीय विधि के अनुसार अपराध है।
  • Air space -- आकाशी क्षेत्र
किसी देश की भूमि या उसके जलक्षेत्र के ऊपर का आकाशी क्षेत्र, जो उसके क्षेत्राधिकार में माना जाता है और जहाँ उसकी संप्रभूता लागू होती है। इसकी आकाशवर्ती सीमा वहाँ समाप्त हो जाती है जहाँ से अंतरिक्ष का प्रारंभ होता है।
  • Air supremacy -- आकाशी श्रेष्ठता, हवार्ह श्रेष्ठता
हवाई उड़ानों, वायुयानों, बमबार लड़ाकू यानों विषयक तथा आकाश से धरती पर मार करने की उच्चतर क्षमता।
  • Air surveillance -- नभीय निगरानी
किसी देश द्वारा अपनी सुरक्षा के लिए उन प्रदेशों एवं भूभागों का निरीक्षण करना जिनसे देश के लिए सामरिक महत्व के तथ्य प्राप्त किए जा सकते हैं। वर्तमान काल में वायुयान के साथ-साथ यह कार्य अंतरिक्ष में छोड़े गए कृत्रिम उपग्रहों द्वारा भी किया जा रहा है।
  • Air umbrella -- हवाई छतरी
जल सेना और स्थल सेना की आक्रामक संक्रिया में वायुसेना द्वारा सहायता एवं संरक्षण प्रदान किया जाना।
  • Air warfare -- आकाशी युद्ध, हवाई युद्ध
विरोधी वायु सेनाओं के बीच वायुयानों द्वारा हुआ युद्ध जिसमें प्रक्षेपास्त्रों, बमों आदि का प्रयोग किया जाता है और जिसका उद्देश्य धरती पर शत्रुपक्ष के सैन्यबल का विनाश कर देना होता है।
  • Alarmist propaganda -- भयोत्पादक प्रचार
किसी नीति, स्थिति, घटना या विशिष्ट विषय के संदर्भ में भय और उत्तेजना फैलाने अथवा मनोबल तोड़ने के उद्देश्य से किया गया दुष्प्रचार।
  • Al-Fatah -- अलफ़तह,
फिलिस्तीनी विमुक्ति मोर्चा फिलिस्तीनी सैनिकों का संगठित सशस्त्र गुट जो इज़राइल के विरुद्ध आतंकवादी कार्रवाई करता रहा है और जो फिलिस्तीन को यहूदियों से स्वतंत्र कराने के लिए प्रतिबद्ध है।
  • Alliance -- सहबंध
दो या अधिक राज्यों के मध्य ऐसा गुप्त अथवा सार्वजनिक औपचारिक समझौता जिसके अंतर्गत ये राज्य किसी सामान्य लक्ष्य अथवा नीति की पूर्ति के लिए तथा परस्पर सैनिक अथवा राजनयिक सहायता देने हेतु बचनबद्ध होते हैं। साधारणतया सहबंध का उद्देश्य अन्य राज्यों के विरुद्ध संविदाकारी राज्यों की संप्रभुता और प्रादेशिक अखंडता को अक्षुण्ण बनाए रखना होता है।
  • Alliance for progress -- प्रगति के लिए सहबंध
कैनेडी प्रशासन द्वारा विकसित लातीनी अमेरिका के राज्यों के लिए वैदेशिक सहायता का कार्यक्रम।
  • Allied and associate powers (= allied nations) -- मित्र एवं सहचारी शक्तियां
दो महायुद्धों में जर्मनी और उससे संबद्ध राष्ट्रों के विरुद्ध संगठित राष्ट्रों का गठबंधन जिन्हें मित्रराष्ट्र कहा गया। प्रथम महायुद्ध में इस प्रकार 26 राष्ट्र संबद्ध हुए जिनमें पाँच प्रमुख राष्ट्र ही मित्रराष्ट्र कहे जाते थे जो इस प्रकार हैं अमेरिका, ग्रेट ब्रिटेन, फ्रांस हटली और ज्ञापान। इसके अतिरिक्त 21 सहबद्ध तथा सहयोगी राष्ट्र थे जिनके नाम इस प्रकार है: बेल्जियम, बोलिविया, ब्राजील, चीन, क्यूबा, चेकोस्लोवाकिया, इक्वेडर, यूनान, ग्वाटेमाला, हौंडुरस, लायबेरिया, निकारागुआ, पनामा, पेरू6, पौलेंड, पुर्तगाल, रूमानिया, युगोस्लाविया, श्याम तथा उरूगवे। परन्तु द्वितीय महायुद्ध में प्रमुख राष्ट्रों में संयुक्त राज्य अमेरिका, सोवियत संघ, ग्रेट ब्रिटेन और फ्रांस ही थे।
  • Allied Council -- मित्र राष्ट्र परिषद्
द्वितीय महायुद्ध के खत्म होने पर मित्र राष्ट्रों द्वारा गठित परिषद जिसे पराजित राज्यों के विषय में सभी नीति संबंधी निर्णय लेने के अधिकार थे। इस प्रकार की दो परिषदों का गठन किया गया था, एक जर्मनी के लिए जिसके सदस्य थे संयुक्त राज्य अमेरिका, सोवियत संघ, ग्रेट ब्रिटेन और फ्रांस। दूसरी परिषद जापान के लिए गठित की गई थी परन्तु इसमें फ्रांस के स्थान पर चीन को रखा गया था।
  • Allied Council for Japan -- जापान के लिए मित्र राष्ट्र परिषद्
द्वितीय विश्व युद्ध के उपरांत विजित जापान में मित्र शक्तियों के हितों का प्रबंध करने वाला शासी निकाय। 14 अगस्त, 1945 को जापान के समर्पण के पश्चात् जनरल डगलस मैकआर्थर मित्र राष्ट्र परिषद् के सर्वाच्च कमांडर नियुक्त हुए जिनका स्थान 1951 में जनरल मैथ्यू वी. रिज़वे ने लिया।
  • Allied High Commission -- मित्र राष्ट्र उच्च आयोग
संयुक्त राज्य अमेरिका, ग्रेट ब्रिटेन और फ्रांस की सरकारों द्वारा नामोद्दिष्ट तीन व्यक्तियों से गठित आयोग जिसे द्वितीय महायुद्ध के उपरांत जर्मनी के आत्मसमर्पण तथा उसका विभाजन कर दिए जाने पर पश्चिमी राष्ट्रों के अधीनस्थ क्षेत्रों के शासन तथा नियंत्रण का सर्वोच्च अधिकार दिया गया था।
  • Allied Military Government -- मित्रराष्ट्र सैनिक सरकार
दोनों विश्व युद्धों में विजित क्षेत्रों में मित्रराष्ट्रों द्वारा संयुक्त सैनिक शासन।
  • Allies -- मित्र राष्ट्र
किसी संधि के अंतर्गत सहबद्ध राज्य या अधिराष्ट्र। समान उद्देश्य अथवा हित संवर्धन के लिए किसी सहबंध समझौते अथा संधि के अंतर्गत संयुक्त संगठन या सहबद्ध राज्य। दोनों विश्व युद्धों में जर्मनी के विरुद्ध लड़ने वाले राष्ट्रों को मित्र राष्ट्र कहा जाता था।
  • All India Services -- अखिल भारतीय सेवाएँ
भारतीय संविधान में “अखिल भारतीय सेवाएँ” के नाम से उल्लिखित पदाधिकारी वर्ग जिनका चयन संघ लोकसेवा आयोग की परीक्षा के साध्यम से केंद्रीय सरकार करती है और चयनित अधिकारियों को विभिन्न राज्यों में नियुक्ति के लिए आबंटित किया जाता है। उनका स्थानांतरण केवल संबंधित राज्यों में ही हो सकता है अथवा केंद्र में इनकी प्रतिनियुक्ति हो सकती है। अखिल भारतीय सेवाओं के कुछ उदाहरण हैं- 1. भारतीय प्रशासनिक सेवा, 2. भारतीय पुलिस सेवा, और 3. भारतीय वन सेवा।
  • Allocation of time -- समय का विनिधान
1. संसद या विधान सभा के किसी सदन में उसके सदस्यों द्वारा किसी तात्कालिक महत्वपूर्ण, अत्यावश्यक अथवा अविलंबनीय विषय या प्रस्ताव पर विचार-विमर्श करने के लिए अध्यक्ष द्वारा निर्धारित या निर्दिष्ट समय या नियतन की व्यवस्था।
2. विभिन्न कार्यों, विषयों, मदों या प्रस्तावों आदि पर सम्यक् विचार-विमर्श या वाद- विवाद करने के लिए किसी समर्थ पदाधिकारी द्वारा विचारावधि का विषयवार बंटवारा। इस प्रकार आबंटित समय में ही, पूर्व निर्धारित कार्य को पूरा करने का यथासाध्य प्रयत्न किया जाता है।
3. संसद के किसी एक सदन में, अध्यक्ष की अनुमति से किसी विशिष्ट विधेयक, प्रस्ताव या किसी महत्वपूण राष्ट्रीय प्रश्न या समस्या पर संसद सदस्यों द्वारा पारस्परिक तर्क- वितर्क, चर्चा-वार्ता आदि के लिए समय नियतन की व्यवस्था।
  • Alternate members -- वैकल्पिक सदस्य
कुछ दलों संगठनों तथा दलों के निकायों (जैसे, सोवियत संघ के साम्यवादी दल का पोलित ब्यूरो अथवा केंद्रीय समिति) में सदस्यों के अतिरिक्त वैकल्पिक सदस्य थे। प्रत्येक वैकल्पिक सदस्य को अपने मूल सदस्य की अनुपस्थिति में न्यायालय की कार्यवाही में भाग लेने का अधिकार था।
  • Alternative vote -- वैकल्पिक मत, दे. Preferential voting.
  • Ambassador -- राजदूत
किसी अन्य देश की राजधानी में अपने राज्य के प्रतिनिधि के रूप में सर्वोच्च राजनयिक प्रतिनिधि।
  • Ambassador designate -- नामोद्दिष्ट राजदूत
किसी राज्य की ओर से मनोतीन, नामित (नामज़द) या नियुक्त राजदूत। इस पद का प्रयोग नियुक्त राजदूत द्वारा कार्यभार संभालने के पूर्व की स्थिति के लिए किया जाता है।
  • Ambassadorial functions -- राजदूतीय कार्य
किसी देश में नियुक्त राजदूत के कार्य बहुविध होते हैं। मूर्धन्य राजनयिक होने के साथ-साथ वह राजनीतिक घटनाचक्रों का जागरूक प्रेक्षक, अपने राज्याध्यक्ष का वैयक्तिक प्रतिनिधि, अपने राज्य के हितों का संरक्षक, सरकारी सूचना, सेवा और सहायता का स्रोत होता है। वह जिस राज्य में भेजा जाता है उसके राज्याध्यक्ष आदि से किसी भी नीति, घटना, विवाद या विषय में सूचना और स्पष्टीकरण आदि ले-दे सकता है। वस्तुतः उसका मुख्य कार्य अपनी नियुक्ति के देश में अपने राज्य के हितों की देखभाल और रक्षा करना है, किन्तु इसके साथ ही वह अपने राज्याध्यक्ष को तद्देशीय आवश्यक सूचना और सलाह भी देता है तथा निदेशित नीति को क्रियान्वित कराता है। इसे स्थानीय राज्य से संधि और समझौते करने का अधिकार भी होता है। राजदूतों के कार्य और विशेषाधिकार एवम उन्मुक्तियों को 1961 के वियना कन्वेंशन द्वारा संहिताबद्ध कर दिया गया है।
  • Ambassadorial precincts -- दूतावास क्षेत्र
राजदूत का निवास-स्थान तथा कार्य स्थल जिसे चांसरी भी कहा जाता है।
  • Ambassador’s suite -- राजदूत-अनुचरवर्ग
राजदूत के वैयक्तिक अनुचरों, परिजनों आदि का वर्ग।
  • Amending power -- संशोधनाधिकार
मूल विधि अथवा संविधान में संशोधन या परिवर्तन करने का अधिकार। संविधान में संशोधन करने का अधिकार और इसकी प्रक्रिया का उल्लेख स्वयं संविधान में होता है। विभिन्न देशों के संविधानों में विभिन्न व्यवस्थाएँ पाई जाती हैं। संशोधन प्रक्रिया में प्रायः संसद का अवश्य ही मुख्य भाग होता है।
  • American Civil Liberties Union (ACLU) -- अमेरिकी नागरिक स्वतंत्रता संघ
प्रजातीय व अन्य भेदभावों के कारण नागरिक अधिकारों के उल्लंघन से संत्रस्त व्यक्तियों की, नागरिक स्वतंत्रता की उन्नति और उसकी सुरक्षा के लिए सन 1920 में स्थापित संस्था। यह संस्था नागरिकों को विधिक परामर्श, प्रतिभूति या इसी प्रकार की अन्य सेवाएँ प्रदान करती है।
  • American Institute of Public Opinion (Gallup) -- अमेरिकी लोकमत संस्थान (गैलप)
इसका निर्माण जार्ज एच. गैलप ने सन् 1935 में संयुक्त राज्य अमेरिका में जनमत विशेषकर निर्वाचनों में मतव्यवहार का अध्ययन करने के उद्देश्य से किया। प्रिंसटन, न्यू जर्सी में स्थित यह संस्थान मताचरण एवं राजनीतिक अभ्यार्थियों की लोकप्रियता तथा लोक-कार्यों विषयक जनसाधारण की प्रतिक्रिया का पता लगाने के लिए यथावसर मत संग्रह की व्यवस्था करता है।
  • Americanism -- अमेरिकीवाद
संयुक्त राज्य अमेरिका की परंपराओं, उसके मूल्यों, आदर्शों और लोकतांत्रिक शासन पद्धति के प्रति निष्ठा और आग्रह की भावना।
  • Amicable settlement -- सौहार्दपूर्ण समझौता
दो या अधिक पक्षों के मध्य शांति एवं सौहार्दपूर्ण विधि अथवा उपायों से विवाद या मतभेद का निपटारा। ऐसे उपायों में वार्तालाप, सर्त्सेवा, मध्यस्थता, न्यायिक प्रक्रिया व विवाचन शामिल हैं।
  • Amicus curiae (=a friend of the court) -- न्यायालय मित्र
1. न्यायाधीश को, किसी विवाद्य विषय पर विधि पक्ष से अवगत कराने वाला विधिक व्यक्ति।
2. ऐसा व्यक्ति जो विवादी पक्षों में से किसी पक्ष को व्यक्तिगत रूप से नहीं जानता और जिसकी सुनवाई, न्यायालय की अनुमति से, किसी विधिक कार्य में सहायतार्थ हो सकती है।
  • Amnesty -- सर्वक्षमा, सामूहिक क्षमादान, राजक्षमा
1. यह शब्द मूलत: यूनानी भाषा के शब्द “एमनेस्यूया” से बना है। जब राज्य द्वारा किसी विशिष्ट अवसर, समारोह, महत्वपूर्ण घटना अथवा शासन परिवर्तन के उपलक्ष्य में राजनीतिक अथवा अन्य प्रकार के दोषारोपित या दोष सिद्ध अपराधियों को सामूहिक क्षमा और बंदीकरण से मुक्त किया जाता है तब इसे सर्वक्षमा कहा जाता है।
2. किसी दंडनीय अपराध के लिए बहुत से दोषारोपित या दोपसिद्धि व्यक्तियों को एक साथ सामूहिक रूप से सत्ताधिकारी सरकार, राजा आदि द्वारा क्षमा प्रदान करने का कार्य।
  • Amnesty International -- ऐमनेस्टी इंटरनेशनल
लन्दन स्थित एक ऐसी गैर-सरकारी स्वैच्छिक अंतर्राष्ट्रीय संस्था जिसका लक्ष्य संसार भर में मानवाधिकारों पर हुए अतिक्रमण की जाँच करना, उनके विवरण प्रस्तुत करना, संबंधित सरकारों तथा विश्व जनमत का ध्यान इस ओर आकृष्ट करना तथा आवश्यक उपचारों का सुझाव देना एवं प्रभावित व्यक्तियों को सहायता प्रदान करना है।
  • Anarchism -- अराजकतावाद
राज्य की आवश्यकता और उपयोगिता में अनास्था रखनेवाला तथा राजय, सत्ता और शासनविहीन स्वैच्छिक सहयोग पर आधारित आदर्श समाज की स्थापना में विश्वास करने वाला राजनीतिक सिद्धांत। अराजकतावादियों ने व्यवित्तगत संपत्ति का विरोध किया यहाँ तक कि इसके एक प्रमुख विचारक प्रूधो (Proudhou) ने तो यह घोषित कर दिया कि संपत्ति चोरी है। अराजकतावाद के अन्य समर्थकों में क्रोपॉटकिन, बाकुनिन आदि विचारकों के नाम उल्लेखनीय हैं।
  • Anarchist -- अराजकतावादी, दे. anarchism.
  • Anarchy -- अराजकता
1. शासनविहीन स्थिति, सरकारी सत्ता के अभाव में विधिहीनता की स्थिति अथवा राजनीतिक अव्यवस्था।
2. ऐसा काल्पनिक समाज जो शासनविहीन हो और जहाँ नागरिक पूर्णरूपेण स्वच्छंद हों।
  • Angary -- युद्ध संकटाधिकार
अंतर्राष्ट्रीय विधि के अंतर्गत युद्धकारी राष्ट्र का वह अधिकार जिसके अनुसार वह आवश्यकता पड़ने पर, अपने क्षेत्राधिकार अथवा महासमुद्र अथवा शत्रु प्रदेश में विद्यमान किसी तटस्थ राष्ट्र की संपत्ति पर कब्जा कर उसका प्रयोग कर सकता है या उसे नष्ट भी कर सकता है। परन्तु उसे क्षतिग्रस्त संपत्ति के स्वामी को क्षतिपूर्ति करनी होती है और यदि संपत्ति नष्ट न हो गई हो तो संकट समाप्त होने पर उसे उसके स्वामी को लौटाना होता है।
  • Annexation -- राज्य में मिला लेना, समामेलन
अर्पण अथवा विजय से प्राप्त प्रदेश को अपने राज्य में मिला लेना। विजय के उपरांत या तो शांति संधि की व्यवस्था के अंतर्गत अथवा एकपक्षीय घोषणा के द्वारा भी जीते हुए प्रदेश को विजेता राज्य द्वारा अपने राज्य में मिलाया जा सकता है।
  • Anointment -- राज्याभिषेक, राज्यारोहण, दे. Coronation.
  • Anomic group -- अप्रतिमान समूह
दैनंदिन जीवन की सामाजिक समस्याओं एवं उत्पीड़न की प्रतिक्रिया तथा प्रतिरोधस्वरूप उभरा आकस्मिक, असंगठित तथा अस्थायी जनसमूह। इस प्रकार का समूह अपना आक्रोश सामान्यतया सीधी कार्रवाई द्वारा प्रदर्शित करता है जैसे, प्रदर्शन, घेराव, तोड़फोड़ इत्यादि। यदि ऐसा समूह कालांतर में स्थायी गुट के रूप में परिवर्तित हो जाता है तो वह “अप्रतिमान समूह” नहीं रह जाता।
  • Antagonistic coalition -- विरोधी संघट्ट
समान उद्देश्य, हित अथवा संयुक्त कार्य की सिद्धि के लिए दो या अधिक विरोधी दलों, प्रतिस्पर्धी व्यक्तियों या शक्तियों, प्रतिद्वंद्वी राज्यों या विरोधी राष्ट्रों में किया गया अस्थायी सहयोगपरक गठबंधन। इस प्रकार का विरोधी संघट्ट वस्तुतः किसी विशिष्ट प्रयोजन के लिए और पूर्णतः अस्थायी होता है। संसदीय निर्वाचन या संयुक्त सरकार संबंधी प्रयोजनों के लिए इस प्रकार का गठजोड़ भारतीय राजनीति में बराबर होता रहा है।
  • Antarctic claims -- एन्टार्कटिका संबंधी दावे
एन्टार्कटिका (दक्षिण ध्रुव प्रदेश) महाद्वीप संबंधी अनेक देशों ने “क्षेत्र खंड सिद्धांत” के आधार पर अपने राष्ट्रीय काल्पनिक दावे किए थे जो परस्पर विरोधी थे परन्तु एन्टार्कटिका समझौता, 1959 के अंतर्गत इन सब राष्ट्रीय दावों को मान्यता न देते हुए यह व्यवस्था की गई है कि एन्टार्कटिका के अन्वेषण का अधिकार सब देशों को है और इस कार्य में सभी राष्ट्र सहयोग करेंगे।
  • Anti-apartheid movement -- रंग-भेद विरोधी आंदोलन
दक्षिण अफ्रीका में रंगभेद और अश्वेत प्रजातियों के पृथक्वासन का विरोधी आंदोलन। संयुक्त राष्ट्र संघ में, सन 1953 से किया जा रहा रंगभेद और पृथक्वासन-विरोधी अभियान। यह उल्लेखनीय है कि संयुक्त राष्ट्रसंघ ने दक्षिण अफ्रीकी शासन की नीतियों को “मानव अधिकारों का हनन” और “अंतर्राष्ट्रीय शांति के लिए खतरा” बताया है। गुट निरपेक्ष आंदोलन के कार्यक्रमों में भी यह एक प्रमुख मुद्दा है।
  • Anti-colonialism -- उपनिवेश विरोध
प्रथम विश्व युद्ध के उपरांत विश्व में उपनिवेशवाद के विरुद्ध एक भावना ने जन्म लिया जिसने शनैः शनैः आंदोलन का रूप धारण कर लिया। इसका लक्ष्य सभी लोगों के आत्मनिर्णय के अधिकार की माँग करते हुए सभी उपनिवेशों को स्वतंत्र करने के लिए औपनिवेशिक शक्तियों पर दबाब डालना था। द्वितीय विश्व युद्ध के उपरांत सभी उपनिवेश धीरे-धीरे स्वतंत्र हो गए। साम्यवादी देश और गुट निरपेक्ष राज्य उपनिवेशवाद के कट्टर विरोधी रहे हैं।
  • Anti-Comintern Pact -- कोमिंटर्न विरोधी समझौता
साम्यवादी प्रसार-प्रचार को रोकने तथा तृतीय अंतर्राष्ट्रीय साम्यवादी संगठन (Third International) के विरुद्ध 17 नवम्बर, 1936 को जर्मनी तथा जापान के मध्य हुआ समझौता। इस समझौते पर बाद में इटली, स्पेन, हंगरी, रूमानिया, बल्गेरिया, स्लोवाकिया, क्रोशिया, डेन्मार्क, फिनलैंड तथा मंचूको और नानकिंग की जापानी कठपुतली सरकारों की ओर से हस्ताक्षर किए गए।
  • Anti-fascist -- फासिस्ट विरोधी, फास्टिवाद विरोधी
1. सन् 1919 में स्थापित इतालवी संगठन और उसके नेता बेनिटो मुसोलिनी के नेतृत्व में बनी सरकार का विरोधी।
2. फासिज्म का प्रतिरोध या विरोध करने वाला।
3. निरंकुश सर्वाधिकारवादी राज्य का विरोधी।
4. स्पेन में जनरल फ्रांकों द्वारा स्थापित फासिस् सरकार और स्पेनी फासिस्ट दल का विरोधी।
  • Anti-federalist -- संघवादविरोधी
अमेरिकी संविधान के निर्माण तथा सत्यांकन के समय अमेरिकी राजनीतिज्ञों का वह गुट जो संविधान के प्रारूप में शक्ति के केंद्रीकरण के विरोधी थे और राज्यों की पृथक पहचान बनाए रखना चाहते थे तथा इसी कारण संविधान के सत्यांकन का विरोध कर रहे थे।
  • Anti-imperialistic wars -- साम्राज्यवाद विरोधी युद्ध
संसार में समय-समय पर साम्राज्यवादियों के विरुद्ध होने वाले संघर्ष जिन्हें सामाज्यवाद विरोधी युद्ध कहा गया है। जैसे, नेपोलियन की विस्तारवादी प्रवृत्तियों के विरुद्ध यूरोपीय शक्तियों के गठबंधन द्वारा लड़े गए युद्ध। इनमें रूस में रोमोनोक के विरुद्ध साम्यवादियों का संघर्ष भी शामिल है।
  • Anti-militarism -- सैन्यतंत्र विरोध, प्रतिसैन्यवाद
1. सैन्य-तंत्र या सैन्यवाद का विरोध करने वाली जन-भावना या रीति-नीति।
2. किसी देश की शासन व्यवस्था को सेना की अधीनता से मुक्त कराने की नीति।
3. सैन्य-तंत्र के विरोध हेतु स्थापित और सुनियोजित संघर्ष।
  • Anti-missile -- प्रतिप्रेक्षपास्त्र
प्रक्षेपास्त्रों का सामना करने और उन्हें मार्ग में ही नष्ट-भ्रष्ट करने में सहायक और प्रयुक्त अस्त्र।
  • Anti-party’ group -- स्वदल-विरोधी
समूह एक ही दल में, गुटपरक भावना से प्रेरित छोटा समूह जो दल की रीति-नीतियों का प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से विरोध करता है।
  • Anti-power politics -- प्रति शक्तिपरक राजनीति
ऐसी राजनीति जिसका ध्येय सत्तापरक और मूल्यविहीन नीतियों का विरोध करना हो।
  • Anti-revolutionary -- क्रांति-विरोधी
बल प्रयोग द्वारा सत्ता-प्राप्ति और सामाजिक संरचना में आधारभूत परिवर्तन करने का विरोधी। अक्तूबर सन् 1917 में रूस में हुई क्रांति का विरोधी, प्रतिक्रियावादी।
  • Anti-status quo nations -- यथापूर्व-स्थिति-विरोधी राष्ट्र
वे राष्ट्र जो यथापूर्व-स्थिति बनाए रखने के पक्षपाती राष्ट्रों की रीति-नीतियों के प्रतिरोधी या विरोधी हों।
  • Anti-trust laws -- न्यास विरोधी क़ानून
वे क़ानून जिनका उद्देश्य व्यापार और वाणिज्य के क्षेत्र में कंपनियों और निगमों की एकाधिकारी प्रवृत्तियों पर रोक लगाना है। यह इसलिए आवश्यक हो जाता है कि ऐसे क़ानूनों के अभाव में एकाधिकारी व्यावसायिक हित और अपना प्रभाव क्षेत्र राजनैतिक और सामाजिक दायरों में न बढ़ा सकें। कई देशों के अनुभव से यह माना जाने लगा है कि ऐसी एकाधिकारी प्रवृत्तियों के प्रभाव से राजनैतिक और सामाजिक व्यवस्था दूषित हो सकती है। उदाहरण के लिए अमेरिका के न्यास विरोधी क़ानून और भारत के एकाधिकार तथा अवरोधक व्यापारिक व्यवहार अधिनियम (एम. आर. टी. पी. एक्ट)।
  • Apartheid -- प्रजाति-पार्थक्य, रंगभेद
दक्षिणी अफ्रीकी सरकार की श्वेतों का प्रभुत्व बनाए रखने के लिए स्थानीय अश्वतों को जो जनसंख्या के 71% भाग हैं, श्वेतों से अलग रखने की नीति, यहाँ तक कि उनके आवास- क्षेत्र भी श्वेतों से अलग हैं। प्रजाति प्रथक्करण रंगभेद की नीति का चरम स्वरूप है। इसके अंतर्गत अश्वेतों केसंपत्ति खरीदने, चुनावों में भाग लेने, व्यापार व्यवसाय चुनने के अधकारों पर अनेक प्रतिबंध हैं। वे विजातियों में विवाह नहीं कर सकते। इनकी शिक्षण संस्थाएँ, अस्पताल आदि सब श्वेतों से अलग हैं। इनके आवास-क्षेत्र भी श्वेतों से दूर और अलग है। इनकी प्रथक बस्तियाँ-बान्टूलैंड बनाई गईं। इनके राजनीतिक, आर्थिक, सामाजिक और कानूनी अधिकार श्वेतों के अधिकारों की अपेक्षा बहुत सीमित हैं। प्रजाति-पार्थक्य-नीति का अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कड़ा विरोध हुआ है और अनेक देश जिनमें भारत एक है दक्षिण अफ्रीका से कोई राजनीतिक या आर्थिक संबंध नहीं रखते। संयुक्त राष्ट्र ने इस नीति की भर्त्सना की है और इसे मानव जाति के विरूद्ध अपराध माना है।
  • Appanage (= apanage) -- राजदेय, गुज़ारा
1. किसी अधिराट या विधायी निकाय द्वारा राजपरिवार के आश्रित सदस्यों या शासक के विश्वसनीय प्रमुख अनुचरों (स्वामिभक्तों) को भरण-पोषणार्थ दिया जाने वाला अनुदान (जैसे, भूमि, पद, राजस्व या धन का अनुदान)।
2. सम्राट के परिवार के सदस्यों, विशेषकर युवराज व राजकुमारों व राजकुमारियों को देय राजवृत्ति जो उन्हें जन्मसिद्ध अधिकार के रूप में प्राप्त होती है।
  • Appeasement policy -- तुष्टीकरण नीति
किसी सत्ता या शक्ति अथवा वर्ग को येनकेन प्रकारेण संतुष्ट और शांत रखने की नीति। सन् 1937-38 में जर्मनी और इटली द्वारा एक के बाद दूसरा प्रदेश विजित करते रहने पर भी फ्रांस और इंग्लैंड जैसे लोकतंत्रीय देशों द्वारा उक्त आक्रामक देशों को शांत और संतुष्ट रखने के लिए दी गई रियायतें और हिटलर तथा मुसोलिनी के साथ किया गया मृदु व्यवहार तुष्टीकरण की नीति का ज्वलंत उदाहरण है। इस नीति के परिणामस्वरूप ही हटली ने अबीसीनिया पर और जर्मनी ने ऑस्ट्रिया पर अधिकार कर लिया। यही नहीं, इटली और जर्मनी के हस्तक्षेप से स्पेन का गणराज्य भी फासिस्ट राज्य के रूप में परिवर्तित हो गया। यह सब होने पर भी इंग्लैंड ने जर्मनी के साथ म्यूनिख समझौता किया जिसका उल्लंघन कर स्वयं जर्मनी ने 15 मार्च, 1939 को चैकोस्लोवाकिया पर अधिकार कर लिया। अन्ततः विफल मनोरथ और बाध्य होकर इंग्लैंड को तुष्टीकरण की नीति त्यागनी पड़ी और युद्ध करना पड़ा।
  • Appellate jurisdiction -- अपीलीय क्षेत्राधिकार, अपीली अधिकारिता
न्यायालय अथवा इसी कोटि के अन्य अधिकरणों का वह अधिकार-क्षेत्र जिसके अंतर्गत वे अवर न्यायालयों अथवा अधिकरणों द्वारा निर्णीत वादों पर विधिक अथवा तथ्यों या दोनों दृष्टियों से पुनर्विचार कर सकते हैं।
  • Approaching war -- आसन्न युद्ध
शीघ्र आशंकित युद्ध निकट भविष्य में संभावित सशस्त्र संघर्ष।
  • Appropriation act -- विनियोग अधिनियम
विभिन्न शासकीय विभागों द्वारा आगामी वित्तीय वर्ष में अपना शासन कार्य संचालित करने तथा अपनी दिन-प्रतिदिन की आवश्यकताओं की पूर्ति करने के लिए धनराशि की माँग की जाती है जिसके लिए संसद की स्वीकृति आवश्यक होती है। इन विभिन्न मंत्रालयों के लिए स्वीकृत माँगों को एक विधेयक के रूप में प्रेषित किया जाता है जिसे विनियोग विधेयक कहते हैं। संसद के दोनों सदनों द्वारा पारित किए जाने के पश्चात् विनियोग विधेयक विनियोग अधिनियम बन जाता है।
  • Appropriation bill -- विनियोग विधेयक
बजट में समाविष्ट विभिन्न मंत्रालयों एवं विभागों के व्यय संबंधी प्रस्तावों को वैधानिक रूप देने के लिए संसद में प्रस्तुत विधेयक।
  • A priori politics -- अनुभव निरपेक्ष राजनीति/ प्रागनुभविक राजनीति
पूर्व सिद्ध आनुमानिक, धारणात्मक, निगमनात्मक अथवा प्रकल्पित राजनीति जिसमें विभिन्न प्रकारके राजनीतिक प्रयोगों का कोई स्थान नहीं होता।
  • Arab League -- अरब संघ, अरब लीग
सन् 1944 के शरतकाल में अलैक्जैंडिया में आयोजित अरब एकता उपक्रम सम्मेलन के निर्णयों के परिणामस्वरूप 10 मई, 1945 को मिस (संयुक्त अरब गणराज्य), ईराक, जॉर्डन, लेबेनॉन, सऊदी अरब, यमन और सीरिया द्वारा स्थापित एक स्वेच्छिक संघ। इसका मूल उद्देश्य अरब राष्ट्रों की एकता की भावना को दृढ़ बनाना, उपनिवेशवाद और शीतयुद्ध का विरोध, गुट निरपेक्षता का समर्थन एवं इज़राइल राज्य का विरोध करना रहा है। इस संघ में फिलिस्तीनी अरबों के प्रतिनिधित्व की विशेष व्यवस्था की गई थी। अब इसकी सदस्य संख्या 22 हो गई है और पी. एल. ओ. इसका पूर्ण सदस्य बन गया है।
  • Arab nationalism -- अरब राष्ट्रवाद
अरब राष्ट्रों का एक व्यापक राजनैतिक एवं सांस्कृतिक आंदोलन जिसका उद्देश्य अरब राज्यों की स्वतंत्रता की रक्षा करना, अरब संस्कृति का पुनरोदय और अंततोगत्वा अरबी भाषी लोगों की एकता के लक्ष्यों को प्राप्त करना है। इस आंदोलन का प्रारंभ वर्तमान शताब्दी के आरंभिक वर्षों में हुआ परन्तु यह 1948 के फिलिस्तीनी संकट के दौरान तीव्र हो गया।
  • Arbiter -- विवाचक, दे. arbitration.
  • Arbitrable -- विवाचनीय, विवाचन-योग्य
विवाचन द्वारा निर्णय करने योग्य या विवाचक को निर्णयार्थ भेजने योग्य।
  • Arbitral tribunal -- विवाचन न्यायाधिकरण
अंतर्राष्ट्रीय विवादों के पंच-निर्णय के लिए विवादग्रस्त पक्षों की पारस्परिक सहमति से संगठित निकाय अथवा आयोग जिसमें दोनों पक्षों के बराबर संख्या में सदस्य होते हैं और अध्यक्ष सबकी सहमति से चुना जाता है। न्यायाधिकार को विवाचन-समझौते की शर्तों के अनुसार निर्णय करने का अधिकार होता है और इसके निर्णय को पंचाट कहा जाता है जो दोनों पक्षों के लिए बाध्यकारी होता है।
  • Arbitration -- विवाचन
दो या अधिक पक्षों (संस्था, व्यक्ति या राष्ट्र) के मध्य उत्पन्न विवादों के समाधान की वह पद्धति अथवा प्रक्रिया जिसमें विवादग्रस्त पक्ष पारस्परिक समझौते से एक या अधिक विवाचक नियुक्त करते हैं और उन्हें संबंधित विवाद का अंतिम रूप से निर्णय करने का अधिकार सौंप देते हैं। प्रायः इस निर्णय को पंचाट कहा जाता है। यह निर्णय दोनों पक्षों के लिए बाध्यकारी होता है। विशिष्ट प्रकार के विवादों के समाधान के लिए विवाचन की प्रक्रिया को अनिवार्य कर दिया जा सकता है। इस प्रक्रिया को पंचनिर्णय की प्रक्रिया भी कहा जाता है। समिति अथवा न्यायाधिकरण में एक या एक से अधिक सदस्य हो सकते हैं। प्रायः इस प्रकार के पंचों की नियुक्तित तदर्थ रूप से की जाती रही है। 1899 के प्रथम हेग सम्मेलन के द्वारा एक स्थायी विवाचन न्यायालय की भी व्यवस्था की गई थी परन्तु, व्यवहार में, यह व्यवस्था उधिक उपयोगी नहीं रही।
  • Arbitration agreement -- विवाचन समझौता
दो या अधिक राज्यों के मध्य विवाद उत्पन्न होने पर विवाचन अथवा पंच निर्णय की प्रक्रिया द्वारा उस विवाद को तय करने के लिए किया गया समझौता, जिसमें पंचों के नाम, उनका क्षेत्राधिकार और पालन की जाने वाली प्रक्रिया व नियमावली का उल्लेख रहता है।
  • Arch-individualist -- घोर व्यक्तिवादी
वह विचारक जो व्यक्ति की स्वतंत्रता, व्यक्ति के अहरणीय अधिकारों तथा “यद्मावी तद्भावी” नीति का प्रबल समर्थक हो और राज्य को एक आवश्यक बुराई मानकर स्वीकार करता हो परन्तु राज्य का कार्यक्षेत्र न्यूनतम कर दिए जाने के पक्ष में हो।
  • Areopagus -- एरियोपागस
(i) एथेन्स की एक पडाड़ी जिस पर वहाँ के सर्वोच्च न्यायाधिकरण की बैठक होती थी; (ii) एथेन्स का सर्वोच्च न्यायाधिकरण ; और (iii) ऐसा अधिकरण या व्यक्तियों का समूह जिसका फैसला निर्णायक अथवा अधिकारपूर्ण हो।
  • Aristocracy -- कुलीनतंत्र, अभिजात तंत्र
वह राज्य-व्यवस्था जिसमें शासन की बागडोर समाज के श्रेष्ठ समझे जाने वाले व्यक्तियों के हाथों में होती है और श्रेष्ठता का आधार प्रायः उनकी सामाजिक श्रेणी, आंर्थिक संपन्नता या बौद्धिकता को समझा जाता है।
  • Aristotelianism -- अरस्तुवाद, अरिस्टोटेलियनिज़्म
प्रसिद्ध यूनानी दार्शनिक अरस्तु (384-332 ई. पू.) के दर्शन पर आधारित राजनीतिक सिद्धांत जिसकी महत्वपूर्ण बातें निम्न हैं :- (1) मानव स्वभाव से ही राजनीतिक प्राणी है। (2) राज्य का उद्भव और विकास मानवीय जीवन के उन्नयन के लिए हुआ है और राज्य एक नैसर्गिक संस्था है। (3) राज्य मनुष्य के नैतिक जीवन को परिपूर्णता प्रदान करता है। (4) मानवीय नैतिक उद्देश्यों की सिद्धि राज्य के विधि-विधानों के माध्यम से ही संभव है। (5) अच्छे नागरिकों के बिना राज्य का लक्ष्य अर्थात् लोकहित सिद्ध नहीं हो सकता। (6) संविधान वही श्रेष्ठ है जिसमें जनता के हितों का उन्नयन हो।
  • Armament race -- आयुध स्पर्धा, शस्त्रीकरण की होड़
विभिन्न राष्ट्रों द्वारा अपनी सैनिक क्षमता को उन्नत करने की दृष्टि से संहारक व विनाशकारी आधुनिकतम अस्त्र-शस्त्रों की उत्पादन क्षमता में वृद्धि तथा इनका विदेशों से उत्तरोत्तर आयात और यह प्रयास कि उनका सैनिक वर्चस्व बना रहे।
  • Armchair politician -- पर्यंक राजनीतिज्ञ, अव्यावहारिक राजनीतिज्ञ
वह राजनीतिज्ञ जो समस्या की वास्तविकता के प्रति केवल काल्पनिक अथवा बौद्धिक दृष्टिकोण अपनाता है; व्यावहारिक पक्ष न देखकर केवल सैद्धांतिक पक्ष अपनानेवाला ऐसा राजनीतिज्ञ जिसे प्रत्यक्ष ज्ञान अथवा स्वानुभव नहीं होता।
  • Armed action ( = non war hostility) -- सशस्त्र कार्रवाई
किसी राज्य की सशस्त्र सेनाओं द्वारा किसी दूसरे राज्य के विरुद्ध की गई आक्रामक या रक्षात्मक कार्रवाई जो युद्ध नहीं मानी जाती परन्तु जो उस राज्य की प्रादेशिक अखंडता और राजनीतिक संप्रभुता के लिए चुनौती होती है। इस प्रकार की शत्रुतापूर्ण कार्रवाई को “गैर युद्धक शत्रुतापूर्ण कार्रवाई” भी कहते हैं।
  • Armed aggression (armed attack) -- सशस्त्र आक्रमण, दे. aggression.
  • Armed conflict -- सशस्त्र संघर्ष
दो या अधिक राज्यों के मध्य होने वाला ऐसा सशस्त्र सैनिक संघर्ष जिसे न तो वे राज्य और न ही अन्य राज्य “युद्ध” की मान्यता देते हैं उदाहरणार्थ, 1962 में भारत-चीन संघर्ष या 1965 में भारत-पाक संघर्ष।
  • Armed forces -- सशस्त्र सेनाएँ
किसी राज्य या राज्य समूह का जल, थल तथा वायु सैनिकों का विधिवत् संगठित बल जो अपने-अपने सेनाधिपतियों के अधीन होता है और सैनिक नियमावली से अनुशासित होता है।
  • Armed hostilities -- सशस्त्र युद्ध
औपचारिक युद्ध घोषणा करने के पश्चात् अथवा उसके बिना दो या अधिक राज्यों की सशस्त्र सेनाओं के बीच होने वाली शत्रुतापूर्ण कार्रवाई। इस प्रकार की कार्रवाई युद्ध में होती है अथवा इसके होते हुए भी युद्धावस्था का होना आवश्यक नहीं है। कभी-कभी शत्रुतापूर्ण कार्रवाई युद्धाविराम समझौते से समाप्त हो जाती है परन्तु विधिक अर्थ में “युद्ध” बना रहता है।
  • Armed intervention -- सशस्त्र हस्तक्षेप
किसी एक राष्ट्र द्वारा दूसरे राष्ट्र के आंतरिक या बाहय मामलों में इच्छित परिवर्तन लाने या यथास्थिति बनाए रखने के लिए की गई सैनिक कार्रवाई।
  • Armed merchantman -- सशस्त्र व्यापारी जहाज़, सशस्र वाणिज्य-पोत
किसी तटस्थ राज्य का ऐसा व्यापारी जहाज़ जो युद्धकाल में आत्मरक्षार्थ अस्त्र-शस्त्रों से लैस कर दिया जाता है।
  • Armed neutrality -- सशस्त्र तटस्थता
युद्ध काल में किसी तटस्थ राष्ट्र द्वारा युद्धरत देश में अपनी तटस्थता की रक्षा के लिए आवश्यक होने पर सैनिक बल का प्रयोग करने के लिए तैयार रहना।
  • Armed peace -- सशस्त्र शांति
आसन्न संकट, आशंकित युद्ध या आत्मरक्षा के लिए शांतिकाल में भी सैन्य शक्ति और शस्त्र-सज्जा युद्ध स्तर पर बने रहने की स्थिति। इस प्रकार परस्पर विरोधी पक्षों की सामरिक तैयारियों के होते हुए भी शांति बनी रहती है। इसे सशस्त्रबलाश्रित शांति भी कहा जाता है।
  • Armed rebellion -- सशस्त्र विद्रोह
किसी राज्य के विघमान शासन तथा उसके अधिकारियों के विरुद्ध किसी व्यक्ति, समूह, दल या गुट द्वारा व्यापक रूप से हिंसात्मक और संगठित प्रतिरोध। इस प्रकार का सशस्त्र विद्रोह गृहयुद्ध को जन्म दे सकता है। जब इस प्रकार का प्रतिरोध सरकार अथवा सेना के किसी भाग के ही किसी “अंग द्वारा किया जाता है तो उसे “सशस्त्र विप्लव” (armed revolt) कहते हैं।
  • Armed ship ( = armed vessel) -- सशस्त्र जहाज़, सशस्त्र पोत
तोप आदि ध्वंसक आयुधों से युक्त जहाज़ विशेषकर ऐसा व्यापारिक जहाज़ जिसमें आत्मरक्षा के लिए तोपें व अन्य रक्षा-साधन लगे हुए हों।
  • Armistice -- युद्धविराम, युद्धविराम समझौता
1. युद्धविराम : शांति-संधि-वार्ता चलाने लिए अल्पकालिक युद्ध-स्थगन। यह युद्ध-स्थगन स्थानीय या व्यापक होता है। यदि युद्धविराम क्षेत्र विशेष तक सीमित होता है तो “स्थानीय” कहा जाता है और समस्त रणक्षेत्र पर लागू होता है तो “व्यापक” कहलाता है।
2. युद्धविराम समझौता: युद्धकारी पक्षों की सैनिक और सामरिक गतिविधियों को रोकने के लिए किया गया अस्थायी समझौता। यह समझौता करने का अधिकार दोनों पक्षों के प्रधान सेनापतियों या राजनयिक प्रतिनिधियों को होता है और यह तब तक अपूर्ण माना जाता है जब तक इसकी पुष्टि संबद्ध राज्य की उच्च और समर्थ सत्ता द्वारा नहीं हो जाती। युद्धविराम समझौते से सशस्त्र संघर्ष की स्थिति तो तात्कालिक रूप से समाप्त हो जाती है किंतु “युद्ध-अवस्था” समाप्त नहीं होती।
  • Armistice day -- युद्धविराम दिवस
1. अल्पकालिक या अस्थायी रूप से सशस्त्र संघर्ष के स्थगित होने का दिवस।
2. प्रथम विश्व युद्ध में, युद्ध विराम संधि के हस्ताक्षरित होने का ऐतिहासिक दिन, 11 नवम्बर, 1918। युद्धोत्तर काल में हर वर्ष 11 नवम्बर के ऐतिहासिक दिन ठीक ग्यारह बजे, (ठीक उस समय जब उस संधि पर हस्ताक्षर हुए थे) दो मिनिट का मौन रखकर स्मृति दिवस मनाया जाने लगा। अब भी हर वर्ष यह पर्व 11 नवम्बर के निकटवर्ती रविवार के दिन मनाया जाता है और गिरजाघरों में विशेष प्रार्थना समाएँ आयोजित की जाती हैं।
  • Armistice demarcation line -- युद्धविराम सीमांकन रेखा
युद्धरत राष्ट्रों या उनके सेनापतियों द्वारा युद्धात्मक गतिविधियाँ स्थगित करने और शांति बनाए रखने के उद्देश्य से किए गए अंतरिम समझौते के अंतर्गत निश्चित और निर्धारित विभाजन रेखा, जिस पर दोनों सेनाएँ यथावत् बनी रहती हैं।
  • Arms control -- आयुद्ध नियंत्रण, शस्त्र नियंत्रण
युद्ध के संकट को दूर करने के उद्देश्य से परस्पर सहमति द्वारा अपनाई गई ऐसी अंतर्राष्ट्रीय व्यवस्था जिसके अंतर्गत राज्यों द्वारा अपने अस्त्र भंडारों में अभिवृद्धि करने, नए अस्त्र-शस्त्रों का उत्पादन करने या विदेशों से आयात करने पर प्रतिबंध लगाया जाता है। इस पर रोक, किन्हीं भौगोलिक क्षेत्रों का विसैन्यीकरण आदि।
  • Arms embargo -- शस्त्र प्रतिषेध, आयुध प्रतिषेध
प्रारंभ में “प्रतिषेध” पद का अभिप्राय युद्ध छिड़ने पर बन्दरगाहों में खड़े जलपोतों के निर्गमन पर रोक लगाने से लिया जाता था परन्तु कालांतर में इसका व्यापक अर्थ लिया जाने लगा और सभी अस्त्र-शस्त्रों के निर्यात पर प्रतिबंध इसकी परिधि में आ गया और इस प्रकार इसे “शस्त्र प्रतिषेध” कहा जाने लगा। इस प्रकार के “शस्त्र प्रतिषेध” संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा अनेक बार लगाए गए हैं।
  • Arms race -- आयुद्ध स्पर्धा, शस्त्रीकरण की होड़, दे. armament race.
  • Army of liberation ( = Liberation army) -- विमुक्ति सेना
स्वदेश को विदेशी शासन, शोषण और दासता से मुक्त कराने के लिए संगठित देशभक्तों की सेना जिसका निर्देशन एवं नेतृत्व क्रांतिकारियों द्वारा होता है। वर्तमान अंतर्राष्ट्रीय विधि एवं राज्य-व्यवहार में भी अब इस प्रकार के संगठनों को मान्यता दी जाने लगी है। अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए ये अनेक युक्तियाँ अपना सकते है जैसे गुरिल्ला युद्ध या गुप्त संगठन, आदि।
  • Arsenal of democracy -- लोकतंत्र का आयुधागार
29 दिसम्बर, 1940 को अमेरिकी राष्ट्रपति रूजवेल्ट द्वारा दिए गए वक्तव्य का एक प्रसिद्ध वाक्यांशः दूसरे महायुद्ध में अमेरिका युद्धकारी बनने से पूर्व और तटस्थ रहते हुए भी मित्र राष्ट्रों को अस्त्र-शस्त्रों की पूर्ति कर रहा या जो उसकी तटस्थता की स्थिति के अनुरूप नहीं था। अतः इसकी व्यापक आलोचना हुई जिसका उत्तर देते हुए राष्ट्रपति रूजवेल्ट ने एक वक्तव्य द्वारा यह घोषित किया कि अमेरिका लोकतंत्र तथा अधिनायकवाद के मध्य तटस्थ नहीं रह सकता है और वह घुरी शक्तियों के विरुद्ध लोकतंत्रीय देशों का आयुधागार बनने में तनिक संकोच नहीं करेगा।
  • Articles of agreement -- समझौते के अनुच्छेद
दो या अधिक पक्षों के मध्य किसी विषय में सहमत होने के परिणामस्वरूप हुए अनुबंध या समझौते के विधिवत् अनुच्छेद अथवा उसकी धाराएँ।
  • Articles of confederation --
परिसंघीय वयवस्था के अनुच्छेद सन् 1777 में उपनिवेशों को मुक्त व स्वतंत्र राज्य घोषित करके उन्हें “शाश्वत संघ” के रूप में संगठित करने की योजना बनाई गई। परन्तु इस प्रयोजन से जो राजनीतिक व्यवस्था अंगीकार हुई वह बहुत शिथिल एवं दुर्बल थी। इस व्यवस्था के संविधान को परिसंघीय व्यवस्था के अनुच्छेद कहा जाता है। यह 1 मार्च, 1781 को सभी राज्यों द्वारा अनुसमर्थित हो जाने पर लागू हुई। इस व्यवस्था में राज्यों को प्रभुसत्ताधारी घोषित किया गया था और संघ सरकार के अधिकार बहुत सीमित थे। इसे कराधान द्वारा राजस्व वसूल करने का अधिकार नहीं दिया गया और न ही यह राज्यों को, किसी प्रकार भी परिसंघ के व्यय के लिए धन राशि देने के लिए बाध्य कर सकती थी। अनेक संशोधनों द्वारा इस और दूसरी बहुत-सी कमियों को दूर करने के प्रयास निष्फल रहे क्योंकि अपेक्षित उपबंधों को सभी राज्यों द्वारा अनुसमर्थित करवाना आवश्यक था। परिणामस्वरूप 2 मार्च, 1789 को परिसंघीय व्यवस्था को समाप्त कर वर्तमान संघीय संविधान लागू हुआ।
  • Articles of war -- युद्ध नियमावली
सेना संबंधी वे नियम जिनमें सेना के पदाधिकारियों के कर्तव्यों, अनुशासन पालन, सैनिक न्यायालय आदि के संगठन एवं उनकी प्रक्रिया का वर्णन है। ये नियम अमेरिकी कांग्रेस द्वारा बनाए गए थे।
  • Artificial boundary -- कृत्रिम सीमा
ऐसे विभाजक अथवा स्तंभ अथवा अन्य चिह्न जो दो देशों के मध्य सीमा रेखा अंकित करने के प्रयोजनार्थ लगाए जाएँ।
  • ASEAN -- दक्षिणपूर्वी एशियाई राष्ट्रों का संघ, आसियान
1967 में स्थापित एक क्षेत्रीय संगठन जिसके सदस्य राष्ट्र हैं इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलीपीन, सिंगापुर और थाईलैंड। इसका उद्देश्य क्षेत्र की राजनीतिक, आर्थिक, सामाजिक एवं सांस्कृतिक विषयों से संबंधित सामान्य समस्याओं एवं विकास की योजनाओं पर समय समय पर विचार-विमर्श कर कार्यक्रम निर्धारित करना है।
  • Assembly -- सभा
1. किसी सामान्य उद्देश्य जैसे, विचार-विमर्श, विधि-निर्माण आदि के लिए एक स्थान पर एकत्र व्यक्तियों का समूह या जमाव।
2. विधान सभा ; जन-प्रतिनिधि सभा। 3. विधायी निकाय विशेषतः विधान मंडल का अवर सदन। 4. राष्ट्र संघ के विमर्शकारी अंग को भी “सभा” कहते थे।
  • Assistance pact -- सहायता समझौता
1. पारस्परिक रक्षा व्यवस्था के विषय में दो या अधिक राष्ट्रों द्वारा किया गया समझौता जिसकी धाराओं के अंतर्गत पक्षकार राष्ट्रों के बीच यह अनुबंध किया जाता है कि यदि कोई शस्त्रु-राज्य उनमें से किसी एक राष्ट्र पर आक्रमण करे तो अन्य राष्ट्र उसको यथासंभव प्रत्येक प्रकार की नैतिक तथा सैनिक सहायता प्रदान करेंगे। 2. अंतर्राष्ट्रीय सद्भाव और विकास विषयक इस प्रकार के सहायता समझौते के अंतर्गत सामान्यतया ऐसी व्यवस्था की जाती है जिसके द्वारा सहायता देने में समर्थ विकसित राष्ट्र अन्य विकासशील तथा अल्पविकसित राष्ट्रों को उनकी विकासात्मक आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए आर्थिक तथा वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए अनुबंधित हो जाते है।
  • Assize -- 1. अभिसत्र 2. विधिपृच्छा
1. अभिसत्र : उच्च न्यायालय के न्यायाधीशों द्वारा इंग्लैंड की प्रत्येक काउन्टी में समय-समय पर आयोजित न्यायसत्र जिनका उद्देश्य दीवानी तथा फौजदारी मुकदमों की सुनवाई करना होता था।
2. विधिपृच्छा : इंग्लैंड में, न्यायिक जाँच के रूप में सुनवाई या कानूनी जाँच।
  • Associated delegate -- सहप्रतिनिधि
एक राष्ट्र की सरकार द्वारा किसी दूसरे राष्ट्र को भेजे गए प्रतिनिधिमंडल या शिष्टमंडल का वह सदस्य जो उसके प्रमुख तथा अन्य सदस्यों को महत्वपूर्ण विषयों में सहायता एवं परामर्श देने का कार्य करता हो।
  • Associate(d) state -- सह राज्य
1. भारतीय संघ में सिक्किम को सहबद्ध करने के लिए 35वें संविधान संशोधन के अंतर्गत उसे एक विशेष दर्जा देते हुए “सहराज्य” कहा गया परंतु यह व्यवस्था अत्यन्त अल्पकालिक रही और 36वें संशोधन के अनुसार 1975 में सिक्किम भारत का एक राज्य बन गया। 2. फ्रांस से विशेष संघियों द्वारा सहबद्ध फांसीसी संघ के अंतर्गत अर्द्ध-स्वतंत्र प्रदेश।
  • Associate member -- सहसदस्य
संयुक्त राष्ट्र संघ की सदस्यता के संबंध में कई बार यह चर्चा हुई है कि अति-लघु राज्यों को जो संयुक्त राष्ट्र संघ की सदस्यता के दायित्वों, विशेषकर वित्तीय दायित्वों को वहन करने में सक्षम नहीं है परन्तु सदस्य होने के नाते मतदान के समान रूप से अधिकारी हैं, सदस्यता और मताधिकार से वंचित कर दिया जाए और उन्हें सहसदस्य माना जाए। परन्तु यह प्रस्ताव स्वीकार नहीं किया जा सका है।
  • Asylum -- 1. शरण, 2. शरणस्थल
अंतर्राष्ट्रीय विधि तथा अनेक अंतर्राष्ट्रीय अनुबंधों के अंतर्गत, जिनमें मानव अधिकार घोषणा पत्र भी शामिल है, अपने राजनीतिक या धार्मिक विचारों के कारण उत्पीड़ित कोई व्यक्ति यदि अपने देश के क्षेत्राधिकार से भाग कर आता है तो विदेशी देश उसे आश्रय दे सकता है और ऐसा आश्रय देना उसका अधिकार ही नहीं, कर्तव्य भी है। आश्रयदाता देश आश्रय लेने वाले व्यक्ति के राज्य में स्थित अपने दूतावास में अथवा महासमुद्र में खड़े जलपोत पर भी आश्रय दे सकता है।
  • Athenian democracy -- एथेन्सी लोकतंत्र, एथेन्सी जनतंत्र
वह प्रत्यक्ष लोकतंत्रात्मक शासन-व्यवस्था जो प्राचीनकाल में यूनान के नगर राज्य एथेन्स में प्रचलित रही और जिसे आधुनिक लोकतंत्रीय शासनों की जननी और उनके लिए एक आदर्श प्रतिमान कहा जाता है।
  • Atlantic community -- अटलांटिक समुदाय
उन राष्ट्रों का समूह जिनके प्रतिनिधियों ने 4 अप्रैल, 1949 को वाशिंगगटन में अटलांटिक संधि पर हस्ताक्षर किए। ये राष्ट्र हैं-बेल्जियम, कनाडा, डेन्मार्क, फ्रांस, ग्रेट ब्रिटेन, आइसलैंड, इटली, लक्ज़मबर्ग, नीदरलैंड, नार्वे, पुर्तगाल तथा संयुक्त राज्य अमेरिका। इस संधि का लक्ष्य इन राष्ट्रों को एक सामूहिक रक्षा व्यवस्था में बांधना था।
  • Atlantic powers -- अटलांटिक शक्तियाँ, दे. Atlantic community.
  • Atlantic treaty -- अटलांटिक संधि
वह संधि जिस पर 4 अप्रैल, 1949 को बेल्जियम, कनाडा, डेन्मार्क, फ्रांस, ग्रेट ब्रिटेन, आइसलैंड, इटली, लक्ज़मबर्ग, नीदरलैंड, नार्वे, पुर्तगाल तथा संयुक्त राज्य अमेरिका आदि राष्ट्रों के प्रतिनिधियों ने हस्ताक्षर किए। इस संधि का मुख्य उद्देश्य संबद्ध राष्ट्रों को विदेशी आक्रमणों के विरुद्ध सामूहिक सुरक्षा प्रदान करना था। सभी पक्षों ने स्पष्ट रूप से यह उद्धोषित किया कि किसी भी राष्ट्र द्वारा इनमें से किसी एक राज्य पर किए गए सशस्त्र आक्रमण को सभी राज्यों पर किया गया आक्रमण माना जाएगा। संधिबद्ध राष्ट्र आक्रांत राष्ट्र को सभी प्रकार की सैनिक तथा नैतिक सहायता प्रदान करेंगे।
  • Atomic bomb -- परमाणविक ब्रम, ऐटम बम
एक प्रकार का भयंकर विनाशकारी बम, जिसमें न्यूट्रॉंन की तीव्र गतिक निरंतर प्रक्रिया के कारण भारयुक्त रासायनिक तत्व के केंद्रज भाग का विखंडन होता है, जिसके परिणामस्वरूप अकस्मात् परमाणु ऊर्जा के वितरण के कारण तीव्र विस्फोटक शक्ति उत्पन्न होती है। विनाश के इस शक्तिशाली अस्त्र का प्रयोग अमेरिका ने पहली बार युद्ध के अंतिम दिनों में जापान के हिरोशिमा व नागासाकी नगरों पर किया था, जिससे अपार जन-धन की क्षति हुई थी।
  • Atomic club (=Nuclear club) -- परमाणु क्लब
विश्व के परमाणु शक्ति के उत्पादक विभिन्न राष्ट्रों और चीन का एक अनौपचारिक गुट जिसे परमाणु समूह भी कहा जाता है। ये शक्तियाँ परमाणु शक्ति पर अपना एकाधिकार मानती थीं। इस अभिप्राय से इन्होंने एक बहुराष्ट्रीय संधि का भी संपादन किया जिसे परमाणविक प्रसारण-निरोधक संधि कहते है और जिस पर लगभग एक सौ राष्ट्रों ने हस्ताक्षर किए हैं। परन्तु अनेक राष्ट्र जैसे भारत, पाकिस्तान आदि ने इस संधि को स्वीकार नहीं किया है और भारत ने तो 1974 में पोखरन (राजस्थान) में नाभिकीय परीक्षण करके इस अनन्य परमाणविक क्लब के तथाकथित एकाधिकार को भंग कर दिया है।
  • Atomic energy -- परमाणु ऊर्जा
परमाणुओं के नाभिकों की पुनर्व्यवस्था से उत्पन्न होने वाली ऊर्जा जो नाभिकीय विखंडन या संलयन के प्रक्रम में मुक्त होती है। अंतर्राष्ट्रीय राजनीति में परमाणु शक्ति का विशेष महत्व है। द्वितीय महायुद्ध में परमाणु शक्ति का प्रयोग सैनिक प्रयोजनों के लिए किया गया था। वर्तमान काल में विश्व के बड़े-बड़े राष्ट्र जन-संहारी अस्त्र-शस्त्रों के नवीनतम विकास की दिशा में एक दूसरे से प्रतिस्पर्धा करने में रत हैं। भारत परमाणविक शक्ति के कृषि, स्वास्थ्य, विद्युत आदि क्षेत्रों में शांतिपूर्ण उपयोगों का पक्षघर रहा है।
  • Atomic Energy Commission -- परमाणु ऊर्जा आयोग
1946 के एक कानून के अंतर्गत स्थापित संयुक्त राज्य अमेरिका की सरकार का एक अभिकरण जो सैनिक व असैनिक उद्देश्यों के लिए परमाणु-ऊर्जा का विकास व उसमें अनुसंधान करता है और इस क्षेत्र में निजी उद्यम को नियमित व नियंत्रित करता है। इसमें पाँच सदस्य होते हैं जिनकी नियुक्ति सिनेट के अनुमोदन से राष्ट्रपति द्वारा की जाती है।
  • Atomic energy control -- परमाणु ऊर्जा नियंत्रण
परमाणु शक्ति के उत्पादक राष्ट्रों द्वारा प्रायोजित तथा अंतर्राष्ट्रीय समाज द्वारा सामान्य रूप से अनुमोदित, परमाणु शक्ति के आविष्कार, उत्पादन, विकास और परमाणु अस्त्र-शस्त्रों के निर्माण पर नियंत्रण, जिसका उद्देश्य समस्त मानव जाति को परमाणु युद्ध के व्यापक विनाश अथवा विध्वंस से बचाना और परमाणु शक्ति का प्रयोग अधिकाधिक शांतिपूर्ण प्रयोजनों तथा कार्यों के लिए करना है।
  • Atomic (nuclear) age -- परमाणु युग
परमाणु ऊर्जा के सफल विकास से जिस युग का आरंभ हुआ, उसे परमाणु युग कहा जाता है। परमाणविक तकनीक के प्रयोग से औद्योगिक, प्रौद्योगिक, वैज्ञानिक और सैन्य शक्ति के क्षेत्रों में प्रगति की संभावनाएँ अपरिमित और असीम हो गई हैं।
  • Attache -- सहचारी, अताशे
किसी व्यक्ति या समूह से संबद्ध, विशेषतः अन्य देशीय राजधानी में अपने देश के राजनयिक प्रतिनिधि के साथ कार्य करने वाला विशेषज्ञ, दूतावास सहचारी। वह राजनयिक अधिकारी जो प्रायः किसी विषय विशेष (सैनिक, वाणिज्यिक, सांस्कृतिक आदि) का विशेषज्ञ होता है और विशिष्ट सेवाओं के लिए दूतावास के साथ संबद्ध होता है।
  • Autarchy -- स्वेच्छाचारी
शासन पूर्ण निरपेक्ष सार्वभौमिकता अथवा ऐसी शासन प्रणाली जिसमें शासक स्वेच्छाचारी हो।
  • Autarky -- आत्मनिर्भरता
राज्य की अर्थिक आत्मनिर्भरता की नीति। सर्वसत्तात्मक राज्यों में आर्थिक आत्मनिर्भरता की नीति का उद्देश्य आयात को सीमित करना और स्वदेशी उत्पादन को बढ़ाना होता है। आत्मनिर्भरता का आधार उग्र राष्ट्रवाद होता है। इस पद का प्रयोग नाज़ी जर्मनी के उस अभ़ियान के लिए किया जाता था जिसके द्वारा वह बाह्य संसाधनों से मुक्त होना चाहता था परन्तु यह प्रयास महाद्वीपीय आर्थिक नाकाबन्दी के द्वारा निष्फल कर दिया गया।
  • Authentication -- प्रमाणीकरण
सक्षम अधिकारी द्वारा किसी दस्तावेज, अभिलेख प्रपत्र, कथन, प्रमाण-पत्र आदि को साक्ष्यांकित या प्रमाणित करने की प्रक्रिया।
  • Authoritarian -- सत्तावादी
(i) वैयक्तिक स्वतंत्रता के विपरीत, सत्ता और शासन को मान्यता देने वाला। (ii) शासकीय सत्ता के प्रति अधीनता का पोषक।
  • Authoritarianism -- सत्तावाद
व्यक्ति-स्वातंत्रय के सिद्धांत के प्रतिकूल, व्यक्ति द्वारा राजनीतिक सत्ताधारी (शासक या राज्याधिकारी) की आज्ञा का निर्विरोध पालन। इस प्रकार सत्ताधारी के आदेशों के निर्विरोध पालन का पक्षपोषक सिद्धांत।
  • Authoritative interpretation -- प्राधिकृत निर्वचन
न्यायालय अथवा न्यायाधिकरण द्वारा किसी विधि अथवा संधि या समझौते या उसके विवादास्पद खंडों का प्रामाणिक अथवा निर्णायक अर्थ निश्चित करना या आधिकारिक व्याख्या करना।
  • Authority -- 1. प्राधिकार, 2. प्राधिकारी, 3. प्राधिकरण, 4. सत्ता
1. प्राधिकार : कोई काम करने-कराने के लिए आदेश देने की वैधिक क्षमता, वह अधिकार जो किसी पदाधिकारी को अपने पद के कारण प्राप्त हो। 2. प्राधिकारी : वह व्यक्ति जिसे प्राधिकार प्राप्त हो। 3. प्राधिकरण : स्वायत्त सार्वजनिक निगम अथवा निकाय। 4. सत्ता : राजनीतिक व्यवस्था में सत्ता से अभिप्राय है वैध शासन और उसका बाध्यकारी निर्णय लेने और लागू कर सकने का अधिकार। किसी राजनीतिक व्यवस्था में सत्ता का स्रोत परंपरा, विधि या राजनीतिक नेताओं का करिश्मा माना जाता है।
  • Autocracy -- 1. एकतंत्र, 2. स्वेच्छाचारी शासन 1. ऐसा शासन जिसमें एक व्यक्ति के हाथ में असीम शक्ति या सत्ता हो। 2. निरंकुश शासक।
  • Automatic control -- स्वतः नियंत्रण
किसी मुखय शासकीय विभाग या संगठन द्वारा अपने अधीनस्थ विभाग संगठन कार्यालय, निगम अथवा आयोग आदि पर स्थापित ऐसी नियंत्रण व्यवस्था जो व्यवहार में स्वतः यंत्रवत् कार्यशील होती है।
  • Automatic renewal -- स्वतः नवीकरण
किन्हीं दो अथवा अधिक राष्ट्रों द्वारा किसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए किए गए समझौते या संधि में निर्धारित अवधि के पश्चात उसे स्वतः पूर्ववत् बनाए रखने के लिए दो प्रकार के उपाय किए जा सकते हैं : (1) संधि की अवधि समाप्त होने पर संबंद्ध राष्ट्रों के प्रतिनिधि औपचारिक रूप से इसका नवीकरण कर सकते हैं, या (2) संधि पर हस्ताक्षर करते समय ही संबंधित पक्षों द्वारा ऐसी धारा का समावेश कर दिया जाता है जिसके अंतर्गत निश्चित अवधि समाप्त होने पर उस संधि का नवीकरण स्वतः हो जाता है।
  • Autonomist -- स्वायत्तवादी
स्वायत्ता के सिद्धांत का प्रतिपादक पोषक या समर्थक।
  • Autonomous commune -- स्वायत्त कम्यून
1. स्वायत्ता प्राप्त स्थानीय शासन की इकाइयाँ जैसे विभाग, मंडल, परगना, कम्यून अथवा ताल्लुका।
2. (क) सन् 1871 में फ्रांस की स्थानीय स्वायत्त-शासनवादी सरकार; (ख) फ्रांसीसी क्रांतिकाल की शासन संचालिका संस्था।
  • Autonomous republic -- स्वायत्त गणतंत्र
सोवियत संघीय व्यवस्था में चार प्रकार की इकाइयों में से एक; अन्य तीन हैं, संघीय गणराज्य, स्वायत्त क्षेत्र एवं राष्ट्रीय प्रदेश। इस समय स्वायत्त गणराज्यों की संख्या 1। है और इन्हें अपने संघीय गणराज्य के अंतर्गत अनेक राजनीतिक अधिकार प्राप्त हैं।
  • Autonomous state -- स्वायत्त राज्य
साम्राज्यवादी व्यवस्था अथवा संघात्मक व्यवस्था के अंतर्गत अधीनस्थ या उन संघांतरित राज्यों की स्थिति जो अपने आंतरिक मामलों में स्वाधीन हों, पर अनेक मामलों में साम्राज्य के शासन अथवा संधीय सरकार के अधीन हों।
  • Autonomous unit -- स्वायत्त इकाई
राज्य या प्रशासन की वह इकाई जिसे अपने आंतरिक विषयों में पूर्ण राजनीतिक अथवा प्रशासनिक स्वतंत्रता प्राप्त हो।
  • Autonomous will -- स्वायत्त इच्छा, स्वायत्त संकल्प
व्यक्तिगत विचार आदि प्रकट कने की स्वतंत्रता, जर्मन दार्शनिक कांट के सिद्धांत के अनुसार “इच्छा स्वातंत्र्य”।
  • Autonomy -- स्वायत्तता
स्वतंत्रता का भाव या स्थिति, विधि की परिधि में स्वतंत्र और आत्म निदेशित कार्य- संचालन स्वतंत्रता।
  • Automn session -- शरत्कालीन सत्र
शरद्ऋतु में होने वाला संसद अधिवेशन या विधान सभा का अधिवेशन।
  • Auxiliary army -- सहायक सेना
मुख्य सेना की सहायता करने वाली सेना जो आवश्यकता पड़ने पर बहुधा “कुमुक” के रूप में भेजी जाती है।
  • Auxiiiary body -- सहायक निकाय
मुख्य विभाग अथवा मुख्य संस्था आदि के सहायतार्थ बनाया गया संगठन। यह बहुधा पूरक या अधीनस्थ स्थिति में कार्य करता है।
  • Award -- पंचाट, अधिनिर्णय
किसी पंच-न्यायालय या न्यायाधिकरण द्वारा दिया गया निर्णय।
  • Axis Powers -- धुरी राष्ट्र
द्वितीय महायुद्ध के पूर्व जर्मनी, हटली और जापान के मध्य हुआ एक गठबंधन जिसका उद्देश्य इन राष्ट्रों की वैदेशिक और सैनिक नीतियों में समन्वय करना था। द्वितीय महायुद्ध में ये देश और इनके अन्य सहयोगी राज्य धुरी-राष्ट्र कहलाए।
  • Aya Ram Gaya Ram -- आया राम गया राम
भारतीय राजनीति में अवसरवादी राजनीतिज्ञों विशेषकर, दलबदलू विधायकों के लिए प्रयुक्त मुहावरा।
  • Ayes have it’ -- “हाँ पक्ष जीता”, “समर्थकों का बहुमत है”
इस पद का प्रयोग अमेरिकी मंत्रिमंडल की निर्णय प्रक्रिया के लिए किया जाता था। अमेरिका में मंत्रिमंडल के सदस्य एक विचार के हों और राष्ट्रपति दूसरे विचार का हो तो भी राष्ट्रपति का विचार ही मंत्रिमंडल का निर्णय माना जाता है। एक मंत्रिमंडल की बैठक समाप्त होने पर राष्ट्रपति ने घोषणा की “हाँ के पक्ष में 1, ना के पक्ष में 7, परन्तु हाँ पक्ष जीता”।
  • Back bencher -- पश्चासीन (सदस्य)
संसद या विधान सभा आदि का वह सदस्य जो सदन की गतिविधियों तथा क्रियाकलापों में सक्रिय भाग नहीं लेता। वह प्रायः पीछे के स्थानों पर बैठता है।
  • Back to nature’ -- “प्रकृति की ओर प्रत्यावर्तन”
फ्रांसीसी दार्शनिक रूसो का आह्रवान जिसका प्रयोग उसने राज्य की उत्पत्ति विषयक सामाजिक समझौते के सिद्धांत के अंतर्गत किया। उनके मतानुसार मानव को आधुनिक समाज की अवास्तविकता, कृत्रिमता, पाखंड तथा भ्रष्टता का पूर्णतया परित्याग कर प्रकृति की ओर लौटना चाहिए, क्योंकि सामाजिक संगठन या व्यवस्था स्थापित होने से पूर्व मानव की यह नैसर्गिक अवस्था परम् आनंदमयी, सुखमयी, शांतिपूर्ण तथा कलहरहित थी।
  • Backward classes -- पिछड़े वर्ग
किसी राज्य के वे वर्ग जो सामाजिक, आर्थिक, राजनैतिक तथा शैक्षिक दृष्टि से समाज के अन्य वर्गों की अपेक्षा निम्न स्तर के है। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 16(4) के अनुसार यदि पिछड़े हुए नागरिक-वर्गों का, राज्य की राज में राज्याधीन सेवाओं में पर्याप्त प्रतिनिधित्व नहीं है तो राज्य को उनके लिए नियुक्तियों या पदों में आरक्षण करने में कोई बाघा न होगी। 1980 में नियुक्त मंडल आयोग ने सिफारिश की थी कि राज्य के अंतर्गत नौकरियों में 27% स्थान पिछडे वर्गों के लिए आरक्षित होने चाहिए।
  • Baghdad Pact, 1955 -- बगदाद समझौता,
1955 मध्यपूर्व के लिए क्षेत्रीय सुरक्षा संगठनों की श्रृंखला में संयुक्त राज्य अमेरिका के प्रोत्साहन से निर्मित एक संगठन जिसका प्रादुर्भाव 24 फरवरी, 1955 को ईराक और तुर्की के मध्य एक परस्पर सहयोग पर हस्ताक्षर करने से हुआ। अप्रैल, 1955 में ब्रिटेन, जुलाई में पाकिस्तान और नवम्बर में ईरान इसके सदस्य बने। सुरक्षा के क्षेत्र में परस्पर सहयोग, एक दूसरे के मामलों में हस्तक्षेप न करना तथा अपने पारस्परिक विवादों को शांतिमय उपायों से तय करना, इसके प्रमुख उद्देश्य थे। अप्रैल, 1955 में ब्रिटेन से किए गए एक विशेष समझौते में, जिसमें ब्रिटेन बगदाद समझौते का एक सदस्य बन गया, ब्रिटेन ने ईराक पर आक्रमण होने की दशा में ईराक सरकार के अनुरोध पर उसे हर प्रकार की सहायता, जिसमें सैनिक सहायता शामिल है, देने का वचन दिया। इस क्षेत्रीय व्यवस्था में संयुक्त राज्य अमेरिका ने पूरा सहयोग किया और इसके देशों की प्रादेशिक अखंडता की गारन्टी करने की भी घोषणा की। जुलाई, 1950 में स्वेज संकट से बगदाद समझौता भी संकटग्रस्त हो गया। जुलाई, 1958 में नूरी अल सईद को अपदस्थ कर जनरल कासिम ईराक में सत्तारूढ़ हुआ और, उसने सत्ता में आते ही बगदाद समझौते को नकार दिया। 24 मार्च, 1959 को ईराक औपचारिक रूप से बगदाद समझौते से अलग हो गया। बगदाद समझौते का मुख्यालय अक्तूबर, 1958 में स्थानांतरित कर दिया गया था। 21 अगसत, 1959 को यह घोषणा की गई कि अब बगदाद समझौते को मध्यवर्ती संधि संगठन के नाम से जाना जाएगा।
  • Balance of power -- शक्ति संतुलन
दो संभावित विरोधी, प्रभुतासंपन्न राज्यों अथवा राज्य-समूहों के मध्य इस प्रकार से शक्ति का वितरण जिससे कोई भी एक किसी तरीके से दूसरे की स्वतंत्रता के लिए खतरा न बन जाए अथवा किसी प्रकार से दूसरों के मामलों में मनमाने ढंग से हस्तक्षेप न कर सके।
  • Balkan Pact -- बाल्कन समझौता
9 फरवरी, 1934 के दिन तुरकी, युनान, रूमानिया और यूगोस्लाविया के मध्य हुआ अनुबंध जिसके अनुसार प्रत्येक सदस्य राष्ट्र ने एक दूसरे की राज्य-सीमा को अक्षुण्ण बनाए रखने का वचन दिया। इसके अतिरिक्त यह भी निर्णय किया गया कि किसी अन्य बाल्कन राज्य के विरुद्ध किसी प्रकार की कार्रवाई करने के पूर्व पारस्परिक विचार-विमर्श करना आवश्यक होगा।
  • Balkanization -- बाल्कनीकरण
19वी और 20वीं शताब्दी के उत्तरार्ध में बाल्कन प्रायद्वीप के भौगोलिक प्रदेश का छोटे – छोटे दुर्बल देशों में विभाजन हुआ। इस प्रकार के विभाजन और उसके फलस्वरूप उत्पन्न अव्यवस्था और अराजकता की प्रक्रिया को “बाल्कनीकरण” की संज्ञा दी जाती है।
  • Ballot -- 1. मत-पत्र, 2. मतदान
1. मतदाता को दिया गया पत्र जिस पर वह अपने विवेक के अनुसार इच्छित उम्मीदवार के पक्ष में अपना मत अंकित करता है।
2. किसी प्रश्न अथवा व्यक्ति के पक्ष में अपनी इच्छा अथवा समर्थन इंगित करना।
  • Ballot box -- मतपेटी, मतपत्र पेटी
वह बक्सा या डिब्बा जिसमें चुनाव के दौरान मत-पत्र डाले जाते हैं।
  • Baltic states -- बाल्टिक राज्य
बाल्टिक सागर के तटवर्ती देश लिथुआनिया, लेटेविया, एस्टोनिया तथा फिनलैंड। द्वितीय विश्वयुद्ध के पश्चात् इनमें से प्रथम तीन सोवियत संघ के संघांतरित गणराज्य हो गए और फिनलैंड एक स्वतंत्र देश है।
  • Bamboo curtain -- वंश-पट
बाहय विश्व को केवल सरकार द्वरा अनुमोदित सूचना दिए जाने की साम्यवादी-चीन की नीति। “वंश-पट” की अभिव्यंजना का लाक्षणिक प्रयोग वस्तुतः पश्चिमी राष्ट्रों की अभिव्यक्ति स्वातंत्रय की अपेक्षा सोवियत रूस के “लौह पट” और चीन के “वंश-पट” के अंतर को स्पष्ट करने के लिए किया जाता है। जहाँ सोवियत रूस के संबंध में विश्वसनीय और वास्तविक समाचार जानना वहाँ की कठोर नियंत्रण-व्यवस्था के कारण दुष्कर और दु-साध्य था, वहाँ चीन की अपेक्षाकृत कम कठोर व्यवस्था के स्वरूप को “झीने आवरण” के रूप में “वंश-पट” का शब्दबंध स्पष्ट करता है। दे. Iron curtain भी।
  • Bandh -- बंद
वर्तमान काल में, विशेषकर लोकतंत्र में, राजनीतिक दलों द्वारा सरकार की किसी नीति या कार्य के विरुद्ध रोष प्रकट करने के लिए सब कामकाज, दुकानें, संस्थाएँ, आवागमन आदि ठप्प करा देना और बंद में भाग लेने के अनिच्छुक व्यक्तियों व निकायों को भी इसके लिए विवश करना। इसके फलस्वरूप सारा जनजीवन गतिरुद्ध अथवा निष्क्रिय हो जाता है।
  • Bandung Conference -- बांडुंग सम्मेलन
29 देशों का यह सम्मेलन जो इंडोनेशिया के नगर बांडुंग में 29 अप्रैल, 1955 को हुआ था। विश्व राजनीति में एशियाई-अफ्रीकी देशों को एक सुढ्ढ़ इकाई के रूप में रूप में प्रदर्शन करना था और विश्व राजनीति में उनके भावी महत्व को दर्शाना था। परन्तु सम्मेलन में विभिन्न विषयों पर मतैक्य की अपेक्षा मतभेद अधिक देखने में आए। इसमें विश्व राजनीति की अनेक समस्याओं पर विचार-विमर्श किया गया, जैसे क्षेत्रीय सुरक्षा संगठन, उपनिवेशवाद, संयुक्त राष्ट्र में साम्यवादी चीन का प्रतिनिधित्व, चीन के संयुक्त राज्य अमेरिका तथा एशियायी देशों के संबंध, प्रजातीय पृथक्करण और भेदभाव, निःशस्त्रीकरण, एशियाई अफ्रीकी देशों में आर्थिक, सांस्कृतिक, तकनीकी मामलों में सहयोग की संभावनाएँ आदि। सम्मेलन की सबसे बड़ी उपलब्धि यह रही कि अंतर्राष्ट्रीय राजनीति में चीन के महत्व और उसकी भूमिका को मान्यता प्राप्त हुई। सम्मेलन ने विश्व शांति व सहयोग के दस सिद्धांतों का भी प्रतिपादन किया:-
(1) संयुक्त राष्ट्र के सिद्धांतों तथा मूल मानवीय अधिकारों के प्रति सम्मान;
(2) सब राष्ट्रों की संप्रभुता
(3) सब प्रजातियों और राष्ट्रों की समानता के सिद्धांत को मान्यता ;
(4) दूसरे देशों के मामलों में हस्तक्षेप न किया जाना;
(5) संयुक्त राष्ट्र के मामलों में हस्तक्षेप न किया जाना;
(5) संयुक्त राष्ट्र के चार्टर के अनुरूप प्रत्येक देश का स्वयं अथवा सामूहिक रूप से अपनी रक्षा करने का अधिकार ;
(6) किसी महाशक्ति की विशिष्ट हितपूर्ति में निर्मित सामूहिक सुरक्षा संगठनों से दूर रहना ;
(7) परस्पर आक्रमण न करना ;
(8) अंतर्राष्ट्रीय विवादों को शांतिमय उपायों से तय करना ;
(9) पारस्परिक सहयोग एवं हितों की अभिवृद्धि ; तथा
(10) न्याय एवं अंतर्राष्ट्रीय दायित्वों का सम्मान।
  • Bank for International Settlement -- अंतर्राष्ट्रीय निपटारा बैंक, बैंक फॉर इंटरनेशनल सैटिलमेंट
यंग योजना के प्रस्ताव के अनुसार सन 1930 में स्थापित स्विटजरलैंड का शासपत्रित अंतर्राष्ट्रीय बैंक। इसकी आरंभिक अधिकृत पूँजी 10 करोड़ स्टर्लिंग पाउंड थी जिसमें से 25,000,000 तत्काल जमा हो गई। इस बैंक की स्थापना का उद्देश्य था अंतर्राष्ट्रीय धनराशि के स्थानांतरण में सहायता करना, जर्मनी को प्रत्यावर्तित लोगों के न्यासी के रूप में उनके हितों की रक्षा करने में सहायता देना और केंद्रीय बैंकों की स्थापना को प्रोत्साहित करना।
  • Barbarian monarchy -- बर्बर एकराष्ट्रतंत्र, बर्बर राजतंत्र
जंगलियों की सी निर्दयता, क्रूरता, नृशंसता अथवा अशिष्टता प्रदर्शित करने वाला शासनतंत्र जो प्राचीनकाल में विश्व के विभिन्न कबायली, असभ्य तथा अविकसित क्षेत्रों में प्रचलित था। अनेक राज्यों के मध्यकालीन इतिहास में भी बर्बर राजतंत्र के उदाहरण मिलते हैं। इस प्रकार की शासन पद्धति के अंतर्गत राज्य की समस्त सत्ता एक ही व्यक्ति के पास होती है। वह न केवल विधिनिर्माता तथा विधि-निष्पादक होता है बल्कि राज्य का सबसे बड़ा न्यायाधीश भी होता है। इस प्रकार की शासनपद्धति में छोटे-छोटे अपराधों के लिए कठोरतम दंड यथा, अंगभंग करने जैसी व्यवस्था रही है।
  • Barbarism -- बर्बरता
यूनानी शब्द “बार्बेरिसमोस” से बना शब्द जिसका अर्थ है गैरयूनानियों अथवा विदेशियों की तरह बोलना या व्यवहार करना। यूनानी लोग विदेशियों को अपनी जाति से हीन ही नहीं अपितु अशिष्ट, असभ्य तथा असंस्कृत मानते थे। आजकल “बर्बरता” का कोई सुनिश्चित अर्थ नहीं है। सामान्यतया सर्वस्वीकृत शिष्टाचरण के प्रतिकूल व्यवहार और नीति को बर्बर समझा और कहा जाता है।
  • Bardoli Satyagraha -- बारदोली सत्याग्रह
वह सत्याग्रह आंदोलन जो सन् 1928 में सरदार पटेल ने गुजरात प्रांत के बारदोली ताल्लुके में किसानों का लगान माफ कराने के उद्देश्य से चलाया था। सरदार पटेल की कुशल संगठन-शक्ति तथा राजनेतृत्व के फलस्वरूप ब्रिटिश सरकार को अपने घुटने टेकने पड़े और उसने लगान को रद्द कर दिया।
  • Bar of the House -- सदन का कठघरा
इंग्लैंड के “हाउस आफ कामन्स” में पार्लियामेंट के सदस्यों के बैठने के स्थान के पीछे लगी वे दो छड़ें जिनसे उस सदन की सीमा निश्चित होती हैं। जो व्यक्ति सदन की नर्यादा भंग करने के लिए उत्तरदायी होते हैं, उन्हें सदन की इन छड़ों के पार बुलाकर उनकी कड़ी आलोचना तथा भर्त्सना की जाती है। भारतीय लोक सभा में भी इसी प्रकार का प्रबंध किया जाता है जब किसी की भर्त्सना करनी होती है।
  • Baron -- बैरन, सामंत
(1) सैन्य अथवा अन्य प्रतिष्ठित सेवाओं के कारण प्राप्त अधिकारों और उपाधियों वाला सामंत; लार्ड।
(2) ग्रेट ब्रिटेन में पीयर वर्ग (सामंत) में पाँचवी और निम्नतम श्रेणी का सदस्य जो अन्य चारों की भांति “लार्ड” कहलाने और हाउस ऑफ लार्डस में बैठने का अधिकारी होता है।
  • Baroness -- बैरोनेस, सामंत पत्नी, बैरन की पत्नी अथवा विधवा।
बैरन महिला अर्थात् वह महिला जिसे बैरन पद का अधिकार प्राप्त हो। अब महिलाएँ भी लॉर्ड सभा की सदस्या हो सकती हैं।
  • Basic code -- आधारभूत संहिता
1. उन राज्यों में, जहाँ रोमन विधि प्रचलित रही है, प्रवृत्त विधियों अथवा प्रचलित कानूनों का वह क्रमबद्ध मूल संकलन जिस पर न्यायिक निर्णय आधारित होते हैं।
2. किसी राज्य की स्थायी प्रवृत्त विधियों का सरकारी या गैर-सरकारी वह आधारभूत संकलन जो विषय वस्तु के अनुसार समेकित, संगठित तथा वर्गीकृत किया गया हो। विश्व के विभिन्न राज्यों के प्रशासनों में प्रवृत्त विधियों की अपनी-अपनी शासकीय संहिताओं को प्रकाशित कर रखा है। इन मूल शासकीय संहिताओं में लोक-विधि तथा न्यायिक निर्णय भी सम्मिलित होते हैं।
  • Basic democracy -- आधारभूत लोकतंत्र
फील्ड मार्शल अय्यूब खां द्वारा प्रतिपादित सिद्धांत जिसे वे लोकतंत्र का मूल रूप मानते थे। सन् 1962 में, पाकिस्तान के दिवंगत राष्ट्रपति ने अपने नए संविधान के अंतर्गत इसकी स्थापना की। इस व्यवस्था के अनुसार राज्य में न केवल समस्त निर्वाचन अप्रत्यक्ष मतदान पद्धति द्वारा किए जाने की व्यवस्था की गई बल्कि राष्ट्रपति को असीमित एवं अपार शक्तियाँ भी प्रदान की गईं। स्पष्टतः यह नया लोकतंत्र, लोकतंत्र न होकर अधिनायकतंत्र या तानाशाही का ही परिवर्तित रूप था।
  • Battle of arguments -- तर्क युद्ध, वाग्युद्ध
तर्क-वितकों, वाद-विवादों, व्याख्याओं, विवेचनों, दलीलों, बहसों तथा युक्तियों का आदान-प्रदान जो लोकतंत्रीय व्यवस्था वाले राज्यों के विधान मंडलों में किसी पक्ष के समर्थकों और विरोधियों के मध्य प्रायः घटित होता रहता है। इस प्रकार के तर्क-वितर्क की प्रक्रिया द्वारा विषय विशेष पर पूरी चर्चा की जाती है जिससे अंततः किसी निर्णय पर पहुँचने की दिशा में प्रगति हो सकती है।
  • Behavioural approach -- व्यवहारवादी उपागम
राजनीतिशास्त्र का वह उपागम अथवा दृष्टिकोण जो राजनीति तथा सरकार के अध्ययन में वैज्ञानिक पद्धति के प्रयोग पर अधिक बल देता है। व्यवहारवादी, व्यक्तियों तथा गुटों के वास्तविक व्यवहार पर अधिक बल देते हैं, न कि उनकी औपचारिक भूमिकाओं अथवा उन संस्थाओं पर जिसके अंतर्गत वे कार्य करते हैं। व्यवहारवादी, समाज तथा राज्य के अध्ययन में गणित और सांख्यिकी का भी सहारा लेते हैं।
  • Belligerency -- युद्धावस्था
अंतर्राष्ट्रीय युद्ध की स्थिति जिसमें दो या दो से अधिक राज्य संघर्षरत हों, और उनके सशस्त्र संघर्ष को अंतर्राष्ट्रीय विधि के अनुसार युद्ध माना जा रहा हो।
  • Belligerent -- युद्धकारी, युयुत्सु, लड़ाकू
वह विद्रोहकारी समूह, सैन्यदल, सशस्त्र टुकड़ी या राज्य जो विरोधी पक्ष के प्रति संघर्ष या युद्ध की स्थिति में हो। साधारणतया राज्य ही अंतर्राष्ट्रीय युद्ध में युद्धकारी समझे जाते हैं। युद्ध होने पर उनके संबंध शांतिकारी विधि द्वारा नियमित न होकर युद्ध विधि द्वारा नियमित होने लगते हैं।
  • Belligerent rights -- युद्धकारी अधिकार
अंतर्राष्ट्रीय विधि के अंतर्गत स्वीकृत युद्धरत राज्यों के अधिकार जिनके अनुसार वे शत्रु राज्यों के विरुद्ध सशस्त्र कार्यवाही कर सकते हैं। विशेषकर महासमुद्र में तटस्थ व्यापार और परिवहन पर अनेक प्रतिबंध लगा सकते हैं। किसी राज्य के विद्रोहियों तथा क्रांतिकारियों को ये अधिकार तब तक प्राप्त नहीं होते जब तक कि उन्हें “युद्धरत” नहीं मान लिया जाता।
  • Benelux -- बेनेलक्स
3 मई, 1946 ई. के दिन बना बेल्जियम, नीदरलैंड तथा लक्जम्बर्ग का त्रिपक्षीय व्यापार संघ। यह संघ एक जनवरी 1948 ई. से अस्तित्व में आया। बेनेलक्स शब्दबंध उक्त तीनों देशों के आद्यक्षरों Be(Belgium), Ne(Netherland), Lux(Luxemberg) से मिलकर बना है। संघ की स्थापना के बाद तीनों राज्यों के मध्य सीमा शलक हटा दिए गए और विदेशों से आयातित वस्तुओं पर समान कर लगाया गया।
  • Benevolent despot -- प्रजापालक एकछत्र शासक
ऐसा स्वेच्छाचारी शासक जो लोक-कल्याण की भावना से प्रेरित होकर शासन चलाता हो।
  • Benevolent neutrality -- सद्भावनापूर्ण तटस्थता
भूतकाल में इस प्रकार की तटस्थता अपनायी जा सकती थी जिसके अंतर्गत एक राज्य या देश युद्धकारियों में से किसी एक पक्ष की सहायता करते हुए भी तटस्थ रह सकता था (जैसे किसी, पूर्व संधि के अंतर्गत)। किंतु अब ऐसी तटस्थता संभव नहीं है क्योंकि एक पक्ष को विशेषाधिकार या सुविधाएँ प्रदान कर अन्य पक्ष को उससे वंचित रखना अब निरपेक्ष तटस्थता नहीं मानी जाती।
  • Berlin Blockade -- बर्लिन की नाकेबंदी
द्वितीय महायुद्ध के बाद बिना शर्त आत्मसमर्पण कर देने पर जर्मनी के साथ बर्लिन नगर भी दो भागों में बंट गया। एक मित्र राष्ट्रों के अधीन और दूसरा सोवियत संघ के अधीन। इस प्रकार पूर्वी जर्मनी में बर्लिन का एक भाग पश्चिमी राष्ट्रों के नियंत्रण व क्षेत्राधिकार में रहा। कालांतर में यह विभाजन बर्लिन दीवार बनाकर स्थायी कर दिया गया। परन्तु बर्लिन में प्रचलित मुद्रा व इसके नियंत्रण के प्रश्न को लेकर सोवियत संघ और पश्चिमी राष्ट्रों में मतभेद हो गया। प्रतिरोध में सोवियत संघ ने 24 जून, 1948 को पश्चिमी क्षेत्र और बर्लिन के बीच रेल जल और सड़क यातायात अवरुद्ध कर दिया। पश्चिमी राष्ट्रों ने इसका सामना वायुयानों द्वारा आवश्यक सामग्री, भोजन, औषधियाँ, वस्त्र, कोयला, कच्चा माल पहुँचा कर किया। उनका तर्क था कि बर्लिन में पश्चिमी राष्ट्रों की उपस्थिति एक कानूनी अधिकार है और उन्हें वहाँ से कोई नहीं हटा सकता। समस्या को संयुक्त राष्ट्र संघ में भेजा गया परन्तु कोई समाधान नहीं निकला। पश्चिमी राष्ट्रों ने प्रतिशोध में जर्मनी के पूर्वी भाग की प्रति-नाकेबंदी कर दी। बर्लिन की नगर सभा में सोवियत नाकेबंदी को “मानवता के विरुद्ध अपराध” कहकर उसकी भर्त्सना की। अंत में जनवरी 1949 में सोवियत संघ नाकेबंदी समाप्त करने के लिए सहमत हो गया।
  • Besiege -- घेरा डालना, अवरोध करना
शत्रु को समर्पण के लिए बाध्य करने के उद्देश्य से या उसे आगे बढ़ने से रोकने के लिए, उसके किसी नगर या मोर्चाबंद क्षेत्र की सेनाओं द्वारा घेराबंदी।
  • Bhoodan -- भूदान
भारत की वर्तमान असमान भूव्यवस्था में आमूल परिवर्तन लाने के उद्देश्य से आचार्य विनोबा भावे द्वारा प्रवर्तित वह अहिंसात्मक आंदोलन जिसके अंतर्गत भूस्वामियों को स्वेच्छा से अपनी भूमि के एक अंश का दान देने के लिए प्रेरित किया गया। भूमि जिस गांव में स्वेच्छा से दान के रूप में मिलती थी, प्राय: उसी गांव में भूमिहीन किसानों में बांट दी जाती थी।
  • Bicameralism -- 1. द्विसदन पद्धति, 2. द्विसदनवाद
1. द्विसदन पद्धति : इस पद्धति के अंतर्गत विधान मंडल के दो सदन होते हैं। एक सदन में सामान्य जनता का प्रतिनिधित्व होता है और दूसरे सदन में समाज के विशिष्ट वर्गों या हितों के साथ संघ राज्य की अंगीभूत इकाइयों का भी प्रतिनिधित्व रहता है।
2. द्विसदनवाद : संविधान का वह सिद्धांत जो विधान मंडल में दो सदनों की व्यवस्था का समर्थन करता है।
  • Big stick diplomacy -- शक्तिदर्शी राजनय
विदेशी तथा घरेलू समस्याओं से बलपूर्वक निपटने का तरीका। राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय रीति-नीतियों के संचालन में बुद्धियुक्त और चातुर्यपूर्ण कूटनीति की अपेक्षा शक्ति प्रदर्शन के माध्यम से इच्छित लक्ष्य को प्राप्त करना।
  • Bilateral agreement -- द्विपक्षीय समझौता
ऐसे अंतर्राष्ट्रीय समझौते जिनके केवल दो हस्ताक्षरकर्ता पक्ष हों अर्थात् जो केवल दो राज्यों अथवा अन्य इकाइयों के बीच किए जाएँ।
  • Bilateralism -- द्विपक्षवाद
वर्तमान काल में उभरती हुई यह विचारधारा की राज्यों को अपने पारस्परिक विवाद परस्पर वार्तालाप द्वारा बिना किसी तीसरे राज्य या राज्यों के हस्तक्षेप के समाधान करने हेतु प्रयास करना चाहिए और न ही ऐसे मामलों को अंतर्राष्ट्रीय संगठनों या निकायों में उठाया जाना चाहिए। 1971 में भारत-पाकिस्तान के मध्य शिमला समझौते में इसी सिद्धांत को स्वीकार किया गया था। इसे कभी-कभी शिमला भावना भी कहा जाता है।
  • Bilateral treaty -- द्विपक्षीय संधि
दो पक्षों के मध्य हुई संधि जिसके पक्षकार राज्य हो सकते हैं अथवा अंतर्राष्ट्रीय संगठन अथवा एक पक्ष राज्य और दूसरा पक्ष अंतर्राष्ट्रीय संगठन। संधि में पारस्परिक अधिकारों व कर्तव्यों का प्रावधान किया जाता है और ये संबंधित पक्षों के लिए बाध्यकारी होते हैं।
  • Bill -- विधेयक
किसी प्रस्तावित विधि का वह प्रारूप जो स्वीकृति के लिए व्यवस्थापिका में प्रस्तुत किया जाए। जब विधानांग उसे यथावत् या संशोधनोपरांत पास कर देता है तो राज्य के प्रधान या अध्यक्ष की स्वीकृति प्राप्त होने पर विधेयक कानून बन जाता है।
  • Bill of Rights -- बिल ऑफ राइट्स
इस अधिनियम के द्वारा पहली बार 1689 में इंग्लैंड की जनता के अधिकारों एवं स्वतंत्रताओं को लिखित कानूनी रूप प्रदान किया गया था। संयुक्त राज्य अमेरिका के संविधान में यद्यपि इस शीर्षक के अंतर्गत अधिकारों का उल्लेख नहीं है किंतु संविधान के प्रथम दस संशोधन इन अधिकारों की पुष्टि करते हैं। कालांतर में अनेक राष्ट्रों ने इन अधिकारों का समावेश अपने संविधानों में किया है। जिन मुख्य अधिकारों का उल्लेख किया गया है उनमें प्रमुख अधिकार है मुकदमें की जूरी द्वारा सुनवाई, बंदी प्रत्यक्षीकरण, वाक् स्वातंत्रय, संपत्ति अधिकार आदि।
  • Binding adjudication -- बाध्यकारी अधिनिर्णय
किसी राष्ट्रीय अथवा अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय, न्यायाधिकरण, आयोग या किसी अन्य न्यायिक संस्था द्वारा विवादास्पद मामलों में दिया गया वह निर्णय जिसका पालन करने के लिए संबद्ध पक्ष बाध्य होते हैं।
  • Biological warfare -- जैविक युद्ध
ऐसा युद्ध जिसमें मनुष्यों, पशुओं, पेड़-पौधों आदि के लिए घातक विषाणुओं का प्रयोग किया जाए जिससे रोग, महामारी तथा विषैले पदार्थ फैल जाएँ और मनुष्यों, जीव-जन्तुओं व वनस्पति को नष्ट कर दें।
  • Bipartisan foreign policy -- द्विदलीय विदेश नीति
राज्य के प्रमुख दो राजनीतिक दलों के सहयोग, सम्पर्क तथा सहमति से बनी विदेश नीति। इस प्रकार की विदेश नीति के उदाहरण संयुक्त राज्य अमेरिका एवं इंग्लैंड में समय- समय पर मिलते हैं।
  • Biparty system -- द्विदल पद्धति
लोकतंत्रात्मक व्यवस्था में दो दलों वाली पद्धति जिसके अंतर्गत मुख्य रूप से दो राजनीतिक दल हो सकते हैं परन्तु उनका प्रभाव नगण्य होता है। इंग्लैंड में 1945 के उपरांत से केवल दो दल राजनीति में प्रमुख हैं-एक अनुदार दल दूसरा श्रमिक दल। शासन पर कभी अनुदार दल और कभी श्रमिक दल का प्रभुत्व रहा है। एक तीसरा दल-उदार दल जो कभी प्रमुख दल था, ऊपर उठने का असफल प्रयास करता रहता है। संयुक्त राज्य अमेरिका में दो प्रमुख राजनीतिक दल रिपब्लिकन दल और डेमोक्रोटिक दल हैं।
  • Bipolarity -- द्विधुवीयता
अंतर्राष्ट्रीय राजनीति में विश्व के समस्त राज्यों का दो प्रतिस्पर्धात्मक गुटों में विभाजन। द्वितीय महायुद्ध के पश्चात् अनेक वर्षों तक एक गुट का नेतृत्व और मार्गदर्शन संयुक्त राज्य अमेरिका तथा दूसरे गुट का सोवियत संघ कर रहे थे। छठे दशक में चीन, सोवियत संबंधों में दरार पड़ जाने, डी गॉल के अधीन फ्रांस द्वारा स्वतंत्र विदेश नीति का पालन किए जाने और गुट निरपेक्ष आंदोलन के कारण द्विध्रुवीयता की स्थिति बहुध्रुवीयता में परिवर्तित होने लगी।
  • Black Africa -- काला अफ्रीका
प्रायः सहारा के दक्षिण का अफ्रीका महाद्वीप का वह क्षेत्र जहाँ के निवासियों की त्वचा मूलतः काले रंग की होती है। भौगोलिक दृष्टि से इस क्षेत्र के अंतर्गत परिगणित देश हैं – तंजानिया, कांगों, उगांडा, केन्या, अंगोला, जांबिया, मलावी, घाना, नाइजीरिया, नाइजर, चाद, इथोपिया, सोमाली इत्यादि।
  • Blackmail -- भयादोहन
किसी अधिकारी या राजनेता की किसी दुर्बलता का लाभ उठाते हुए उससे कोई अनुचित लाभ प्राप्त करने के लिए उसे भयभीत करना।
  • Blackout -- तिमिरण, ब्लैक आउट
युद्धकाल में सैनिक, औद्योगिक और अन्य महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों को शत्रु के हवाई हमलों से बचाने के लिए बिजली अथवा प्रकाश का बुझा दिया जाना जिससे अंधकार के कारण शत्रु पक्ष के बमवर्षक अपना लक्ष्य पूरा करने में असमर्थ रहें। लाक्षणिक अर्थ में, समाचारपत्रों, टी. वी., रेडियो आदि प्रचार माध्यमों से किसी महत्वपूर्ण समाचार, टिप्पणी का पूरी तरह लोप किया जाना।
  • Black Rod -- ब्लैक रॉड
ब्रिटेन में एक परंपरागत अधिकारी जो वहाँ के “हाउस ऑफ लाईस” का स्वागतकर्ता होता है। इसके अनेक महत्वपूर्ण कार्यों में से एक कार्य “हाउस ऑफ़ कामन्स” के सदस्यों और अध्यक्ष को विशेष अवसरों पर जोश का भाषण सुनने के लिए “हाउस ऑफ लाईस” में आमंत्रित करना है।
  • Black shirt -- ब्लैक शर्ट, काली कुर्ती दल
मुसोलिनी के अधिनायक तंत्र में इटली की फासिस्ट पार्टी का सदस्य।
  • Blitzkrieg -- तड़ित युद्ध, तूफानी हमला
अकस्मात सामूहिक रूप से वायु-सेना तथा यंत्रीकृत थल सेना के पारस्परिक सहयोग से इस प्रकार हिंसात्मक तथा विनाशकारी आक्रमण करना कि शत्रु सेना की टुकड़ियाँ अलग-थलग हो जाएँ, उनकी संचार व्यवस्था भंग हो जाए और सैन्य सामग्री पकड़ ली जाए। इस प्रकार के हवाई आक्रमण द्वितीय महायुद्ध में जर्मनी द्वारा अनेक नगरों पर किए गए थे।
  • Bloc -- गुट
1. राजनीतिक अथवा अन्य समान उद्देश्यों की पूर्ति के लिए व्यक्तियों, वर्गों या राष्ट्रों की गठित इकाई अथवा संघ।
2. व्यवस्थापिका में समान उद्देश्यों की पूर्ति के लिए विभिन्न व्यक्तियों अथवा पक्षों द्वारा गठित औपचारिक या अनौपचारिक इकाई।
  • Blockade -- नाकाबंदी
किसी युद्धकारी राज्य द्वारा, युद्धकाल में, शत्रु राष्ट्र की व्यापार तथा नौपरिवहन व्यवस्था अवरुद्ध करने के लिए की गई नौसैनिक कार्रवाई। शत्रु बंदरगाहों व तट से जलपोतों का आवागमन रोकने के लिए उसके तट एवं बंदरगाहों के आसपास चारों तरफ शत्रु अपना नौसैनिक बेड़ा तैनात कर देता है।
  • Blocking minority -- अवरोधक अल्पसंख्यक
गुट किसी राज्य के विधान मंडल में, कुछ सदस्यों का वह अल्पसंख्यक समूह या गुट जो उस विधान मंडल में किसी मंत्री अथवा सरकारी सदस्य द्वारा प्रस्तावित किसी विधेयक का, किन्हीं महत्वपूर्ण कारणों से, न केवल घोर-विरोध ही करता है बल्कि उसके उस विधान मंडल द्वारा अंतिम रूप से पारित होने में अनेक कठिनाहयाँ अथवा बाघाएँ भी उत्पन्न करता है, भले ही वह विधेयक अंतिम रूप से पारित होकर विधि बन जाए।
  • Block voting -- गुट-मतदान
धार्मिक संप्रदाय के सदस्यों द्वारा किसी एक उम्मीदवार, प्रस्ताव, विधेयक आदि के पक्ष अथवा विपक्ष में मतदान करना चाहे इन सदस्यों के अपने-अपने वैयक्तिक विचार कुछ भी हों।
  • Blood and iron policy -- कठोर नीति
इस शब्दबंध का निर्माण जर्मनी के चांसलर विस्मार्क ने 1886 में किया था। इसका तात्पर्य अत्यन्त कठोरता एवं दृढ़ता की नीति से है। ऐसी नीति जिसमें सरकार अपने लक्ष्य की पूर्ति के लिए हिंसा अथवा रक्तपात से भी न हिचकिचाए।
  • Blue-print -- रूपरेखा, ब्लूप्रिंट
किसी नीति को कार्यान्वित करने या किसी उद्देश्य अथवा समाधान की उपलब्धि के लिए कार्यविधि की विस्तृत, पूर्णतः समन्वित अंतिम योजना ; किसी बड़े उद्देश्य की प्राप्ति के लिए मार्गदर्शी योजना का अंतिम प्रारूप अथवा विचारों, सिद्धांतों और नियमों का पूर्ण विवरण।
  • Board of pardon -- क्षमा-मंडल
संयुक्त राज्य अमेरिका में, विभिन्न प्रकार के पदनाम वाला वह प्रशासक्रीय या कार्यपालक बोर्ड या मंडल जो वहाँ के अनेक राज्यों में या तो अकेले ही या राज्यपाल के साथ मिलकर अपराधियों तथा अभियुक्तों को क्षमा प्रदान करने के कार्य में राज्यपाल को परामर्श देता है।
  • Board of review -- पुनरीक्षण मंडल
1. किसी राज्य की सरकार द्वारा स्थापित वह अर्द्धन्यायिक संस्था जो पर्याप्त प्रमाण जुटाने और गवाहों की सुनवाई के पश्चात् इस तथ्य का पता लगाती है कि प्रशासन के कर-निर्धारकों द्वारा निर्धारित कर-मूल्यांकन संगत और उपयुक्त हैं अथवा नहीं।
2. प्रशासनिक अपील मंडल जिसे किसी मामले में दुबारा क़ानूनी पुनर्विचार करने का अधिकार प्राप्त हो।
  • Body politic -- राज-निकाय
राजनीतिक रूप से सुसंगठित समाज जिसे राज्य भी कहा जाता है।
  • Bolshevik Party -- बोलशेविक दल, रूसी साम्यवादी दल
सन् 1903 में रूस में सामाजिक लोकतंत्रात्मक दल (Social Democratic Party) में फूट पड़ जाने के उपरांत इस दल में विभाजन हो गया। बहुसंख्यक पक्ष, जो लैनिन के नेतृत्व में था बोलशेविक और अल्पसंख्यक पक्ष मैन्शैविक कहलाया। सन् 1917 की क्रांति में बोलशेविक दल सत्तारूढ़ हुआ और इसे सोवियत संघ का साम्यवादी दल कहा जाने लगा। इसके मुख्य सिद्धांत थे-कटटर मार्क्सवाद के प्रति अटूट श्रद्धा, केंद्रीकृत और सोपानबद्ध दल-व्यवस्था तथा क्रांतिकारी पद्धतियों में आस्था।
  • Bonapartism -- बोनापार्टवाद
1. फ्रांस में, नैपोलियन प्रथम तथा नैपोलियन तृतीय द्वारा संचालित शासन-पद्धति जिसका प्रतीक “घोड़े की पीठ पर बैठा हुआ व्यक्ति” था वह व्यक्ति केन्द्रीकृत शासन की बागडोर अपने हाथों में लिए हुए था और सामान्य जन द्वारा अपनी नीतियों तथा कार्यों के अनुमोदन के लिए समय-समय पर, जनमत-संग्रहों का प्रबंध करता रहता था। 2. बोनापार्टवाद से तात्पर्य बोनापार्ट राजवंश के अंतर्गत समृद्धि, सौभाग्य, सम्पत्ति तथा ऐश्वर्य से लगाव या आसक्ति से भी होता है।
  • Bonheur common (= General welfare) -- सार्वजनिक हित, सार्वजनिक कल्याण
राज्य द्वारा समाज के सामान्य हितों की समान रूप से रक्षा। वर्तमान शती में अधिकांश राज्य सरकारें वर्गभेद, वर्णभेद तथा जातिभेद आदि को महत्व न देकर सभी लोगों की सामूहिक भलाई के कार्यों तथा योजनाओं को क्रियान्वित करती हैं ताकि राज्य की उपलब्धियों में वे समान रूप से भागीदार रहें।
  • Booty -- लूट का माल
किसी राज्य के सैनिकों द्वारा शत्रु-राज्य की भूमि पर से हस्तगत किया गया या अपहृत माल। दे. Prize भी।
  • Border skirmishes -- सीमावर्ती झड़पें

दो राज्यों के सैनिक बलों के मध्य उनकी सीमा पर हुई मुठभेड़ें जो आकस्मिक भी हो सकती हैं अथवा पूर्व योजना के अनुसार भी और जो तुरंत समाप्त हो सकती हैं या व्यापक संघर्ष का रूप भी धारण कर सकती हैं। इस प्रकार की घटनाएँ जम्मू-कश्मीर में वास्तविक नियंत्रण रेखा के आरपार भारत और पाकिस्तान के सैनिक बलों में बराबर होती रहती हैं।

  • Border state -- सीमावर्ती राज्य, सरहदी राज्य
किसी देश का वह प्रदेश जो किसी अंतर्राष्ट्रीय सीमा अथवा किसी दूसरे राज्य की सीमा से लगा हो।
  • Borough -- बरो
अमेरिका और ब्रिटेन में स्थानीय नगर प्रशासन की एक इकाई।
  • Boundary commission -- सीमांकन आयोग, सीमांकन कमीशन
दो या अधिक राज्यों की विभाजनकारी सीमाओं को विभिन्न स्थानों पर पारस्परिक सहमति, सहयोग और स्वीकृत साक्ष्य के आधार पर निश्चित या निर्धारित करने वाला आयोग जिसकी स्थापना संबद्ध राज्यों ने किसी संधि या समझौते द्वारा की हो।
  • Boundary line -- सीमा रेखा
दो राज्यों के भू-भागों को पृथक् करने वाली रेखा।
  • Boundary pillar -- सीमा-स्तंभ, सरहदी खंभा
दो राज्यों के भू-भागों को पृथक् करने वाली कृत्रिम अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं पर निश्चित दूरी पर स्थापित विशेष स्तंभ या खंभे जो अंतर्राष्ट्रीय विधि के अंतर्गत उनके क्षेत्राधिकार निश्चित करते हैं। दे. Boundary line भी।
  • Boundary river -- सीमा नदी
वह सरिता जो दो राज्यों के मध्य प्रवाहित होने के कारण उनके भू-भागीय क्षेत्रों को एक दूसरे से पृथक् करती है।
  • Boundary treaty -- सीमा संधि
दो राज्यों के बीच ऐसी संधि या समझौता जिसके द्वारा उन राज्यों के मध्य सीमा-रेखाओं को निश्चित तथा निर्धीरित किया जाता है।
  • Bourgeois democracy -- बुर्जुआ जनतंत्र, पूँजीवादी लोकतंत्र
वह लोकतंत्र जिसमें सामाजिक, आर्थिक एवं राजनीतिक व्यवस्था पूँजीवाद व उदारवाद का पोषण एवं संरक्षण करती है।
  • Bourgeois socialist -- बुर्जुआ समाजवादी
साम्यवादियों द्वारा किसी ऐसे व्यक्ति के लिए प्रयुक्त संज्ञा जो देखने-सुनने में तो समाजवादी प्रतीत होता है किंतु व्यवहारतः पूँजीवादी व्यवस्था को अक्षुण्ण और यथावत् बनाए रखकर समाज के श्रमिक वर्गों के हितों का अवरोधक होता है।
  • Boxer rebellion -- बॉक्सर उपद्रव
सन् 1900 में चीन में विशाल तथा व्यापक स्तर पर हुए हिंसात्मक उपद्रव जिनका उद्देश्य देश से विदेशी प्रभाव तथा प्रभुत्व को समाप्त करना था और जिनका नेतृत्व वहाँ के एक गुप्त समुदाय द्वारा किया जाता था जिसे बॉक्सर कहा जाता था। इसके सदस्य मुक्केबाजी आदि क्रियाओं में विश्वास के कारण “बाक्सर्स” के नाम से कुख्यात थे।
  • Boycott -- बहिष्कार, बॉयकाट
शांतिमय विरोध प्रकट करने के उद्देश्य से किसी व्यक्ति, वर्ग या देश विशेष से सामाजिक, सांस्कृतिक, व्यापारिक या आर्थिक संबंध न रखना।
  • Brain-washing -- बलात् मत प्रवर्तन/मानसिक मतपरिवर्तन
किसी व्यक्ति को अपने मूल राजनीतिक अथवा सामाजिक विचारों या धार्मिक आस्था-विश्वासों को त्यागने के लिए प्रेरित कर, विपरीत या विरोधी विचारों अथवा आस्थाओं को समझा-बुझाकर, ऊँच-नीच या भले-बुरे की बात बताकर और यदाकदा डरा-धमकाकर उनकी चिंतन-धारा में आमूल परिवर्तन लाने का प्रयास किया जाता है।
  • Breach of blockade -- नाकाबंदी तोड़ना
नाकेबंदी का निरीक्षण करने वाले नौसैनिक बेड़े की आँख में धूल झोंककर या उसकी दृष्टि से बचकर जलपोतों का नाकेबंद बंदरगाह या तट में प्रवेश या उससे निर्गमन।
  • Breach of faith -- विश्वास-भंग
किसी राज्य या राज्याधिकारियों द्वारा, अंतर्राष्ट्रीय विधि, संधियों अथवा अनुबंधों से उत्पन्न दायित्वों का निष्ठापूर्वक न निभाया जाना “विश्वास-भंग” कहलाता है।
  • Breach of law -- विधि-भंग, कानून तोड़ना
किसी राज्य की सरकार या उसके प्रशासन द्वारा लागू किए गए नियमों, विनियमों, विधि-विधानों आदि का नागरिकों, राज्याधिकारियों अथवा स्वयं विधि-निर्माणकर्ताओं द्वारा ही पालन न किया जाना। दंड संहिताओं के अंतर्गत विधि भंजकों को दंडित करने के लिए न्यायालयों की व्यवस्था की जाती है।
  • Bribery -- घूसखोरी, रिश्वतखोरी
उद्देश्य-पूर्ति अथवा लाभ-प्राप्ति के निहित उद्देश्य से किसी संबद्ध व्यक्ति अथवा कर्मचारी के निर्णय को प्रभावित करने के लिए उसे अवैध रूप से धन लाभ पहुँचाना।
  • Brinkmanship -- सीमांतवर्तिता
नीति ऐसी नीति जहाँ अपनी शर्तों या बात को मनवाने के लिए कोई राज्य इस चरम सीमा तक दबावी कार्यवाही का आश्रय ले कि उसके डर से प्रतिपक्ष उस राज्य की बात मानने के लिए बाध्य हो जाए।
  • Brown shirt (=Nazis) -- बाउन शर्ट, नाज़ीदल ब्राउन शर्ट,
जर्मनी का नात्सी दल था जिसके सदस्य भूरे रंग की कमीज़ पहनते थे। इसलिए नात्सी दल के सदस्यों को “ब्राउन शर्टस” कहा जाता था।
  • Brussels Treaty Organisation (=Western European Union) -- बूसेल्स संधि
संगठन मार्च 1948 में ब्रिटेन, नीदरलैंड, लक्ज़मवर्ग, बेल्जियम तथा फ्रांस के मध्य हुई संधि जिसका उद्देश्य पश्चिम यूरोप के रक्षार्थ एक क्षेत्रीय सुरक्षा संगठन स्थापित करना था। सन् 1955 में जर्मन संघीय गणराज्य और इटली भी इस संघ में शामिल हो गए और तब इसका नाम पश्चिम यूरोपीय संघ हो गया। नाटो के साथ सैनिक सहयोग करना उसका मुख्य लक्ष्य था।
  • Budget -- बजट, आय-व्ययक
किसी राज्य, प्रदेश, क्षेत्र अथवा संस्था विशेष का आगामी वर्ष का अनुमानित आय तथा व्यय का विवरण। बजट का उद्देश्य व्यय आवश्यकताओं तथा उनकी पूर्ति के लिए अपेक्षित करों तथा अन्यान्य आय-स्रोतों के बीच समन्वय स्थापित करना है।
  • Buffer state -- अंतःस्थ राज्य
दो या अधिक परस्पर विरोधी अथवा बड़े राज्यों के मध्य स्थिति ऐसा छोटा, तटस्थ और स्वशासित राज्य जो सैन्य-अवरोधक का कार्य करता है और जिससे उनमें परस्पर प्रत्यक्ष संघर्ष की संभावना सीमित हो जाती है। इसे उभयरोधी राज्य भी कहा जाता है। ऐसे राज्य के उदाहरण हैं-स्विट्रज़रलैंड, नेपाल आदि।
  • Bundestaat -- बुंदेश्टाट, संघराज्य
जर्मन संघ राज्य के लिए प्रयुक्त पद जो जर्मन भाषा का शब्द है।
  • Bundestag -- बुंदेश्टाग
र्बोन संविधान के अंतर्गत पश्चिमी जर्मनी की द्विसदनीय संसद का निम्न सदन जो दूसरे सदन की अपेक्षा अधिक सशक्त है।
  • Bureaucracy -- नौकरशाही, अधिकारी तंत्र
ऐसा प्रशासकीय तंत्र जिसमें अधिकारियों तथा कर्मचारियों का विभिन्न विभागों में पद सोपानात्मक वर्गीकरण होता है। इसके सदस्यों का चुनाव प्रतियोगी परीक्षाओं द्वारा किया जाता है, जो दलगत राजनीति से दूर रहकर निष्पक्ष रूप से कार्य-विभाजन के अनुसार कार्य करते हैं। इस तंत्र में नियमों के विधिवत् पालन पर अधिक ज़ोर दिया जाता है।
  • Bureaucrat -- नौकरशाह
शासनतंत्र का एक स्थायी वेतन भोगी कर्मचारी, जिससे निष्पक्षतापूर्वक विधि के अनुसार कार्यपालन की अपेक्षा की जाती है।
  • Burgher -- वर्गर, पौर, पुर-प्रतिनिधि
बरो का निवासी अथवा संसद के लिए निर्वाचित प्रतिनिधि।
  • By(e) law -- उपनियम, उपविधि
किसी सरकारी अथवा अर्ध-सरकारी विभाग द्वारा अपने आंतरिक मामलों का प्रबंध करने के विधि के अनुकूल तथा उसके द्वारा प्रदत्त अधिकारों के अंतर्गत निर्मित नियम, उपनियम इत्यादि।
  • By election -- उपचुनाव, उपनिर्वाचन
नियमित चुनावों के अंतराल में किसी निर्वाचित निकाय में कोई स्थान रिक्त होने पर उसकी पूर्ति के लिए किया जाने वाला विशेष चुनाव।
  • Byelorussia (=White Russia) -- श्वेत रूस
सोवियत संघ के 15 संघीय गणराज्यों में से एक गणराज्य। यह एक दूसरे गणराज्य यूक्रेन के साथ संयुक्त राष्ट्र संघ का भी सदस्य है यद्यपि ये दोनों सोवियत संघ की संघांतरित इकाइयाँ हैं।
  • Cabal -- कबाल
इंग्लैंड के इतिहास में “कबाल” शब्द का प्रयोग चार्ल्स द्वितीय के मंत्रिमंडल के लिए किया जाता था। यह नाम इस मंत्रिमंडल के लिए सदस्यों के आरंभिक अंग्रेजी अक्षरों के योग से बना था। इन सदस्यों के नाम थे क्लिफोर्ड, ऐशले, बकिंघम, आलिंगटन और लाउडरडेल। वर्तमान काल में, इस शब्द का प्रयोग शासक को परामर्श देने वाले किसी अनौपचारिक अतरंग गुट के लिए किया जाता है।
  • Cabinet -- कैबिनेट, मंत्रिमंडल
अंग्रेजी शब्द “कैबिनेट” का मूल अर्थ निजी कक्ष है। इंग्लैंड में राजा अपने विश्वस्त परामर्शदाताओं से जिस “निजी कक्ष” में विचार-विमर्श किया करता था उसे कैबिनेट कहा जाता था। वर्तमान काल में इस शब्द का अर्थ उन राजनीतिक उच्चाधिकारियों के समूह से है जो राजा की नीति निर्धारित करते हैं और उसके अनुसार शासन-संचालन करते हैं। इन उच्च अधिकारियों को मंत्री व इनके समूह को मंत्रिमंडल कहते हैं। इनका प्रधान प्रधान मंत्री कहलाता है। संसदीय शासन व्यवस्था के अंतर्गत मंत्रिमंडल के सदस्य, संसद के प्रति उत्तरदायी होते हैं और उसका नेतृत्व करते हैं तथा राष्ट्रपति शासन व्यवस्था के अंतर्गत राष्ट्रपति के प्रति। भारत गणराज्य के संविधान में “काउंसिल ऑफ मिनिस्टर्स” अर्थात् मंत्रिपरिषद् का उल्लेख है। इसमें कई श्रेणी के मंत्री होते हैं जैसे कैबिनेट मंत्री, राज्यमंत्री, उपमंत्री। इसमें प्रथम कोटि के मंत्री ही कैबिनेट के सदस्य होते है। संविधान के अनुसार मंत्रिपरिषद् का कार्य राष्ट्रपति को शासन संचालन में परामर्श एवं सहायता देना है, परन्तु वास्तविकता यह है कि राष्ट्रपति केवल इस परमर्श के अनुसार कार्य कर सकता है। इसके बिना या इसके विपरीत वह कोई कार्य नहीं कर सकता। मंत्रिपरिषद् सामूहिक रूप से लोकसभा के प्रति उत्तरदायी है।
  • Cabinet government -- मंत्रिमंडल सरकार, मंत्रिमंडलीय शासन
वह शासन प्रणाली जिसमें राज्य की कार्यकारी शक्ति मंत्रिमंडल के हाथों में केंद्रित होती है जिसके सदस्य साधारणतया संसद या विधानमंडलों में से चुने जाते हैं और जो संसद या विधान मंडल के प्रति सामूहिक एवं व्यक्तिगत रूप से उत्तरदायी होते हैं। दे. parliamentary government भी।
  • Cabinet minister -- मंत्रिमंडल सदस्य
वह मंत्री जो मंत्रिमंडल के सदस्य के रूप में नियुक्त हो। उसका दर्जा राज्यमंत्री अथवा उपमंत्री से ऊँचा होता है।
  • Cabinet Mission (Plan) -- कैबिनेट मिशन (योजना), मंत्रिमंडल मिशन (योजना)
23 मार्च, 1946 को ब्रिटेन के प्रधान मंत्री लार्ड एटली द्वारा भारत के राजनीतिक गतिरोध को दूर करने के लिए भारत भेजा गया ब्रिटिश मंत्रिमंडल के तीन सदस्यों लॉर्ड पेथिक लारेंस, सर स्टेफोर्ड क्रिप्स और ए. वी. एलेक्जेंडर का एक प्रतिनिधि मंडल जिसने भारतीय नेताओं से विचार-विमर्श करने के बाद 16 मई. 1946 को एक योजना प्रस्तुत की जिसकी मुख्य बातें इस प्रकार थीं- (1) एक ऐसे भारतीय संघ का गठन किया जाएगा जिसमें ब्रिटिश भारत और देशी राज्य दोनों सम्मिलित होंगे; (2) भारत का भावी संविधान तैयार करने के लिए एक संविधान सभा की स्थापना की जाएगी ; (3) देश की केंद्रीय सरकार केवल तीन विषयों अर्थात् विदेशी मामलों, प्रतिरक्षा और संचार-व्यवस्था का नियंत्रण करेगी। अन्य सब विषयों का शासन-प्रबंध प्रांतीय सरकारें करेंगी ; (4) प्रशासनिक दृष्टि से देश के सभी प्रांतों को तीन समूहों में बाँटा जाएगा :- (1) मद्रास, बम्बई, उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रांत और बरार; (2) पंजाब, पश्चिमोत्तर सीमा प्रांत और सिंध; (3) बंगाल तथा असम ; (5) नए संविधान में यह व्यवस्था भी की जाएगी कि देश का कोई प्रांत दस-दस वर्ष के विरामकाल के बाद संविधान के संशोधन अथवा उसके पुनर्विचार की माँग कर सकता है; तथा (6) जब तक नया संविधान बनकर तैयार नहीं हो जाएगा तब तक गवर्नर जनरल की वर्तमान कार्यकारी परिषद् के स्थान पर प्रमुख भारतीय राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के सहयोग से एक अंतरिम सरकार की स्थापना की जाएगी। कैबिनेट मिशन की योजना को कांग्रेस और मुस्लिम लीग दोनों ने स्वीकार कर लिया या। मुस्लिम लीग ने अंतरिम सरकार में अपने मनोनीत सदस्य भी भेजे, परन्तु आगे चलकर उसने संविधान सभा का बहिष्कार करने का निश्चय किया। इसका मुख्य कारण यह था कि प्रांतीय वर्गों की रचना वैकल्पिक अथवा अनिवार्य है, इस प्रश्न पर कांग्रेस और मुस्लिम लीग में मतभेद उत्पन्न हो गया था।
  • Cabinet responsibility -- मंत्रिमंडलीय उत्तरदायित्व
संसदीय शासन-व्यवस्था में लोक-निर्वाचित सदन के प्रति मंत्रिमंडल का सामूहिक उत्तरदायित्व। इस प्रकार का मंत्रिमंडल केवल उसी समय तक बना रह सकता है जब तक कि सदन में उसे बहुमत प्राप्त हो। बहुमत का समर्थन (विश्वास) खो देने पर मंत्रिमंडल को पदत्याग करना पड़ता है अर्थात् लोक सभा अविश्वास का प्रस्ताव पारित करके मंत्रिमंडल को अपदस्थ कर सकती है।
  • Caesarism -- सीजरतंत्र
एक व्यक्ति का निरंकुश शासन अथवा अधिनायकतंत्र। जूलियस सीज़र ने रोम में ईसा से लगभग 50 वर्ष पूर्व जनता का समर्थन प्राप्त कर राज्य के प्रशासन पर अपना नियंत्रण स्थापित कर लिया जिसके परिणामस्वरूप वस्तुतः उसके वैयक्तिक अधिनायकतंत्र की स्थापना हो गई। कालांतर में इसी प्रकार के अन्य अधिनायकतंत्रों की स्थापना भी मध्यकाल और आधुनिक काल में हुई। इस प्रकार के तंत्र की दो प्रमुख विशेषताएँ हैं- सैनिक शक्ति का प्रयोग और साथ ही, जनता का भी व्यापक समर्थन।
  • Calendar of the house -- विधानमंडलीय कार्य-सूची
विधायी निकाय में कार्यवाही के लिए विधेयकों और प्रस्तावों की कालक्रमानुसार तैयार की गई सूची। इसे सदन के सत्र का कार्यक्रम भी कह सकते हैं।
  • Canton -- कैंटन
1. किसी राज्य की एक छोटी भूभागीय या स्थानीय प्रशासनिक इकाई जैसे, फ्रांस की क्षेत्रीय इकाई।
2. स्विट्ज़रलैंड की एक संघांतरित इकाई। स्विट्ज़रलैंड 23 कैन्टनों और 6 अर्द्ध कैन्टनों का एक संघ है।
  • Canvasser -- मतार्थक
किसी निर्वाचन-क्षेत्र के मतदाताओं के पास जाकर अथवा अन्य माध्यमों से अपने प्रत्याशी के पक्ष में मत देने का अनुरोध करने वाला।
  • Canvassing -- मतार्थन
किसी निर्वाचन-क्षेत्र के मतदाताओं के पास जाकर अथवा अन्य माध्यमों से किसी प्रत्याशी विशेष के पक्ष में समर्थन प्राप्त करने का अनुरोध एवं प्रयास।
  • Capital -- राजधानी
किसी राज्य का वह नगर जिसमें उसका राजा अथवा प्रधान शासक स्थायी रूप से निवास करता हो ; किसी राज्य का वह महत्वपूर्ण नगर जहाँ उसकी मुख्य शासन-संस्थाएँ स्थित होती हैं।
  • Capitalism -- पूँजीवाद
वह आर्थिक व्यवस्था जिसके अंतर्गत पूँजी पर निजी स्वामित्व, उत्पादन तथा वितरण के साधनों पर मूलतः व्यवित्तगत नियंत्रण और स्वतंत्र व्यापार एवं खुले बाजारों की व्यवस्था रहती है जो क़ीमतों, उत्पादन और वितरण को निर्धारित करती है। इस प्रकार की पद्धति में सरकार का कार्य मुख्यतः शांति-व्यवस्था एवं नियामक कार्यों तक ही सीमित रहता है।
  • Capitalist democracy -- पूँजीवादी लोकतंत्र
पूँजीवादी सिद्धांतों पर आधारित जनतंत्र जिसमें व्यक्ति स्वातंत्र्य एवं सम्पत्ति-अधिकार की मान्यता होती है और उद्योग-धंधों, व्यापार आदि के क्षेत्रों में राज्य का हस्तक्षेप न्यूनतम रहता है। जनतंत्र की पहली परिकल्पना समाजवादी परिकल्पना से भिन्न है।
  • Capitalist state -- पूँजीवादी राज्य
वह राज्य जिसमें आर्थिक व्यवस्था पूँजीवादी सिद्धांतों पर आधारित हो।
  • Capitation grant -- प्रतिव्यक्ति अनुदान
राज्य की ओर से प्रति व्यक्ति की दर से सहायतार्थ दी गई धनराशि।
  • Capitulation -- आत्मसमर्पण
किन्हीं निश्चित शर्तों पर एक देश की सेना द्वारा दूसरे देश की सेना के सामने किया जानेवाला आत्मसमर्पण।
  • Capitulations -- 1. सुविधा भोग 2. समर्पण-पत्र धाराएँ
इस शब्द का तात्पर्य कुछ औपनिवेशिक राज्यों को अधीन देशों में संधि अथवा समझौतों के अंतर्गत प्राप्त कुछ विशेषाधिकारों और सुविधाओं से है जिनमें औपनिवेशिक राज्यों के नागरिकों को स्थानीय न्यायालयों से उन्मुक्ति तथा करों से छूट आदि प्रमुख हैं। उपनिवेशवाद के पतन के साथ अब यह व्यवस्था कालातीत हो गई है। 2. आत्मसमर्पण के समय की गई संधि के उपबंध। दे. capitulation.
  • Cardinal -- कार्डिनल (पोप परिषद् का सदस्य)
पोप पद से अवर पद पर पोप द्वारा नियुक्त चर्च संबंधी एक उच्च अधिकारी जो रोमन कैथोलिक चर्च के अन्य सभी पदाधिकारियों में अग्रगण्य होता है तथा कार्डिनल संघ के एक सदस्य के रूप में पोप की सहायता करता है। कार्डिनल संघ ही नए पोप का चुनाव करता है।
  • Carrer diplomat -- वृत्तिक कूटनीतिज्ञ, वृत्तिक राजनयिक
राज्य की राजनयिक सेवा को अपनी वृत्ति के रूप में अपनाने वाला व्यक्ति।
  • Caretaker government -- काम चलाऊ सरकार
नियमित मंत्रिमंडल के पदत्याग करने पर अगले मंत्रिमंडल का गठन होने तक जो सरकार शासन का कार्यभार संभालती है, उसे कामचलाऊ सरकार कहा जाता है। प्रायः पदनिवृत्त सरकार ही को शासन-कार्य चलाने का दायित्व सौंप दिया जाता है और तब वह कामचलाऊ सरकार कहलाती है। इसे मूल नीतियों संबंधी निर्णय लेने का अधिकार प्रायः नहीं होता।
  • Carpet bagging -- कारपेट बैगिंग
संयुक्त राज्य अमेरिका की संवैधानिक शब्दावली का एक पद जिसका अर्थ है कि जब कोई व्यक्ति अपने राज्य से बाहर दूसरे राज्य में प्रतिनिधि सभा के निर्वाचनों में प्रत्याशी होना चाहता है तो ऐसी प्रक्रिया को “कारपेट बैगिंग” कहते हैं और ऐसे व्यक्ति को “कारपेट बैगर” कहा जाता है।
  • Carpet crossing -- पक्ष-परिवर्तन, दल-बदल
यह शब्द नाइजीरिया की संसद-प्रणाली में दल-बदल की संज्ञा के रूप में प्रचलित है। वहाँ सरकारी तथा विरोधी पक्षों के लिए अलग-अलग गलीचे बिछे रहते हैं और जब कोई सदस्य अपने दल का त्याग कर विरोधी दल में मिलना चाहता है तो उसे गलीचा पार करना पड़ता है। दे. defection भी।
  • Cartel -- 1. उत्पादक संघ, कार्टेल 2. बंदी-विनिमय-पत्र
1. उत्पादक संघ, कार्टेल : निर्माताओं, व्यापारियों या उत्पादकों का स्वैच्छिक संघ।
2. बंदी-विनिमय-पत्र : युद्धबंदियों के संग व्यवहार, उनके विनिमय तथा अयुद्धकारी सबधों के नियमन के लिए दो युद्धकारी राष्ट्रों के मध्य लिखित समझौता।
  • Cartographic aggression -- मानचित्रीय आक्रमण
किसी राज्य द्वारा अपने अधिकृत मानचित्रों में किसी दूसरे, विशेषकर पड़ौसी, राज्य अथवा राज्यों के प्रदेश या प्रदेशों को अपना भूभाग दिखाना “मानचित्रीय आक्रमण” कहलाता है। उदाहरण के लिए, चीन के मानचित्रों में भारत भूमि के उत्तरी और उत्तरपूर्वी क्षेत्रों के भाग दिखाए गए हैं जिनके विरुद्ध भारत निरंतर आपत्ति करता आया है।
  • Caste system -- वर्ण व्यवस्था, जाति व्यवस्था
हिंदू समाज के अंतर्गत वह व्यवस्था जिसके अनुसार समस्त हिंदू समाज चार वर्गों-ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य तथा शूद्र में विभाजित रहा है। ये जातियाँ जन्मजात हैं। इनके कार्य क्षेत्र अलग-अलग हैं और इनके पारस्परिक संबंध ऊँच-नीच के सिद्धांत पर आधारित हैं। इनमें शूद्रों का स्थान निम्नतम है और इन्हें अच्छूत माना जाता है। परन्तु यह व्यवस्था धीरे-धीरे समाप्त हो रही है। भारत का संविधान बिना किसी भेदभाव के सब व्याक्तयों को समानता का अधिकार प्रदान करता है और प्रत्येक व्यक्ति अपनी रुचि, योग्यता और प्रशिक्षण के अनुसार अपना व्यवसाय चुन सकता है।
  • Casting vote -- निर्णायक मत
किसी बैठक में किसी विषय के समर्थकों और विरोधियों के बराबर मत होने पर अध्यक्ष द्वारा विषय के पक्ष या विपक्ष में दिया गया ऐसा मत जिससे गतिरोध समाप्त हो जाए।
  • Casus belli -- युद्ध-कारण
यदि कोई राज्य किसी अन्य राज्य के विरुद्ध कोई ऐसा कार्य करता है जिससे उस राज्य को युद्ध घोषणा करने का अवसर या बहाना या औचित्य मिल जाए तो ऐसी घटना, परिस्थिति अथवा कार्य को युद्ध-कारण कहा जाता है।
  • Cataclysm -- महाक्रांति
राजनीतिक या सामाजिक व्यवस्था में उथल-पुथल लाने वाली या उसको भंग करने वाली महत्वपूर्ण एवं हिंसात्मक घटना या घटनाक्रम।
  • Catching the speaker’s eye -- अध्यक्ष की निगाह में आना; अध्यक्ष का ध्यान आकर्षित करना
यदि संसद या विधान मंडल का कोई सदस्य भाषण करना चाहे तो वह अपने आसन से उठकर खड़ा हो जाता है और यह प्रयत्न करता है कि अध्यक्ष की निगाह उस पर पड़ जाए और उसे देखकर अध्यक्ष उसे बोलने की अनुमति दै। इस प्रकार सदस्य अध्यक्ष का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने का प्रयास करता है।
  • Catholicism -- कैथोलिक धर्म, कैथोलिकवाद
मुख्यतः रोमन कैथोलिक चर्च के सिद्धांतों पर आधारित दर्शन या चिन्तन।
  • Caucus -- काकस,
गुट किसी राजनीतिक दल के ऐसे मुख्य और प्रभावशाली सदस्यों की चौकड़ी जिसके हाथों में नेताओं का चुनाव, महत्वपूर्ण पदों के लिए उम्मीदवारों का मनोनयन और नीति निर्धारित करने तथा अन्य महत्वपूर्ण निर्णय करने की शक्ति केंद्रित रहती है।
  • Cavalier -- कैवेलियर
इंग्लैंड में चार्ल्स प्रथम के शासनकाल में सम्राट के समर्थकों को इस नाम से संबोधित किया जाता था। इसका तात्पर्य राजतंत्रवादियों से है। आगे चलकर यही लोग टोरी कहलाए।
  • Ceasefire -- युद्धविराम
युद्धरत राज्यों की सेनाओं के मध्य आपसी समझौते के अंतर्गत अथवा एकपक्षीय निर्णय के द्वारा अस्थायी रूप से युद्ध बन्द करने की स्थिति।
  • Censor -- संसर, सेंसर
वह प्रशासकीय अंग जो समाज में मुक्त विचार अभिव्यक्ति अथवा संदेशवाहन पर नैतिकता अथवा मूलभूत मान्यताओं एवं सिद्धांतों के मानदंड के अनुसार उनका निरीक्षण कर अंकुश लगाने का कार्य करता है, जैसे, आपातकाल में नागरिकों के पत्राचार, पुस्तकों और समाचारपत्रों का निरीक्षण। भारत में फिल्मों का नियमित रूप से फिल्म सेंसरबोर्ड द्वारा निरीक्षण करने के बाद ही उन्हें सार्वजनिक प्रदर्शन के लिए प्रमाणित किया जाता है। अधिनायकतंत्र में यह सरकारी अंग सभी सरकार विरोधी प्रकाशनों पर नियंत्रण कर नागरिकों की मूलभूत स्वतंत्रताओं का भी दमन करता है।
  • Censorship -- सेंसर कार्य
सरकारी तंत्र द्वारा पुस्तकों, फिल्मों इत्यादि का निरीक्षण कर उनमें से आपत्तिजनक अंशों को हटा दिए जाने का कार्य।
  • Censure -- परिनिंदा
1. विधान मंडल के किसी सदन में किसी सदस्य अथवा दल के आपत्तिजनक कार्यों के विरुद्ध प्रस्तुत किया गया निदा-प्रस्ताव।
2. किसी सरकारी अधिकारी के विरुद्ध भर्त्सना की कार्रवाई। दे. Censure motion भी।
  • Censure motion -- परिनिंदा पस्ताव
संसदीय शासन-प्रणाली के अंतर्गत विरोधी दल के नेता या अन्य किसी दल के नेता द्वारा इस प्रकार का प्रस्ताव रखा जाना कि सरकार अमुक नीति या कार्यक्रम में असफल रही है और सदन उसका तिरस्कार करे। यह प्रस्ताव अविश्वास प्रस्ताव के समान है।
  • Central government -- केंद्रीय सरकार
किसी देश की वह सरकार जिसके अंतर्गत समस्त राज्य प्रांतीय सरकारें कार्य करती हैं तथा जिसमें राज्य की सर्वोच्च सत्ता निहित रहती है। संघात्मक शासन व्यवस्था में संघ सरकार को केंद्रीय सरकार कहते हैं और इसका अधिकार-क्षेत्र संविधान द्वारा निर्धारित रहता है।
  • Centralism -- केंद्रवाद
शासन-व्यवस्था का ऐसा सिद्धांत जिसमें केंद्रीकरण का प्राधान्य हो अर्थात् जिसमें प्रमुख या अधिकांश शक्तियाँ केंद्रीय सरकार में केंद्रित हों और प्रांतों या स्थानीय शासन-इकाइयों को कम अधिकार प्राप्त हों। सोवियत संघ में साम्यवादी दल के संगठन व कार्य सचालन में इस सिद्धांत को प्रधानता दी गई थी। वहाँ इसे लोकतांत्रिक केंद्रवाद कहा जाता है। इसका अर्थ था कि निर्णय हालांकि दल के विभिन्न स्तरों पर विचार-विमर्श के बाद लिए जाते थे, परन्तु शीर्षस्थ अंगों द्वारा इस व्यापक विचार-विमर्श को ध्यान में रखते हुए जो निर्णय लिए जाते थे उनको किसी स्तर पर चुनौती नहीं दी जा सकती थी।
  • Centralization -- केंद्रीकरण
केंद्र या किसी केंद्रीय संगठन में शक्ति तथा सत्ता का केंद्रित होना, ऐसी राजनीतिक शासन-पद्धति जिसमें सभी महत्वपूर्ण विषयों और अभिकरणों का प्रबंध केंद्रीय सरकार द्वारा किया जाता है।
  • Centrifugal -- केंद्रापसारी
अधिकारों व कार्यों के विकेंद्रीकरण की प्रवृत्तियाँ।
  • Centripetal -- केंद्राभिसारी
अधिकारों व कार्यों के केंद्रीयकरण की प्रवृत्तियाँ।
  • Centrist party -- मध्यपंथी दल, मध्यमार्गी दल
दक्षिणपंथी और वामपंथी दलों के बीच का मार्ग अपनाने वाला दल।
  • Certiorari -- उत्प्रेषण
किसी उच्च न्यायालय द्वारा किसी अवर न्यायालय की कार्रवाई के अभिलेख को पुनरीक्षण की दृष्टि से मँगवाए जाने के लिए ज़ारी समादेश।
  • Cess -- उपकर
किसी विशेष वस्तु पर या किसी विशेष प्रयोजन के लिए लगाया गया कर।
  • Cession -- अर्पण
अंतर्राष्ट्रीय विधि के अंतर्गत पारस्परिक संधि के उपबंधों के अनुसार किसी राज्य द्वारा किसी अन्य राज्य को अपने किसी क्षेत्र अथवा प्रदेश को सौंप देने की क्रिया।
  • Chairman -- सभापति, अध्यक्ष
1. किसी सभा, समिति या विधान मंडल का अधिष्ठाता जो उसकी बैठकों का संचालन करता हो।
2. भारत में राज्य सभा की बेठकों का संचालन करने वाले पदाधिकारी को सभापति कहते हैं। भारत का उपराष्ट्रपति राज्य सभा का पदेन सभापति होता है।
  • Chairman of the Council of Ministers -- मंत्रिपरिषद् का प्रधान
मंत्रिपरिषद् की अध्यक्षता करने वाला तथा उसे नेतृत्व प्रदान करने वाला। सामान्यता यह पद साम्यवादी देशों में मिलता है। यह पश्चिमी देशों के प्रधानमंत्री के समकक्ष है।
  • Chairman of the Presidium of the Supreme Soviet -- सुप्रीम सोवियत के प्रेसिडियम का चेयरमैन
सोवियत संघ में संसद के सक्रिय अथवा सतत कार्यशासी अंग के रूप में एक निकाय का चुनाव होता है जिसे प्रेसिडियम कहते हैं। इसके चैयरमैन/सभापति की स्थिति पश्चिमी राष्ट्रों के राष्ट्रपति या राज्याध्यक्ष के समकक्ष मानी जाती थी। 1977 के संविधान में भी यही स्थिति बनी रही परन्तु अब स्थिति बदल रही है।
  • Chamber of Deputies -- चेंबर आफ डेपूटीज़
विश्व के कुछ राज्यों विशेषकर, फ्रांस (तृतीय गणतंत्र) व इटली की राष्ट्रीय संसद का निचला अथवा जनप्रतिनिधित्व करने वाला सदन।
  • Chancellor -- चांसलर
1. कुछ पश्चिम यूरोपीय राज्यों जैसे, जर्मनी और आस्ट्रिया का प्रधानमंत्री। 2. दूतावास का प्रधान सचिव। 3. विश्वविद्यालयों का प्रधान जो वास्तव में नाममात्र का होता है। राज्य के विश्वविद्यालयों में राज्य का राज्यपाल राज्य के विश्वविद्यालयों का नाममात्र का प्रधान होता है जिसे चांसलर कहते हैं। 4. ब्रिटेन में चांसरी न्यायालय का प्रधान।
  • Chancellor of the Exchequer -- चांसलर आफ दि एक्सचैकर, इंग्लैंड का वित्त मंत्री ब्रिटिश मंत्रिमंडल का एक वरिष्ठ सदस्य जो वास्तव में वित्त मंत्री होता है।
  • Chancery -- चान्सरी
1. किसी विदेशी दूत का कार्यालय। 2. न्यायपालिका के पुनःसंगठन से पूर्व ब्रिटेन का (लार्ड सभा को छोड़कर) सर्वोच्च न्यायालय जिसका अध्यक्ष लॉर्ड चांसलर कहलाता था। इस समय चांसरी ब्रिटेन के उच्च न्यायालय का एक प्रभाग बन गई है। उच्च न्यायालय में तीन प्रभाग अथवा खंड होते है-चांसरी, क्वीन्स बैंच प्रभाग तथा वसीयत, तालाब एवं समुद्री क्षेत्राधिकार संबंधी प्रभाग।
  • Charge d’ affaires -- कार्यदूत
1. किसी राजनयिक सेवा का वह अधिकारी जो राजदूत या मंत्री की अनुपस्थिति में दूतावास का कार्य संभालता है। 2. किसी देश में नियुक्त राजनयिक प्रतिनिधि जो राजदूत या मंत्री की नियुक्ति के अभाव में उस देश में राजनयिक कार्य करते रहते के लिए भेजा जाता है। राजनयिक प्रतिनिधियों की चार श्रेणियों में इसका स्थान निम्नतम होता है।
  • Charge sheet -- आरोपपत्र
वह ज्ञापन या पत्र जिसमें किसी व्यक्ति पर लगाए गए दोषों का ब्यौरा दिया जाता है।
  • Charisma -- चमत्कार, करिश्मा
कुछ विशिष्ट व्यक्तियों में जनसाधारण को आकर्षित करने व उनका नेतृत्व करने का असाधारण व्यक्तित्व अथवा गुण।
  • Charter -- अधिकार पत्र, चार्टर
1. अधिकार, मताधिकार अथवा विशेषाधिकार प्रदान करने वाला वह लिखित प्रलेख जो राज्य, राजा अथवा प्रधान शासक से प्राप्त हुआ हो। 2. संयुक्त राष्ट्र के संविधान को भी चार्टर कहते हैं। इसे सान फ्रांसिस्को (संयुक्त राज्य) में 51 राष्ट्रों के एक सम्मेलन (1945) में अपनाया गया था।
  • Chartism -- चार्टिज्म, चार्टरवाद
उन्नीसवीं शताब्दी में श्रमिक वर्गों की सामाजिक और औद्योगिक अवस्था को सुधारने के लिए इंग्लैंड के राजनीतिक सुधारकों के एक संगठन द्वारा अपनाए गए सिद्धांत तथा उनका कार्यान्वयन करने हेतु उसका व्यवहार।
  • Chauvinism -- उत्कट राष्ट्रवाद
इस शब्द की रचना शाविन नामक एक फ्रांसीसी सिपाही के नाम पर हुई है। वह नैपोलियन के प्रति अत्यधिक समर्पित था। अब यह शब्द अंध देशभक्ति या अपने वर्ग आदि के प्रति अत्यधिक निष्ठा के अर्थ में प्रयुक्त होता है।
  • Checks and balances -- नियंत्रण और संतुलन
शक्ति पृथक्करण सिद्धांत को संशोधित करने वाला वह सिद्धांत जिसके अनुसार राज्य शक्ति तीन अंगों (कार्यपालिका, विधायिका तथा न्यायपालिका) में विभाजित हो परन्तु साथ ही, यह भी प्रावधान हो कि एक अंग दूसरे अंग को सीमित व संतुलित कर सके। इसका सर्वश्रेष्ठ उदाहरण संयुक्त राज्य अमेरिका का संविधान है जहाँ कांग्रेस द्वारा पारित विधेयक राष्ट्रपति द्वारा अनुमोदित होते हैं और राष्ट्रपति द्वारा की गई संधियाँ और नियुक्तियाँ सीनेट द्वारा अनुमोदित होती हैं। उच्चतम न्यायालय कांग्रेस द्वारा पारित विधेयकों को संविधान के उपबंधों का उल्लंघन किए जाने की स्थिति में असंवैधानिक घोषित कर सकता है। इस प्रकार समस्त शासन व्यवस्था में शक्ति द्वारा ही शक्ति का परस्पर नियंत्रण एवं संतुलन किया जाता है।
  • Chief -- मुख्य, प्रमुख
किसी राजनीतिक दल, सरकारी कार्यालय या विभाग अथवा सरकारी संस्था का प्रधान अधिकारी।
  • Chief Election Commissioner -- मुख्य निर्वाचन आयुक्त
निर्वाचन आयोग का प्रधान। भारत में इसकी नियुक्ति राष्ट्रपति द्वारा की जाती है। इसके वेतन, सेवा शर्ते, कार्यकाल आदि का निर्धारण संसदीय विधि के द्वारा किया जाता है। इस को कार्य़पालिका के हस्तक्षेप से मुक्त रखने के लिए संविधान में वही संरक्षण प्रदान किया जाता है जो उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीशों को प्राप्त होता है अर्थात् इसको संसद के दोनों सदनों के कुल सदस्यों के बहुमत तथा उपस्थित एवं मतदान करने वाले सदस्यों के दो-तिहाई बहुमत से पारित प्रस्ताव के आधार पर ही राष्ट्रपति द्वारा अपदस्थ किया जा सकता है।
  • Chief executive -- मुख्य कार्यपालक
शासन के कार्यकारी अंग का वास्तविक प्रधान जैसे, भारत में प्रधानमंत्री और संयुक्त राज्य अमेरिका में राष्ट्रपति।
  • Chief justice -- मुख्य न्यायाधीश
सर्वोच्च न्यायालय का प्रमुख अथवा अध्यक्ष जो प्रायः वरिष्ठता-क्रमानुसार ही चुना जाता है। इसे देश का प्रधान न्यायाधीश कहा जाता है। न्यायिक अधिकारों के अतिरिक्त इसे न्यायालय के प्रशासन संबंधी अधिकार भी प्राप्त होते हैं।
  • Chief minister -- मुख्य मंत्री
भारत के राज्यों में शासन के कार्यकारी अंग का प्रधान। कुछ अन्य देशों के राज्यों या प्रांतों में भी यह पद पाया जाता है। भारत में राज्य के मुख्यमंत्री की लगभग वही स्थिति है जो केंद्र में प्रधानमंत्री की। साधारणतया राज्यपाल उसके परामर्श के बिना या उसके विपरीत कोई कार्य नहीं कर सकता और उसका परामर्श राज्यपाल के लिए बाध्यकारी होता है।
  • Chief of staff -- 1. सेनाध्यक्ष 2. स्टाफ का अध्यक्ष चीफ स्टाफ
1. सेना के किसी अंग, शाखा, अथवा विभाग का प्रभारी अधिकारी। 2. संयुक्त राज्य अमेरिका में राष्ट्रपति के निजी परामर्शदाताओं के प्रमुख को भी “चीफ ऑफ स्टाफ” कहते हैं।
  • Citizen -- नागरिक
किसी राज्य का वह व्यक्ति जिसका उस राज्य में जन्म हुआ हो या ऐसे माता-पिता ने उसे जन्म दिया हो जो उस राज्य के नागरिक हों अथवा जिसने उस राज्य के क़ानून के अनुसार ऐसे राज्य की नागरिकता प्राप्त कर ली हो। किसी राज्य में केवल नागरिकों को ही राजनीतिक अधिकार प्राप्त होते हैं। इनमें मताधिकार तथा निर्वाचनों में उम्मीदवार होने के अधिकार प्रमुख हैं।
  • Citizens’ union -- नागरिक संघ
अनेक लोकतांत्रिक राज्यों में नागरिकों के अधिकारों एवं स्वतंत्रताओं के रक्षार्थ समय-समय पर उनके स्वैच्छिक संगठन स्थापित होते रहे हैं। इस समय भारत में अनेक ऐसे संगठन कार्यरत हैं जैसे हिंदुस्तानी आंदोलन, पीपुल्स यूनियन फॉर सिविल लिबर्टी आदि। अमेरिका में भी इस प्रकार के अनेक संगठन हैं जैसे अमेरिकन सिविल लिबर्टीज यूनियन, सिविल सर्विस रिफार्म लीग, अरबन लीग आदि।
  • City council -- नगर परिषद्
नगर का विधायी निकाय जिसे कर लगाने, निधि विनियोजन, नगर निगम के कार्य संचालन तथा उपनियम बनाने के अधिकार प्राप्त होते हैं। विशेषकर संयुक्त राज्य अमेरिका में किसी नगर की सरकार जिसे विधि निर्माण, अध्यादेश प्रवर्तन तथा करारोपण आदि के अधिकार होते हैं।
  • City manager plan -- नगर प्रबंधक योजना
संयुक्त राज्य अमेरिका की स्थानीय स्वशासन प्रणाली का एक स्वरूप जिसके अनुसार नगर परिषद् विधायिनी अधिकार तो रखती है किन्तु कार्यपालन का उत्तरदायित्व एक नगर प्रबंधक को सौंप देती है जो एक निश्चित अवधि के लिए नियुक्त होता है।
  • City state -- नगर-राज्य
प्राचीन यूनानी राज्य जिनका क्षेत्रफल केवल नगरव्यापी होता था, और इसी, कारण इन्हें नगर-राज्य कहा जाता था। प्रत्येक नगर-राज्य स्वतंत्र एवं संप्रभु होता था। इनमें से अनेक नगर-राज्यों में प्रत्यक्ष लोकतंत्र की व्यवस्था पाई जाती थी।
  • Civil culture -- नागरिक संस्कृति
सामाजिक एवं राजनीतिक संस्थाओं तथा मूल्यों के विषय में नागरिकों की अभिवृत्तियों, विश्वासों तथा प्रतिक्रियाओं का संग्रह।
  • Civic sense -- नागरिक भावना
नागरिकों में व्याप्त ऐसी संवेदना जिसमें समस्त समाज की सुख-सुविधा, हित एवं उन्नति का भाव हो।
  • Civil culture -- सिविल, नागरिक, नागर
1. एक नागरिक का दूसरे नागरिक या राज्य-व्यवस्था से संबंध। 2. राज्य के आंतरिक मामलों या नागरिक वर्ग से संबंधित। 3. नागरिक से संबंधित। 4. असैनिकों से संबंधित।
  • Civil budget -- सिविल बज़ट
सरकार के वार्षिक बज़ट का वह भाग जिसका संबंध सैनिक विभाग को छोड़कर असैनिक विभागों के आगामी वर्ष के अनुमानित आय-व्यय के आँकड़ों से हो।
  • Civil code -- व्यवहार संहिता, सिविल कोड
नागरिकों के पारस्परिक व्यवहार को नियमित करने वाली विधि।
  • Civil court -- दीवानी अदालत
नागरिकों के अधिकारों, धन-संपत्ति आदि के मुकदमों की सुनवाई करने वाला न्यायालय।
  • Civil defence -- नागरिक रक्षा, सिविल रक्षा
युद्ध अथवा किसी आपातकालीन स्थिति में किसी राज्य के नागरिकों द्वारा न्यूनतम सुविधाएँ बनाए रखने तथा राहत आदि पहुँचाने के लिए किए जाने वाले रक्षात्मक उपाय।
  • Civil disobedience -- सविनय अवज्ञा
सरकार की अनुचित समझी गई आज्ञा, आदेश अथवा कानून का व्यक्तिगत या सामूहिक रूप से शांतिपूर्ण विरोध। जैसे निषेधाज्ञा का उल्लंघन कर सभाएँ करना, प्रदर्शन करना, जलूस निकालना, कर न चुकाना आदि।
  • Civil embargo -- असैनिक व्यापार-प्रतिषेध
सरकार द्वारा अपने राज्य के वाणिज्यिक जहाज़ों के गमनागमन पर लगाया गया प्रतिबंध।
  • Civil equality -- नागरिक समता
राज्य में सभी नागरिकों को समान अधिकार एवं अवसरों की प्राप्ति। इस सिद्धांत के अनुसार शासन एवं कानून की दृष्टि में सभी नागरिक समतापूर्ण व्यवहार के पात्र होते हैं और किसी के साथ जाति, धर्म, वर्ण, क्षेत्र, निवास आदि के आधार पर कोई भेदभाव नहीं किया जाना चाहिए।
  • Civil liberty -- नागरिक स्वतंत्रता
संविधान अथवा विधि में उल्लिखित वे अधिकार जिनका उद्देश्य व्यक्तियों, उनके विचारों एवं संपत्ति को मनमाने शासकीय अधिकारियों के हस्तक्षेप से संरक्षण प्रदान करना होता है। इन स्वतंत्रताओं पर केवल उस दशा में प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं जब उनका व्यक्तियों या व्यक्ति समूहों द्वारा दुरुपयोग किया जा रहा हो अथवा जब ये प्रतिबंध सार्वजनिक हित में आवश्यक हों।
  • Civil list -- 1. सिविल लिस्ट, 2. अधिकारी सूची
1. ब्रिटेन तथा अन्य राजतंत्रों में, वर्ष के प्रारंभ में, राजकुल के सदस्यों के व्यक्तिगत और घरेलू व्यय के लिए विनियोजित धन राशि की सूची। 2. राज्य के असैनिक सार्वजनिक अधिकारियों की सूची।
  • Civil rights -- नागरिक अधिकार
संगठित राजनीतिक जीवन के लिए संविधान अथवा विधि द्वारा प्रदत्त अधिकार एवं स्वतंत्रताएँ जिनका लक्ष्य नागरिकों के लिए स्वस्थ नागरिक जीवन में भाग ले सकना संभव बनाना है। इनका उल्लंघन होने पर नागरिक न्यायालय की शरण ले सकता है। यद्यपि कई बार नागरिक स्वतंत्रताओं तथा नागरिक अधिकारों को पर्याय के रूप में प्रयुक्त किया जाता है परन्तु दोनों में भेद यह है कि स्वतंत्रताएँ मूलतः राज्य के ऊपर नकरात्मक प्रतिबंध हैं जबकि अधिकार राज्य के लिए सकारात्मक आदेश हैं।
  • Civil service commission -- असैनिक सेवा आयोग, सिविल सेवा आयोग
किसी राज्य की सरकार द्वारा गठित वह आयोग जो विभिन्न प्रशासकीय विभागों, प्रभागों तथा उनके अधीनस्थ कार्यालयों इत्यादि में शासन-कार्य के सुचारु संचालन के लिए स्वतंत्र प्रतियोगिता परीक्षाओं आदि के द्वारा विभिन्न प्रकार के प्रशासनिक तथा तकनीकी कर्मचारियों का योग्यता के आधार पर चयन करता है।
  • Civil service (= administrative services) -- प्रशासनिक सेवाएँ; सार्वजनिक कर्मचारीवर्ग, असैनिक-सेवा
किसी राज्य के वे अधिकारी एवं कर्मचारी जो नियमित वेतनभोगी तथा अराजनीतिक होते हैं जिसका चयन निष्पक्षतापूर्वक प्रतियोगी परीक्षाओं द्वारा किया जाता है और जो स्थायी रूप से नियुक्त किए जाते हैं। सैनिक कर्मचारी व अधिकारी इनमें शामिल नहीं होते।
  • Civil society -- नागरिक समाज
मानव की वह अवस्था जो राज्य की उत्पत्ति विषयक सामाजिक समझौते के सिद्धांत के समर्थकों ने सामाजिक समझौते से उत्पन्न हुई दशा बताई है। इस अवस्था में प्रवेश करने के परिणामस्वरूप मानव अपनी आदिम असंगठित अवस्था का परित्याग कर देता है और एक संगठित सामाजिक एवं राजनीतिक जीवन अपनाता है। इस प्रकार राजनीतिक व्यवस्था का प्रादुर्भाव होता है और व्यक्तिगत सुरक्षा, शांति तथा कुशल प्रशासन के लिए राजनीतिक सत्ता व्यक्ति-विशेष अथवा व्यक्तियों के समूह को सौंप दी जाती है।
  • Civil war -- गृहयुद्ध
एक ही देश या राष्ट्र के विभिन्न समूहों, गुटों या दलों में सत्ता पाने के लिए सशस्त्र संग्राम।
  • Civitas (city) -- नगर, दे. City-state
  • Class antagonism -- वर्ग-विरोध
मार्क्स के अनुसार पूँजीवादी समाज में निरंतर परिलक्षित वह वैमनस्य, विरोध, प्रतिरोध अथवा द्वेष की भावना जो समाज के विभिन्न आर्थिक वर्गों में एक दूसरे के प्रति पाई जाती है। यह समाज को दो परस्पर विरोधी भागों-पूँजीपति वर्ग तथा सर्वहारा-वर्ग में विभक्त कर देती है।
  • Class conflict -- वर्ग-संघर्ष, वर्ग-विरोध, दे. Class antagonism.
  • Class consciousness -- वर्ग चेतना
मार्क्सवादी विचारधारा के अनुसार सर्वहारा वर्ग के सदस्यों में अपने हितों तथा अपने वर्ग की दशा के प्रति जागरूक होने की मनःस्थिति और पूँजीपति वर्ग के प्रति उग्र विरोध की मावना और इस वर्ग के विनाश के लिए वह क्रांति का आश्रय लेकर एक वर्ग-विहीन समाज की स्थापना करने के लिए प्रयत्न करता है।
  • Class struggle -- वर्ग संघर्ष
मार्क्सवादी सिद्धांत के अनुसार समाज के दो वर्गों-पूँजीपति वर्ग और सर्वहारा वर्ग-के बीच उत्पादन के साधनों पर एक वर्ग के स्वामित्व के कारण सदा वैमनस्य और तनाव की स्थिति रही है। इसे मार्क्स ने वर्ग संघर्ष की स्थिति कहा है। यह स्थिति बराबर रही है। साम्पवादी क्रांति का लक्ष्य सर्वहारा वर्ग का अधिनायकत्व स्थापित कर एक वर्गविहीन समाज की स्थापना करना था ताकि वर्गों और वर्ग संघर्ष को समाप्त किया जा सके।
  • Clique -- गुट
कुछ निहित स्वार्थवाले व्यक्तियों का वह संकीर्ण समूह जो अपने पारस्परिक हितों, राजनीतिक विचारों तथा दृष्टिकोणों में समानता के कारण संगठित होता है और अपने उद्देश्यों की पूर्ति के लिए प्रयत्नशील रहता है।
  • Closed door session -- बंद सत्र
संसद अथवा विधानमंडल या उनकी किसी समिति का वह अधिवेशन अथवा बैठक जिसकी कार्रवाई जनसाधारण एवं पत्रकारों से गुप्त रखी जाती है और इन्हें इस प्रकार की बैठक में उपस्थित नहीं रहने दिया जाता।
  • Closed port -- प्रतिबंधित बंदरगाह
किन्हीं दो या अधिक राज्यों में युद्ध की संक्रियाओं के मध्य किसी एक राज्य के भूभाग का वह बंदरगाह अथवा पत्तन जिसमें न केवल संबंधित शत्रु राज्यों के बल्कि विश्व के अन्य भिन्न राज्यों के युद्ध पोतों, व्यापार पोतों तथा अन्य प्रकार के समुद्री तथा वायु यातापात के साधनों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई हो।
  • Closed sea -- प्रतिबंधित सागर, निषिद्ध सागर
समुद्र का वह भाग जिस पर तटवर्ती राज्य द्वारा विदेशी जलपोतों के आवागमन पर प्रतिबंध लगा दिया गया हो। प्रायः राष्ट्रीय सुरक्षा के कारण ऐसा किया जा सकता है।
  • Closure motion -- विवादांत प्रस्ताव
वह संसदीय प्रक्रिया जिसके द्वारा संसद में किसी महत्वपूर्ण प्रश्न पर वादविवाद को समाप्त करने के लिए औपचारिक प्रस्ताव रखा जाता है कि “अब वादविवाद समाप्त कर दिया जाए”। तदुपरांत इस पर मत संग्रह किया जाता है। इस विवाद समाप्त करने वाले प्रस्ताव को ही “विवादांत प्रस्ताव” कहते हैं।
  • Closing session -- समापन बैठक
1, सम्मेलन, सभा, संसद या विधान मंडल के किसी सत्र की अंतिम बैठक। 2. सम्मेलन, सभा, संसद या विधान मंडल की अवधि का अंतिम सत्र।
  • Coalition -- बहुदलीय, मिला-जुला, संयुक्त संगठन
विभिन्न राजनीतिक दलों, व्यक्तियों अथवा राज्यों का किसी सामान्य उद्देश्य या कार्य की पूर्ति के लिए निर्मित अस्थायी संगठन।
  • Coalition government -- मिली-जुली सरकार, बहुदलीय सरकार, संविद सरकार
वह सरकार जिसका गठन विधान मंडल के विभिन्न प्रमुख किंतु अल्पमत वाले राजनीतिक दलों द्वारा मिलकर किया जाता है जो मिलकर बहुमत का दावा करने में सफल होते हैं। इस प्रकार की मिली-जुली सरकार को गठित करने की स्थिति तब उत्पन्न होती है जब किसी राजनीतिक दल को आम निर्वाचन के परिणामस्वरूप विधान मंडल में स्पष्ट बहुमत प्राप्त नहीं होता।
  • Co-belligerent -- सहयुद्धकारी
ऐसा राज्य जो किसी अन्य राज्य के युद्ध में भागीदार होना स्वीकार करे।
  • Codification -- संहिताकरण अंतर्राष्ट्रीय संबंधों में प्रचलित प्रथाओं एवं संधिगत नियमों को व्यवस्थित रूप देकर लिपिबद्ध करना।
  • Code of conduct -- आचार संहिता
राजनीतिक दलों संसद सदस्यों अथवा प्रशासनिक अधिकारियों आदि के लिए आचार-व्यवहार या सदाचार की नियमावली।
  • Coldwar -- शीतयुद्ध
द्वितीय महायुद्ध के उपरांत साम्यवादी गुट एवं पश्चिमी राष्ट्रों के मध्य व्याप्त तनावपूर्ण संबंधों की स्थिति जिसमें संसार दो गुटों में बंट गया और सेनाओं एवं शस्त्रों का प्रयोग न होते हुए भी दोनों गुट एक दूसरे के प्रति प्रचार माध्यमों, आर्थिक नीतियों एवं सैन्य गठबंधनों के द्वारा वैमनस्यपूर्ण वातावरण बनाए रहे।
  • Collective guarantee -- सामूहिक गारंटी
वह दायित्व जो विभिन्न राष्ट्र किसी अंतर्राष्ट्रीय समझौते अथवा संधि के अंतर्गत किसी राज्य को उस राज्य पर विदेशी आक्रमण किए जाने की स्थिति में सुरक्षा प्रदान करने के लिए वहन करते हैं। इसी प्रकार की गारंटी किसी देश के तटस्थीकरण के संबंध में भी होती है।
  • Collective intervention -- सामूहिक हस्तक्षेप
अंतर्राष्ट्रीय दायित्वों को पूरा करने के लिए कुछ राष्ट्रों द्वारा सामूहिक रूप से किसी राज्य के विरुद्ध की गई कार्रवाई जो सैनिक कार्रवाई का रूप भी धारण कर सकती है और जिस राज्य के विरूद्ध की गई है, उसकी स्वतंत्रता या प्रादेशिक अखंडता के प्रतिकूल होती है। संयुक्त राष्ट्र के चार्टर के सातवें अध्याय के अंतर्गत की जाने वाली रक्षात्मक कार्रवाई भी सामूहिक हस्तक्षेप का दृष्टांत है। दे. intervention भी।
  • Collective measures -- सामूहिक उपाय
संयुक्त राष्ट्र के चार्टर के अंतर्गत राष्ट्रों के समूह द्वारा किसी अपचारी राज्य के विरुद्ध की गई किसी प्रकार की संयुक्त अथवा एकीकृत कार्रवाई। ऐसे राज्य के विरुद्ध सुरक्षा परिषद् द्वारा आर्थिक शास्तियाँ तथा प्रतिबंध लगाना या सैनिक कार्रवाई करना अंतर्राष्ट्रीय राजनीति में सामूहिक उपाय के स्पष्ट उदाहरण हैं।
  • Collective recognition -- सामूहिक मान्यता
कुछ राष्ट्रों या राष्ट्रों के समूह द्वारा लिया गया वह संयुक्त निर्णय जिसके अंतर्गत वे किसी नवस्थापित राज्य के अंतर्राष्ट्रीय अस्तित्व को अथवा किसी राज्य में नवस्थापित सरकार या शासन को औपचारिक रूप से मान्यता प्रदान करने का निश्चय करते हैं।
  • Collective responsibility -- सामूहिक उत्तरदायित्व
संसदीय शासन-प्रणाली में मंत्रीपरिषद् का उत्तरदायित्व संबंधी वह सिद्धांत जिसके अनुसार मंत्रिपरिषद् का हर सदस्य मंत्रिपरिषद् के प्रत्येक निर्णय के लिए व्यक्तिगत रूप से तथा सामूहिक रूप से उत्तरदायी होता है। इस सिद्धांत के अनुसार किसी भी एक मंत्री के विरुद्ध सदन द्वारा पारित अविश्वास प्रस्ताव पूरे मंत्रिमंडल के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव माना जाता है।
  • Collective security -- सामूहिक सुरक्षा
अंतर्राष्ट्रीय शांति तथा सुरक्षा भंग करने वाले किसी राज्य के विरुद्ध अन्य राज्यों द्वारा सामूहिक रूप से कार्रवाई किए जाने का सिद्धांत जिसकी व्यवस्था सर्वप्रथम राष्ट्रसंघ के प्रसंविदा के अंतर्गत हुई थी। यही सिद्धांत संयुक्त राष्ट्र के चार्टर का मूल सिद्धांत है। इस पद का प्रयोग क्षेत्रीय-सैनिक संगठनों अथवा गुटों के संदर्भ में भी किया जाता है।
  • Collectivism -- समष्टिवाद
वह सिद्धांत जो उत्पादन के साधनों पर राज्य के स्वामित्व एवं नियंत्रण के पक्ष में है और इन पर व्यक्तियों एवं व्यक्ति समूहों के स्वामित्व और नियंत्रण का विरोध करता है। बहुधा यह पद समाजवाद अथवा साम्यवाद का पर्यायवाची समझा जाता है। यह निर्बाध उद्यम को प्रमुखता देने वाले व्यक्तिवादी सिद्धांत का विलोम है।
  • Colonial administration -- औपनिवेशिक प्रशासन
किसी औपनिवेशिक राज्य द्वारा अपने अधीनस्थ उपनिवेशों के निवासियों के लिए संचालित शासन।
  • Colonial office -- उपनिवेश मंत्रालय
ब्रिटेन का एक मंत्रालय जो उपनिवेश संबंधी नीतियों एवं कार्यक्रमों का निरूपण तथा क्रियान्वयन करता था। इसका प्रमुख मंत्रिमंडल का एक सदस्य होता था।
  • Colonial powers -- औपनिवेशिक शक्तियाँ
यह पद यूरोप के उन राष्ट्रों के लिए प्रयुक्त होता था जिन्होंने उन्नीसवीं शताब्दी में एशिया और अफ्रीका के कुछ देशों में अपना राजनीतिक प्रभुत्व स्थापित किया था। इनमें प्रमुख हैं ब्रिटेन फ्रांस, जर्मनी, बेल्जियम, पुर्तगाल, स्पेन, इटली इत्यादि।
  • Colony -- उपनिवेश, कालोनी
1. (यूनानी इतिहास) प्रवासियों द्वारा स्थापित स्वतंत्र नगर।
2. (रोम का इतिहास) किसी विजित प्रदेश या भूभाग में स्थापित छावनी या सैनिक बस्ती जहाँ विजेता राष्ट्र के लोग आकर बस गए हों।
3. (ब्रिटेन का इतिहास) किसी स्वामीविहीन अथवा नवीन भूभाग या विजित प्रदेश में स्थापित बस्ती जिसके लोगों का अपनी मातृभूमि से संबंध बना रहे।
4. शुद्ध राजनीतिक संकल्पना के रूप में, वह भूभाग जिस पर किसी विदेशी राष्ट्र ने अपना राजनीतिक प्रभुत्व स्थापित कर लिया हो।
  • Colour bar -- रंगभेद, वर्णभेद
शरीर की त्वचा के रंग के आधार पर किसी जाति, समाज या राज्य द्वारा अधिकारों आदि के संबंध में किया जाने वाला भेदभाव। दे. Apartheid भी।
  • Coloured people -- अश्वेत जन
1. अश्वेत जातियों के लोग विशेषकर नीग्रो या उनसे मिलते-जुलते लोग। 2. मिश्रित जाति के लोग जैसे, अफ्रीका में जहाँ कि श्वेत और नीग्रो (काले) लोगों के अतिरिक्त अन्य लोगों को यह संज्ञा दी जाती है।
  • Comecon -- कॉमिकोन
इसका पूरा नाम है-पारस्परिक आर्थिक सहायतार्थ परिषद् (काउंसिल फॉर मूचुअल इकनॉमिक असिस्टेंस)। इसकी स्थापना 25 जनवरी, 1949 को मास्को में हुई थी। इसके सदस्य सोवियत संघ एवं पूर्वी यूरोप के साम्यवादी राज्य थे। इसका उद्देश्य साम्यवादी देशों में पारस्परिक आर्थिक सहयोग एवं समन्वय स्थापित करना था।
  • Comintern -- कॉमिन्टर्न “कम्यूंनिस्ट इंटरनेशनल” का संक्षिप्त रूप।
इसकी स्थापना सन् 1919 में लेनिन आदि नेताओं द्वारा विश्व में मावर्सवाद के प्रसार के लिए की, गई थी। सन् 1920 से सन् 1943 तक की अवधि में इसका मुख्य प्रयोजन सोवियत नीतियों के लिए समर्थन प्राप्त करना था। किन्तु सन् 1943 में द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान सोवियत संघ ने मित्र राष्ट्रों की यह आशंका दूर करने के लिए कि यह संगठन साम्यवादी दलों के माध्यम से उनके देशों में साम्यवादी गतिविधियों को प्रोत्साहन देता है, इसका विघटन कर दिया। इसे तृतीय इंटरनेशनल भी कहा जाता है।
  • Cominform -- कॉमिन्फार्म “कम्यूनिस्ट इन्फार्मेशन ब्यूरो” का संक्षिप्त रूप।
सन् 1947 सन् 1947 में इसकी स्थापना का उद्देश्य साम्यवादी दलों के अनुभवों का आदान-प्रदान तथा उनकी नीतियों में तालमेल स्थापित करना था। इसके सदस्य न केवल साम्यवादी राज्य थे बल्कि कई देशों के साम्यवादी दल भी थे। परन्तु 1956 में इसे भंग कर दिया गया
  • Comitia -- कमिशिया
प्राचीन रोम में साधारण जनता की वह सभा जिसमें प्राधिकृत अधिकारियों द्वारा प्रस्तावित विषयों पर विचार-विमर्श किया जाता था।
  • Command model -- आदेशात्मक प्रतिमान
किसी राजनीतिक व्यवस्था का वह प्रतिमान जिसमें जन-सहभागिता का पूर्ण अभाव रहता है तथा जिसमें शासन-संचालन शीर्षस्थ सत्ता के आदेश पर ही होता है।
  • Commercial attache -- वाणिज्य सहचारी, वाणिज्य अताशे
किसी राज्य की विदेशी सेवा का वह अधिकारी जो व्यापार-वाणिज्य आदि के लिए महत्वपूर्ण विदेशी नगरों में नियुक्त किया जाता है और राज्य के दूतावास से संबद्ध होता है।
  • Commercial domicile (=trade domicile) -- वाणिज्यिक अधिवास
किसी राज्य के नागरिकों द्वारा व्यापार इत्यादि के उद्देश्य से किसी अन्य राज्य में निवास अथवा वहाँ उनके व्यापारिक प्रतिष्ठानों का होना।
  • Commercial flag -- वाणिज्यिक ध्वज
वह ध्वजा जिससे किसी राज्य के पोत के वाणिज्यिक अथवा व्यापारिक होने का बोध होता है। इस ध्वज को देखकर युद्धकाल में युद्धकारी राज्यों द्वारा व्यापारी पोतों तथा जंगी जहाजों में भेद किया जा सकता है।
  • Commercial mission -- वाणिज्य-मिशन
किसी राज्य का किसी अन्य राज्य में स्थित वाणिज्यिक अथवा व्यापारिक हितों की अभिवृद्धि करने वाला कार्यालय।
  • Commercial treaty -- वाणिज्य-संधि
वह संधि जिसके अंतर्गत किसी राज्य के नागरिक (अथवा कोई राज्य) किसी अन्य राज्य अथवा उसके नागरिकों के साथ व्यापार करते हैं या शुल्कों आदि में सुविधा प्राप्त करते हैं।
  • Commissar (=Commissary) -- कामिसार, कामिसरी
1. सोवियत सरकार का अधिकारी। 2. सोवियत संघ में, एक प्रशासी विभागाध्यक्ष अथवा मंत्री। इस शब्द का प्रयोग उक्त अर्थ में सन् 1946 तक किया जाता था। 3. साम्यवादी देशों में, साम्यवादी दल का वह अधिकारी जो सैनिक प्रतिष्ठानों में दल की नीतियों तथा कार्यक्रमों के समुचित पालन का निरीक्षण करता है।
  • Commissariat -- 1. कामिसारियट, रसद विभाग 2. यंत्रालय
1. (अ) वह विभाग जिसके द्वारा सेनाओं तथा सैनिक चौकियों को भोजन व अन्य दैनिक आवश्यक वस्तुएँ पहुँचाई जाती हैं। (आ) इस प्रकार की सेना के प्रभारी अधिकारियों का निकाय। 2. सन् 1946 तक सोवियत संघ का एक सरकारी विभाग या मंत्रालय।
  • Commission -- आयोग, कमीशन
एक अथवा अनेक व्यक्तियों का वह निकाय जिसे कोई विशिष्ट कार्य सौंपा गया हो। इसकी स्थापना संविधान, विधान मंडल अथवा मुख्य कार्यकारी द्वारा कुछ विशिष्ट उद्देश्यों की पूर्ति के लिए की जाती है। उदाहरणार्थ (1) संविधान के उपबंधों के अनुसार गठित वित्त आयोग, संघ लोक सेवा आयोग, निर्वाचन आयोग इत्यादि, (2) वे जो संसद अथवा राज्य विधान मंडलों की विधियों के फलस्वरूप निर्मित होते हैं जैसे, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग, तथा (3) वे जो सरकार के कार्यकारी आदेश द्वारा नियुक्त किए जाते हैं जैसे, वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दावली आयोग।
  • Commissioner -- आयुक्त, कमिश्नर
1. कुछ देशों में, विशेष कार्य के लिए नियुक्त आयोगों के सदस्य। 2. भारत के कुछ राज्यों में, कुछ जिलों को मिलाकर गठित एक प्रशासनिक इकाई (जिसे मंडल या कमिश्नरी कहते हैं) का सर्वोच्च प्रशासनिक अधिकारी। 3. सार्वजनिक सेवा विभाग या ब्यूरों का प्रधान अधिकारी जैसे श्रम आयुक्त, आयकर आयुक्त।
  • Commission of enquiry -- जांच आयोग, जाँच कमीशन
किसी विशेष समस्या की जाँच करने एवं प्रतिवेदन देने के लिए नियुक्त किए गए विधायी या प्रशासनिक अधिकारियों अथऴा गैर-सरकारी सदस्यों का मंडल।
  • Commission on Human Rights -- मानव अधिकार आयोग, मानव अधिकार कमीशन (संयुक्त राष्ट्र)
1. सन् 1946 में संयुक्त राष्ट्र की महासभा की आर्थिक व सामाजिक परिषद् द्वारा श्रीमती ई. रूजवेल्ट की अध्यक्षता में मानव अधिकारों के घोषणा पत्र का प्रारूप तैयार करने के लिए गठित आयोग। 2. सन् 1966 के मानव अधिकार प्रसंविदाओं के अंतर्गत स्थापित एक स्थायी आयोग।
  • Committee of Supply -- विनियोग समिति
विशेषकर ब्रिटेन में, वार्षिक राजकीय व्यय के अनुमानों पर विचार-विमर्श एवं स्वीकृति के लिए गठित पूरे सदन की समिति।
  • Committee of the whole House -- संपूर्ण सदन समिति
किसी विशिष्ट विधेयक या मुद्दे पर विचारार्थ सदन का एक समिति के रूप में कार्य करना। इंग्लैंड में प्रायः ऐसी समिति का गठन वित्त विधेयक पर विचार करने के लिए किया जाता है। यह समिति अपना पृथक् अध्यक्ष चुनती है तथा इसकी कार्यवाही के लिए इसके अपने अनौपचारिक नियम होते हैं।
  • Committee on Ways and Means -- अर्थोपाय समिति
इंग्लैड में वित्तीय साधनों को जुटाने के प्रश्न पर विचार करनेवाली समिति जो वास्तव में पूरे सदन का ही परिवर्तित रूप होती है।
  • Common good -- सामान्य हित, दे. General good.
  • Common law -- सामान्य विधि
ब्रिटेन के न्यायालयों द्वारा मान्यता-प्राप्त जनता के अधिकारों और कर्तव्यों को विनियमित करने वाली अलिखित विधि जो सामान्य नीति-रिवाज़ों पर आधारित है।
  • Commonwealth -- राष्ट्रमंडल, कॉमनवेल्थ
स्वतंत्र राष्ट्रों का एक ऐसा संघ जिसके सदस्य किसी समय ब्रिटिश साम्राज्य के अंग थे और जो अब पूरी तरह प्रभुतासंपन्न हैं। ब्रिटेन के सम्राट या सम्राजी को राष्ट्रमंडल का प्रतीकात्मक अथ्यक्ष माना जाता है। संप्रति इसके सदस्यों की संख्या 50 है।
  • Communal electorate -- सांप्रदायिक निर्वाचक वर्ग
विशेष रूप से भारत में अंग्रेजी शासनकाल में प्रचलित एक प्रकार की निर्वाचन पद्धति जिसके अंतर्गत प्रमुख संप्रदाय-यथा, हिंदू (सामान्य), मुसलमान, सिख-अपने प्रतिनिधि पृथक रूप से चुनते थे।
  • Communalism -- सांप्रदायिकता, सांप्रदायिकतावाद
किसी धर्म या संप्रदाय विशेष के ही हितों पर बल देने वाली विचारधारा एवं आचरण। वह गुट मानसिकता जो स्वयं को किसी धार्मिक संप्रदाय के ऊपर आधारित करती है लेकिन जिसका वास्तविक उद्देश्य संबद्ध गुट के लिए राजनीतिक शक्ति और संरक्षण प्राप्त करना होता है।
  • Communique -- विज्ञप्ति
सरकार द्वारा ज़ारी की गई किसी नीति संबंधी औपचारिक सूचना अथवा राजनीतिक वार्ता आदि का आधिकारिक विवरण।
  • Communist Manifesto -- साम्यवादी घोषणापत्र
काल मार्क्स तथा फ्रेडरिक ऐंजल्स द्वारा लिखित विख्यात नीतिघोष जिसका प्रकाशन फरवरी, 1848 में लंदन में हुआ। इसमें साम्यवाद के सिद्धांतों तथा कार्यक्रमों का विवरण दिया गया है। साम्यवादी साहित्य में यह एक मूल या आधारभूत रचना मानी जाती है।
  • Community -- समुदाय
समान हितों वाले जैसे, धार्मिक, सांस्कृतिक, बौद्धिक अथवा अथवा व्यावसायिक लोगों का ऐसा संगठित समूह जिनमें पारस्परिक सतत एवं बहुमुखी संसर्ग पाया जाए। इसके संगठन का आधार स्थानिक, राष्ट्रीय अथवा अंतर्राष्ट्रीय कोई भी हो सकता है। आज के युग में अंतर्राष्ट्रीय समाज को भी एक “समुदाय” की संज्ञा दी जा सकती है।
  • Comparative method -- तुलनात्मक पद्धति
राजनीतिशास्त्र के अध्ययन की वह पद्धति जिसमें किसी समस्या विशेष से संबंधित समस्त परिवेश एवं ज्ञातव्य तथ्यों को संकलित कर उनके विश्लेषण द्वारा किसी सामान्य निष्कर्ष पर पहुँचने का प्रयास किया जाता है। वर्तमान काल में संविधानों और राजनीतिक व्यवस्थाओं का संस्थात्मक अध्ययन न करके उनके समस्त परिवेश के संदर्भ में उनका विश्लेषण करने की प्रवृत्ति पाई जाती है। इस प्रकार के विश्लेषण को तुलनात्मक पद्धति कहते हैं।
  • Comparative politics -- तुलनात्मक राजनीति
राजनीति विज्ञान में, अध्ययन का एक नवीन उपागम जिसके अंतर्गत राजनीति संस्थाओं का अध्ययन न करके उनमें व्याप्त अनौपचारिक प्रक्रियाओं, अंतःसंबंधों एवं भूमिकाओं का तुलनात्मक पद्धति से अध्ययन किया जाता है।
  • Compensation -- मुआवज़ा, क्षतिपूर्ति
राज्य द्वारा सार्वजनिक उद्देश्य के लिए वैयक्तिक संपत्ति का अधिग्रहण करने पर उस संपत्ति के मालिक को संपत्ति के साधारणतः बाजार मूल्य के बराबर दी जानेवाली राशि। यह नकद न दी जाकर बंधपत्र या किसी अन्य रूप में भी दी जा सकती है।
  • Composite state -- सम्मिश्र राज्य
विभिन्न राज्यों द्वारा संगठित एवं निर्मित एक संयुक्त, संयोजित या समिष्टक राज्य। दो या तीन पड़ौसी राज्यों द्वारा किसी सामान्य शत्रुराज्य का मुकाबला एवं विरोध करने, अपने हितों की रक्षा करने तथा विभिन्न लाभों और सुविधाओं की प्राप्ति के लिए निर्मित एक नई राजनीतिक इकाई। इसके चार स्वरूप पाए जाते हैं : (1) संघात्मक संघ: (2) वास्तविक संघ: (3) वैयक्तिक संघ: तथा (4) परिसंघ। उपर्युक्त (1) और (2) में संघ के घटकों का कोई अंतर्राष्ट्रीय अस्तित्व नहीं रह जाता और अंतर्राष्ट्रीय प्रयोजनों के लिए संघ एक इकाई माना जाता है। इसके विपरीत (3) और (4) की स्थितियों में संघ के घटकों का अंतर्राष्ट्रीय अस्तित्व बना रहता है।
  • Compromis d’ arbitrage -- विवाचन समझौता
किसी पंच या सरपंच की सहायता से अपने विवाद को निपटाने के लिए किन्हीं दो या अधिक राज्यों के बीच किया गया वह समझौता जिसके आधार पर पंच या सरपंच की नियुक्ति की जाती है और विवाद का निपटारा किया जाता है।
  • Comptroller and Auditor General -- नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक
किसी राज्य का वह अधिकारी जिसका मुख्य कार्य यह देखना है कि संसद की स्वीकृति के बिना अवैध रूप से कोई धनराशि व्यय न की जाए। इसका दूसरा प्रमुख कार्य वार्षिक सार्वजनिक आय-व्यय के लेखाओं का परीक्षण कर संसद को प्रतिवेदन देना है। लोकतंत्रीय शासन में इसे लोक-वित्त का सजग प्रहरी माना जाता है।
  • Compulsive measures -- बाध्यकारी उपाय
अंतर्राष्ट्रीय विधि के प्रसंग में इसका अर्थ अंतर्राज्यीय विवादों के समाधान के लिए अपनाए गए ऐसे उपायों से है जिनमें बलप्रयोग या बलप्रयोग की धमकी दी गई हो। उदाहरणार्थ प्रतिकर्म प्रतिशोध हस्तक्षेप शांतिकालीन नाकाबंदी आदि। संयक्त राष्ट्र के घोषणापत्र में भी ऐसे उपायों का उल्लेख है जिनका प्रयोग शांतिपूर्ण उपायों के असफल होने पर संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा किया जा सकता है और जिनमें आर्थिक प्रतिबंध, सैनिक बलप्रयोग आदि शामिल है।
  • Compulsory adjudication -- अनिवार्य अधिनिर्णय
राज्यों, व्यक्तियों अथवा निकायों के मध्य पारस्परिक समझौतों अथवा संविदाओं अथवा क़ानून के अंतर्गत आपसी विवादों को अनिवार्यतः न्यायालयों या विशेष रूप से गठित न्यायाधिकरणों के अधिनिर्णय के लिए सौपे जाने की व्यवस्था।
  • Compulsory jurisdiction -- अनिवार्य अधिकार क्षेत्र
अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के विधान के अंतर्गत सदस्य राज्य अपने निर्दिष्ट विवादों को सुलझाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय का क्षेत्राधिकार स्वीकार करने की घोषणा कर सकते हैं। प्रायः राज्यों ने पारस्परिकता के आधार पर ऐसा किया है। ऐसा करने पर अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय का क्षेत्राधिकार उनके लिए अनिवार्य हो जाता है।
  • Compulsory voting -- अनिवार्य मतदान
किसी राज्य के नागरिकों द्वारा विधायी निकायों के सदस्यों का निर्वाचन करने के लिए मतदान का अनिवार्य कर दिया जाना। आस्ट्रेलिया तथा बेल्जियम जैसे राज्यों में प्रत्येक नागरिक द्वारा मतदान एक विधिक कर्तव्य माना जाता है जिसका अनुपालन न किए जाने पर उसे दंडित किया जा सकता है।
  • Comrade -- कामरेड
1. साम्यवाद के प्रति प्रतिबद्ध व्यक्ति। 2. अनेक देशों में, साम्यवादी एवं समाजवादी दलों तथा ब्रिटेन के श्रमिक दल और विभिन्न श्रमिक संघों एवं संगठनों के सदस्यों द्वारा एक दूसरे के लिए प्रयुक्त संबोधन।
  • Concentration camp -- बंदी शिविर
वह शिविर जहाँ युद्धबंदियों, राजनीतिक बंदियों, शरणार्थियों या विदेशी राष्ट्रिकों को रखा जाए। ऐसा विशेषकर आपातकाल या युद्धकाल में होता है। जर्मनी में यहूदियों को इस प्रकार के शिविरों में स्थानबद्ध कर उनको अनेक प्रकार की यातनाएँ दी गईं।
  • Conciliar movement -- कांसीलियर आंदोलन
पंद्रहवीं शताब्दी में यूरोप में पोप की शक्ति को सीमित करने के प्रयोजन से उसे चर्च परिषद् के अधीन करने का अभियान।
  • Coacillation -- सुलह
आंतरिक अथवा अंतर्राष्ट्रीय विवादों अथवा कानून के अंतर्गत संबंधित पक्षों की सहमति से गठित किसी आयोग या अभिकरण द्वारा समाधान किए जाने की पद्धति।
  • Coacordat -- धर्मसंधि
पोप और किसी अन्य राज्य के बीच धर्म संबंधी विषयों पर किए जाने वाले समझौते।
  • Coacurrent attack -- समवेत प्रहार
ऐसी सशस्त्र कार्रवाई जिसमें किसी देश की सेना के तीनों अंग-जल एवं नभ-एक साथ भाग लें।
  • Concurrent jurisdiction -- समवर्ती क्षेत्राधिकार, समवर्ती अधिकार क्षेत्र
अंतर्राष्ट्रीय विधि के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति विदेश में अपने राज्य तथा स्थानीय राज्य, दोनों के क्षेत्राधिकार में माना जाता है। यह समवर्ती क्षेत्राधिकार का उदाहरण है।
  • Concurrent list -- समवर्ती सूची
किसी संघीय राज्य के संविधान की वह सूची जिसमें ऐसे सामान्य विषय सम्मिलित किए गए हों जिन पर केंद्रीय तथा राज्य विधान मंडल, दोनों को विधि-निर्माण का अधिकार होता है भारतीय संविधान में भी इस प्रकार की एक समवर्ती सूची समाविष्ट है जिसमें कुल मिलाकर 47 विषय हैं।
  • Concurrent resolution -- समवर्ती प्रस्ताव
किसी विधानमंडल विशेषकर अमेरिकी कांग्रेस के दोनों सदनों द्वारा अलग-अलग परंतु एक समान पारित कोई प्रस्ताव जिस पर राष्ट्राध्यक्ष के हस्ताक्षर आवश्यक नहीं होते। प्रायः इस प्रकार के प्रस्ताव सदन की कार्यप्रणाली से संबंधित ही होते हैं।
  • Concurring opinion -- सहमति
किसी प्रकरण में न्यायालय के निर्णय से सहमत होते हुए किसी सदस्य न्यायाधीश द्वारा भिन्न कारण देते हुए अपना मत अलग से अभिलिखित करना।
  • Condominium -- सहशासित राज्य
दो या दो से अधिक राज्यों द्वारा विश्व के किसी प्रदेश पर संयुक्त शासन अथवा प्रभुता। किसी समय सूडान पर ब्रिटेन और मिस्त्र का सहशासन था।
  • Confederacy -- राज्य मंडल
दो या अधिक राज्यों या राष्ट्रों का किसी विशेष उद्देश्य के लिए संयुक्त कार्रवाई करने के प्रयोजन से गठित तदर्थ गठबंधन जैसे, गृहयुद्ध के समय अमेरिका के दक्षिणी राज्यों का परिसंघ।
  • Confederation -- राज्य संघ, परिसंघ
स्वतंत्र राज्यों द्वारा सामान्य उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए गठित एक प्रकार का शिथिल संघ जिसमें सम्मिलित राज्य अपनी प्रभुता अक्षुण्ण, रखते हैं किंतु साथ ही संघ को कुछ अधिकार देना स्वीकार करते हैं। प्रारंभ में संयुक्त राज्य एक परिसंघ ही था। स्विट्जरलैंड को ऐतिहासिक कारणों से अब भी परिसंघ कहा जाता है। वास्तव में इस समय कोई परिसंघ नहीं है।
  • Conference diplomacy -- सम्मेलनमूलक राजनय
अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलनों के माध्यम से आपसी सहमति एवं विचार-विमर्श द्वारा पारस्परिक हितों के समन्वय का प्रयास।
  • Conflict of laws -- विधि-वैषम्य
किसी व्यक्ति के अधिकारों को लेकर विभिन्न राज्यों अथवा क्षेत्राधिकारों में मतभेद को दूर करने वाली विधि। इसे व्यक्ति (प्राइवेट) अंतर्राष्ट्रीय विधि भी कहा जाता है।
  • Congress -- सम्मेलन, महासम्मेलन, कांग्रेस
1. अंतर्राष्ट्रीय समस्याओं व मामलों के विचारार्थ और समायोजनार्थ राज्यों के प्रधानों अथवा विदेश मंत्रियों अथवा राज्य प्रतिनिधियों का सम्मेलन। 2. संयुक्त राज्य अमेरिका की संधीय व्यवस्थापिका। 3. भारतीय राजनीति में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के लिए प्रयुक्त संक्षिप्त नाम। 4. किसी राजनीतिक दल आदि की विशेष बैठक। जैसे साम्यवादी दलों की बैठक। 5. किसी विशेष प्रयोजन के लिए आयोजित बैठक।
  • Conscientious objector -- अंतःप्रेरित आपत्तिकर्ता
वह व्यक्ति जो धार्मिक या नैतिक कारणों से युद्ध-नीति का समर्थन करने अथवा युद्ध में भाग लेने से इंकार करता है।
  • Conscription -- अनिवार्य सैनिक भर्ती, अनिवार्य सैनिक सेवा
युद्धकाल में अनिवार्य रूप से सेवा के लिए सशस्त्र सेना में भरती। यह केवल सैन्य सेना योग्य अवस्था के युवकों पर लागू होती है।
  • Counsensus -- मतैक्य, आम राय, सर्वसम्मति
विभिन्न विचारधारा वाले व्यक्तियों अथवा दलों में किसी विषय पर सामान्य सहमति।
  • Conservatism -- रूढ़िवाद, अनुदारवाद
राजनीति के क्षेत्र में इस शब्द का प्रयोग पारंपरिक विचारधारा या व्यवस्था को सुरक्षित रखने के लिए किया जाता है। परंपरा और यथास्थिति को बनाए रखना अनुदारवाद की दो प्रमुख विशेषताएँ हैं। यह क्रांतिकारी परिवर्तन या सुधार का विरोध करता है और क्रमिक सुधार का पक्षपाती है।
  • Conservative Party -- अनुदार दल
इंग्लैंड के दो प्रमुख राजनीतिक दलों में से एक। यह दल टोरी दल के नाम से भी जाना जाता था। परंतु 19वीं शताब्दी में इसने एक नया रूप धारण कर लिया और यह अनुदार दल कहलाने लगा। इस काल में शासन सत्ता इस अनुदार दल और उदार दल के बीच बदलती रही। यह दल सम्राट एवं साम्राज्य का पक्षधर लार्ड सभा का समर्थक और आर्थिक व्यवस्था में यद्भाव्यम् नीति का पक्षपाती रहा है। अनुदार दल के प्रमुख नेताओं में राबर्ट पील, डिज़रायली, बाल्डविन, चर्चिल एवं चेंबरलेन के नाम उल्लेखनीय हैं। युद्ध के उपरांत अनुदारवादी प्रधानमंत्रियों में एंथनी ईडन, हेरल्ड मेकमिलन और माग्रिट थेचर ने विशेष ख्याति प्राप्त की।
  • Consortium -- सहायता संघ
किन्हीं विशिष्ट उद्देश्यों जैसे, व्यापार, उत्पादन, आर्थिक सहयोग अथवा अंतर्राष्ट्रीय सहायता आदि के लिए विभिन्न राष्ट्रों की साझेदारी। उदाहरणार्थ, तेल उत्पादक देशों का संगठन, भारत सहायता संघ आदि।
  • Constituency -- निर्वाचन क्षेत्र
1. संसद अथवा विधानमंडल के निर्वाचन के लिए भौगोलिक आधार पर निर्धारित एक प्रादेशिक ईकाई। 2. ऐसे मतदाताओं का वर्ग या समूह जिन्हें निर्वाचन में भाग लेने का अधिकार हो।
  • Constituent Assembly -- संविधान सभा
वह प्रतिनिधि सभा जिसे किसी राज्य के संविधान का निर्माण करने के प्रयोजन से गठित किया जाए। भारतीय गणतंत्र के संविधान का निर्माण इसी प्रकार की संविधान-निर्मात्री सभा ने 1946-49 के दौरान किया था।
  • Constituent power -- संविधायी शवित्त
संविधान-निर्मात्री सभा का संविधान निर्माण करने का अधिकार अथवा संविधान में संशोधन का संसद का अधिकार।
  • Constitution -- संविधान
किसी राज्य की वह मौलिक क़ानून संहिता जिसके अनुसार राज्य का स्वरूप व उसकी सरकार के अंगों का गठन, उनमें पारस्परिक संबंध तथा उनके अधिकार एवं कार्य तथा नागरिकों एवं सरकार के पारस्परिक अधिकार का निर्धारण किया जाता है। इसे देश का मौलिक या सर्वोच्च कानून माना जाता है।
  • Constitutional crisis -- संवैधानिक संकट
वह स्थिति जिसमें किसी देश में संवैधानिक प्रावधानों अथवा स्थापित मान्यताओं एवं मूल्यों का पालन करना असंभव प्रतीत होने लगे जैसे, इंग्लैंड में 1936 में सम्राट एडवर्ड अष्टम द्वारा एक अमेरिकी महिला से विवाह करने के मंतव्य से उत्पन्न स्थिति या 1970-71 के काल में भारत में बैंक राष्ट्रीयकरण तथा प्रिवी पर्सों के उन्मूलन के मामलों में उच्चतम न्यायालय द्वारा दिए गए निर्णयों से उत्पन्न स्थिति।
  • Constitutional government -- संवैधानिक सरकार
संविधान सम्मत तथा संविधान के अनुसार संचालित सरकार। किंतु के. सी. व्हेयर ने लिखा है कि संवैधानिक सरकार संविधान के अनुसार सेचालित सरकार से कहीं अधिक होती है। इससे सीमित शासन का बोध होता है। सीमित शासन में तीन प्रधान तत्व हैं- (1) विधि का शासन, (2) नागरिकों के मूल अधिकारों का निरूपण, और (3) न्यायपालिका की सर्वोच्चता।
  • Constitutional guarantee -- संवैधानिक गारंटी
किसी राज्य के नागरिकों को प्रदत्त मूल अधिकारों की रक्षा के लिए किए गए सांविधिक प्रावधान जिनके द्वारा नागरिक इन अधिकारों के प्रवर्तन के लिए उच्चतम न्यायालय का आश्रय ले सकते हैं। उदाहरणार्थ, भारत में इन प्रावंधानों के अनुसार उच्चतम न्यायालय मूल अधिकारों की रक्षा के लिए विभिन्न प्रकार के समादेश ज़ारी कर सकता है।
  • Constitutional head -- संवैधानिक अध्यक्ष
वह राज्याध्यक्ष जिसके नाम पर संवैधानिक शक्ति का प्रयोग तथा राज्य-व्यवस्था का संचालन किया जाता है। वैसे वास्तविक सत्ता का निवास निर्वाचित संसद में होता है।
  • Constitutionalism -- संविधानवाद, दे. Constitutional government
  • Constitutional law -- सांविधानिक विधि संविधान अथवा संविधानजनक विधि जिसका संबंध मुख्यतः सरकार के गठन, उसकी शक्तियों के विभाजन और नागरिकों के अधिकारों से होता है।
  • Constitutionalist -- 1. संविधानवादी, 2. संविधाननिष्ठ, 3. संविधानविद्
1. व 2. संविधान के अनुसार कार्य करने में विश्वास करने वाला। 3. संविधान का ज्ञाता, विशेषज्ञ अथवा मर्मज्ञ।
  • Constitutional monarchy -- संविधानिक राजतंत्र
ऐसा राजतंत्र जिसमें राजा की शक्तियाँ संविधान द्वारा सीमित हो जिससे राजशक्ति निरंकुश न होकर संविधान की मर्यादाओं का पालन करते हुए जन-इच्छा के अनुकूल रहे।
  • Constitutional remedy -- संवैधानिक उपचार
किसी राज्य के संविधान द्वारा उस राज्य के नागरिकों को प्रदत्त मौलिक अधिकारों के प्रवर्तन अथवा रक्षा के लिए संविधान में निर्धारित विभिन्न प्रकार के उपाय। उदाहरणार्थ, भारत के संविधान में बंदी प्रत्यक्षीकरण, परमादेश अधिकार-पृच्छा, उत्प्रेषण लेख तथा निषेध आदि की व्यवस्था है जिनके द्वारा सर्वोच्च न्यायालय नागरिकों के मौलिक अधिकारों की रक्षा कर सकता है।
  • Constitutional rights -- संवैधानिक अधिकार
किसी राज्य के संविधान द्वारा उस राज्य के नागरिकों को प्रदत्त विभिन्न अधिकार इन्हें मूलाधिकार भी कहा जा सकता है।
  • Constitutional safeguard -- संवैधानिक रक्षोपाय
किसी शासकीय अंग द्वारा शक्ति के दुरूपयोग को रोकने के लिए संविधान में की गई व्यवस्था।
  • Consul -- वाणिज्य दूत, कांसुल
आधुनिक राजनयिक क्षेत्र में, वह अधिकारी जिसे किसी राज्य की सरकार ने किसी विदेशी राज्य में अपने राज्य एवं नागरिकों के वाणिज्यिक आदि हितों की रक्षा व उनका प्रतिनिधित्व करने के लिए नियुक्त किया हो।
  • Consular district -- वाणिज्य दूत क्षेत्र, कांसुली क्षेत्र
विदेश में स्थापित वाणिज्य दूत या कांसुल का कार्यक्षेत्र।
  • Consular immunitites and privileges -- वाणिज्यदूतीय उन्मुवित्तयाँ एवं विशेषाधिकार
किसी राज्य में विदेशी वाणिज्य दूतों को मिलने वाले विशेषाधिकार एवं उन्मुक्तियाँ जिन्हें 1963 के वियना अनुबंध द्वारा संहिताबद्ध कर दिया गया है।
  • Consular jurisdiction -- वाणिज्यदूत क्षेत्राधिकार
विदेशों में वाणिज्यदूतों को अंतर्राष्ट्रीय विधि एवं वियना कन्वेशन के अंतर्गत प्राप्त अधिकार जिनमें अपने देश के नागरिकों के विवाह और तलाक संबंधी मामलों को तय करना, अपने देश के लिए वीजा जारी करना तथा स्थानीय बंदरगाहों में आनेवाले अपने देश के जलपोतों से संबंधित मामलों को तय करना इत्यादि शामिल हैं।
  • Consular treaty -- वाणिज्यदूतीय संधि, कांसुली संधि
राज्यों के बीच संपन्न वह संधि अथवा समझौता जिसके अंतर्गत वे एक दूसरे के भूभाग पर अपने वाणिज्यिक अथवा व्यापारिक हितों की रक्षा के लिए कांसुल अथवा वाणिज्यदूत भेजने का प्रबंध करते हैं।
  • Consulate -- वाणिज्यदूतावास

1. वाणिज्य दूत या कांसुल का कार्यालय अथवा रहने का स्थान। 2. वाणिज्य दूत का पद।

  • Consules electi -- निर्वाचित वाणजियदूत, निर्वाचित कांसुल
किसी देश की सरकार द्वारा किसी विदेशी राज्य में रहने वाले व्यापारियों में से नियुक्त कांसुल जो प्रेषक देश के नागरिक हो सकते हैं या नहीं भी हो सकते।
  • Consules missi -- प्रेषित वाणिज्य दूत, प्रेषित कांसुल
कांसुली कार्य के लिए ही विशेष रूप से भेजे या नियुक्त किए गए अधिकारी जो प्रेषक राज्य के नागरिक ही होते हैं।
  • Consul general -- महावाणिज्यदूत
किसी कांसुलावास का सर्वोच्च पदाधिकारी।
  • Consultant -- परामदर्शदाता
ऐसा सलाहकार जिसे उसकी विशेषज्ञता के कारण किसी विशेष प्रयोजन अथवा समस्या के समाधान हेतु विचार-विमर्श के लिए आमंत्रित अथवा तदर्थ नियुक्त किया जाता है।
  • Containment -- परिरोधन नीति
द्वितीय महायुद्ध के पश्चात संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा अपनाई गई वह नीति जिसका लक्ष्य साम्यवाद एवं साम्यवादी राज्यों के प्रसार को उनकी भौगोलिक सीमाओं तक सीमित करके रखना था। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए न केवल साम्यवादी राज्यों की सैनिक दृष्टि से घेराबंदी करने का प्रयास किया गया बल्कि उनसे संलग्न राज्यों के आर्थिक विकास के लिए भी खुलकर सहायता दी गई और उनकी प्रतिरक्षा के लिए सैनिक संगठनों का निर्माण किया गया। यह नीति शीतयुद्ध में एक महत्वपूर्ण कारक बन गई।
  • Contempt of court -- न्यायालय-अवमान
किसी न्यायालय या न्यायाधीश की सत्ता की जानबूझकर अवहेलना या उसके प्रति अपमानपूर्ण व्यवहार या उसके आदेश को मानने से इंकार करना। यह एक दंडनीय अपराध है।
  • Contempt of the House -- सदन की अवमानना
किसी व्यक्ति का सदन के सदस्य द्वारा विधायिका के किसी सदन या उसके किसी सदस्य की मानहानि करना या उसके कार्य में जानबूझकर बाधा डालना या उसके संबंध में अपमानजनक बातें कहना, लिखना या अन्य किसी प्रकार से सदन का अपमान करना। सदन इसके लिए स्वयं दंड दे सकता है। अनेक बार भारतीय लोक सभा ने सदन के अपमान के लिए व्यक्तियों को बुलाकर उनकी भर्त्सना की है।
  • Content analysis -- विषय विश्लेषण
विषय विश्लेषण अध्ययन की वह पद्धति है जिसमें किसी व्यक्ति विशेष अथवा समूह से साक्षात्कार द्वारा अथवा अन्य प्रकार से प्राप्त लिखित सूचनाओं का परीक्षण कर उस व्यक्ति या समूह की मनोवृत्ति के संबंध में सही ज्ञान प्राप्त किया जाता है। यह प्रधानतः परिणामात्मक पद्धति है।
  • Continental -- महाद्वीपीय
1. ब्रिटिश द्वीपों से भिन्न, यूरोप महाद्वीप अथवा यूरोप के देशों का या उनसे संबंधित। 2. उत्तरी अमेरिकी महाद्वीप का या उससे संबंधित। 3. विश्व के किसी अन्य महाद्वीप से संबंधित।
  • Continental Congress -- कांटीनेन्टल कांग्रेस
स्वतंत्रता से पूर्व अमरिकी उपनिवेशों के प्रतिनिधियों की सभा जिसका सर्वप्रथम आयोजन उपनिवेशों के प्रति ब्रिटिश दुर्व्यवहार की भर्त्सना करने के लिए किया गया। इसकी पहली बैठक सन् 1774 में हुई थी जिसने अधिकारों के एक घोषणापत्र की रचना की। अगले वर्ष इसने स्वतंत्रता की घोषणा का प्रारूप तैयार किया। स्वतंत्रता संग्राम का नेतृत्व इसी ने किया और सन् 1781 तक राष्ट्रीय सरकार के रूप से भी कार्य किया।
  • Continentalism -- महाद्वीपवाद
एक ही महाद्वीप के देशों में, राजनीतिक तथा आर्थिक संबंधों को उसी महाद्वीप तक सीमित रखने की नीति।
  • Continental shelf -- महाद्वीपीय जलमग्न सीमा
किसी देश के समुद्र तट से संलग्न दो सौ मीटर पानी की गहराई तक फैली समुद्र की तलहटी जिस पर तटवर्ती राज्य का क्षेत्राधिकार एवं नियंत्रण माना जाता है। परंतु ऊपरी जल की अंतर्राष्ट्रीय स्थिति इससे प्रभावित नहीं होती। वर्तमान में, यह सीमा महाद्वीपीय ढाल तक बढ़ा दी गई है अथवा 200 मील की दूरी तक मान ली गई है।
  • Contingency fund -- आकस्मिकता निधि
ऐसी निधि या कोष जिसमें से उन आवश्यकताओं के लिए धन व्यय किया जा सके जिनका पूर्वानुमान न हो।
  • Contraband -- विनिषिद्ध सामग्री
ऐसी वस्तु या व्यापारिक सामग्री जिसका व्यापार या लाना-लेजाना कानून के अनुसार निषिद्ध घोषित कर दिया गया हो। युद्धकाल में, शत्रु को निर्धारित माल ले जाने पर प्रतिबंध लगा सकना एक युद्धकारी अधिकार माना जाता है।
  • Contract -- संविदा, अनुबंध
दो या दो से अधिक व्यक्तियों, पक्षों या राष्ट्रों में किसी कार्य को करने अथवा न करने के लिए किया गया समझौता जिसका कार्यान्वयन बहुधा विधि के अनुसार कराया जा सकता है।
  • Contract sociale (= social contract) -- सामाजिक संविदा
राजनीतिक दार्शनिकों द्वारा समाज तथा राज्य की उत्पत्ति और औचित्य के सिद्धांत के संदर्भ में प्रयुक्त पद। इस सिद्धांत के अनुसार मानव ने अपनी मूल प्राकृतिक अवस्था को त्याग कर अपने को राज्य के रूप में संगठित करने का समझौता किया और इसके फलस्वरूप राज्य की उत्पत्ति हुई।
  • Convention -- 1. कन्वेंशन, अभिसमय, 2. सम्मेलन, 3. परिपाटी
1. कन्वेंशन, अभिसमय : आपसी मामलों के विनियमन के लिए दो या अधिक राज्यों के बीच किया गया समझौता या अनुबंध। 2. सम्मेलन : सभा, अधिवेशन आदि। अमेरिकी संविधान के संदर्भ में, एक ऐसी सभा जो विशेष रूप से संविधान को स्वीकार करने या उसमें संशोधन करने के लिए आयोजित की जाए। 3. परिपाटी : चली आ रही रीति, प्रथा, रूढ़ी आदि।
  • Convoy -- सार्थवाह
भूभाग या समुद्री मार्ग से जाने वाले व्यक्तियों, माल या जलपोतों के साथ उनकी रक्षार्थ जाने वाला सैन्यबल।
  • Cordon sanitaire -- संगरोध घेरा
संक्रांत क्षेत्र या प्रदेश के साथ संपर्क रोकने अथवा उसे अलग-अलग करन के लिए बनाई गई रक्षा-पंक्ति।
  • Coronation -- राज्यारोहण
राजगद्दी पर बैठाने का समारोह। इसमें राजा को प्रतीक के रूप में राजमुकुट पहनाया जाता है। इस समारोह का घोषणात्मक महत्व होता है।
  • Corporation -- निगम
1. किसी महानगर की नगरपालिका। 2. किसी व्यापार, उद्योग या उद्यम के लिए सरकार द्वारा प्राधिकृत अथवा संचालित स्वायत्त संगठन, संस्था या समूह।
  • Corporatism -- निगमवाद
वह व्यवस्था अथवा सिद्धांत जिसके अनुसार पूरी अर्थव्यवस्था को राज्याधीन अनेक औद्योगिक एवं व्यावसायिक निगमों में संगठित कर दिया जाता है। ये निगम राजनीतिक प्रतिनिधित्व का आधार होते हैं तथा अपने क्षेत्राधिकार में आने वाले व्यक्तियों एवं उनकी क्रियाओं का सामान्यतः नियंत्रण करते हैं। इटली में मुसोलिनी ने इसका उपयोग फासी दल का अधिनायकवाद स्थापित करने के लिए किया था।
  • Corps diplomatique (=diplomatic corps) -- राजनयिक दूत
संवर्ग किसी राज्य की राजधानी में प्रत्यायित विदेशी राजनयिक दूतों का समूह।
  • Corruption -- भ्रष्टाचार
सार्वजनिक जीवन के किसी क्षेत्र में किसी पदाधिकारी या कर्मचारी द्वारा किसी अनुचित लाभ के लिए अपने अधिकारों का दुरूपयोग या स्वार्थवश अपने नियमसम्मत कर्त्तव्यों की उपेक्षा, अवहेलना या उल्लंघन।
  • Cosmopolis -- विश्वनगर
विश्वव्यापी महत्व का ऐसा नगर अथवा महानगर जहाँ विभिन्न राष्ट्रों के नागरिक रहते हों।
  • Cosmopolitan -- 1. विश्ववादी, 2. विश्वजनीन
विश्वप्रेमी, विश्वबंधुत्व की भावना से प्रेरित, राष्ट्रीय पक्षपात से रहित, अंतर्राष्ट्रीय दृष्टिकोण रखने वाला व्यक्ति; उदार स्वभाव -का व्यक्ति।
  • Cosmopolitanism -- विश्ववाद, विश्वबंधुत्व
1. एक विश्व समाज का संगठन करने में आस्था रखनेवाला सिद्धांत। यह सिद्धांत विभिन्न प्रकार के परोपकारी जनहितैषी क्रियाकलापों एवं सामाजिक सुधारों में प्रकट होकर समस्त मानव जाति के कल्याण, कुशल मंगल, प्रगति तथा समृद्धि का महान उद्देश्य अपने सम्मुख रखता है। 2. अपने राज्य, प्रांत या क्षेत्र की सांस्कृतिक अभिन्नता तथा अखंडता से ऊपर उठकर अन्य राज्यों तथा क्षेत्रों की सांस्कृतिक विशेषताओं, प्राप्तियों एवं उपलब्धियों का आदर करने वाला सिद्धांत।
  • Council of Europe -- यूरोपीय परिषद्
यूरोप के राष्ट्रों का आपसी सहयोग के लिए स्थापित एक राजनीतिक संगठन जिसमें प्रतिरक्षा विषय शामिल नहीं है। इसली स्यापना सन् 1945 में हुई थी और इसके सभी सदस्य पश्चिमी यूरोप के राज्य हैं। अब यह यूरोपीय संसद के रूप में परिवर्तित हो गई है। इसका मुख्यालय स्टासबर्ग (फ्रांस) में है।
  • Council of States -- राज्य सभा दे. Rajya Sabha.
  • Counsellor -- परामर्शद, काउंसलर
एक राजनयिक अधिकारी जिसका दर्जा राजदूत से नीचे होता है। इस प्रकार का अधिकारी सांस्कृतिक, शैक्षिक, वैज्ञानिक, सैनिक आदि विशिष्ट कार्यों के लिए दूतावास में नियुक्त किया जाता है।
  • Counter offensive -- प्रत्याक्रमण
प्रत्याक्रमण किसी राज्य की सेना द्वारा उस समय किया जाता है जब उसे अपना बचाव करने के सिलसिले में शत्रु की महत्वपूर्ण सामरिक स्थिति को नष्ट करना अभिष्ट हो। ऐसा करने में स्वयं आगे बढ़कर आक्रमण करना भी सम्मिलित होता है।
  • Counter-revolution -- प्रतिक्रांति
किसी क्रांति के विरोधियों द्वारा तत्कालीन या पूर्ववर्ती क्रांति के विरुद्ध आंदेलन या कार्रवाई जो हिंसात्मक भी हो सकती है।
  • County -- काउन्टी
इंग्लैंड या उत्तरी अमेरिका में प्रशासनिक, न्यायिक अथवा राजनीतिक उद्देश्यों के लिए बनाई गई एक स्थानिक इकाई।
  • Coup de grace -- मुक्ति आघात
सहसा किया गया कोई ऐसा आघात जो किसी असहनीय कष्टमय स्थिति का पूर्णतया अंत कर दे।
  • Coup de main -- सहसा सैन्याघात
किसी राज्य की सेना द्वारा किसी शत्रु राज्य की सेना पर पूर्ण शक्ति सहित किया गया आकस्मिक, प्रबल अथवा तीक्ष्ण आक्रमण।
  • Coup d’etat -- बलात् राज्य परिवर्तन
किसी राज्य की सुस्थापित सरकार का आकस्मिक और निर्णायक रूप से तख्ता पलट दिया जाना जिसमें प्रायः शक्ति का प्रयोग किया जाता है या हिंसात्मक कार्रवाई का आश्रय लिया जाता है।
  • Courier -- संदेशवाहक
राजनयिक एवं सैनिक सेवा में डाक, प्रपत्र आदि को शीघ्र तथा सुरक्षित रूप से पहुँचाने वाला व्यक्ति।
  • Court of enquiry -- जाँच न्यायालय
किसी विषय से संबंधित तथ्यों की जाँच-पड़ताल करने के लिए सेना, नौसेना अथवा वायुसेना के प्राधिकारियों या प्राधिकरणों द्वारा नियुक्त न्यायालय। इस प्रकार का न्यायालय संबद्ध व्यक्ति अथवा व्यक्तियों के विरुद्ध कानूनी या अनुशासनिक कार्रवाई आरंभ करने की समीचीनता या उपयुक्तता पर विचार करता है।
  • Court of Exchequer -- राजस्व न्यायालय
प्राचीनकाल में, इंग्लैंड का वह अभिलेख न्यायालय जिसमें राजस्व संबंधी सभी विवादों की सुनवाई और तत्संबंधी निपटारा होता था। राजस्व संबंधी विवादों का अन्तिम निर्णय इसी न्यायालय द्वारा दिया जाता था। कालांतर में इसे किंग्स बैंच डिवीजन में मिला दिया गया और अब यह उच्च न्यायालय का एक भाग है।
  • Court of law -- न्यायालय
किसी राज्य की विधि अथवा कानून के अनुसार मुकदमों को सुनने तथा उन पर अपना निर्णय देने वाले स्वतंत्र, निष्पक्ष निकाय।
  • Covenant -- प्रसंविदा
1. विधि या कानून की दृष्टि से कोई ऐसा समझौता जो संबंधित पक्षों के लिए बाध्यकारी हो। 2. इस, शब्द का प्रयोग राष्ट्र संघ के संविधान के लिए भी किया गया था।
  • Credentials -- प्रत्यय पत्र
राजनयिक क्षेत्र में, किसी राज्य द्वारा अपने किसी राजनयिक अधिकारी को दिया गया किसी दूसरे देश, अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन अथवा संगठन को संबंधित पत्र जिसमें उसका परिचय आदि होता है और जिसके आधार पर उसे अपने राज्य की ओर से उस देश या सम्मेलन में प्रतिनिधित्व या राजनीतिक कार्य करने का अधिकार प्राप्त होता है।
  • Credentials committee -- प्रत्ययपत्र समिति
1. संयुक्त राष्ट्र संघ की वह समिति जो राज्य प्रतिनिधियों के प्रत्ययपत्रों की जाँच करने एवं प्रतिनिधित्व के विभिन्न दावों की सही स्थिति का निर्णय करने का काम करती है। 2. संयुक्त राज्य अमेरिका में, राजनीतिक दलों के राष्ट्रीय सम्मेलनों में प्रतिनिधियों के प्रत्ययपत्रों की जाँच करने वाली समिति।
  • Crimes against humanity -- मानवता विरोधी अपराध
ऐसे निर्मम कृत्य जो किसी राज्य की सरकार द्वारा किसी पूरे जनसमूह या उसके एक बड़े भाग के विरुद्ध किए जाएँ और जो मानवता के आधारभूत सिद्धांतों और मूल्यों के विरुद्ध हों। इसमें पूरे जनसमूह या उसके एक बड़े भाग का समूल विनाश, देश निकाला अथवा यातना शिविरों में रखकर अमानवीय व्यवहार करना शामिल है। इन अपराधों का निरूपण सर्वप्रथम 1946 के नूरेम्बर्ग चार्टर में किया गया था और जर्मन युद्ध अपराधियों के विरुद्ध दोषारोपण पत्र में इन्हें सम्मिलित किया गया था।
  • Crimes against peace -- शांतिविरोधी अपराध
अंतर्राष्ट्रीय संधियों और समझौतों का उल्लंघन कर किसी देश या राज्य द्वारा युद्ध की योजना बनाना या तैयारी करना अथवा आक्रामक युद्ध करना या सामरिक योजनाओं व षइयंत्रों में भाग लेना “शांतिविरोधी अपराध” हैं। नूरेम्बर्ग कार्रवाई में जर्मन अपराधियों के विरुद्ध प्रेषित दोषारोपण पत्र में यह प्रथम दोषारोपण था।
  • Crossing the floor -- पक्षत्याग
संसदीय शासन प्रणाली में संसद के किसी सदस्य द्वारा अपने दल को छोड़कर दूसरे दल में जा मिलना। इसके फलस्वरूप संबंधित सदस्य को अपने मूल दल के लिए निर्धारित स्थान से उठकर उसके परिवर्तित दल के वास्ते निर्धारित स्थान में बैठना होता है। इसी कारण अंग्रेजी में उसे “क्रासिंग द फ्लोर” कहा जाता है।
  • Cross voting -- प्रतिमतदान
1. सरकार और विरोधी दल या दलों के सदस्यों का अपने दल द्वारा समर्थित अभ्यर्थी या प्रस्ताव के पक्ष में मत न देकर इसके विपरीत मतदान करना। 2. सूची पद्धति निर्वाचन की वह विधा जिसमें किसी मतदाता को विभिन्न राजनीतिक दलों की सूचियों में से नामों का चयन करने की स्वतंत्रता होती है।
  • Crown -- 1. राजा, 2. राजपद
1. एक सर्वोच्च शासक के रूप में कोई राजा जिसमें प्रभुसत्ता निहित होती है। 2. ब्रिटिश संदर्भ में, ब्रिटेन का राजा और उसका पद। इसका वास्तविक अर्थ ब्रिटेन की सरकार से है।
  • Crown colony -- क्राउन कालोनी
ब्रिटिश उपनिवेश जिस पर ब्रिटेन के राजा (वास्तव में ब्रिटिश सरकार) का नियंत्रण होता है।
  • Curia Regis -- क्यूरिया रीजिस, राज परिषद्
नार्मनकालीन इंग्लैंड में, सम्राट की परामर्शदात्री समिति जिसे राज परिषद् कहते थे। इसी में से कालांतर में मंत्रिमंडल विकसित हुआ। यह आज लार्ड सभा के रूप में विद्यमान है।
  • Custom -- प्रथा, परंपरा
व्यवहार अथवा आचरण संबंधी नियम जो दीर्घकाल तक सतत पालन किए जाने के कारण क़ानून का रूप धारणकर लेते हैं और इसी रूप में न्यायालयों द्वारा स्वीकार्य व लागू किए जाते हैं। ये अलिखित होते हैं और इनका विकास शनैःशनैः होता है।
  • Customary law -- प्रथागत विधि
विधिक व्यवस्था का वह अलिखित भाग जिसका निर्माण किसी विधान मंडल द्वारा न किया जाकर प्रथाओं एवं परंपराओं के विकास के रूप में होता है परंतु जिनमें क़ानून के सदृश बाध्यकारिता होती है।
  • Customs union -- सीमाशुल्क संघ, कस्टम्स यूनियन
दो या दो से अधिक राज्यों का संघ जिन्होंने परस्पर अंतर्राज्यीय व्यापार पर से सीमाशुल्क तथा अन्य प्रतिबंध हटा दिए हों तथा जो अन्य राज्यों के प्रति सामान्य वाणिज्यिक नीति अपनाते हों। इस प्रकार के संघ का एक ऐतिहासिक उदाहरण है आस्ट्रिया-जर्मनी सीमाशुल्क संघ (1937)।
  • Czarism -- ज़ारशाही
स्वेच्छाचारी या एकतंत्रीय शासन विशेषकर ज़ार के समय रूसी सरकार। रूस में 1917 की बोल्शेविक क्रांति के पूर्व सम्राट को जार कहा जाता था।
  • Dail -- डेल
आयरलैंड की संसद का निम्न सदन।
  • Defection -- दलबदल
विधान मंडल अथवा संसद में किसी राजनीतिक दल के एक या अधिक सदस्यों द्वारा अपना दल त्याग कर किसी दूसरे दल के साथ जा मिलना। भारत में, 1985 में पारित एक क़ानून के अंतर्गत दलबदल पर प्रतिबंध लगा दिया गया है और ऐसे सदस्यों को सदन की सदस्यता से वंचित कर दिया जाता है। परंतु यदि किसी दल के कम से कम एक तिहाई सदस्य एक साथ ऐसा करें तो उन पर यह क़ानून लागू नहीं होता।
  • Delegated legislation -- प्रत्यायोजित विधान
इसे प्रशासकीय अंगों तथा निकायों एवं अभिकरणों द्वारा विधि निर्माण भी कहते हैं। ये विधियाँ-नियमों, उपनियमों, अधिनियमों, आदेशों आदि के रूप में होती हैं। संसदीय विधियों की विभिन्न धाराओं में प्रदत्त शक्ति के अनुसार कार्यकारिणी अंग आवश्यकतानुसार समय – समय पर ये नियम, उपनियम जारी कर सकते हैं। ये संसदीय विधि से सीमित होते हैं। अतः इस प्रकार के विधि-निर्माण को अधीनस्थ विधि-निर्माण भी कहते हैं। इस प्रकार निर्मित नियम इत्यादि विधायिका के पटल पर रख दिए जाते हैं।
  • Delegation -- 1. प्रतिनिधि मंडल 2. प्रत्यायोजन
1. किसी सम्मेलन, संगठन या संस्था को भेजे जाने वाले प्रतिनिधि जिनमें एक सदस्य को नेता नामांकित कर दिया जाता है। 2. लोक प्रशासन ने उच्चाधिकारी और प्रशासकीय अंगों या निकायों द्वारा निर्दिष्ट अधिकारियों को विधि के अनुकूल अपने कार्य एवं अधिकार सौंप दिया जाना जिनके लिए वे प्रदाता के प्रति उत्तरदायी रहते हैं। प्रदाता का अंतिम रूप से उत्तरदायित्व बना रहता है।
  • Delimitation treaty -- सीमांकन संधि
दो या अधिक राज्यों के बीच की गई संधि जिसके अनुसार उनके विवादास्पद प्रदेशों का सीमांकन किया जाता है।
  • Demagogy -- जनोत्तेजन
भाषण की ऐसी शैली जिसके द्वारा लोगों की भावनाएँ भड़काकर राजनीतिक स्वार्थ-सिद्धि का प्रयास किया जाता है।
  • De Maoisation -- प्रतिमाओवाद, माओवाद का निरस्त्रीकरण
चीन में माओवाद को निष्प्रभावित करने की प्रक्रिया और कार्यक्रम। चीन में माओ-त्से-तुंग के देहांत के उपरांत, डेंग-ज्याओं-पिंग के नेतृत्व में आर्थिक व्यवस्था में किए गए परिवर्तन और लाल चीन के आधुनिकीकरण का अभियान जिसका लक्ष्य पश्चिमी राष्ट्रों से चीन के संपर्क बढ़ाना और पश्चिमी प्रौयोगिकी का लाभ उठाना है। डेंग की ये नीतियाँ माओ की नीतियों के विपरीत होने के कारण इनके सामूहिक प्रभाव को “प्रतिमाओवाद” कहा जाता है।
  • Demarche -- डेमार्श, आपत्ति पत्र
1. राजनय में नीति को परिवर्तित करने वाला कोई कार्य। 2. कोई राजनयिक चाल, प्रतिचाल, अथवा युक्ति। 3. एक अथवा अनेक राज्यों द्वारा दूसरे देश को प्रेषित किया गया मौखिक या लिखित विरोध-पत्र। 4. किसी सरकारी अधिकारी को दिया गया औपचारिक या अनौपचारिक अभ्यावेदन अथवा वक्तव्य।
  • Denationalization -- विराष्ट्रीयकरण
राष्ट्रीयकृत उद्यमों पर से सार्वजनिक स्वामित्व हटा कर उन्हें पुनः निजी स्वामित्व के लिए खुला छोड़ देने की नीति।
  • Denunciation -- प्रत्याख्यान
किसी संधि, विराम संधि, अनुबंध आदि को औपचारिक रूप से समाप्त करने की घोषणा।
  • Dependency -- आश्रित देश
वह देश या प्रदेश जो किसी अन्य राज्य के अधीनस्थ हो परन्तु उसका संविधायी अंग न हो।
  • De-Stalinslation -- प्रतिस्तालिनवाद, स्तालिनवाद का निरस्तीकरण, स्तालिनवाद का उन्मूलन
1956 की साम्यवादी दल की 20वीं कांग्रेस में तत्कालीन महासचिव निकिता खुश्चेव द्वारा स्तालिन की नीतियों की और विशेषकर उसकी क्रूरताओं की कटु आलोचना की गई और स्तालिनकालीन व्यक्ति-पूजा के स्थान पर यह वचन दिया गया कि तदुपरांत सामूहिक नेतृत्व के आधार पर ही भविष्य में सोवियत शासन-नीति और प्रशासन का संचालन किया जाएगा। इस प्रकार सोवियत राजनीति में एक नई प्रवृत्ति का जन्म हुआ जिसका लक्ष्य स्तालिनकालीन नीतियों का पूर्ण रूप से तिरस्कार कर सोवियत राजनीति को एक नई दिशा देना था।
  • Detente -- वैमनस्य शौथिल्य, तनाव शैथिल्य
द्वितीय विश्वयुद्ध के पश्चात् संसार जिन दो गुटों में बंट गया, उनके पारस्परिक संबंध तनावपूर्ण होते चले गए जिसे शीत युद्ध की स्थिति कहा जाने लगा। इस स्थिति में सुधार आने अथवा तनाव में कमी आने के क्रम को “शैथिल्य” कहा गया। शीत युद्ध और शैथिल्य के बीच बराबर उतार-चढ़ाव आता रहा। शैथिल्य की स्थिति का एक चरमबिन्दु यूरोप में शांति और सुरक्षा संबंधी सम्मेलन कहा जा सकता है जो 1975 में हेलसिंकी में हुआ था।
  • Detenue -- नजरबंद
वह व्यक्ति जो इस आशंका से हिरासत में लिया जाए कि वह शासन-विरोधी कार्य विशेषकर, राजनीतिक अपराध कर क़ानून व्यवस्था के लिए समस्या खड़ी कर सकता है।
  • Development administration -- विकास प्रशासन
परंपरागत प्रशासन का प्रमुख कार्य शांति एवं व्यवस्था बनाए रखना था जिससे प्रत्येक व्यक्ति अपना जीवनयापन क़ानूनों के अंतर्गत करने के लिए स्वतंत्र हो। प्रायः आर्थिक और सामाजिक विकास का दायित्व व्यक्ति और समाज पर होता था राज्य पर नहीं। शनै: शनै: कल्याणकारी राज्य और लोकतंत्र के अभ्युदय तथा उपनिवेशवाद के पतन के पश्चात् नवोदित राज्यों ने इस सिद्धांत को अपनाया कि प्रशासन का उत्तरदायित्व केवल शाति और व्यवस्था तक ही सीमित नहीं अपितु पूर्ण आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए भी सक्रिय रूप से कार्यवाही करना होना चाहिए। इस प्रकार, विकास प्रशासन में राज्य अनेक योजनाओं एवं कार्यक्रमों के द्वारा जनता के सर्वागीण विकास के लिए कार्य करता है। इसका एक आयाम यह भी है कि विकास प्रक्रिया में प्रशासन और जनता की भागीदारी रहती है। इस प्रकार के प्रशासन में यह आवश्यक हो जाता है कि प्रशासकों के दृष्टिकोण और मनोवृत्ति में इस प्रकार का परिवर्तन आए कि वे अपने को केवल प्रशासक मात्र ही न समझें अपितु जनता की आवश्यकताओं के प्रति संवेदनशील भी रहे।
  • Development approach -- विकासपरक उपागम
तुलनात्मक राजनीति में अध्ययन का एक उपागम जिसके अनुसार राजनीतिक व्यवस्थाएँ एक विकासक्रम में रखी जा सकती हैं। यह क्रम है पुरातन-परंपरागत-संक्रांतिकालीन-आधुनिक। विकासक्रम पुरातन से आधुनिक की ओर होता है। राजनीतिक व्यवस्थाओं, संरचनाओं व कार्यों को इस विकासक्रम में रखकर उनका तुलनात्मक अध्ययन करना “विकासपरक उपागम” कहलाता है। आमंड ने इसी उपागम का प्रयोग किया है।
  • Dictatorship -- तानाशाही
जनता की सहमति के बिना अथवा उनके विरुद्ध एक व्यक्ति अथवा व्यक्तिसमूह द्वारा मनमाने ढंग से शासन-संचालन जिसमें क़ानून के शासन, नागरिक अधिकार व स्वतंत्रता, प्रेस की स्वतंत्रता तथा न्यायपालिका की स्वतंत्रता का सर्वथा विलोप हो जाता है। संवैधानिक प्रक्रियाएँ या स्वतंत्रताएँ बनी भी रहती हैं तो प्रायः केवल नाममात्र के लिए और केवल तानाशाही के हितार्थ। कभी-कभी सत्ता एक दल या गुट के द्वारा हस्तगत कर ली जाती है परंतु धीरे-धीरे एक व्यक्ति अथवा तानाशाह पूरी व्यवस्था में सर्वोपरि हो जाता है।
  • Dictatorship of the proletariat -- सर्वहारावर्ग का अधिनायकत्व
मार्क्स के अनुसार श्रमिक क्रांति के उपरांत और साम्यवादी समाज की स्थापना के पूर्व एक संक्रांतिकाल होगा जिसमें राज्य की संस्थाओं तथा उत्पादन के साधनों पर सर्वहारावर्ग का प्रभुत्व स्थापित हो जाएगा। इस स्थिति को मार्क्स ने “सर्वहारावर्ग का अधिनायकत्व” कहा है। यह एक अंतरिम व्यवस्था है। धीरे-धीरे राज्य लुप्त हो जाएगा और तब वह विशुद्ध साम्यवादी व्यवस्था होगी।
  • Diplomacy by conference -- सम्मेलन राजनय
1. राज्यों के प्रतिनिधियों के मध्य सम्मेलन द्वारा आपसी हितों के प्रश्नों पर पारस्परिक विचार-विमर्श एवं निर्णय। 2. सामूहिक ढंग से विचार-विमर्श करके राजनयिक निर्णय लेने की पद्धति को “सम्मेलन राजनय” कहा जाता है। सन् 1918 से इसके प्रयोग में काफी तेजी आई है। अंतर्राष्ट्रीय संबंधों में आज इसका विशेष महत्व है।
  • Diplomatic corps -- राजनयिक दूतवर्ग
किसी देश में विद्यमान समस्त विदेशी राजनयिक दूतों, उपदूतों तथा दूतावासों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के समूह को राजनयिक दूतवर्ग कहा जाता है।
  • Direct election -- प्रत्यक्ष निर्वाचन, सीधा निर्वाचन
जनता द्वारा सीधे अपने प्रतिनिधियों का चुनाव।
  • Directive principles -- निदेशक सिद्धांत
भारतीय संविधान के चौथे अध्याय में दिए गए सिद्धांत जिन्हें राज्य के नीति-निदेशक सिद्धांत कहा गया है। संविधान के अनुसार ये सिद्धांत वाद योग्य नहीं है परन्तु ये राज्य के प्रशासन में मूलभूत होंगे और संसद एवं राज्य विधान मंडलों का कर्तव्य होगा कि इनको ध्यान में रखते हुए विधि-निर्माण का कार्य किया जाए। संविधान में अनुच्छेद 36 से 51 तक इनका प्रावधान किया गया है।
  • Discretionary power -- विवेकाधिकार
किसी सार्वजनिक अधिकारी को बिना किसी से परामर्श किए अपने विवेक के अनुसार कार्य करने का अधिकार “विवेकाधिकार” कहलाता है। इस प्रकार की व्यवस्था ब्रिटिश शासनकाल में अनेक अधिनियमों के अंतर्गत की गई थी। भारतीय संविधान में भी अनुच्छेद 163 के अंतर्गत राज्यपालों को कुछ विवेकाधिकार दिए गए हैं परन्तु ये महत्वपूर्ण नहीं हैं।
  • Dissenting opinion -- विसम्मत मत
किसी न्यायालय के बहुमत निर्णय से सहमत न होकर यदि न्यायालय का कोई न्यायाधीश अपने विपरीत मत को लिपिबद्ध कराना चाहता है तो उसका मत विसम्मत मत कहलाता है।
  • Distress call -- विपत्तिकालीन संदेश, सहायता की पुकार
सहायता के लिए विपदा में भेजा गया संवाद।
  • District board -- ज़िला परिषद
स्थानीय प्रशासन तथा ज़िले के विकास कार्यक्रमों की व्यवस्था करने वाली वह संस्था जिसके प्रतिनिधि ज़िले की जनता द्वारा प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से निर्वाचित होते हैं। पंचायती राज्य व्यवस्था में यह ज़िले का शीर्षस्थ निकाय है।
  • Division -- 1. प्रभाग 2. डिवीज़न 3. विभाजन
1. प्रभाग : प्रशासनिक, न्यायियक अथवा अन्य उद्देश्यार्थ किसी राष्ट्र, राज्य, काउंटी या अन्य राजनीतिक इकाई का एक निर्धारित भाग।
2. डिवीज़न : मेजर-जनरल के अधीन एक सैनिक प्रभाग जिसमें 3 ब्रिगेड शामिल होते हैं। 3. विभाजन : संसदीय मत-निर्णय के लिए संसद के सदस्यों का दो भागों-अर्थात् पक्ष एवं विपक्ष में बँट जाना।
  • Doctrine of jurisdictional immunity -- क्षेत्राधिकारिक उन्मुक्ति का सिद्धांत
अंतर्राष्ट्रीय विधि के अंतर्गत राज्याध्यक्षों, शासनाध्यक्षों तथा राजदूतों एवं कुछ अन्य विशिष्ट इकाइयों को विदेशों में होने पर स्थानीय, दीवानी एवं फौजदारी न्यायालयों के क्षेत्राधिकार से उन्मुक्त माना जाता है। इसे “क्षेत्राधिकारिक उन्मुक्ति” का सिद्धांत कहा जाता है। इसे क्षेत्र अथवा प्रदेशबाहयता भी कहा जाता है।
  • Domestic jurisdiction -- आंतरिक अधिकार क्षेत्र, घरेलू अधिकार क्षेत्र
राज्य का ऐसा मामला जिसमें वह कोई विदेशी अथवा बाह्य हस्तक्षेप स्वीकार न करे और उसे अपनी संप्रभुता का हनन माने।
  • Domino theory -- डोमिनों सिद्धांत
इस सिद्धांत का प्रतिपादन अंतर्राष्ट्रीय राजनीति में उस समय हुआ जब शीतयुद्ध अपनी चरम सीमा पर था। इसका अर्थ है कि यदि कोई प्रधान (कुंजी) राष्ट्र अथवा भौगोलिक क्षेत्र साम्यवादी नियंत्रण में आ जाता है तो उससे संलग्न गैरसाम्यवादी राज्य भी डोमिनो खेल के मोहरों की तरह एक के बाद एक धराशायी हो जाएँगे। इसका प्रतिपादन राष्ट्रपति आहज़न-हावर के शासनकाल में साम्यवादी प्रसार की उस आशंका की ओर ध्यान आकृष्ट करने के लिए किया गया था जो दक्षिणपूर्वी एशिया में हिंदचीन के साम्यवादी नियंत्रण में आने से पैदा हो सकती थी।
  • Double veto -- दोहरा निषेधाधिकार
इस पद का संबंध सुरक्षा परिषद की मतदान प्रणाली से है। सुरक्षा परिषद में सारगर्मित प्रश्नों पर पाँच स्थायी राष्ट्रों को विशेषाधिकार दिया गया है परंतु प्रक्रियात्मक प्रश्नों पर विशेषाधिकार का प्रयोग नहीं किया जा सकता। सुरक्षा परिषद स्वयं यह निर्णय कर सकती है कि कौन-सा प्रश्न सारगर्भित है और कौन-सा प्रक्रियात्मक है और यह निर्णय करते समय भी ये स्थायी सदस्य निषेधाधिकार का प्रयोग कर सकते हैं। इस प्रकार स्थायी सदस्यों को दोहरा निषेधाधिकार प्राप्त होता है। पहला यह निर्णय करने में कि कोई प्रश्न सारगर्भित है या प्रक्रियात्मक और दूसरा सारगर्भित प्रश्नों पर मतदान करते समय।
  • Doyen -- वरिष्ठतम
किसी निकाय अथवा राजनयिक निकाय का वरिष्ठतम सदस्य। वर्तमान काल में इस शब्द का प्रयोग बहुधा किसी देश में विदेशी राजनयिक निकाय के प्रणेता के लिए होता है।
  • Dual Alliance -- द्विपक्षी गठबंधन, डुअल अलाएंस
आस्ट्रिया-हंगरी और जर्मनी के बीच 1879 ई. में रूस के विरुद्ध किया गया प्रतिरक्षात्मक सहबंध।
  • Dual government -- दोहरा शासन, दोहरी सरकार, द्वैध शासन, दे. Dyarchy.
  • Dust bowl -- सूखा क्षेत्र
ऐसा क्षेत्र जहाँ वर्षा कम होती है और रेतीली आंधियाँ चलती हैं। इससे मिट्टी की उर्वरक क्षमता कम हो जाती है।
  • Dyarchy -- द्वैध शासन
1919 के भारत शासन अधिनियम के अंतर्गत प्रांतों में स्थापित शासन-व्यवस्था जिसके अनुसार प्रांतीय प्रशासन के विषयों को दो वर्गों में बाँट दिया गया था : (1) आरक्षित विषय, (2) हस्तांतरित विषय। आरक्षित विषयों का प्रशासन गवर्नर के प्रति उत्तरदायी कार्यकारी पार्षदों के अधीन रखा गया था और इन पर विधान मंडल का कोई नियंत्रण नहीं था। दूसरे वर्ग अर्थात् हस्तांतरित विषयों का प्रशासन निर्वाचित मंत्रियों के अधीन रखा गया था और इन पर विधान मंडल का कोई नियंत्रण नहीं था। दूसरे वर्ग अर्थात् हस्तांतरित विषयों का प्रशासन निर्वाचित मंत्रियों के अधीन रखा गया था। ये मंत्री विधानमंडल के प्रति उत्तरदायी थे और उन्हें विधानमंडल अविश्वास प्रस्ताव के द्वारा हटा सकता था। इस प्रकार का “द्वैध शासन” 16 वर्ष तक (1921-37) चला और यह उत्तरदायी स्वशासन की दिशा में एक आंशिक प्रयोग था। इसकी असफलता का मुख्य कारण यह था कि सामाजिक दायित्व के अधिकांश विषय जैसे, शिक्षा, स्वास्थ्य, स्थानीय स्वशासन, कृषि आदि निर्वाचित मंत्रियों को सौंपे गए थे परंतु वित्त, सुरक्षा जैसे विषय आरक्षित विषय थे।
  • Ecology -- पारिस्थितिकी
वह सामाजिक, आर्थिक, राजनीतिक अर्थात् समग्र बाह्य परिवेश जो किसी देश की सामाजिक, राजनीतिक तथा प्रशासनिक संस्थाओं के वास्तविक स्वरूप एवं उनके कार्य संचालन अथवा प्रक्रियाओं को प्रभावित करता है।
  • Economic equality -- आर्थिक समानता
वह दशा जिसमें नागरिकों को अपने जीविकोपार्जन एवं आर्थिक उन्नति तथा विकास के लिए बिना किसी भेदभाव के समान अवसर प्राप्त हों।
  • Egalitarianism -- E
  • Election commission -- निर्वाचन आयोग, चुनाव आयोग
वह आयोग जिसके अधीक्षण, निदेशन और नियंत्रण में किसी देश में चुनाव कराए जाते हैं। भारत में, यह आयोग संसद सदस्यों, राज्यों की विधान सभाओं और विधान परिषदों के सदस्यों, राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के पदों के निर्वाचन की व्यवस्था करता है। इस आयोग का गठन राष्ट्रपति द्वारा किया जाता है। 1989 तक यह केवल एक सदस्यीय आयोग था। इस सदस्य को मुख्य निर्वाचन आयुक्त कहा जाता था। 1989 के लोक सभा चुनाव से पूर्व इसे त्रि-सदस्यीय कर दिया गया परन्तु इन चुनावों के पश्चात् इसे फिर से तक सदस्यीय आयोग कर दिया गया। चुनाव के समय राष्ट्रपति क्षेत्रीय निर्वाचन आयुक्तों की भी नियुक्ति करता है। इसे कार्यपालिका के प्रभाव या दबाव से पूर्णतः मुक्त रखने का प्रयास किया गया ताकि चुनाव स्वतंत्र और निर्भय होकर कराए जा सकें।
  • Election tribunal -- निर्वाचन न्यायाधिकरण
विवादास्पद निर्वाचनों के निपटारे के लिए समय-समय पर गठित अर्ध-न्यायिक निकाय।
  • Elective government -- निर्वाचित सरकार
वह शासन प्रणाली जिसमें सरकार का निर्वाचन जनता द्वारा प्रायः वयस्क मताधिकार के आधार पर होता है। इस व्यवस्था में सरकार का कार्यकाल सीमित होता है जो संविधान द्वारा निर्धारित होता है और सरकार के विभिन्न अंगों के अधिकता भी संविधान द्वारा निश्चित होते हैं।
  • Elite theory -- अभिजन सिद्धांत, संभ्रांतवर्ग सिद्धांत
इसके अनुसार लोकतंत्र में भी वास्तविक सत्ता अथवा शक्ति समाज के कुछ ही व्यक्तियों या व्यक्ति-समूहों में केंद्रित हो जाती है और ऐसा उनके विशिष्ट गुणों, प्रतिभाओं, कौशल एवं चातुर्य के कारण होता है। परंतु अभिजन स्थिर न रहकर बदलते रहते हैं। अतः अभिजनों के परिभ्रमण की बात कही जाती है। अभिजन अपने को सत्ता में बनाए रखने के लिए साम, दाम, दंड, भेद सभी उपायों का सहारा ले सकते हैं। इस सिद्धांत के मानने वालों में परेटो, मोस्का, मिचिल तथा किल्स के नाम उल्लेखनीय हैं।
  • Emigration -- उत्प्रवास, उत्प्रवासन
एक देश अथवा क्षेत्र छोड़कर अन्य देश या क्षेत्र में जाकर बस जाना।
  • Eminent domain -- सर्वोपरि अधिकार
यह अवधारणा कि प्रदेश की सीमाओं में पाई जाने वाली संपूर्ण चल व अचल संपत्ति पर अंतिम रूप से प्रभुत्व राज्य का ही होता है और राज्य सार्वजनिक उद्देश्यों के लिए मुआवज़ा देकर निजी स्वामियों से भी उनकी संपत्ति का अधिग्रहण कर सकता है।
  • End of history -- इतिहास का अंत
फ्रांसिस फुकुयामा द्वारा प्रतिपादित यह विचार कि सोवियत संघ तथा पूर्वी यूरोप में साम्यवाद के अंत हो जाने से यह सिद्ध हो गया है कि उदारवादी लोकतंत्र मानवीय शासन के विकासक्रम का अंतिम बिंदु है और इसके साथ सब सैद्धांतिक अथवा विचारधारा संबंधी विवाद समाप्त हो गए हैं। विचार, भौतिक संसार में, ऐतिहासिक घटनाओं के रूप में परिणत होते हैं परंतु विचारश्रृंखला का अंत हो जाने से “इतिहास का अंत” समझा जाना चाहिए।
  • Epicureanism -- एपीक्यूरसवाद
यूनानी दार्शनिक एपीक्यूरस और उनके अनुयायियों द्वारा प्रतिपादित दर्शन जिसके अनुसार व्यक्ति का स्वार्थ व स्वहित ही नैतिकता के आधार हैं। इनका प्रधान लक्ष्य सुख की प्राप्ति था किंतु ये लोग बौद्धिक सुख को भौतिक सुख की अपेक्षा श्रेष्ठ मानते थे और क्षणिक सुख के पीछे न जाकर स्थायी सुख की खोज में थे। कालांतर में एपीक्यूरस का दर्शन विकृत हो गया और इसका अर्थ केवल भोग-विलास और मौज-मस्ती माना जाने लगा। परंतु यह इसका वास्तविक चित्रण नहीं है।
  • Equality -- समानता, समता
वे सामाजिक दशाएँ जिन में समाज के प्रत्येक व्यक्ति को अपने व्यक्तित्व के विकास के लिए बिना किसी भेदभाव के, समान अवसर एवं सुविधाएँ समान रूप से प्राप्त हों।
  • Extradition --
किसी अपराधी द्वारा एक राज्य में अपराध करने के पश्चांत किसी दूसरे राज्य की सीमाओं में भाग जाने पर उस राज्य द्वारा (जहाँ अपराधी भागकर आया है) अपराधी को उसके राष्ट्रीय राज्य के विधिवत् अनुरोध करने पर उसे लौटा दिया जाना। बहुधा प्रत्यर्पण के लिए दोनों राज्यों के मध्य प्रत्यर्पण संधि का होना आवश्यक है और राजनीतिक अपराधियों का प्रत्यर्पण नहीं किया जाता।
  • Fabianism -- फेबियनवाद
सन् 1884 में, इंग्लैंड में स्थापित फेबियन समाज द्वारा प्रतिपादित सिद्धांत जिसके अनुसार समाजवाद लाने के लिए हिंसा का आश्रय लेना आवश्यक नहीं, शांतिपूर्ण संवैधानिक प्रक्रियाओं द्वारा भी इस उद्देश्य की पूर्ति की जा सकती है। यह सिद्धांत वर्ग-संघर्ष की विचारधारा का विरोधी और विभिन्न वर्गों के मध्य पारस्परिक सहयोग का पक्षधर है। फेबियनवाद के अनुसार पूँजीवाद का विनाश, हिंसात्मक उपायों के परित्याग और संवैधानिक उपायों द्वारा धीरे-धीरे किया जाना अपेक्षित है। इस सिद्धांत के प्रवक्ताओं में सर्वश्री एच. जी. वेल्स, जार्ज बर्नार्ड शा, एडवर्ड पीज़, सिडनी ओलिवियर, जी. डी. एच. कोल और एच. एन. ब्रेल्सफोर्ड आदि प्रमुख हैं।
  • Fait accompli -- निष्पन्न कार्य, सिद्ध कार्य
वह कार्य या परिणाम जो (पहले ही) पूरा हो चुका हो।
  • Federal government -- संघीय शासन
संघीय सरकार ऐसी शासन व्यवस्था जिसमें राज्य की शक्तियों का विभाजन एक लिखित संविधान द्वारा एक केंद्रीय सरकार, जिसे संघ सरकार भी कहते हैं, तथा संघ में शामिल होने वाली इकाइयों के मध्य होता है, और दोनों अपने-अपने अधिकार क्षेत्र में स्वायत्त माने जाते हैं। इस सरकार की सामान्य विशेषताएँ निम्नलिखित हैं :- (1) लिखित संविधान; (2) संविधान का अनमनीय होना ; (3) शक्तियों का केंद्र तथा इकाइयों में विभाजन ; (4) न्यायपालिका की सर्वोच्चता ; (5) संविधान की सर्वोच्चता, तथा (6) संघीय विधान मंडल के एक सदन में इकाइयों को समान प्रतिनिधित्व दिया जाना। संयुक्त राज्य अमेरिका, स्विट्जरलैंड व आस्ट्रेलिया के संविधान संघवाद के प्रतिमान माने जाते हैं। भारत का संविधान भी संघात्मक है।
  • Feed back -- 1. पुनर्भरण, 2. प्रतिपुष्टि
1. पुनर्भरण : वह प्रक्रिया जिसमें तंत्र के निर्गम के एक भाग को निविष्टि के रूप में लौटा दिया जाता है। इससे अशुद्धियों को ठीक करने में सहायता मिलती है। 2. प्रतिपुष्टि : वह प्रक्रिया जिसके द्वारा राजनीतिक निर्णयों अथवा कार्यक्रमों के लागू होने से उत्पन्न प्रतिक्रिया, समालोचना अथवा सुझाव शासन को प्राप्त होते हैं।
  • Feudalism -- सामंतवाद, सामंतशाही
कृषि प्रधान अर्थव्यवस्था पर आधारित सामाजिक-राजनीतिक व्यवस्था जिसके अंतर्गत शासकीय शक्ति अनेक अर्ध स्वतंत्र क्षेत्रों में वितरित रहती थी। इन क्षेत्रों पर जिन सामतों का अधिकार होता था, उन्हें अवसर आने और आवश्यकता पड़ने पर अपनी सामर्थ्य और शक्ति के अनुसार घन-जन देकर सम्राट की सहायता करनी पड़ती थी। यूरोपीय सामंतवाद का उदय रोम साम्राज्य की पतनोन्मुखी स्थितियों में हुआ। सन् 500 से 1500 ईसवी तक सामंतवाद राजनीतिक और सामाजिक व्यवस्था पर हावी रहा। सामंतवादी व्यवस्था में सम्राट सर्वोच्च सत्ताधारी होता था। उसके सहयोगी विशाल भूमिधारी सामंत होते थे जो अपने-अपने क्षेत्रों के स्वामी होते थे। उनके नीचे छोटे जमींदार, कृषक और दास इत्यादि होते थे। पूरी व्यवस्था एक श्रेणीबद्ध व्यवस्था थी जिसका आधार भूमि और कृषि था।
  • Fifth columnist -- पंचमांगी, देशद्रोही
किसी राज्य में रहनेवाले उन गद्दारों को दिया गया नाम जो शत्रु राज्य की ओर से उक्त राज्य में जासूसी तथा अन्य विध्वंसात्मक क्रियाकलाप करते हैं।
  • Filibuster -- फिलीबस्टर, गतिरोधक-भाषण
संयुक्त राज्य अमेरिका की सीनेट में, सदस्यों द्वारा लंबे-लंबे भाषणों की निरंतर आवृत्ति से विधेयकों को पारित न होने देना या उनके पारित होने में यथासाध्य विलंब अथवा व्यवधान उत्पन्न करना। यदि सीनेट के एक-तिहाई सदस्य विघ्नकारी भाषणों को रोकने के पक्ष में न हों तो किसी भी विधेयक को इस गतिरोध से बचाने का कोई उपाय नहीं रह जाता। कोई भी सदस्य अविराम बोलते रहकर विधेयक को पारित होने से रोक सकता है।
  • Finance bill -- वित्त विधेयक
प्रत्येक वर्ष बजट प्रस्तुत करने के पश्चात् उसमें निहित प्रस्तावों को वैधानिक रूप देने के लिए प्रस्तुत विधेयक। किसी कालावधि के लिए अनुपूरक वित्तीय प्रस्थापाओं को प्रभावी करने वाला विधेयक भी “वित्त विधेयक” के अंतर्गत आता है।
  • Finance commission -- वित्त आयोग
भारतीय संविधान के अनुच्छेद 280(1) में दी गई व्यवस्था के अनुसार राष्ट्रपति को प्रति पाँचवे वर्ष या आवश्यकतानुसार उसके पूर्व भी, वित्त आयोग नियुक्त करने का अधिकार है। आयोग में एक अध्यक्ष तथा चार सदस्य होते हैं। इसका कार्य निम्न होता है :- (1) संघ और राज्यों के बीच वित्तीय संबंधों पर विचार ; (2) केंद्र और राज्यों के बीच वितरणीय संघीय करों और शुल्कों से होने वाली प्राप्तियों के वितरण का आधार निर्धारित करना ; तथा (3) राष्ट्रपति द्वारा आयोग के विचारार्थ सौंपे गए किसी अन्य प्रश्न पर विचार।
  • First Internationale -- प्रथम इंटरनेशनाले
सन् 1864 में मार्क्स द्वारा स्थापित विश्व के समाजवादी अथवा साम्यवादी नेताओं का एक संघ। इसका मुख्य उद्देश्य विश्व के विभिन्न देशों में श्रमिकों के समाजवादी आंदोलनों में समन्वय स्थापित करना था। इसकी कांग्रेस की प्रथम बैठक सन् 1866 में जेनेवा में हुई थी। कार्लमार्क्स और फ्रेडरिक ऐंजल्स इसके सक्रिय सदस्य थे। सन् 1869 में इसमें बाकुनिन और आंतकवादी दल शामिल हुए जिससे आंतरिक झगड़े उत्पन्न हो गए जिनके कारण आगे चलकर इस संघ का अंत हो गया। इसकी अंतिम बैठक सन् 1876 में फिलाडेलफिया में हुई थी।
  • Floor crossing -- पक्ष-परिवर्तन, दल-बदल, दे. Carpet crossing.
  • Foreign secretary -- 1. विदेश सचिव, 2. विदेश मंत्री
1. विदेश मंत्रालय का सचिव जो राज्य का विदेश सेवा का वरिष्ठ अधिकारी होता है। 2. ब्रिटेन में विदेश मंत्री को विदेश सचिव कहते हैं जो मंत्रिमंडल का एक वरिष्ठ सदस्य होता है। 3. अमेरिका में विदेश मंत्री को सैक्रेट्री आफ स्टेट (राज्य-सचिव) का पदनाम दिया गया है।
  • Founding fathers (of constitution) -- संविधान निर्माता
किसी राज्य की संविधान-निर्मात्री सभा के सदस्य।
  • Four freedoms -- चतुर्विध स्वतंत्रताएँ
6 जनवरी, 1941 को अमेरिका के राष्ट्रपति फ्रैंकलिन रूजवेल्ट ने कांग्रेस में निम्न चार प्रकार की स्वतंत्रताओं की घोषणा की ज़ो मित्र राष्ट्रों तथा स्वतंत्रताप्रिय राष्ट्रों के लिए लक्षित थीं :- (1) भाषण तथा विचार अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता ; (2) अपनी इच्छानुसार ईश्वर की उपासना की स्वतंत्रता ; (3) आर्थिक अभाव से स्वतंत्रता ; तथा (4) भय से स्वतंत्रता। इसके लिए रूजवेल्ट ने विभिन्न राष्ट्रों के मध्य निरस्त्रीकरण समझौते का प्रतिपादन किया ताकि किसी भी छोटे-बड़े राष्ट्र को आक्रमण का डर न रहे।
  • Fourteen points (= Fourteen peace points) -- चौदह सूत्र

्रथम विश्व-युद्ध के दौरान संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति विल्सन द्वारा प्रतिपादित वे चौदह सूत्र जो महायुद्ध की समाप्ति के पश्चात् शांति संधि का आधार बने। इन सूत्रों में से प्रमुख सूत्र इस प्रकार थे :- (1) गुप्त कूटनीतिक वार्ता समाप्त करके शांति के सभी समझौते खुले रूप में किए जाएँगे। (2) युद्ध और शांतिकाल में, महासमुद्रों में नौवहन की सुविधा सभी राष्ट्रों को प्राप्त होगी। (3) युद्ध की समाप्ति पर सभी राष्ट्रों का एक संगठन बनाया जाएगा जिसमें सभी छोटे- बड़े राष्ट्रों को समान रूप से राजनीतिक स्वतंत्रता की पारस्परिक प्रत्याभूति प्राप्त होगी। (4) राष्ट्रीय सुरक्षा का ध्यान रखते हुए सभी राष्ट्र निःशस्त्रीकरण की ओर अग्रसर होंगे। (5) आर्थिक बंधनों में ढील दी जाएगी। (6) सभी जातियों को आत्मनिर्णय का अधिकार प्राप्त होगा।

  • Fourth estate -- चौथा वर्ग, प्रेस/पत्रकार वर्ग
समाचारपत्रों के लिए एक गौरवपूर्ण पद। इसका प्रयोग सर्वप्रथम थामस वैविंगन मकाले ने ब्रिटिश पार्लियामेंट में 1848 में किया था। उन्होंने कहा था “जिस दीर्घा में रिपोर्टर बैठते हैं वह राज्यमंडल का चतुर्थ वर्ग बन गई है।” उस समय राज्यमंडल के तीन वर्ग थे लाईस स्पिरिचुअल (धर्माधिपति), लाईस टेम्पोरल (सामंती प्रभु) और कामन्स (लोक प्रतिनिधि)।वर्तमान प्रयोग में विधि पालिका (लेजिस्लेटिव), कार्यपालिका (एक्जीक्यूटिव) और न्यायपालिका (जुडीशियरी) को शासन के तीन आधार स्तंभ माना जाता है और चौथा स्तंभ यह (प्रेस) है।
  • Franchise du quartier -- शरण अधिकार
किसी राज्य के भागे हुए व्यक्ति को शरण देने का अधिकार। इसका प्रयोग बहुधा राष्ट्रीय विधि अथवा अंतर्राष्ट्रीय विधि द्वारा निर्धारित शर्तों के अनुसार ही किया जाता है।
  • Freedom of association -- संघ-निर्माण की स्वतंत्रता
नागरिकों को संघ, समुदाय या संवास बनाने का अधिकार। यह एक मूल अधिकार माना जाता है। भारतीय संविधान में भी अनुच्छेद 19 में इसका प्रावधान किया गया है।
  • Freedom of speech and expression -- वाक् स्वातंत्रय और अभिव्यक्ति स्वातंत्रय, भाषण और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता
इस अधिकार के अंतर्गत कोई भी व्यक्ति वाणी, लेखनी, चित्र तथा मुद्रण-प्रकाशन आदि के माध्यम से अपने विचार अभिव्यक्त कर सकता है। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 19(1)(क) के अंतर्गत सभी भारतीय नागरिकों को यह अधिकार प्राप्त है परंतु अन्य अधिकारों की भांति यह अधिकार भी असीमित नहीं है और इस पर राज्य द्वारा उचित प्रतिबंध लगाया जा सकता है।
  • Freedom of the press -- प्रेस स्वातंत्रय, समाचार पत्रों की स्वतंत्रता
लोकतंत्रीय शासन पद्धति वाले राज्यों में कुछ भी मुद्रित और प्रकाशित करने का अधिकार। भारतीय संविधान के अंतर्गत समाचार पत्रों की स्वतंत्रता व्यक्ति की विचार तथा अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का एक अंग है। इस पर संविधान में निर्दिष्ट आधारों पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है।
  • Freedoms of the open sea -- मुक्त सागर स्वातंत्र्य
अंतर्राष्ट्रीय विधि के अंतर्गत सब राज्यों को समान रूप से महा समुद्रों में नौपरिवहन, ऊपरी आकाश से उड़ान, मछली पकड़ने, समुद्री तार बिछाने तथा वैज्ञानिक शोध करने के अधिकार प्राप्त हैं। इन अधिकारों को महासमुद्र की स्वतंत्रताएँ भी कहते हैं। महासमुद्र के इन उपयोगों के वास्ते सभी राज्यों के लिए खुला होने के कारण महासमुद्र को खुला समुद्र भी कहते हैं।
  • Functional representation -- वृत्तिगत प्रतिनिधान
किसी राज्य के राजनीतिक निकायों के आर्थिक तथा व्यावसायिक समूहों द्वारा निर्वाचन किए जाने की प्रणाली। इस प्रकार का निर्वाचन राज्य क्षेत्र की जनसंख्या के आधार पर नहीं बल्कि विभिन्न आर्थिक या व्यावसायिक वर्गों को निर्वाचन क्षेत्र मानकर किया जाता है।
  • Functus officio -- अधिकारहीन
वह व्यक्ति, अधिकारी, संस्था अथवा अभिकरण जिसने अपना निर्धारित कार्य अथवा उद्देश्य विशेष पूर्ण कर लिया है और जिसके पास सत्ता, प्राधिकार अथवा विधिक कार्यक्षमता नहीं रही है।
  • Fundamentalism -- धार्मिक कट्टरतावाद
धार्मिक संप्रदायों द्वारा विशुद्ध धर्म और धार्मिक विश्वासों के आधार पर समाज व राज्य की संस्थाओं के पुनर्गठन का अभियान जो आधुनिकीकरण का विरोध करता है। उदाहरणार्थ पाकिस्तान में शरियत को देश का सर्वोच्च कानून माना जाता है जिसका उल्लंघन किसी संसदीय क़ानून द्वारा भी नहीं किया जा सकता। ख़ोमेनी के अंतर्गत ईरान धार्मिक- कट्टरपंथी राज्य का एक प्रतिमान बन गया है।
  • Fundamental rights -- मूल अधिकार, मौलिक अधिकार
1. वे अधिकार जो राज्य के संविधान द्वारा व्यक्तियों को प्रदान किए जाते हैं। संविधान राज्य का मूल क़ानून होता है अतः इन अधिकारों को मौलिक अधिकार कहा जाता है। 2. वे अधिकार जो व्यक्तियों के सर्वांगीण विकास के लिए परमावश्यक माने जाते हैं जैसे-स्वतंत्रता, समानता, संपत्ति आदि। 3. भारतीय संविधान के अंतर्गत अनुच्छेद 12 से 35 तक में मौलिक अधिकारों का वर्णन है। इन अधिकारों से वंचित किए जाने पर व्यक्ति न्यायालय की शरण ले सकता है।
  • Gallop poll -- गैलप पोल, मत संग्रह
किसी सार्वजनिक महत्व के विषय पर अथवा चुनाव के समय जनमत का पूर्वानुमान करने के लिए किया गया सर्वेक्षण। इस प्रणाली का सर्वप्रथम प्रयोग अमेरिका में डॉ. गैलप के द्वारा किया गया था।
  • Gambatsu -- गबंत्सु, सैन्यदल
प्रथम तथा द्वितीय महायुद्धों के बीच जापान में एक विशिष्ट सैनिक गुट जो उग्र रूप से राष्ट्रवादी था। प्रथम महायुद्ध के पश्चात् जापान की राजनीति में यह गुट एक शक्तिशाली कारक के रूप में उभरा और द्वितीय महायुद्ध के अन्तिम चरणों तक इस गुट ने देश के प्रशासन पर अपना पूर्ण नियंत्रण स्थापित कर लिया था। यह एक प्रकार से पूर्व परम्परा ही की कड़ी था। इस दल ने अपनी उद्देश्य पूर्ति के लिए आंतकवादी उपाय भी अपनाए।
  • Garrison state -- G
  • Gas warfare -- गैस युद्ध
वह युद्ध जिसमें विषैली, श्वासावरोधक तथा अन्य प्रकार की जनसंहारकारी गैसों का प्रयोग हो।
  • General act (= general law) -- 1. सन्नियम 2. सामान्य विधि
1. अंतर्राष्ट्रीय विधि के अंतर्गत इस शब्द का प्रयोग संधि के पर्यायवाची के रूप में भी किया जाता है। 2. ऐसी विधि या क़ानून जो सामान्यतः किसी देश में रहने वाले समस्त व्यक्तियों पर लागू हो।
  • General Agreement on Trade and Tariff (GATT) -- व्यापार एवं प्रशुल्क संबंधी सामान्य समझौता
एक अंतर्राष्ट्रीय संगठन जिसका उद्देश्य सदस्य राज्यों के मध्य अंतर्राष्ट्रीय व्यापार को सरल एवं सुगम बनाना है। इसकी प्रथम बैठक जेनेवा में 1947 में हुई थी। यह सदस्य राज्यों के प्रशुल्क एवं अन्य व्यापार संबंधी बाधाओं को दूर करने के लिए पारस्परिक समझौते कराने में सहायता करता है। प्रारंभ में इसमें केवल 23 राज्य थे परंतु अब यह संख्या बढ़कर 100 से अधिक हो गई है। ये विश्व व्यापार के 80% से अधिक का संचालन करते हैं।
  • General Assembly (U.N.O.) -- महासभा
यह संयुक्त राष्ट्र के 6 प्रमुख अंगों में से एक है। संयुक्त राष्ट्र संघ के सभी सदस्य राज्य इसके सदस्य होते हैं और प्रत्येक राज्य के प्रतिनिधि मंडल को एक मत प्राप्त होता है। इसके अधिवेशन साधारणतया प्रतिवर्ष होते हैं, परन्तु इसका विशेष अधिवेशन भी बुलाया जा सकता है। इसे महत्वपूर्ण पदों एवं समितियों के निर्वाचन का अधिकार है जिनमें महासचिव, अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के सदस्य, सामाजिक और आर्थिक परिषद् के सदस्य, सुरक्षा-परिषद् के अस्थायी सदस्य शामिल हैं। यह विश्व की उन सभी समस्याओं एवं परिस्थितियों पर विचार-विमर्श कर सकती है जिनका संबंध विश्व में शांति बनाए रखने से है। यद्यपि इसके प्रस्ताव बाध्यकारी नहीं होते परन्तु सभी राज्यों का प्रतिनिधित्व करने के कारण संयुक्त राष्ट्र की महासभा विश्व जनमत का दर्पण मानी जाती है और इसे विश्व की संसद भी कहा जाता है।
  • General conference -- महासम्मेलन
1. कुछ धार्मिक संप्रदायों का उच्चतम विधायी या विचार-विमर्शकारी निकाय। 2. किसी राजनीतिक दल, गुट या संगठन के सदस्यों की आम समा, जो किसी उद्देश्य विशेष या सैद्धांतिक विचार-विमर्श आदि के लिए बुलाई गई हो।
  • General disarmament -- सामान्य निरस्त्रीकरण, सामान्य निःशस्त्रीकरण
विश्व के राज्यों द्वारा पारस्परिक संधि-समझौते करके शस्त्रास्त्रों में सामान्य रूप से उत्तरोत्तर कमी करना।
  • General election -- आम चुनाव
संसद अथवा विधान सभाओं के लिए विधि अथवा रीति के अनुसार नियमित अवधि पर आयोजित चुनाव। भारत में ये चुनाव हर पाँचवें वर्ष होते हैं।
  • General good (= common good) -- सार्वजनिक हित, सामान्य हित
वह लाभ या सुविधा जो किसी व्यक्ति या वर्ग विशेष के लिए न हो अपितु पूरे जनसमुदाय के लिए हो।
  • General international organisation -- सामान्य अंतर्राष्ट्रीय संगठन
सामान्य उद्देश्यों की पूर्ति के लिए राज्यों का विश्वव्यापी संगठन जिसकी सदस्यता सभी राज्यों के लिए समान रूप से खुली हो। उदाहरणार्थ, संयुक्त राष्ट्र।
  • Generalist -- सामान्यज्ञ
लोक प्रशासन में वे उच्चाधिकारी जो अपने सामान्य ज्ञान के आधार पर नियुक्त होते हैं और जिनका स्थानांतरण एक प्रशासकीय विभाग से दूसरे विभाग में किया जा सकता है। विशेषज्ञों के विपरीत इनका कार्य क्षेत्र सामान्य प्रशासन होता है।
  • General law -- सामान्य विधि, आम क़ानून
स्थानीय या विशिष्ट नियमों, विनियमों और विधियों से भिन्न वे सामान्य क़ानून जो किसी देश के सभी भागों, व्यक्तियों आदि पर समान रूप से लागू हों।
  • General mobilization -- आम लामबंदी, सामान्य सैन्यीकरण
आक्रमण की आशंका होने पर राज्याधिकारियों द्वारा सेना के तीनों अंगों, स्थलसेना, वायुसेना और नौसेना के आरक्षित एवं सेवारत सैनिकों का जुटाव तथा असैनिक पुरुषों को भी सैनिक सेवा के लिए भर्ती होने का आहवान।
  • General protocol -- 1. सामान्य नयाचार 2. सामान्य पूर्वसंधि
1. राजनयिक प्रतिनिधियों के साथ किए जाने वाले औपचारिक व्यवहार के तौर-तरीके, रीति-रिवाज़, आदि। 2. किसी सार्वजनिक अंतर्राष्ट्रीय संधि का वह हस्ताक्षरित लेखपत्र जिस पर संबद्ध पक्ष सहमत हों। यह संधि का पूर्ववृत्त माना जाता है।
  • General will -- सामान्य इच्छा
प्रसिद्ध फ्रांसीसी दार्शनिक रूसो के मतानुसार “इच्छा” समाज के सदस्यों की विवेकपूर्ण इच्छाओं का (जिन्हें रूसो “वास्तविक इच्छा” कहता है) समन्वय या समुच्चय है। यह आवश्यक नहीं कि “सामान्य इच्छा” जनता के बहुसंख्यक भाग अथवा समग्र जनता की इच्छा हो। रूसो तो यहाँ तक कहता है कि “सामाय इच्छा” की अभिव्यक्ति एक व्यक्ति के द्वारा भी हो सकती है। आवश्यकता इस बात की है कि “सामान्य इच्छा” निःस्वार्थपूर्ण, विवेकसम्मत और सद्गुणों पर आधारित हो।
  • Genocide -- जाति-संहार, जनसंहार
किसी राज्य में किसी वर्ग विशेष या जाति को समूल नष्ट करने के उद्देश्य से उसका व्यवस्थित ढंग से अंत करने की नीति अथवा कार्यक्रम। नाजी जर्मनी में यहूदियों का संहार इस नीति अथवा कार्यक्रम का एक उदाहरण है। युद्धोपरांत संयुक्त राष्ट्र ने 1948 में एक संविदा के अंतर्गत जनसंहार के अपराध की रोकथाम और उसके लिए दंड की व्यवस्था की है।
  • Genro (= elder statesmen) -- वरिष्ठ राजनीतिज्ञ, जेनरो
जापान में वरिष्ठ राजनीतिज्ञों के लिए इस शब्द का प्रयोग होता था। ये राजनीतिज्ञ विशेष रूप से शासन मर्मज्ञ या राजमर्मज्ञ होते थे। सन् 1868 से 1911 के बीच इटो, यामागाटा, इनूये, ओयामा, माटसूकाटा जैसे रानीतिज्ञ “जेनरो” कहलाते थे। अपने ज्ञान और स्थिति के कारण वास्तविक राजसत्ता इनमें केन्द्रित होती देखी गई।
  • Gentile -- गैर-यहूदी
(1) गैर-यहूदी जाति का व्यक्ति या गैर-यहूदी धर्मानुयायी। यहूदी धर्मानुयायियों के मतानुसार यहूदी धर्म में आस्था न रखकर ईसाई धर्म में आस्था रखने वाला।
(2) वह व्यक्ति जो ईसाई धर्म में विश्वास न रखकर नास्तिक हो और प्रकृति को ईश्वर मानता हो।
  • Gentlemen’s agreement -- सौजन्य-सहमति
मौखिक आश्वासनों पर आधारित अनौपचारिक समझौता।
  • Geopolitics -- भू-राजनीति
1. किसी देश की राजनीति, राष्ट्रीय शक्ति तथा विदेश नीति पर वहाँ के भौगोलिक कारकों के प्रभाव का अध्ययन।
2. राजनीति एवं भूगोल की पारस्परिक अन्तःक्रिया पर आधारित राष्ट्रीय नीति। नाजियों का विस्तारवादी सिद्धांत इसी पर आधारित था।
  • Gerontocracy -- वयोवृद्धतन्त्र
ऐसा शासन निकाय जिस के सदस्य वयोवृद्ध हों ; वयोवृद्ध व्यक्तियों का शासन।
  • Gerrymandering -- जेरीमैंडरिंग
चुनाव में सत्ताधारी दल द्वारा दलीय हित में चुनाव क्षेत्र के सीमा-निर्धारण में फेरबदल करना। जेरी मैंडर संयुक्त राज्य अमेरिका में मैसाच्यूसैट्स राज्य के गवर्नर थे जिन्होंने सर्वप्रथम 1812 में इस युक्ति का प्रयोग किया था। अतः यह युक्ति “जेरीमैंडरिंग” कहलाती है।
  • Gesinnung (= political consciousness) -- राजनीतिक चेतना, राजनीतिक जागरण
शासन के क्रियाकलापों और राजनीतिक गतिविधियों से संबंधित सामान्य नागरिकों का ज्ञान, अभिरुचि और उनकी प्रतिक्रिया।
  • Gestapo (= Geheine staatspolizei) -- गेस्टापो
नास्ती जर्मनी में देशद्रोह या षड्यंत्र आदि करने वाले व्यक्तियों का पता लगाने और उनके विरुद्ध कार्यवाही करने वाला गुप्तचर पुलिस विभाग जिसकी स्थापना 26 अप्रैल, 1933 को बर्लिन में दो कार्यकारी अध्यक्षों हर्मनगूरिंग और रूडोल्फ डील्स द्वारा की गई थी।
  • Ghetto -- घेटो, यहूदी बस्ती
1. यहूदियों का टोला या मोहल्ला। 2. पृथक्कृत बस्ती या समूह।
  • Ginger group -- जिंजरग्रुप, उत्तेजक वृंद
किसी राजनीतिक दल के भीतर ऐसा समूह जो अधिक उत्तेजक, क्रियाशील अथवा विशेष रूप से उत्साही हो और जो दल की नीतियों तथा कार्यक्रमों को अधिक गति देने के लिए प्रयत्नशील हो।
  • Glasnost -- खुलापन, ग्लासनोस्त (रूसी भाषा का शब्द)
सोवियत संघ में साम्यवादी दल के महासचिव राष्ट्रपति गोर्बाचोव द्वारा चलाया गया अभियान जिसका लक्ष्य है राज्य के शासन, राजनीति और समाज में निर्णय-निर्माण की प्रक्रिया में गोपनीयता तथा स्वेच्छाचारिता को समाप्त करके जनता की सह-भागीदारी बढ़ाना जिससे लोकतंत्र साकार हो सके।
  • Global hegemony -- भूमंडलीय प्राधान्य, विश्वव्यापी प्राधान्य,
विश्वव्यापी प्रभुत्व या प्रधानता। विश्व के अधिकांश क्षेत्रों या प्रदेशों में किसी राज्य के सैनिक, राजनीतिक एवं आर्थिक वर्चस्व से उत्पन्न प्रभुत्व। यह स्थिति इस समय संयुक्त राज्य अमेरिका की है। 1989 से पहले पूरा संसार दो महाशक्तियों-अमेरिका और सोवियत संघ के प्रभाव क्षेत्र में बंटा हुआ था।
  • Global policy -- सार्वभौम नीति
सम्पूर्ण विश्व के परिप्रेक्ष्य में निर्मित किसी देश की राष्ट्रीय या विदेश नीति।
  • Global politics -- सार्वभौम राजनीति, विश्वव्यापी राजनीति
राष्ट्रों की विदेश नीतियों की पारस्परिक अंतःक्रिया से उत्पन्न स्थिति जो इन नीतियों के निर्माण में पुनर्भरण अथवा प्रतिपुष्टि का भी कार्य करती है।
  • Gold reserve -- स्वर्ण रिज़र्व, स्वर्ण भंडारण
किसी राज्य के केन्द्रीय बैंक में रखा गया स्वर्ण। प्रारंभ में, कागज़ी मुद्रा इस स्वर्ण भंडार के अनुपात में ही जारी की जा सकती थी किन्तु अब एक न्यूनतम निर्धारित स्वर्ण राशि रखना ही पर्याप्त है।
  • Good faith -- सद्भाव

इसका शाब्दिक अर्थ है सत्यनिष्ठा, ईमानदारी अथवा सदाशय। एक प्रकार से समस्त अंतर्राष्ट्रीय विधिक वय्वस्था इसी पर आधारित है। विशेषकर इसका प्रयोग संधियों के क़ानून में किया जाता है और इसे राज्यों द्वारा संधिपालन का आधार माना जाता है।

  • Good nieghbour policy -- अच्छे पड़ौसी की नीति
सत्य प्रतिवेशी नीति संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा लातीनी अमेरिकी राज्यों के प्रति अपनाई गई मित्रता व समानता की नीति जिसका उद्देश्य गोलार्धीय राजनयिक एकता व सुरक्षा की सामान्य व्यवस्था की स्थापना करना था। इस नीति के अंतर्गत अमेरिका, महाद्वीपीय मामलों में किसी प्रकार के बाहरी हस्तक्षेप का विरोध करता था तथा इसमें भागीदारी, मैत्रीपूर्ण सहयोग तथा पारस्परिक सहायता के तीन सिद्धांतों पर बल दिया गया था।
  • Good offices -- सत्प्रयास
युद्धकारी या परस्पर विवादी राज्यों के बीच मतभेद का समाधान करने के प्रयोजन से किसी तीसरे राज्य द्वारा किया गया प्रयत्न जो इन युद्धरत अथवा विवादग्रस्त राज्यों को वार्तालाप करने के लिए सहमत करने तक सीमित हो। यह तीसरा राज्य स्वयं वार्ता में प्रत्यक्ष भाग नहीं लेता।
  • Go-slow -- “धीरे काम” करो, कार्यमंदन
श्रमिकों द्वारा अपनाई गई मंद गति से कार्य करने की नीति। औपचारिक हड़ताल पर जाए बिना श्रमिकों द्वारा प्रबंधकों से अपनी माँगें मनवाने के लिए दबाव डालने का एक तरीका।
  • Governance -- शासन, अभिशासन
किसी शासन, संस्था अथवा संगठन के संचालन के लिए आंतरिक नियंत्रण व अनुशासन की व्यवस्था।
  • Government -- सरकार, शासन
राज्य का वह तत्व जिसके द्वारा राज्य के अथवा उसकी विभिन्न इकाइयों के उद्देश्यों का पालन कराया जाता है। इन उद्देश्यों की अभिव्यक्ति शासन द्वारा अपनाई गई नीतियों और राज्य के क़ानूनों द्वारा होती है और इनका कार्यान्वयन कार्यपालिका द्वारा किया जाता है। शासन के तीन अंग होते हैं : व्यवस्थापिका, कार्यपालिका तथा न्यायपालिका।
  • Government-in-exile -- निर्वासित सरकार
वह सरकार जो अपने राज्य पर किसी अन्य राज्य या सत्ता द्वारा आधिपत्य हो जाने के कारण अस्थायी रूप से किसी विदेशी राज्य से, जो उसे आश्रय देने के लिए सहमत हो, कार्यसंचालन करती है।
  • Governor -- राज्यपाल, गवर्नर
देश में किसी राज्य अथवा प्रांत का सर्वोच्च कार्यकारी अध्यक्ष और शासक। भारत में प्रत्येक राज्य के संवैधानिक प्रधान को गवर्नर या राज्यपाल कहते हैं और उसकी नियुक्ति राष्ट्रपति द्वारा होती है। संयुक्त राज्य अमेरिका में राज्य का गवर्नर वास्तविक कार्यपालिका का प्रधान होता है और उसका निर्वाचन जनता द्वारा होता है।
  • Governor General -- गवर्नर जनरल
ब्रिटिश साम्राज्य के अंतर्गत उपनिवेशों में ब्रिटिश सरकार द्वारा नियुक्त प्रधान शासक। इस समय कनाडा और आस्ट्रेलिया के संवैधानिक प्रधान को भी गवर्नर जनरल कहा जाता है। चक्रवर्ती राजगोपालाचार्य भारत के अंतिम गवर्नर जनरल थे।
  • Grand duchy -- ग्रैंड डची
यूरोप में ग्रैड डयूकों (सामंतों) की रियासतें अथवा राज्य। अब इनका कोई अस्तित्व नहीं रह गया है।
  • Grand jury -- ग्रैन्ड जूरी
संयुक्त राज्य अमेरिका में लोक विधि में दक्ष 12 से 33 व्यक्तियों का निकाय जो क़ानून के उल्लंघनों के आरोपों की प्रारंभिक जाँच-पड़ताल करने के लिए नियुक्त किया जाता है। जाँच में यह निश्चित हो जाने पर कि अभियुक्तों के विरुद्ध पर्याप्त साक्ष्य उपलब्ध है, उनके विरुद्ध न्यायिक कार्यवाही की जा सकती है।
  • Grantee -- अनुदानग्राही
वह व्यक्ति अथवा संस्था या निकाय जिसे सरकार द्वारा कोई धन अनुदान या किसी संपदा का स्वामित्व अधिकार दिया गया हो।
  • Grants-in-aid -- सहायता अनुदान
केंद्रीय अथवा राज्य सरकारों द्वारा अधीनस्थ इकाइयों तथा गैर सरकारी संस्थाओं को सार्वजनिक तथा जनकल्याण संबंधी कार्य करने के लिए सहायतार्थ दी जाने वाली निधि जो किसी सामान्य उद्देश्य अथवा किसी विशेष प्रयोजन के लिए भी दी जा सकती है।
  • Great powers -- महाशवित्तयाँ
विश्व राजनीति में अपने सैनिक बल, आर्थिक विकास अथवा ऐतिहासिक कारणों से निर्णायक, प्रभावशाली या महत्वपूर्ण भूमिका अदा करने वाले राष्ट्र या राज्य। द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद से संयुक्त राज्य अमेरिका, सोवियत संघ, ग्रेट ब्रिटेन, फ्रांस और चीन को महाशक्तियों की संज्ञा दी जाती है। ये पाँचों राज्य संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् के स्थायी सदस्य हैं और इन्हें निषेधाधिकार दिया गया है।
  • Green front -- हरित मोर्चा, कृषि मोर्चा
राजनीतिक दलों और संसदीय समूहों में खेतिहर हितों का प्रतिनिधित्व करने वाला समूह।
  • Green revolution -- हरित क्रांति, दे. Agricultural revolution.
  • Groupism -- दलबंदी, गुटबंदी
किसी संस्था, संगठन या दल में कुछ सदस्यों द्वारा स्वार्थवश एक गुट के रूप में संगठित होकर अपने हितार्थ विचार अथवा कार्य करने की प्रवृत्ति।
  • Guarantee of treaty -- संधिगत प्रत्याभूति
वह समझौता जिस के द्वारा किसी संधि के सद्भावना पूर्ण निष्पादन के लिए प्रभावशाली राज्य वचनबद्ध होते हैं।
  • Guerilla ( = guerrilla) -- गुरिल्ला, छापामार
वह व्यक्ति जो किसी नियमित सेना का सदस्य न होकर नियमित एवं संगठित सशस्त्र गुट का सदस्य होता है और अपने लक्ष्य पर लुक छिपकर वार करता है। ऐसे गुट युद्धकाल में भी सक्रिय रहते हैं और राष्ट्रीय स्वतंत्रता आन्दोलन में या स्थापित सरकार का तख्ता पलटने में भी भाग लेते देखे जा सकते हैं। ये छापामार युद्ध में, शत्रु की सैनिक टुकड़ियों के पृष्ठ भाग में कार्य करते हैं।
  • Guerilla warfare -- छापामार युद्ध, वृक युद्ध
सशस्त्र संगठित गुटों द्वारा अनियमित रूप से की जाने वाली सशस्त्र कार्रवाई जो किसी आक्रमणकारी सेना के प्रतिरोध में की जाए अथवा स्थापित सरकार के विरुद्ध हो। बहुधा ये छापामार किसी धार्मिक, सामाजिक, आर्थिक अथवा राजनीतिक विचारधारा अथवा उद्देश्य से प्रेरित होकर शत्रु पर लुक छिपकर आक्रमण करते हैं और शत्रु की रसद पूर्ति, यातायात तथा संचार साधनों को नष्ट करके शत्रु को निर्बल करते हैं। इनकी शक्ति प्रायः स्थानीय सहायता पर निर्भर करती है।
  • Guided democracy -- निर्देशित लोकतंत्र
ऐसा लोकतंत्र जिसमें लोक इच्छा पूर्णतः स्वतंत्र न होकर एक दल, नेता अथवा नेतृमंडल द्वारा निर्देशित व नियंत्रित होती है। उसमें लोकतंत्र का केवल स्वरूप रह जाता है, उसकी आत्मा नहीं।
  • Habeas corpus -- बंदी प्रत्यक्षीकरण
न्यायालय द्वारा जारी किया गया वह लिखित आदेश जिसमें बंदी को न्यायाधीश के सम्मुख उपस्थित करने तथा उसे बंदी बनाए जाने के कारण बताने के लिए कहा जाता है, ताकि न्यायालय यह निश्चित कर सके कि अभियोजित व्यक्ति का बंदी बनाया जाना विधिसंगत है अथवा नहीं। यदि व्यक्ति का बंदी बनाया जाना न्यायसंगत नहीं है तो न्यायालय उसे मुक्त करने का आदेश दे सकता है।
  • Half mast (flag) -- अर्धनत (ध्वज), झुका झंडा
अतिविशिष्ट व्यक्तियों एवं सर्वोच्च नेताओं के निधन पर राजकीय भवनों पर आधा झुकाया हुआ शोक-सूचक राष्ट्रीय ध्वज।
  • Hammer and sickle -- हँसिया और हथौड़ा
1. मजदूर-कृषक वर्ग की एकता का प्रतीक। 2. साम्यवादी दलों के ध्वज पर अंकित चिहन।
  • Hare system ( = single transferable vote system) -- हेयर पद्धति, एकल हस्तांतरणीय मतदान पद्धति
इंग्लैंड के राजनीतिक सुधारक टॉमस हेयर द्वारा प्रतिपादित समानुपातिक प्रतिनिधित्व की वह व्यवस्था जिसके अंतर्गत चुनाव में किसी व्यक्ति का अन्य उम्मीदवारों की अपेक्षा अधिकतम मत प्राप्त करना पर्याप्त नहीं है। इस व्यवस्था के अनुसार :- (1) निर्वाचन क्षेत्र बहु-सदस्यीय होना चाहिए ; (2) निर्वाचित होने के लिए एक मत-संख्या निर्धारित कर दी जाती है जिसे “कोटा” कहते हैं। इस मत-संख्या को निर्धारित करने का सूत्र इस प्रकार है :- निर्वाचकों की कुल संख्या + 1 ——————————– भरे जाने वाले स्थानों की संख्या (3) निर्वाचकों को वरीयता क्रम का संकेत देते हुए उतने मत देने का अधिकार होता है जितने कि स्थान भरे जाने हैं। (4) किसी एक उम्मीदवार के कोटा से अधिक मत प्राप्त हो जाने पर उसके अतिरिक्त मतों को उन उम्मीदवारों को स्थानांतरित कर दिया जाता है, जिन्हें इन मतदाताओं ने दूसरी वरीयता दी है। इस प्रकार यह क्रम तब तक जारी रहता है जब तक सभी निर्धारित स्थानों की पूर्ति न हो जाए। स्थानांतरण मतदाता द्वारा दिए गए वरीयता क्रमानुसार किया जाता है।
  • Headman -- मुखिया
1. किसी कबीले का अगुआ। 2. किसी गाँव का चौधरी।
  • Head of chancery -- दूतालय प्रमुख, चांसरी
प्रमुख दूतावास के कार्यालय का अध्यक्ष या प्रधान।
  • Head of the government -- शासनाध्यक्ष
सरकार अथवा शासन का अध्यक्ष या प्रधान जैसे, भारत और ब्रिटेन में प्रधान मंत्री, जरमनी में चान्सलर, स्विट्जरलैंड में संघीय परिषद् का अध्यक्ष। संयुक्त राज्य अमेरिका में राष्ट्रपति शासन और राज्य का ही अध्यक्ष होता है।
  • Head of the state -- राज्याध्यक्ष, राष्ट्राध्यक्ष
राज्य का अध्यक्ष अथवा प्रधान जैसे, ब्रिटेन में महारानी, भारत में राष्ट्रपति, आस्ट्रेलिया, और कनाडा में गवर्नर जनरल आदि। यह उल्लेखनीय है कि संयुक्त राज्य अमेरिका में राष्ट्रपति शासनाध्यक्ष और राष्ट्राध्यक्ष दोनों होता है।
  • Headquarters -- मुख्यालय
(1) किसी विभाग का वह केंद्रीय कार्यालय जहाँ से अधीनस्थ इकाइयों के लिए नियुक्ति, स्थानांतरण, संभरण तथा सभी महत्वपूर्ण विषयों का निदेशन, नियंत्रण और निरीक्षण किया जाता है।
(2) वह मुख्य सैन्य कार्यालय जहाँ से कमांडर कमान का निदेशन, नियंत्रण और प्रशासन करता है।
  • Heir apparent -- युवराज
राजतंत्र में वह व्यक्ति जो शासक की मृत्यु के पश्चात् उसका स्पष्ट अथवा निर्विवाद उत्तराधिकारी माना जाता है।
  • Heir designate -- मनोनीत उत्तराधिकारी, नामोद्दिष्ट उत्तराधिकारी
किसी पद के लिए नामित या नियुक्त किया गया ऐसा उत्तराधिकारी जिसने पद से संबंधित कार्यभार अभी नहीं संभाला हो।
  • Hellenism -- यूनानवाद
1. यूनानी संस्कृति, राष्ट्रीयता, भाषा, रीति-नीति का पक्षपोषक और प्रतिपादक सिद्धांत। 2. यूनानी राष्ट्रवाद।
  • Heptarchy -- सप्तराज्य
1. ऐसी शासन व्यवस्था जिसमें सर्वोच्च सत्ता सात व्यक्तियों के समूह में निहित हो, जैसे, स्विट्जरलैंड की संघीय परिषद्।
2. सातवीं तथा आठवीं शताब्दी में, इंग्लैंड में सात आंग्ल-सैक्सन राज्यों का राज्यमंडल। यद्यपि इन में से प्रत्येक राज्य का अपना-अपना शासक होता था तथापि सप्त शासकों में से कभी-कभी एक. शासक को अन्य शासकों द्वारा सर्वाधिपति भी मान लिया जाता था।
  • Herald -- अग्रदूत, उद्घोषक
प्राचीन काल में, राजा का एक अधिकारी जिसके मुख्य कार्य ये थे :- राजा की घोषणाएँ प्रसारित करना, उसके संदेश अन्य राज्यों या राजाओं तक पहुंचाना, युद्ध के समय राजदूत के रूप में अन्य राजाओं तथा सेनापतियों तक संदेश पहुँचाना, राजकीय समारोहों का प्रबंध करना, कुल चिह्नों के प्रयोग को नियमित करना, पूर्व-वर्तिता संबंधी प्रश्नों का निपटारा करना, कुल चिह्नों के अधिकारी व्यक्तियों के नामों तथा उनकी वंशावलियों की सूचियाँ बनाना, इत्यादि।
  • Hereditary dominion -- वंशागत राज्य, पैतृक राज्य
किसी उत्तराधिकारी को अपने पूर्वज से विधिवत् प्राप्त कुलक्रमागत राज्य।
  • Hereditary monarchy -- वंशागत एकराराष्ट्रता, पैतृक एकराष्ट्रता
वह राजतंत्र जिसमें एक राजा की मृत्यु के पश्चात् उसका पुत्र राजसिंहासन का उत्तराधिकारी बनता है। ऐसे राजतंत्र को वंशक्रमानुगत राजतंत्र कहते हैं।
  • High command -- हाई कमान
1. किसी दल का सर्वाधिक शक्तिशाली नेतृत्व मंडल। 2. सैनिक संगठन का सर्वोच्च मुख्यालय।
  • High commissioner -- उच्चायुक्त
राष्ट्रमंडलीय सदस्य राज्यों द्वारा एक-दूसरे के यहाँ प्रत्यायित राजदत “उच्चायक्त” कहलाते हैं।
  • High power committee -- उच्चाधिकार प्राप्त समिति
किसी महत्वपूर्ण विषय से संबंधित अत्यधिक शक्ति, सत्ता तथा अधिकार से सम्पन्न समिति। सरकार के सर्वोच्च पदाधिकारियों से गठित समिति को भी उच्चाधिकार प्राप्त समिति कहा जा सकता है। उच्चाधिकार समिति की सिफारिशें सामान्यतः सरकार द्वारा मान्य होती हैं।
  • High sea -- महासमुद्र
तटवर्ती राज्यों के भूभागीय समुद्र की समुद्रवर्ती सीमा से परे का समुद्री भाग जो सभी राज्यों के उपयोग के लिए खुला होता है और जिसके किसी भाग पर किसी राष्ट्र द्वारा स्वामित्व स्थापित नहीं किया जा सकता। इसे खुला समुद्र भी कहते हैं।
  • His Excellency -- महामहिम
राज्याध्यक्षों, राजदूतों और कुछ अन्य विशिष्ट पदाधिकारियों के लिए सम्मानसूचक संबोधन।
  • His Majesty -- महामहिम
किसी नरेश या सम्राट् के लिए प्रयुक्त सम्मानसूचक संबोधन।
  • Holy Alliance -- पवित्र सहबंध
सन् 1815 में रूस, आस्ट्रिया और प्रशा के मध्य हुई संधि जिसका प्रकट उद्देश्य ईसाई राजाओं में भ्रातृत्व भाव स्थापित करना था, परन्तु इसका वास्तविक उद्देश्य राजतंत्र की रक्षा तथा लोकतांत्रिक क्रांतियों का मिलकर दमन करना था।
  • Holy war -- जिहाद, धर्मयुद्ध
धर्म के प्रसार अथवा उसकी रक्षा के लिए लड़ा जानेवाला युद्ध। विशेषकर इस्लाम में इस युद्ध को पवित्र अथवा धर्मयुद्ध कहा गया है। वास्तव में यह शब्द ही इस्लाम धर्म से संबंधित है।
  • Homage -- 1. राजनिष्ठा, 2. नज़राना, 3. श्रद्धांजलि
1. वह पवित्र सामंती समारोह जिसमें कोई व्यक्ति किसी जागीर को प्राप्त करने के उपलक्ष्य में स्वयं को जागीर प्रदायक सामंत का सेवक उद्धोषित करता है और ऐसे संबंध में अन्तर्निहित अधिकारों तथा दायित्वों को स्वीकार करता है। 2. सामंती व्यवस्था के अंतर्गत जागीरदारों द्वारा दी जाने वाली भेंट और की जानेवाली सेवाएँ। 3. किसी व्यक्ति के मरणोपरांत उसके प्रति प्रदर्शित मनोभाव।
  • Home Government -- बर्तानिया सरकार, स्वदेश सरकार
लंदन स्थित ब्रिटिश शासन का वह अंग जो भारत के प्रशासन के लिए उत्तरदायी था, भारत में नियुक्त अंग्रेज प्रशासकों द्वारा “स्वदेश सरकार” के नाम से संबोधित किया जाता था। इसके तीन प्रमुख घटक थे इंडिया आफिस, भारत सचिव तथा भारत परिषद्। सन् 1935 में भारत परिषद् का स्थान तीन सदस्यों की परामर्शदात्री परिषद् ने ले लिया था।
  • Home rule -- स्वशासन, होम रूल
जब आयरलैंड युनाइटेड किंगडम (ग्रेट ब्रिटेन) का भाग था तो वहाँ स्वतंत्रता की माँग को लेकर जो आंदोलन चलाया गया उसे होम रूल या स्वशासन आंदोलन कहा जाता था। भारत में भी इससे प्रेरणा लेकर प्रथम महायुद्ध की अवधि में श्रीमती एनी बीसेन्ट और लोकमान्य तिलक ने इसी प्रकार का आंदोलन चलाया था जिसे होमरूल या स्वशासन आंदोलन कहा जाता था।
  • Honorary A.D.C. -- अवैतनिक ए.डी.सी.
किसी उच्चाधिकारी जैसे, राष्ट्रपति, राज्यपाल आदि के सहायक के रूप में कार्य करने वाला विश्वस्त व्यक्ति जिसे की गई सेवाओं के बदले में कोई वेतन नहीं दिया जाता, विशेषतया उच्च पदस्थ सैनिक अथवा नौसैनिक अधिकारी के सहायक के रूप में कार्य करनेवाला अधिकारी। ब्रिटिश शासन काल में, देशी राज्यों के राजाओं को गवर्नर जनरल के सम्मानार्थ अवैतनिक ए.डी.सी. नियुक्त किए जाने की परंपरा थी।
  • Horizontal union ( = horizontal combination) -- समस्तरीय औद्योगिक संघ
एक प्रकार का औद्योगिक संगठन जिसमें एक ही प्रकार के उत्पादन में लगे हुए उद्योग या कारखाने समस्तरीय रूप से एक नियंत्रण में संगठित होते हैं।
  • Hospital ship -- अस्पताली जहाज़
डाक्टरों, नर्सों, दवाइयों तथा अन्य चिकित्सिक उपकरणों से युक्त जलपोत। विशेषकर समुद्री युद्ध में अंतर्राष्ट्रीय विधि के अंतर्गत घायल और बीमार नौसैनिकों के उपचार और सहायता करने वाला जहाज़ जिसमें चिकित्सा की सभी सुविधाएँ उपलब्ध होती हैं।
  • Hospital zone -- अस्पताल क्षेत्र
वह क्षेत्र जिसमें युद्ध में घायल हुए या बीमार सैनिकों के उपचार के लिए अस्पताल स्थित हो। ऐसे क्षेत्र में बमबारी वर्जित है।
  • Hostage -- बंधक
जमानत के रूप में बलात् पकड़ा गया अथवा रखा गया वह व्यक्ति जिसको माँगों की पूर्ति के लिए दबाव डालने की दृष्टि से बंदी बना कर रखा जाता है।
  • Hostile act -- शत्रुतापूर्ण कार्य
एक राज्य की सरकार द्वारा दूसरे राज्य की सरकार के विरुद्ध ऐसा कार्य जिसका उद्देश्य उसके हितों को किसी न किसी प्रकार की क्षति पहुँचाना हो अथवा जिसे वह दूसरा राज्य अपने लिए हानिकारक मांनता हो और यह मानता हो कि ऐसा कार्य उसका कोई शत्रु ही कर सकता है, मित्र नहीं।
  • Hostile assistance -- अतटस्थ सहायता
युद्धकाल में तटस्थ राज्यों द्वारा युद्धरत राज्यों में से किसी एक पक्ष को ऐसी सहायता देना जो तटस्थता के नियमों के विपरीत हो, जैसे-शत्रु सैनिकों को लाने-ले जाने का कार्य।
  • Hostile embargo -- शत्रु-अधिरोध, शत्रु घाटबंदी
किसी राज्य की सरकार द्वारा किसी दूसरे राज्य के पोतों के बहिर्गमन पर लगाया गया प्रतिबंध। वर्तमान काल में केवल पोतों के बहिर्गमन पर ही नहीं बल्कि अस्त्र-शस्त्रों की पूर्ति पर प्रतिबंध लगाने के लिए भी इस पद का प्रयोग किया जाता है।
  • Hostile pact -- विरोधी अनुबंध
किसी एक अथवा अधिक राज्यों के विरूद्ध दो या अधिक राज्यों द्वारा की गई संधि या समझौता।
  • Hostilities -- शत्रुतापूर्ण कार्य
राज्य की सशस्त्र सेनाओं के मध्य युद्ध रूपी संक्रियाएँ। जो युद्धकालीन संक्रियाएँ भी हो सकती हैं और बिना युद्ध के भी ये हिंसात्मक भी हो सकती हैं, परन्तु हिंसा आवश्यक नहीं है।
  • Hot pursuit -- सरगर्मी से पीछा करना
1. किसी सक्षम अधिकारी द्वारा किसी अपराधी का अपने राज्य की सीमाओं के पार तक पीछा कर उसे पकड़कर स्वदेश लाने का कार्य।
2. अंतर्राष्ट्रीय विधि के अंतर्गत, कोई राज्य विदेशी जहाजों को अपने राष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन करके भाग जाने पर उनको पकड़ने के लिए खुले समुद्र अथवा संलग्न क्षेत्र में भी उनका पीछा कर सकता है। पीछा अविरत होना चाहिए और यदि भागनेवाला जहाज अपने या किसी तीसरे देश के भूभागीय समुद्र में घुस जाए तो पीछा छोड़ देना चाहिए।
  • Hosue of Commons -- हाउस ऑफ कामन्स
ब्रिटिश संसद के निचले सदन को कॉमन्स सभा कहते हैं। इसकी सदस्य संख्या 600 से ऊपर है। इसका निर्वाचन प्रत्येक पाँचवें वर्ष जनता द्वारा प्रत्यक्ष रूप से होता है जिसमें 18 वर्ष की आयु का प्रत्येक व्यक्ति मतदाता होता है। विधि-निर्माण, वित्त-व्यवस्था तथा शासन- नियंत्रण के कार्यों में इसकी भूमिका लॉर्ड सभा की तुलना में निर्णायक है। मंत्रिमंडल इसी के प्रति उत्तरदायी होता है। वह तभी तक पदासीन रह सकता है जब तक कॉमन्स के बहुमत का समर्थन उसे प्राप्त हो।
  • House of Councillors -- सभासद सदन
जापान में सन 1946 के संविधान द्वारा पीयर सभा के स्थान पर स्थापित जापान की राष्ट्रीय संसद “डाइट” का उच्च सदन जिसके सदस्य निर्विचित होते हैं। इसकी स्थिति ब्रिटेन की लॉर्ड सभा के समतुल्य है।
  • House of Lords -- हाउस ऑफ लॉर्डस, लॉर्ड सभा
इंग्लैंड की पार्लियामेंट का उच्च सदन। यह एक ऐतिहासिक संस्था है तथा विश्व का सबसे प्राचीन विधि-निर्माण करने वाला निकाय है। संगठन की दृष्टि से इसकी सदस्य संख्या 1000 से ऊपर है। इसके सदस्य निर्वाचित न होकर वंशानुगत होते हैं। पीयर बनाने का अधिकार प्रधान मंत्री के परामर्श से सम्राट को है। महिलाएँ भी अब इसकी सदस्य हो सकती हैं। अब सदस्यगण अपनी उपाधि एवं सदन की सदस्यता का परित्याग भी कर सकते हैं। लॉर्ड चांसलर लॉर्ड सभा का अध्यक्ष होता है जो ब्रिटिश मंत्रिमंडल का भी सदस्य होता है। उसके आसन को “बल मैक” कहते हैं। इसके सदस्य कॉमन्स सभा के चुनाव में भाग नहीं ले सकते और न ही इन्हें मताधिकार प्राप्त होता है। यह ब्रिटेन की सर्वोच्च अपीलीय अदालत है परन्तु व्यवहार में, अदालती काम में केवल क़ानूनी लॉर्डस जिनकी संख्या 9 है, भाग लेते हैं। विधि-निर्माण, वित्त-व्यवस्था और शासन-नियंत्रण में इसकी भूमिका गौण रह गई है, और वास्तविक राजसत्ता कॉमन सभा में केन्द्रित हो गई है।
  • House of Representatives -- प्रतिनिधि सभा
संयुक्त राज्य अमेरिका तथा अन्य देशों में विधान मंडल का निचला सदन जिसके सदस्य जनता द्वारा चुने जाते हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका में इस सदन के सदस्यों की संख्या 435 है। इस सदन के सभी सदस्य प्रति दो वर्ष के पश्चात् निर्वाचित होते हैं। विधि-निर्माण और वित्त – व्यवस्था में इसके अधिकार उच्च सदन अथवा सीनेट के समान हैं।
  • Humanism -- मानववाद, मानवतावाद
1. वह सिद्धांत जिसका आधार मानव हित तथा मानवाधिकार और मानव उत्थान है। इस सिद्धांत के अनुसार मानव-कल्याण सर्वोपरि है और यह मानव मूल्यों के संरक्षण पर बल देता है और लोकोपकारवाद का समर्थक है। 2. यह सिद्धांत मानवीय प्रतिष्ठा, गौरव, श्रेष्ठता तथा मानव मूल्यों के संरक्षण पर जोर देता है। इसका एक रूप मानवेन्द्र नाथ रॉय का उग्र-मानवतावाद है।
  • Human rights -- मानव अधिकार
वे अधिकार जो मनुष्यों के विकास के लिए न्यूनतम दशाएँ मानी जाती है और जिनका निरूपण संयुक्त राष्ट्र की महासभा ने 10 दिसम्बर, 1948 को स्वीकृत एक घोषणा पत्र में किया है। इनमें समानता, स्वतंत्रता, धार्मिक स्वतंत्रता, शिक्षा और रोजगार के अधिकार महत्वपूर्ण हैं। इसके अतिरिक्त इनमें दासता, दास व्यापार और जाति, रंग, लिंग, भाषा अथवा राष्ट्रीयता पर आधारित भेद-भाव पर प्रतिबंध भी सम्मिलित है। इनका उद्देश्य प्रत्येक दशा और स्थिति में न्यूनतम मानव मूल्यों अर्थात् मानवीयता के न्यूनतम स्तर को सुरक्षित रखना है और विश्व शांति को बल प्रदान करना है।
  • Hunker -- हंकर, अनुदार दली
सन् 1945-48 की अवधि में न्यूयॉर्क की डेमोक्रेटिक पार्टी (लोकतंत्रीय दल) के अनुदारवादी गुट का सदस्य।
  • Hyparch -- उपशासक
किसी राज्य के शासक को उसके कार्यों में सहायता देनेवाला।
  • Inalienable rights -- अहस्तांतरणीय अधिकार
वे अधिकार जिनका व्यक्ति परित्याग नहीं कर सकता, जैसे जीवन का अधिकार या स्वतंत्रता का अधिकार। कोई व्यक्ति जीवन के अधिकार का परित्याग कर आत्महत्या करने का दावा नहीं कर सकता। इन अधिकारों का न परित्याग किया जा सकता है, और न ही किसी दूसरे को हस्तांतरण। ये व्यक्ति के प्राकृतिक अधिकार हैं।
  • Interest aggregation -- हित समुच्चयन
राजनीतिक व्यवस्था के अंतर्गत संगठित समूहों का कार्य समाज में अपने अनुयाइयों व समर्थकों की इच्छाओं व आकांक्षाओं का समायोजन कर उसे नीति व कार्यक्रम का रूप देना होता है। यह कार्य हित समूहों अथवा दबाव समूहों द्वारा किया जाता है।
  • Interest group -- हित समूह
अपनी हितवृद्धि के प्रयास के लिए राज्य अधिकारियों अथवा शासन के अंगों, अभिकरणों अथवा जन-निर्वाचित प्रतिनिधियों को प्रभावित करने के प्रयोजन से संगठित एक हितपरक व्याक्ते समूह। इस प्रकार, समाज के अनेक हितों के लिए अनेक हितसमूह संगठित हो जाते हैं तथा इनमें से कुछ असंगठित रूप से भी कार्यरत रहते हैं। दबाव समूहों (pressure groups) से ये इस रूप में भिन्न हैं कि ये किसी एक उद्देश्य के लिए काम करते हैं जबकि दबाव समूहों का उद्देश्य सामान्य हितों की अभिवृद्धि करना होता है।
  • Interim charge d’affaire -- अंतरिम कार्यदूत
अस्थायी रूप से नियुक्त कार्यदूत। कार्यदूत राजनयिक प्रतिनिधियों की चार श्रेणियों में से निम्नतम कोटि का होता है।
  • Interim government -- अंतरिम सरकार
वह तदर्थ शासन जो किसी राज्य में नियमित सरकार का निर्माण करने से पूर्व गठित किया जाता है और नियमित सरकार बनने पर विघटित हो जाता है।
  • International affairs -- अंतर्राष्ट्रीय विषय, अंतर्राष्ट्रीय मामले
1. दो या दो से अधिक राज्यों के पारस्परिक हित संबंधी विषय या मामले। 2. राजनीतिशास्त्र का वह अंग जो उपरोक्त विषयों अथवा मामलों अथवा राज्यों की विदेश नीतियों का अध्ययन करता है। इसमें अंतर्राष्ट्रीय संगठनों का अध्ययन भी शामिल है।
  • International Bank for Reconstruction and Development (= World Bank) -- अंतर्राष्ट्रीय पुनर्निर्माण तथा विकास बैंक, विश्व बैंक
इसकी स्थापना 1944 में हुई थी और 1945 में यह संयुक्त राष्ट्र का एक विशिष्ट अभिकरण बन गया। इसका मुख्य उद्देश्य सदस्य राज्यों को उत्पादन-वृद्धि और विकास कार्यक्रमों के लिए पूँजी उपलब्ध कराना है। यह अंतर्राष्ट्रीय व्यापार के निरंतर विकास के लिए भी कार्यक्रम बनाता है। इसने अनेक अवसरों पर राज्यों को उद्योग-धंधों के विकास और जल विद्युत संयंत्रों के निर्माण तथा विकास कार्यक्रमों के लिए ऋण प्रदान किया है। इसे आम बोलचाल में “विश्व बैंक” कहा जाता है और इसका मुख्यालय वाशिंगटन में है।
  • International Boundary Commission -- अंतर्राष्ट्रीय सीमा आयोग
दो या अधिक राज्यों के मध्य सीमा विवादों का समाधान करने अथवा सीमा-निर्धारण करने के लिए संगठित आयोग।
  • International Civil Aviation Organisation -- अंतर्राष्ट्रीय सिविल विमान-चालन संगठन
वह अंतर्राष्ट्रीय संगठन जिसका संबंध विमान-चालन तथा असैनिक विमान-परिवहन की समस्याओं से है। यह अंतर्राष्ट्रीय विमान परिवहन के लिए तकनीकी मानकों तथा प्रक्रियाओं को सूत्रबद्ध करता है और सदस्य-राज्यों की सरकारों द्वारा इनका अंगीकरण किए जाने की सिफारिश करता है। इसकी स्थापना 1944 में शिकागो सम्मेलन में स्वीकृत एक अनुबंध के अंतर्गत हुई और यह भी संयुक्त राष्ट्र के विशिष्ट अभिकरणों में से एक है।
  • International comity -- अंतर्राष्ट्रीय शिष्टाचार
राज्यों के परस्परिक संबंधों में आवरण के ऐसे नियम जिनका पालन क़ानूनी रूप से बाध्यकारी न होने पर भी सुविधा अथवा नैतिकता के कारण प्रायः किया जाता है। उदाहरणार्थ, प्रत्यर्पण संधि न होने पर भी एक राज्य का किसी दूसरे राज्य के अपराधी को प्रत्यार्पित करने के लिए सहमत हो जाना।
  • International community -- अंतर्राष्ट्रीय समुदाय
राज्यों का समूह जो सामान्य हितों एवं उद्देश्यों से इस प्रकार एक-दूसरे के साथ संबद्ध हो गए हैं कि उनका यह समूह एक अलग इकाई अर्थात् समुदाय का स्वरूप धारण कर गया है। अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में आज 160 से अधिक स्वतंत्र एवं संप्रभु राज्य सम्मिलित हैं।
  • International Court of Justice -- अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय
इस न्यायालय की स्थापना 1946 में की गई थी। वास्तव में यह प्रथम विश्व युद्ध के उपरांत स्थायी अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय का रूपांतरण है। वह न्यायालय संयुक्त राष्ट्र के 6 मुख्य अंगों में से एक है। इसमें 15 न्यायाधीश होते हैं जिनका निर्वाचन सुरक्षा परिषद की सिफारिश पर महासभा द्वारा किया जाता है। न्यायाधीश विभिन्न देशों से चुने जाते हैं और किसी भी देश का एक से अधिक न्यायाधीश नहीं हो सकता। प्रत्येक न्यायाधीश का कार्यकाल 9 वर्ष होता है। इस न्यायालय का मुख्यालय हेग में है। इस न्यायालय का मुख्य कार्य संयुक्त राष्ट्र के सदस्य राज्यों के पारस्परिक विवादों का निर्णय करना है। इसका परमर्शदात्री क्षेत्राधिकार स्वीकार करना राज्यों की इच्छा पर निर्भर करता है। साम्यवादी देशों में से किसी ने भी इसका क्षेत्राधिकार स्वीकार नहीं किया है। एक धारा के अंतर्गत राज्य इसका क्षेत्राधिकार निर्धारित विषयों से संबंधित मामलों में निर्णय के लिए अनिवार्य रूप से स्वीकार करने के लिए अपने को वचनबद्ध कर सकते हैं।
  • International crime -- अंतर्राष्ट्रीय अपराध
अंतर्राष्ट्रीय विधि के विरूद्ध किया गया कृत्य जैसे, समुद्री डाका, नशीली वस्तुओं का अवैध व्यापार, दास-व्यापार इत्यादि।
  • International custom -- अंतर्राष्ट्रीय प्रथा, अंतर्राष्ट्रीय परंपरा
इसे अंतर्राष्ट्रीय विधि का मूल स्रोत माना जाता है। इसका अर्थ है राज्यों के संबंधो को सतत् रूप से नियमित करने वाले आचरण के ऐसे नियम जो लिपिबद्ध न होते हुए भी बाध्यकारी माने जाते हैं। इनका आधार दीर्घ और सतत् व्यवहार और इनके प्रति राज्यों की मौन सहमति है।
  • Internationalisation -- अंतर्राष्ट्रीयकरण
1. किसी संधि के अंतर्गत विश्व के किसी क्षेत्र, भूभाग या जलमार्ग का सभी राज्यों द्वारा प्रयोग किए जा सकने की स्थिति जैसे स्वेज नहर, पनामा नहर, अंटार्कटिका, अंतरिक्ष आदि। 2. किसी राष्ट्रीय विवाद अथवा स्थिति अथवा समस्या का अन्य राष्ट्रों की अभिरुचि अथवा हस्तक्षेप के कारण अंतर्राष्ट्रीय रूप धारण कर लेना।
  • Internationalism -- अंतर्राष्ट्रवाद
वह सिद्धांत जो स्थितियों और समस्याओं को संकीर्ण राष्ट्रीय हित अथवा उद्देश्य अथवा नीति की दृष्टि से न देखकर उनके प्रति व्यापक विश्वव्यापी अथवा संपूर्ण मानवीय हितों का दृष्टिकोण अपनाता हो।
  • International Labour Organisation -- अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन
1920 में स्थापित यह संस्था अब संयुक्त राष्ट्र के विशिष्ट अभिकरणों में से एक है। इसका मुख्यालय जेनेवा में है। इसका मुख्य उद्देश्य श्रमिक कल्याण संबंधी विधि-संहिताओं के-प्रारूप तैयार करना और राष्ट्रीय सरकारों द्वारा उनके अनुसमर्थन का प्रयास करना है। इस कारण इसे विश्व के श्रमिकों की संसद की संज्ञा दी गई है। इसके प्रमुख अंगों में एक सामान्य सभा और एक सचिवालय हैं। सामान्य सभा की बैठक वर्ष में एक बार होती है जिसमें प्रत्येक सदस्य राष्ट्र अपने चार प्रतिनिधि भेज सकता है जिसमें दो सरकार द्वारा मनोनीत किए जाते हैं, एक श्रमिकों द्वारा तथा एक मालिकों द्वारा।
  • International law -- अंतर्राष्ट्रीय क़ानून, अंतर्राष्ट्रीय विधि
सभ्य राष्ट्रों के पारस्परिक संबंधों और उनके अधिकारों आदि से संबंधित नियमावली। ओपेनहाइम ने अंतर्राष्ट्रीय विधि की परिभाषा करते हुए लिखा है कि “अंतर्राष्ट्रीय विधि प्रथागत एवं संधिगत नियमों के उस समूह को कहते है जिन्हें सभ्य राष्ट्र अपने पारस्परिक संबंधों में बाध्यकारी मानते हैं।” परंतु वर्तमानकाल में ओपेनहाइम की यह परिभाषा कालातीत हो गई है। अब अंतर्राष्ट्रीय विधि केवल यूरोपीय ईसाई राज्यों तक सीमित न रहकर विश्वव्यापी विधि बन गई है। इसके विषय केवल राज्य नहीं हैं बल्कि कुछ सीमा तक व्यक्ति और अंतर्राष्ट्रीय संगठन भी माने जाते हैं। अतः वर्तमान काल में अंतर्राष्ट्रीय विधि को संपूर्ण मानव जाति की विधि अथवा विश्व विधि के रूप में देखा जा रहा है जिसका उद्देश्य मानव कल्याण अथवा मानव-उत्यान है। विशिष्ट अंतर्राष्ट्रीय विधि से भिन्नता स्थापित करने के लिए (जिसका उल्लेख हम यथास्थान करेंगे) इसे “सार्वजनिक अंतर्राष्ट्रीय विधि” अथवा “सामान्य अंतर्राष्ट्रीय विधि” अथवा “सर्वदेशीय अंतर्राष्ट्रीय विधि” भी कहा जाता है। दे. particular international law भी।
  • International Law Association -- अंतर्राष्ट्रीय विधि संघ
अंतर्राष्ट्रीय विधि विशेषज्ञों का एक गैर सरकारी संघ जिसका उद्देश्य अंतर्राष्ट्रीय विधि के संहिताकरण और विकास के लिए विविध विषयों पर प्रस्तावित विधि के प्रारूप तैयार करना है। इसका मुख्यालय लंदन में है। इसकी राष्ट्रीय शाखाएँ विश्व के अनेक देशों में स्थापित हैं। इसके सदस्यों में अंतर्राष्ट्रीय विधि के विद्वान, विधिशास्त्री, न्यायाधीश आदि होते हैं। अंतर्राष्ट्रीय विधि के संहिताकरण और उत्तरोत्तर विकास में इस संघ के योगदान की सर्वथा सराहना की गई है।
  • International legislation -- अंतर्राष्ट्रीय विधि-निर्माण
अंतर्राष्ट्रीय विधि जो मूलतः प्रथागत विधि थी वर्तमानकाल में संधिगत क़ानून को अधिक स्थान देती जा रही है। विधि-निर्मात्री संधियों का प्रारंभ 19वीं शताब्दी के मध्य से हुआ। परन्तु वर्तमान शताब्दी के प्रारंभ से अंतर्राष्ट्रीय विधि-निर्मात्री संधियों की संख्या बहुत तेज़ गति से बढ़ने लगी। इन संधियों का निर्माण प्रायः अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलनों के माध्यम से हुआ है जिससे इनके निर्माण की प्रक्रिया भी लगभग सुनिश्चित हो गई है। इस प्रकार अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलनों के माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय विधि-निर्मात्री संधियों का ग्रहण किया जाना “अंतर्राष्ट्रीय विधि-निर्माण” कहलाता है। मेनले ओ हडसन ने 1920 में प्रकाशित अपनी पुस्तक को यही नाम दिया था और जब से इस पद का अंतर्राष्ट्रीय विधि के स्रोतों के अध्ययन में एक विशिष्ट स्थान हो गया है।
  • International Monetary Fund -- अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष
संयुक्त राष्ट्र संघ का एक विशिष्ट अभिकरण जिसकी स्थापना सन् 1944 के ब्रेटनवुड समझौते के अंतर्गत की गई थी। इसके मुख्य उद्देश्य निम्न हैं : (1) विभिन्न देशों की मुद्राओं के विनिमय मूल्य स्थिर करना ; (2) एक विश्वव्यापी बहुराष्ट्रीय अदायगी (भुगतान) प्रणाली की स्थापना करना ; और (3) राष्ट्रों के विदेशी व्यापार में संतुलन लाने के लिए उन्हें विदेशी मुद्रा द्वारा सहायता करना। यह कोष सदस्य राज्यों के पारस्परिक अनुदान से ही निर्मित हुआ है। उल्लेखनीय है कि इस कोष का लगभग एक चौथाई भाग संयुक्त राज्य अमेरिका के अनुदान का फल है। इसमें सदस्यों का मताधिकार भी उनके धनानुदान से निर्धारित होता है जिसका परिणाम यह हुआ है कि अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने विशेषकर विकासशील देशों को सहायता देने में अनेक शर्तें लगाई हैं और उनकी अर्थव्यवस्था एवं मुद्रा विनिमय दर निर्धारित करने में हस्तक्षेप किया है।
  • International organisation -- अंतर्राष्ट्रीय संगठन
ऐसा संगठन जिसकी सदस्यता एक राज्य तक सीमित न होकर अनेक राज्यों में व्याप्त हो और जिसका उद्देश्य मानव सुरक्षा एवं कल्याण तथा विकास के लिए अंतर्राष्ट्रीय सहयोग प्राप्त करने के मंतव्य से एक संस्थात्मक व्यवस्था स्थापित करना हो। ऐसे संगठन दो प्रकार के हो सकते हैं। एक वे जिनके सदस्यगण केवल स्वतंत्र राज्य हों। ऐसे संगठनों को सार्वजनिक अंतर्राष्ट्रीय संगठन कहा जाता है। सार्वजनिक अंतर्राष्ट्रीय संगठन भी दो प्रकार के हो सकते हैं : (1) सर्वदेशीय जैसे, संयुक्त राष्ट्र संघ, विश्व बेंक आदि, और (2) क्षेत्रीय, जैसे अमेरिका राज्य संगठन, अफ्रीकी एकता संघ, अरब लीग, सार्क (दक्षेश) आदि। दूसरे अंतर्राष्ट्रीय संगठन वे हैं जिनके सदस्यगण राज्य, गैर सरकारी संस्थाएँ, संघ अथवा व्यक्ति होते हैं, जैसे, रेडक्रास, रोटरी इंटरनेशनल, ईसाई युवक संघ आदि।
  • International person -- अंतर्राष्ट्रीय व्यवित्त
वह इकाई जो अंतर्राष्ट्रीय विधि का विषय हो अर्थात् जिस पर अंतर्राष्ट्रीय विधि लागू होती हो और जिन्हें अंतर्राष्ट्रीय विधि के अंतर्गत अधिकार और कर्तव्य प्राप्त होते हों। इन अधिकारों में विशेष रूप से ये उल्लेखनीय हैं :- (1) अपने अंतर्राष्ट्रीय अधिकारों के रक्षार्थ न्यायिक कार्रवाई कर सकने का अधिकार। (2) अंतर्राष्ट्रीय विधि की निर्माण-प्रक्रिया में भाग लेने का अधिकार। (3) अन्य अंतर्राष्ट्रीय इकाइयों से संधि करने का अधिकार। प्राय: राज्य एवं अंतर्राष्ट्रीय संगठन अंतर्राष्ट्रीय विधि के विषय होते हैं किंतु कुछ सीमा तक और सीमित मात्रा में व्यक्ति तथा अनेक अन्य गैर राज्य इकाइयाँ भी अंतर्राष्ट्रीय व्यक्ति माने जाते हैं जैसे, संरक्षित प्रदेश, फिलिस्तीनी मुक्ति संगठन आदि।
  • International politics -- अंतर्राष्ट्रीय राजनीति
1. विश्व के विभिन्न राष्ट्रों के पारस्परिक संबंधों से उत्पन्न स्थिति अथवा अन्त:क्रिया। 2. राजनीतिशास्त्र का वह अंग जो उन आंतरिक एवं बाह्य कारकों तथा तथ्यों का अध्ययन करता है जो राज्यों के पारस्परिक संबंधों को प्रभावित करते हैं।
  • International Red Cross -- अंतर्राष्ट्रीय रेडक्रास
यह एक अंतर्राष्ट्रीय संस्था है जिसका उद्देश्य मूलतः युद्ध के बीमार और घायलों की चिकित्सा और उपचार करना तथा उनके उपचार में लगे डॉक्टरों, नर्सों, अस्पतालों, वाहनों आदि को संरक्षण प्रदान करना था। इसकी स्थापना 1864 में एक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन द्वारा जेनेवा में की गई थी। इसकी स्थापना का श्रेय जीन हेनरी डयूनान नामक सज्जन को है। कालांतर में इसके विषय क्षेत्र में विस्तार हो गया और अब यह प्रत्येक मानवीय आपदा जैसे, महामारी, बाढ़, भूकम्प आदि में मानवीय सहायता पहुँचाने का कार्य भी करती है। इसकी राष्ट्रीय शाखाएँ लगभग सभी देशों में स्थापित हैं। इसका ध्वज सफेद धरती पर लाल क्रॉस का निशान है। कुछ देशों में इस संस्था को रेडक्रॉस की जगह रेड क्रेसेंट भी कहते हैं जैसे, तुर्की, ईरान इत्यादि में। इन देशों में लाल क्रास की जगह संस्था के ध्वज पर लाल अर्द्धचंद्र का निशान होता है। वास्तव में यह अंतर्राष्ट्रीय संरक्षण तथा तटस्थता का प्रतीक है।
  • International Refugee Organisation -- अंतर्राष्ट्रीय शरणार्थी संगठन
संयुक्त राष्ट्र संघ की एक विशिष्ट एजेंसी जो शरणार्थियों व विस्थापितों की देखरेख और सुरक्षा का कार्य करती है। इस संगठन का अधिकार पत्र 15 दिसम्बर, 1946 को तैयार किया गया था तथा यह एजेंसी औपचारिक रूप से 7 अप्रैल, 1948 को स्थापित की गई जब 27 राष्ट्रों ने अधिकार पत्र को अनुसमर्थित कर दिया। अब इस संस्था का स्थान संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी उच्च आयोग (U.N.H.C.R.) ने ले लिया है।
  • International Telecommunication Union -- अंतर्राष्ट्रीय दूर-संचार संघ
सन् 1865 में स्थापित अंतर्राष्ट्रीय तार संघ का अनुवर्ती। सन् 1947 में अंतर्राष्ट्रीय दूर- संचार संघ, संयुक्त राष्ट्र संघ का एक विशिष्ट अभिकरण बना। यह संघ रेडियो, तार, टेलीफोन, टेलीविजन आदि के प्रसारण में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग व समन्वय स्थापित करता है। यह नियमित रूप से अंतर्राष्ट्रीय दूर-संचार की तकनीकों से संबंधित संकेत वर्णों, आवृति सूची व अन्य आँकड़े भी प्रकाशित करता है।
  • International treaty -- अंतर्राष्ट्रीय संधि
एक या अधिक राज्यों के मध्य लिखित रूप से किया गया संविधात्मक समझौता जिसके द्वारा हस्ताक्षरकर्ता राज्यों के अधिकार और कर्तव्य निर्धारित होते हैं। प्रायः हस्ताक्षरकर्ता राज्यों के लिए यह व्यवस्था क़ानूनी रूप से बाध्यकारी होती है। संधियों का वर्गीकरण कई आधारों पर किया जा सकता है :- (1) द्विपक्षीय-बहुपक्षीय। (2) विधि-निर्मात्री-संधि अनुबंध। वियना कन्वेंशन, 1969 के अनुसार संधि का लिखित रूप में होना अनिवार्य है किंतु प्रथागत राष्ट्रीय विधि के अंतर्गत अलिखित समझौते भी लिखित संधियों के समान बाध्यकारी माने जाते हैं। वर्तमान काल में संधियाँ न केवल राज्यों के बीच बल्कि राज्यों और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों तथा एक अंतर्राष्ट्रीय संगठन और दूसरे अंतर्राष्ट्रीय संगठन के बीच भी होती हैं। संधियों के लागू होने के लिए उन पर केवल हस्ताक्षर होना ही पर्याप्त नहीं है बल्कि हस्ताक्षर के उपरांत उनकी विधिवत् संपुष्टि भी आवश्यक है।
  • Internee -- नजरबंद
वह व्यक्ति जो अपनी संभावित आपत्तिजनक गतिविधियों अथवा क्रियाओं के कारण किसी निर्धारित क्षेत्र या स्थान में रखा गया हो ताकि वह निर्धारित क्षेत्र या स्थान से बाहर न जा सके।
  • Interpellation -- विप्रशन
विधायिनी अंग की नियमावली के अनुसार विधान मंडल के सदस्यों द्वारा सरकार की नीति या कार्यक्रम संबंधी उठाए गए प्रश्न। यह सरकारी मंत्रालयों से सूचना प्राप्त करने और उन पर नियंत्रण रखने का एक उपकरण है।
  • Interpol -- अंतर्राष्ट्रीय पुलिस, इंटरपोल
वह सरकारी अंतर्राष्ट्रीय अभिकरण जो सदस्य राज्यों के बीच अंतर्राष्ट्रीय अपराधों की रोकथाम व अपराधियों को पकड़ने के लिए कार्रवाई करता है।
  • Interregnum -- राजांतराल
1. किसी राजा या सम्राट की मृत्यु, अधित्याग या उसके निष्कासन से लेकर उसके उत्तराधिकारी के राज्यारोहण तक के बीच की अवधि “राजांतराल” कहलाती है।
2. दो शासनों के अंतराल का समय जिसमें सरकार मात्र कार्यवाहक होती है और वह नीति संबंधी निर्णय लेने में सक्षम नहीं समझी जाती।
  • Inter-state compact -- अंतर्राज्य करार
संयुक्त राज्य अमेरिका में संघ के दो या दो से अधिक राज्यों के मध्य हुआ राजनीतिक समझौता जो कि कांग्रेस द्वारा अनुमोदित होता है। अराजनीतिक समझौते कांग्रेस की अनुमति के बिना भी किए जाते हैं। ये साधारणतः सीमा, जल अशुद्धता दूर करने, बाढ़ रोकने, वन्य प्राणी संरक्षण, क्षेत्रीय शिक्षा संस्थाओं और बन्दरगाह की सुविधाओं आदि के विषयों से संबंधित होते हैं।
  • Inter-state Council -- अंतर्राज्य परिषद्
भारतीय संविधान में राज्यों के मध्य समन्वय स्थापित करने के लिए “अंतर्राज्य परिषद” की स्थापना का प्रावधान है। इस परिषद् की स्थापना अभी हाल ही में की गई (1990)। इसका मुख्य कार्य अंतर्राज्य विवादों की जाँच-पड़ताल करना व सलाह देना है। यह कुछ या सब राज्यों के या संघ और एक या अधिक राज्यों के पारस्परिक हितों से संबद्ध विषयों पर विचार-विमर्श तथा शोध आदि भी कर सकती है।
  • Inter-state relations -- अंतर्राज्य संबंध
किसी संघ के राज्यों में पारस्परिक राजनीतिक, आर्थिक व्यापारिक तथा सांस्कृतिक संबंध। यह पद मुख्यतः संयुक्त राज्य अमेरिका और आस्ट्रेलिया के राज्यों के लिए प्रयुक्त होता है।
  • Inter-state rendition ( = inter-state extradition) -- अंतर्राज्य प्रत्यर्पण
संयुक्त राज्य अमेरिका के संविधान और कांग्रेस के अधिनियमों द्वारा प्राधिकृत प्रक्रियानुसार किसी भी अमेरिकी राज्य या उसके प्रदेश से भागे हुए अपराधी का आश्रयदाता राज्य द्वारा वापस लौटाना। साधारणतः प्रत्यर्पण एक स्वतंत्र राज्य द्वारा दूसरे स्वतंत्र राज्य को होता है परन्तु संयुक्त राज्य अमेरिका में अंतर्राजीय प्रत्यर्पण एक विलक्षण तथ्य है।
  • Intervention -- हस्तक्षेप
एक देश द्वारा किसी दूसरे देश के आंतरिक अथवा बाह्य मामलों में उसकी इच्छा अथवा सहमति के विरुद्ध इस प्रकार का निर्देशात्मक निर्देशन जिससे उसकी स्वतंत्रता, प्रभुता अथवा प्रादेशिक अखंडता का खंडन होता है। यहाँ “निर्देशात्मक निर्देशन” से तात्पर्य यह है कि निर्देशन के पीछे बल प्रयोग का भाव या धमकी हो और उसके फलस्वरूप वह देश अपनी घरेलू और विदेश नीति में परिवर्तन लाने अथवा उसे यथावत् रखने के लिए विवश किया गया हो।
  • Invalid vote -- अमान्य मत
ऐसा मतपत्र जो मतदाता द्वारा जाने-अनजाने कोई त्रुटि किए जाने के कारण अवैध घोषित कर दिया जाए।
  • Inviolable rights -- अनुल्लंघनीय अधिकार
वे अधिकार जिनका सरकार किसी भी परिस्थिति या दशा में उल्लंघन नहीं कर सकती और न ही इनका निलंबन किया जा सकता है, जैसे जीवन या वैयक्तिक स्वतंत्रता का अधिकार।
  • Iron curtain -- लौह आवरण
सैद्धांतिक, राजनैतिक और सैनिक कारणों से उत्पन्न वैमनस्य जो एक देश और दूसरे देश के बीच आपसी संसर्ग और संचार नहीं होने देता। इस वाक्यांश का प्रयोग सर्वप्रथम ब्रिटेन के तत्कालीन प्रधान मंत्री विंस्टन चर्चिल द्वारा 1946 में पश्चिमी यूरोपीय देशों और रूस तथा उसके प्रभाव-क्षेत्र में आने वाले देशों के बीच मतविभाजन रेखा के लिए किया गया था। अब इसका अभिप्राय यह माना जाता है कि साम्यवादी देशों की आंतरिक गतिविधियाँ व्यापक सेन्सर के कारण विश्व के अन्य देशों को मालूम नहीं हो पातीं। परन्तु अब यह लौह आवरण पिघलता जा रहा है और एक ऐतिहासिक तथ्य बनकर रह गया है। दे. Bamboo curtain भी।
  • Irredenta -- समुद्धरणीय क्षेत्र
किसी देश की जनता में व्याप्त, निकटस्थ प्रदेश अथवा प्रदेशों को इस धारणा के आधार पर हस्तगत करने की भावना कि भाषा, संस्कृति, ऐतिहासिक संदर्भ में यह प्रदेश उनके देश के ही भाग हैं। इस पद का प्रयोग सर्वप्रथम इटली में हुआ जहाँ 1870 में इटली के एकीकरण के पश्चात् इस आंदोलन ने जन्म लिया कि आस्ट्रिया और अन्य देशों के अधीनस्थ इटली के प्रदेश भी विदेशी नियंत्रण से मुक्त कराए जाएँ। इस आंदोलन को इटालियन देशों का मुक्तिकरण (Italia Irredenta) कहा जाता था।
  • Irregular army -- अनियमित सेना
ऐसी सेना जो नियमित सैन्य संगठन का भाग न हो और जिसे किसी विशेष उद्देश्य के लिए बनाया गया हो।
  • Isolation -- निःसंगता
उलझनों वाले सहबंधों से दूर रहना। अंतर्राष्ट्रीय मामलों से अलग रहने व उनमें हस्तक्षेप न करने की नीति। अमेरिका में समय-समय पर राष्ट्रीय भावना इस नीति का पक्षपोषक रही है, जैसे प्रथम महायुद्ध के तुरन्त पश्चात्। परन्तु यह व्यावहारिक नहीं है।
  • Isolationism -- निःसंगतावाद
अन्य राष्ट्रों से अलग-थलग रहने, उनके मामलों में हस्तक्षेप न करने और उनके झगड़ों से दूर रहने का राजनीतिक विचार या सिद्धांत।
  • Item veto -- मद निषेधाधिकार, प्रकारण निषेधाधिकार
किसी अधिशासी द्वारा समस्त विधेयक (जैसे, विनियोजन बिल आदि) निषिद्ध किए बिना किसी विशेष मद को अस्वीकार करने का अधिकार।
  • Japanese Diet -- जापानी डाइट, जापानी संसद
समकालीन संवैधानिक व्यवस्था के अंतर्गत जापान का द्विसदनीय विधायी निकाय। इसके प्रथम सदन को हाउस आफ रिप्रेज़ेन्टेटिव्स और द्वितीय सदन को हाउस आफ काउन्सलर्स कहते हैं। जापान का मंत्रिमंडल इसके निचले सदन के प्रति उत्तरदायी होता है। इसे विधि निर्माण करने व बजट पास करने, विदेशों से हुई संधियों का अनुमोदन करने के अधिकार होते हैं परन्तु उच्च सदन की शक्तियाँ निचले सदन से बहुत कम हैं।
  • Jingoism -- युद्धप्रियता, उद्धत राष्ट्रवादिता
उग्र राष्ट्रवाद जिसमें विदेश नीति का प्रधान लक्षण, उद्देश्य पूर्ति के लिए युद्ध की तैयारी करना होता है। इस पद का प्रयोग सर्वप्रथम 1878 में हुआ था जब रूस के प्रति लार्ड बेकन्सफ़ील्ड द्वारा ग्रेट ब्रिटेन की युद्धप्रधान विदेश नीति का प्रतिप़ादन किया गया या।
  • Joint command -- J
  • Joint communique -- संयुक्त विज्ञाप्ति
किसी शासनाध्यक्ष के सरकारी दौरे पर आने पर उस देश के शासनाध्यक्ष के साथ विभिन्न विषयों पर हुए समझौतों अथवा बातचीत के पश्चात् मिलकर जारी की गई विज्ञाप्ति।
  • Joint declaration -- संयुक्त घोषणा
दो या अधिक राष्ट्रों द्वारा किसी समझौते की एक साथ घोषणा।
  • Joint occupancy -- संयुक्त संधारण, संयुक्त अधिभोग
किसी क्षेत्र या भूमि अथवा वस्तु पर दो या दो से अधिक राष्ट्रों का आघिपत्य।
  • Joint resolution -- संयुक्त संकल्प, संयुक्त प्रस्ताव
ऐसा संकल्प जो विधानमंडल के दोनों सदनों ने मिलकर पारित किया हो।
  • Joint session -- संयुक्त अधिवेशन
व्यवस्थापिका सभा के दोनों सदनों का मिला-जुला अधिवेशन। इंग्लैंड तथा अमेरिका में नवनिर्वाचन संसद के प्रथम अधिवेशन और वर्ष के प्रारंभ में संसद के दोनों सदनों के संयुक्त अधिवेशन में राज्याध्यक्ष भाषण देता है। भारत में दोनों सदनों के बीच किसी विधेयक पर मतभेद हो जाने के कारण या उसके समाधान के लिए “संयुक्त अधिवेशन” बुलाया जाता है।
  • Journal (of proceedings) -- कार्यवाही विवरणिका
किसी विमर्शकारी सदन या व्यवस्थापिका सभा की दैनिक कार्यवाही का रिकार्ड अथवा विवरण पत्रिका।
  • Judicial activism -- न्यायिक सक्रियतावाद
न्यायिक निर्णयों में ऐसी प्रवृत्ति जिसमें न्यायाधीश अपने निर्णयों के द्वारा संकुचित कानूनी व्याख्या की परिधि से बाहर जाकर, परन्तु बिना वर्तमान क़ानून का उल्लंघन किए वांछित सामाजिक सुधारों या उद्देश्यों की प्राप्ति का प्रयास करता है। तु. दे. activism.
  • Judicial power -- न्यायिक शक्ति, न्यायिक अधिकार
विधि द्वारा निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार सभी प्रकार के मामलों और विवादों को सुनने, उनका निर्णय करने तथा विधि के मूल उपबंधों के अनुसार न्याय करने की न्यायालयों की शक्ति।
  • Judicial procedure -- न्यायिक प्रक्रिया, न्यायिक कार्यविधि
न्यायालयों द्वारा न्याय-प्रशासन में पालन की जाने वाली कार्य पद्धति अथवा कार्य प्रणाली। मूल रूप से इस कार्यपद्धति की स्थापना विधि द्वारा होती है। न्यायालय स्वयं आवश्यकतानुसार परन्तु विधि की परिधि में इसमें संशोधन-परिवर्द्धन कर सकते हैं।
  • Judicial process -- न्यायिक प्रक्रिया
न्याय-प्रशासन के विभिन्न निर्धारित चरण।
  • Judicial review -- न्यायिक पुनरीक्षण, न्यायिक पुनर्विलोकन
विधियों एवं प्रशासकीय कृत्यों को चुनौती दिए जाने पर न्यायपालिका द्वारा उनकी संवैधानिकता अथवा वैधता का परीक्षण और उनके संविधान के विरुद्ध पाए जाने पर, उन्हें निरस्त कर सकने का अधिकार।
  • Judicial tribunal -- न्यायिक अधिकरण
विवादास्पद विषयों या मामलों पर विचार कर न्यायिक निर्णय देने वाला कानूनी निकाय।
  • Judiciary -- न्यायपालिका, न्यायांग
सरकार के तीन प्रमुख अंगों (व्यवस्थापिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका) में से एक अंग जिसे विधि की समीक्षा एवं निर्णय करने का अधिकार होता है। साधारण, दीवानी व फौजदारी मुकदमों की सुनवाई के अतिरिक्त न्यायपालिका :- (1) क़ानूनों व संविधान की व्याख्या करती है। (2) नागरिकों के मूल अधिकारों की व्याख्या करती है। (3) संविधान की रक्षा करती है विशेषकर संघात्मक व्यवस्था में संघांतरित इकाइयों के अधिकार क्षेत्र की। (4) अन्य विविध कार्य करती है जो क़ानून और न्याय से संबंधित हो जैसे नाबालिगों के संरक्षक नियुक्त करना आदि। प्रायः प्रजातांत्रिक देशों में संविधान द्वारा या परंपरा से न्यायपालिका को व्यवस्थापिका तथा कार्यपालिका के प्रभाव से मुक्त रखा जाता है ताकि वह अपना कार्य निष्पक्षता से कर सके। व्यक्ति और संस्थाओं के स्वातंत्र्य को बनाए रखने का उत्तरदायित्व न्यायपालिका का होता है।
  • Junta -- जुंटा, शासक गुट
1. प्रायः सैनिक अधिकारियों का एक छोटा-सा सुगठित गुट जिसने बलात् सत्ता – परिवर्तन के पश्चात शक्ति प्राप्त की हो।
2. राजनीतिक अथवा प्रशासनिक उद्देश्यों के लिए गठित परिषद् या समिति।
  • Jurisdiction -- अधिकार क्षेत्र, क्षेत्राधिकार, अधिकारिता
1. प्रशासनिक प्राधिकारी के अधिकार का सीमा-क्षेत्र। 2. न्यायालय अथवा न्यायाधीश का मामलों व विवादों को सुनने व निर्णय देने का अधिकार अथवा सीमाक्षेत्र।
  • Jurisprudence -- विधिशास्त्र, न्यायशास्त्र
वह शास्त्र जिसमें विधि के दर्शन अथवा विज्ञान का विवेचन हो।
  • Jury -- जूरी
किसी फौजदारी के मुकदमों में साधारण नागरिकों में से गठित एक निकाय जो न्यायाधीश के मार्गदर्शन में मुकदमें के तथ्यों की सत्यता का पता लगाने का प्रयास करता है।
  • Jus civile -- सिविल विधि, सिविल क़ानून, जस सिवीले
1. रोम का क़ानून अथवा रोमन क़ानूनों से व्युत्पन्न क़ानून। 2. व्यक्तियों पर लागू होने वाले राज्यकृत क़ानून जो प्राकृतिक क़ानून से भिन्न होते हैं परंतु उनके प्रतिकूल नहीं।
  • Jus gentium -- 1. वैदेशिक क़ानून, विदेशियों का क़ानून, 2. अंतर्राष्ट्रीय विधि, जस जेंशियम
1. रोमन नागरिकों के विदेशियों के साथ और विदेशियों के आपसी संसर्ग से संबंधित नियम।
2. स्वतंत्र राज्यों के आपसी व्यवहार अथवा संसर्ग को नियमित करने वाली नियमावली।
  • Jus naturale -- नैसर्गिक विधि, प्राकृतिक नियम, जस-नैचुरल
मानव विवेक से उद्भूत नियम या विधि जो संस्थापित विधि के अभाव में या उसके अलावा मानव आचरण और समाज पर स्वभावतः ही लागू होते हैं। इसका कारण यह है कि ये मानव प्रकृति के अनुरूप होते हैं।
  • Jus soli -- जन्मभूमि-संबंधी नियम, जस सोली
विधि का एक सिद्धांत जिसके अंतर्गत किसी व्यक्ति की नागरिकता उसके जन्मस्थान अथवा जिस देश में वह उत्पन्न हुआ है, उससे निर्धारित होती है। यह सिद्धांत ग्रेट ब्रिटेन, संयुक्त राज्य अमेरिका तथा बहुत-से अन्य देशों में नागरिकता का आधार है।
  • Just sanguinis -- रक्त संबंधी नियम, जस सेंग्विनिस
वह सिद्धांत जिसके अनुसार नागरिकता के निर्धारण का आधार व्यक्ति का जन्मस्थान न होकर उसके मातापिता की नागरिकता होता है।
  • Kellogg-Briand Pact -- केलॉग और ब्रियां समझौता
27 अगस्त, 1928 को पैरिस में फ्रांस तथा संयुक्त राज्य अमेरिका के विदेश मंत्रियों ने एक संधि पर हस्ताक्षर किए जो इन दोनों विदेश मंत्रियों-केलॉग और ब्रियां-के नाम से प्रसिद्ध है। इसके अंतर्गत इन राज्यों ने राष्ट्रीय नीति के उपकरण के रूप में युद्ध का परित्याग करने की घोषणा की और अपने पारस्परिक विवादों को शांतिपूर्ण उपायों से तय करने का निश्चय किया। कालांतर में इस समझौते ने एक सार्वदेशीय संधि का रूप धारण कर लिया जो विश्व के सभी देशों के लिए बाध्यकारी मानी जाती है, चाहे उन्होंने इस पर हस्ताक्षर किए हों या न किए हों। वर्तमान काल में इसे विश्व की वैधिक व्यवस्था का एक अंग माना जाता है
  • Keynote speech -- नीतिदर्शक भाषण, मुख्य भाषण
किसी सभा अथवा सम्मेलन में मुख्य विषय से संबंधित मुद्दों, सिद्धातों अथवा नीतियों को स्पष्ट करने वाला भाषण।
  • King-in-Council -- K
  • King-in-Parliament -- किंग-इन-पार्लियामेन्ट, संसदस्थ राजा
ब्रिटिश शासन प्रणाली में सम्राट को संसद का अभिन्न अंग माना जाता है अर्थात् संसद का निर्माण सम्राट, कॉमन सभा और लॉर्ड सभा से मिलकर होता है। चूंकि अंतिम निर्णय लेने का अधिकार संसद को है और संसद के निर्णयों की औपचारिक स्वीकृति सम्राट द्वारा की जानी आवश्यक है, अतः इस व्यवस्था को “संसदस्थ राजा” कहा जाता है।
  • King’s Bench -- राजपीठ, राज न्यायपीठ
ब्रिटिश उच्च न्यायालय का एक खंडपीठ जिसके क्षेत्राधिकार में मामलों की प्रारंभिक सुनवाई अथवा पुनर्विचार दोनों आते हैं।
  • Kitchen Cabinet -- निजी सलाहकार, अनौपचारिक सलाहकार, किचिन कैबिनेट
राजा या शासनाध्यक्ष के निकटस्थ व्यक्ति या व्यक्तिसमूह जो राजा या शासनाध्यक्ष को अनौपचारिक रूप से परामर्श देते रहते हैं।
  • Komsomol -- कोम्सोमोल
सोवियत संघ के साम्यवादी दल में युवकों का संगठन। इस संगठन के सदस्यों की आयु 16 से 23 वर्ष के बीच होती है। इस संघ के सदस्यों को भी कोम्सोमोल कहा जाता है।
  • Ku Klux Klan -- कू क्लक्स क्लान
अमेरिका के दक्षिणी राज्यों का एक गुप्त राजनीतिक संगठन जिसका उद्देश्य आतंकवाद, हिंसा और बल प्रदर्शन द्वारा काले लोगों को डरा-धमकाकर उन्हें गृहयुद्ध के उपरांत प्राप्त अधिकारों से वंचित करना तथा गोरों का प्रभुत्व स्वीकार करने के लिए विवश करना था। 1872 के बाद मूल कू क्लक्स क्लान प्रायः विघटित हो गया।
  • Kuo-mintang -- कुओमिन्टांग
सनयात-सेन द्वारा संस्थापित चीन का राष्ट्रवादी दल जो 1911 में चीन से राजतंत्र समाप्त कर वहाँ गणतंत्र स्थापित करने में सफल हुआ। इस गणतंत्र के प्रथम राष्ट्रपति सनयात-सेन बने जिन्हें चीनी गणतंत्र का राष्ट्रपिता माना जाता है। सन् 1925 में इस दल का नेतृत्व च्यांग-काई शेक के हाथों में आ गया और 1948 में साम्यवादियों ने च्यांग-काई शेक को अपदस्थ कर राज्यसत्ता अपने हाथों में ले ली।
  • Labour Party -- मज़दूर दल, श्रमिक दल, लेबर पार्टी (इंग्लैंड)
इंग्लैंड के सबसे बड़े दो राजनीतिक दलों में से एक दल जिसका जन्म इंग्लैंड की विभिन्न औद्योगिक क्रांतियों, सहकारी समितियों के गठन तथा चार्टिस्ट आंदोलन के प्रतिफल के रूप में हुआ। इस दल की विधिवत् स्थापना सन् 1900 में हो गई थी। 1922 के आम चुनावों के बाद यह देश का एक शक्तिशाली दल बन गया। यह एक समाजवादी दल है जिसकी मान्यता है कि उत्पादन के सभी साधन जनता के हाथों में होने चाहिए तथा सभी उद्योग एवं सेवाएँ सार्वजनिक नियंत्रण में होने चाहिए। यह दल सर्वप्रथम 1923 में सत्तारूढ़ हुआ यद्यपि इसे संसद में स्पष्ट बहुमत प्राप्त नहीं था। इसकी यही स्थिति 1929 में भी थी। 1945 में इसे संसद में स्पष्ट बहुमत प्राप्त हुआ। कालांतर में इसकी समाजवादी नीतियों में बहुत कुछ संशोधन हुआ है। उद्योगों के राष्ट्रीयकरण पर दल में मत विभाजन है। पिछले तीन चुनावों में अनुदार दल से इसको मुँह की खानी पड़ी है। यह दल भारत की स्वतंत्रता के प्रति संवेदनशील रहा है और भारत को सत्ता-हस्तांतरण भी इसी दल के शासनकाल में हुआ। इसके प्रमुख नेताओं में रैम्ज़े मैक्डौनल्ड, क्लेमेंट एटली, हैरल्ड विल्सन के नाम उल्लेखनीय हैं।
  • Laissez faire policy -- अहस्तक्षेप नीति, अबंध नीति
ऐसी नीति जो आर्थिक व्यवस्था के स्वायत्त स्वरूप की पक्षधर होती है और आर्थिक मामलों में राज्य द्वारा न्यूनतम हस्तक्षेप का समर्थन करती है। इसे यद्भाव्यम नीति भी कहते हैं। इसका मूल मंत्र है “मैदान सबके लिए खुला है। कोई पक्षपात न किया जाए”।
  • Laissez passer -- L
  • Land force -- स्थल सेना
सेना का वह अंग जिसकी संक्रियाओं का कार्यक्षेत्र भूमि-प्रदेश होता है।
  • Landsge meinde -- लैंइस माइंडे, जनसभाएँ
स्विट्जरलैंड के कुछ कैंन्टनों में प्राचीनकाल से चली आ रही जनसभाएँ जिनमें कैन्टन के सभी वयस्क नागरिक भाग लेते हैं और जो वहाँ के विधान मंडल के समकक्ष हैं। यह प्रत्यक्ष लोकतंत्र का विशुद्धतम नमूना है। इस प्रकार की व्यवस्था इस समय एक कैंटन (ग्लैरस) और चार अर्द्ध-कैंटनों (एपैंजल इनर रोइस, एपैंडन आउट-रोइस, ऑबवाल्डेने, निडवालडेन) में प्रचलित है।
  • Latitudinarianism -- उदारपंथ
राजनीतिक व्यवहार तथा मान्यताओं के संबंध में (विशेषतः धार्मिक मामलों में) कट्टरपंथी न होकर उदारवादी दृष्टिकोण।
  • Law courts -- न्यायालय
विवादों के निपटारे के लिए देश के न्यायांग के अंतर्गत स्थापित निकाय अथवा अधिकरण जहाँ विवादास्पद मामलों की सुनवाई होती है तथा देश के अनुसार निर्णय दिए जाते हैं।
  • Law giver -- विधि निर्माता, स्मृतिकार
राज्य तथा सामाजिक व्यवस्था को सुव्यवस्थित रखने की दृष्टि से विधि का प्रतिपादन करने वाला मनीषी। इतिहास में कुछ मूल विधि-प्रतिपादकों अथवा विधि-संस्थापकों के नाम प्रख्यात रहे हैं जैसे, भारत में मनु तथा रोम में सोलॉन।
  • Law of the jungle -- जंगल का नियम, सत्स्य न्याय, “जिसकी लाठी उसकी भैंस”
यह वह स्थिति है जहाँ कोई नियम, क़ानून अथवा न्याय की व्यवस्था नहीं है और शक्ति ही क़ानून है।
  • Law of the land -- देश-विधि, देश का क़ानून
किसी देश में प्रचालित क़ानून।
  • Leader of the House -- सदन का नेता
सत्तारूढ़ दल का वह सदस्य जो अपने दल की ओर से सदन की कार्रवाई एवं कार्यक्रम और अनुशासन के लिए उत्तरदायी होता है तथा औपचारिक अवसरों पर पूरे सदन की ओर से भाव व्यक्त करता है। प्रायः प्रधान मंत्री ही सदन का नेता होता है। भारत में यही परंपरा बन गर्ह है। इंग्लैंड में भी प्रारंभ में ऐसी ही परंपरा थी परंतु वहाँ अब सत्तारूढ़ दल अपने किसी वरिष्ठ सदस्य को इस पद के लिए मनोनीत करता है। भारत में लोक सभा तथा राज्य सभा, दोनों सदनों के, अलग-अलग नेता होते हैं।
  • Leader of the opposition -- विपक्षी नेता, विरोधी दल का नेता
सत्तारूढ़ दल के अतिरिक्त अन्य दलों में सर्वाधिक सदस्यों वाले राजनैतिक दल का नेता बशर्ते कि उसके दल को सदन के नियमों के अनुसार दल के रूप में मान्यता प्राप्त हो। इस पद की संकल्पना ब्रिटिश संसदीय प्रणाली की देन है। ब्रिटेन में विपक्षी नेता को अनौपचारिक रूप से छायाकार प्रधानमंत्री कहा जाता है। भारतीय संसद में सर्वप्रथम जनता पार्टी सरकार द्वारा 1977 में कांग्रेस दल के नेता यशवंत राव चौहान को विधिवत् विपक्षी नेता के रूप में मान्यता दी गई थी।
  • League of Nations -- राष्ट्रसंघ
प्रथम विश्व युद्ध के पश्चात् सन् 1920 में गठित राज्यों का पहला अंतर्राष्ट्रीय संगठन जिसका मुख्यालय जेनेवा में था। इसके दो प्रमुख उद्देश्य थे :- (1) युद्ध को रोकना तथा अंतर्राष्ट्रीय झगड़ों का शांतिपूर्ण निपटारा, तथा (2) अंतर्राष्ट्रीय सहयोग की भावना का विस्तार जिससे सदस्य-राष्ट्रों की भौतिक तथा नैतिक उन्नति हो सके और मानव समाज का भी कल्याण हो। उसके तीन प्रमुख अंग थे-सभा, परिषद् और स्थायी अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय। 1939 में द्वितीय विश्वयुद्ध प्रारंभ होने पर यह संगठन भंग हो गया।
  • Lefitist -- वामपंथी, वामपक्षी
ऐसा व्यक्ति अथवा राजनीतिक समुदाय या दल जो क्रांतिकारी, प्रगतिशील तथा उग्र राजनीतिक-आर्थिक कार्यक्रम का पक्षधर हो और जिसका मुख्य उद्देश्य प्रचलित व्यवस्था में आमूल परिवर्तन करना हो। इस शब्द की उत्पत्ति यूरोपीय संसदों में अध्यक्ष की बाईं और बैठने वाले सदस्यों के राजनीतिक विचारों के संदर्भ में हुई। बहुघा समाजवादियों और साम्यवादियों को वामपंथी कहा जाता है।
  • Legal counsel (legal Counsellor) -- वकील, विधि परामर्शदाता
1. वह व्यक्ति अथवा संस्था जो न्यायालय में प्रेषित किसी मुकदमें में वादी अथवा प्रतिवादी की ओर से क़ानूनी तर्क और दृष्टांत देकर न्यायाधीश से न्याय-पालन अथवा न्याय-निर्णय लेने में सहायक हो।
2. वह व्यक्ति जिसके पास न्यायालय में प्रस्तुत होकर विवादी पक्ष की ओर से किसी विवाद के समर्थन में तय्य पेश करने तथा तर्क करने का अनुज्ञापत्र हो तथा जो क़ानूनी परामर्श भी देता हो।
  • Legal entity -- विधिक अस्तित्व, विधिक इकाई
वह व्यक्ति अथवा संस्था जिसे क़ानूनी मान्यता प्राप्त हो, जिसे क़ानून के अंतर्गत अधिकार तथा कर्तव्य प्राप्त हो और जो अपने अधिकारों के रक्षार्थ न्यायिक कार्रवाई करने का अधिकार रखता हो।
  • Legal equality -- विधिक समता
इसका अर्थ है कि सभी नागरिक क़ानून के समक्ष बराबर समझे जाएँ। क़ानून और उसका प्रशासन न्यायायलों द्वारा सभी के लिए समान हो और इसमें जाति, धर्म, लिंग, पद इत्यादि किसी आधार पर कोई भेदभाव न हो। भारतीय संविधान के अनुच्छेद 14 में क़ानूनी समानता के दो पक्ष बताए हैं- (1) क़ानून के समक्ष सभी नागरिकों का समान होना; और (2) सभी को क़ानून का समान संरक्षण प्राप्त होना।
  • Legal immunity -- विधिक उन्मुक्ति
विशेष परिस्थितियों अथवा मामलों में किसी व्यक्ति विशेष, पदाधिकारी, संस्था अथवा निकाय को क़ानूनी कार्रवाई से छूट। उदाहरणार्थ भारत में राष्ट्रपति और राज्यपालों के विरुद्ध उनके पदविमुक्त होने पर भी उनके कार्यकाल से संबंधित किसी विषय को लेकर उनके विरुद्ध कोई क़ानूनी कार्रवाई नहीं की जा सकती।
  • Legalization -- वैधीकरण
किसी ऐसे कार्य को क़ानून द्वारा वैध ठहराना जिसे उस क़ानून के निर्माण से पूर्व अवैध तथा दंडापेक्षी समझा जाता था जैसे, गर्भपात।
  • Legal justice -- विधिक न्याय
किसी विवाद में विधिवत् स्थापित नियमित न्यायालय द्वारा क़ानून के अनुसार किया गया निर्णय।
  • Legal liability -- विधिक दायित्व
विधि द्वारा विहित ऐसा दायित्व जिसका पालन संबंधित पक्ष के लिए आवश्यक होता है तथा जिसकी अवहेलना करने पर क़ानूनी कार्रवाई की जा सकती है।
  • Legal recongition -- विधिक मान्यता
किसी राज्य विशेष द्वारा किसी नए राज्य अथवा शासन के अस्तित्व को स्वीकृति दिया जाना जो विधिवत् घोषणा करके दी जा सकती है अथवा राज्य के आचरण में भी निहित हो सकती है। तदुपरांत नवीन राज्य अथवा शासन मान्यता देने वाले राज्य की दृष्टि से पूर्ण अंतर्राष्ट्रीय व्यक्तित्व प्राप्त कर लेता है और दोनों राज्यों के बीच औपचारिक संबंध भी स्थापित किए जा सकते हैं।
  • Legal remedy -- विधिक उपाय, क़ानूनी उपचार
अधिकारों के हनन अथवा किसी अन्य प्रकार की हानि की पूर्ति के लिए अथवा किसी वास्तविक या संभावित समस्या के निराकरण के लिए की जानेवाली क़ानूनी कार्रवाई।
  • Legal right -- क़ानूनी अधिकार, विधिक अधिकार
किसी राज्य में स्थापित क़ानून के अंतर्गत प्राप्त अधिकार जिनका हनन होने पर व्यक्ति विधिक उपचार का आश्रय ले सकता है।
  • Legal safeguards -- विधिक संरक्षण, विधिक रक्षोपाय
किसी मामले या स्थिति में संभावित चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए क़ानून द्वारा विहित निरोधात्मक अथवा संरक्षणार्थ प्रावधान।
  • Legal sovereignty -- विधिक संप्रभुता, विधिक प्रभुसत्ता
किसी राज्य की वह सत्ता अथवा शक्ति जिसे राज्य में सर्वोच्च स्थान प्राप्त हो, जो राज्य में सभी क़ानूनों का स्रोत हो, जिसके ऊपर कोई सीमा या मर्यादा न हो और जिसके आदेशों का नागरिक स्वभावतः पालन करते हों। यह सत्ता अनन्य, सर्वाधिकार-संपन्न, अदेय एवं अविभाज्य होती है। यह विवादास्पद हो सकता है किसी राज्य में इसका निवास कहाँ है।
  • Legate -- पोप दूत, लीगेट
1. पोपदूत : ईसाई धर्म के प्रधान अर्थात् पोप का एक विशेष प्रतिनिधि जिसे राजदूत के समकक्ष माना जाता है और जो विशेष अवसरों पर पोप का प्रतिनिधित्व भी करता है। 2. लीगेट : राजदूत, किसी राज्य का प्रतिनिधि।
  • Legislation -- विधान, विधि-निर्माण
1. सक्षम विधि-निकायों द्वारा बनाए गए क़ानून। 2. विधियों के निर्माण का कार्य।
  • Legislative Assembly -- विधान सभा
यह सरकार का विधान निर्मात्री अंग है, जिसका निर्वाचन जनता द्वारा होता है। भारत के विभिन्न राज्यों के विधान मंडलों के दो सदनों में से एक को विधान सभा दूसरे को विधान परिषद कहते हैं। परन्तु विधान परिषद की व्यवस्था कुछ ही राज्यों में है। शेष में केवल विधान सभा ही एकल सदन विधान मंडल है। इसके सदस्यों का निर्वाचन प्रत्यक्ष रूप से किया जाता है। सदस्यों में से एक को अध्यक्ष और किसी दूसरे को उपाध्यक्ष चुना जाता है। विधान सभा का कार्यकाल सामान्यतः प्रथम अधिवेशेन की तिथि से 7 वर्ष का होता है। विधान सभा की सदस्यता के लिए प्रत्येक सदस्य की आयु 25 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए तथा उसका भारत का नागरिक होना भी आवश्यक है। इसके मुख्य अधिकार है :- (1) क़ानून बनाना, (2) कर लगाना व सरकारी व्यय के लिए अनुमति देना, और (3) सरकार पर नियंत्रण रखना और उसमें विश्वास न रहने पर उसे अपदस्थ कर देना।
  • Legislative Council -- विधान परिषद्
भारत के जिन राज्यों में द्विसदनी विधान मंडल हैं जैसे, उत्तर प्रदेश, बिहार आदि में, उनके उच्च सदन को विधान परिषद् कहते हैं। इस सदन के सदस्यों का निर्वाचन प्रत्यक्ष रूप से जनता द्वारा न होकर, विधान सभा के सदस्यों, नगरपालिकाओं, शिक्षकों और स्नातकों द्वारा होता हैं और इसमें 1/12 सदस्य राज्यपाल द्वारा मनोनीत होते हैं। प्रत्येक सदस्य का कार्यकाल छह वर्ष होता है परंतु पूरा सदन विघटित नहीं होता। इसमें 1/3 सदस्य प्रति दो वर्ष के प्रश्चात् पद-निवृत्त होते हैं जिनकी रिक्तियाँ निर्वाचन द्वारा भर दी जाती हैं। विधान परिषद् विधान सभा की अपेक्षा बहुत निर्बल है। अनेक विचारक इसका उन्मूलन कर दिए जाने के पक्ष में हैं।
  • Legislator -- विधायक
विधान मंडल के किसी भी सदन का सदस्य।
  • Legislature -- विधान मंडल, विधानांग
सरकार के विधि-निर्माण करने वाले अंग को विधान मंडल कहते हैं। यह प्रायः वयस्क मताधिकार पर हर चार या पाँच वर्ष बाद जनता द्वारा चुना जाता है। अतः इसे जनेच्छा का दर्पण माना जाता है। इसी के माध्यम से जन संप्रभुता साकार होती है। विधि-निर्माण, कार्यपालिका पर नियंत्रण, वित्त व्यवस्था पर नियंत्रण तथा संविधान में संशोधन इसके प्रमुख कार्यों में से हैं। यह किसी भी मामले में सरकार की आलोचना कर सकता है तथा किसी सार्वजनिक महत्व के मामले की जाँच के लिए समिति या आयोग की भी नियुक्ति कर सकता है।
  • Legist -- विधिवेत्ता, विधिज्ञ
वह व्यक्ति जिसे विधि का विशिष्ट ज्ञान हो।
  • Legitimate heir -- विधिसम्मत उत्तराधिकारी
रक्त संबंधों के आधार पर पैतृक संपत्ति का स्वाभाविक उत्तराधिकारी चाहे संपत्ति संबंधी कोई वसियत न हो।
  • Leninism -- लेनिनवाद
समकालीन विश्व एवं रूस की आंतरिक दशाओं के संदर्भ में मार्क्सवाद का जो संस्करण महान रूसी क्रांतिकारी लेनिन ने प्रस्तुत किया, वह प्रायः लेनिनवाद के नाम से प्रख्यात है। सेबाइन ने लिखा है कि लेनिनवाद सर्वहारा क्रांति एवं साम्राज्यवाद के युग का मार्क्सवाद है। यों तो लेनिन मार्क्स् का निष्ठावान अनुयायी था और मार्क्सवाद के प्रति पूर्णतया समर्पित था, परंतु उसने मार्क्सवाद में जो संशोधन अथवा परिवर्धन समकालीन परिस्थिति में किए, उनमें निम्न विशेष रूप से उल्लेखनीय हैं :- (1) समकालीन साम्राज्यवाद का विश्लेषण-लेनिन का यह कथन अमर हो गया है कि साम्राज्यवाद पूँजीवाद की चरम अवस्था है। (2) साम्यवादी क्रांति ऐसे देश में भी सफल हो सकती है जहाँ पूँजीवाद पूर्णतया विकसित अवस्था में न हो। (3) साम्यवादी क्रांति के लिए एक दल का संगठित होना आवश्यक है जो सर्वहारा वर्ग का नेतृत्व करे। क्रांति के पश्चात् राज्य सत्ता सर्वहारा वर्ग के हाथों में हो जिसे लेनिन ने सर्वहारा वर्ग का अधिनायकत्व कहा।
  • Letter of credence (=lettre de creance) -- प्रत्यय पत्र
किसी राज्याध्यक्ष द्वारा किसी अन्य देश के लिए मनोनीत राजदूत अथवा अपने प्रतिनिधि को दिया गया वह पत्र जिसके आधार पर वह अन्य देश में अपनी सरकार का प्रतिनिधित्व करने के लिए अधिकृत होता है।
  • Letter of lien -- पुनर्ग्रहणाधिकार पत्र
किसी पदधारी अथवा संपत्ति के स्वामी को दिया गया वह आधिकारिक पत्र जिसमें विहित शर्तों के अनुसार वह पुनः अपने पद पर आने अथवा अपनी संपत्ति वापस ले सकने का अधिकारी हो जाता है।
  • Letter of recredentials -- सराहना पत्र
विदेश-स्थित किसी राजदूत को उसके कार्यकाल की समाप्ति पर उस राज्य के अध्यक्ष द्वारा दिया गया प्रशंसा पत्र जिसमें वह राजदूत नियुक्त था।
  • Leviathan -- लेविआथन
प्रसिद्ध अंग्रेज दार्शनिक टॉमस हॉब्स की रचना जिसमें राज्य को सामाजिक समझौते का परिणाम माना गया है और समझौते के फलस्वरूप सब अधिकार एक व्यक्ति या व्यक्तिसमूह-लेविआथन-को सौंप दिए गए हैं। अतः आज “लेविआथन” शब्द से एक सर्वाधिकार संपन्न, निरंकुश सत्ताधारी का बोध होता है।
  • Lexaeterne (Eternai Law) -- शाश्वत विधि
वे नियम एवं सिद्धांत जो सृष्टि की शाश्वत चेतना की देन है और जिनके अनुसार पूरी सृष्टि का कार्य संचालन होता है और जिसकी व्याख्या मानवीय चेतना द्वारा होती है।
  • Lex regia -- राज विधि
किसी राज्य के क़ानून जिनका पालन करना प्रत्येक नागरिक के लिए अनिवार्य हो।
  • Liberal -- उदारवादी, उदारमना
अभिजातवर्गीय अथवा राजतंत्रीय व्यवस्था के प्रतिकूल वैयक्तिक अधिकारों एवं स्वतंत्रताओं को राज्य-व्यवस्था में प्रधान स्थान दिए जाने का पक्षघर व्यक्ति, दल या चिन्तन।
  • Liberalism -- उदारवाद
सत्रहवीं-अठारहवीं शताब्दियों में निरंकुशतावादी विचारधारा के विरोध में प्रतिपादित वह सिद्धांत जिसके अनुसार :- 1. राज्य व्यवस्था का केन्द्र बिन्दु व्यक्ति है; 2. राज्य का निर्माण वैयक्तिक अधिकारों और स्वतंत्रताओं के रक्षार्थ किया गया है ; 3. राज्य का कार्य-क्षेत्र अत्यन्त सीमित है और किसी भी दशा में उसे आर्थिक क्षेत्र में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए ; 4. आर्थिक क्षेत्र में व्यक्तियों को उद्योगों और उद्यमों के संचालन एवं संस्थापन में पूर्ण स्वतंत्रता होनी चाहिए ; 5. यह सिद्धांत राज्य को साधन और व्यक्ति को साध्य मानता है। उदारवाद का उदय वर्तमानकाल में अंग्रेज विद्वान जान लॉक से होता है और अनेक दार्शनिकों ने जिनमें बेंथम, जॉन स्टुअर्ट मिल, हर्बर्ट स्पेंसर, एडमस्मिथ आदि के नाम शामिल हैं, इसके सिद्धांतों का विकास किया। वर्तमान समय में, आर्थिक क्षेत्र में इसके दुष्परिणामों को देखते हुए इसके मूल सिद्धांतों में अनेक संशोधन हुए और उदारवाद के इस परिवर्तित तथा संशोधित स्वरूप को अब नवउदारवाद (neo-liberalism) कहा जाता है।
  • Liberty -- स्वतंत्रता, स्वातंत्र्य
स्वतंत्रता के प्रति दो दृष्टिकोण हैं, जो परस्पर विरोधी हैं ; (1) नकारात्मक (2) सकारात्मक। नकारात्मक दृष्टिकोण की अभिव्यक्ति उदारवाद में होती है, जिसे व्यक्तिवाद भी कहा जाता है। इसके अनुसार स्वतंत्रता का अर्थ है बंधनों से मुक्ति। व्यवहार में इसका अर्थ है कि प्रत्येक व्यक्ति को उस सीमा तक स्वेच्छानुसार कार्य करने का अधिकार है जिस सीमा तक वह किसी दूसरे व्यक्ति के इसी प्रकार के अधिकार में बाधक न हो। सकारात्मक दृष्टिकोण की व्याख्या ग्रीन और लास्की जैसे विचारकों ने की है। इसके अनुसार स्वतंत्रता का अर्थ है कि मनुष्य को उन सामाजिक व आर्थिक दशाओं को पाने का अधिकार प्राप्त होना चाहिए जिनमें वह आत्म-विकास के अधिकतम अवसर प्राप्त कर सकें। अतः स्वतंत्रता का अर्थ है वह सामाजिक और आर्थिक वातावरण जिसमें प्रत्येक व्यक्ति को अपने व्यक्तित्व के विकास के समुचित अवसर उपलब्ध हों।
  • List system (of voting) -- (मतदान की) सूची-प्रणाली
इस प्रणाली के अनुसार विभिन्न राजनीतिक दल अपने उम्मीदवारों की वरीयता के क्रमानुसार सूची तैयार करते हैं। मतदाता किसी एक उम्मीदवार को मत न देकर किसी एक सूची के पक्ष में मत देते हैं। प्राप्त मतों की संख्या के अनुपात में प्रत्येक सूची में उम्मादवारों को वरीयता के क्रमानुसार निर्वाचित घोषित कर दिया जाता है। इस निर्वाचन प्रणाली का प्रचलन यूरोप के कई देशों में है।
  • Lobbying -- लौबींग
विधान मंडलों के कक्षों में जाकर निहित स्वार्थों तथा दबाव समूहों अथवा हित समूहों के अभिकर्ताओं द्वारा किसी विधेयक, प्रस्ताव, नीति अथवा कार्यक्रम के पक्ष अथवा विपक्ष में विधायकों को प्रभावित करने के प्रयास। व्यवहार में, ये प्रयास विधान मंडल कक्ष तक ही सीमित नहीं रहते अपितु विभिन्न प्रकार के प्रलोभन, दबाव और धमकियों आदि का रूप भी ले सकते हैं। वर्तमान काल में ये अभिकर्ता प्रशासकीय कार्यालयों में भी कार्यरत होने लगे हैं।
  • Local administration -- स्थानीय प्रशासन
किसी स्थान या क्षेत्र विशेष की प्रशासनिक व्यवस्था।
  • Local autonomy -- स्थानीय स्वायत्ता
किसी क्षेत्र विशेष को क्षेत्रीय अथवा स्थानीय मामलों में विधि द्वारा निर्धारित परिधि में स्वतंत्रतापूर्वक प्रबंध एवं प्रशासन करने का अधिकार।
  • Local body -- स्थानीय निकाय
किसी जिले, नगर या ग्राम आदि के प्रशासन के लिए संगठित प्रशासी उपकरण या संस्था।
  • Local government -- स्थानीय शासन
“स्थानीय शासन” से तात्पर्य है किसी राज्य को प्रादेशिक भूखंडों में बाँट कर प्रत्येक भूखंड के लिए शासन-व्यवस्था स्थापित करना। उस स्थिति में जबकि स्थानीय शासन के अंगों एवं अधिकारियों का गठन स्थानीय जनता द्वारा निर्वाचनों के माध्यम से होता है, ऐसी स्थानीय शासन व्यवस्था को “स्थानीय स्वशासन व्यवस्था” कहा जाता है। जैसे, भारत में नगरपालिकाएँ और पंचायती राज की संस्थाएँ।
  • Local-self government -- स्थानीय स्वशासन
वह शासन पद्धति जिसके अंतर्गत स्थानीय मामले स्थानीय जनता द्वारा निर्वाचित शासकीय इकाइयों द्वारा निष्पादित किए जाते हैं। इनका संगठन, अधिकार, कार्य और आय के स्रोत राज्य सरकार द्वारा निर्मित क़ानून से निर्धारित होते हैं। प्रायः इन इकाइयों को दो भागों में बाँटा जाता है : 1. ग्रामीण स्वशासन की इकाइयाँ, तथा 2. नगर स्वशासन की इकाइयाँ। भारत में, ग्रामीण स्वशासन की इकाइयों को पंचायती राज व्यवस्था, जो सामान्यतः त्रि-स्तरीय व्यवस्था है, कहा जाता है। पंचायती राज व्यवस्था में निम्नतम अंग पंचायत होती है और शिखर पर जिला परिषद्। इन दोनों के मध्य एक और इकाई होती है जिसे पंचायत समिति अथवा क्षेत्र समिति आदि नामों से जाना जाता है। नगरीय स्वशासन की इकाइयों में नगर महापालिका या नगर निगम और नगरपालिका प्रमुख हैं। स्वशासन की ये इकाइयाँ प्रायः स्थानीय सेवाओं और सुविधाओं जैसे, सड़कों की सफाई, रोशनी, जल का ग्रबंध, बीभारियों की रोक-थाम आदि का प्रबंध करती हैं।
  • Locus standi -- अधि स्थिति
यह एक विधिक पद है। इसका अर्थ है किसी मामले में न्यायालय के समक्ष उपस्थित होने और अपना संतव्य प्रस्तुत करने का अधिकार।
  • Lok Adalat -- लोक अदालत
विधि द्वारा स्थापित न्यायालयों से हटकर एक नवीन न्याय-व्यवस्था जिसमें सामान्य प्रक्रियाओं को बहुत संक्षिप्त कर न्यायाधीश किसी एक निश्चित तिथि पर अपनी बैठक करते हैं जहाँ वादी, प्रतिवादी अपना वाद सीधे तत्काल निर्णय के लिए स्वयं अथवा वकील के माध्यम से प्रेषित कर सकते हैं। इस प्रक्रिया में धन व समय की बचत होती है और यह जनसुविधा के लिए लाभकारी भी है। इसका प्रचलन पिछले कुछ वर्षों से ही भारत के अनेक भागों में हुआ है।
  • Lok Sabha -- लोक सभा
भारतीय संसद का निचला सदन जिसमें 545 निर्वाचित सदस्य होते हैं जिनका निर्वाचन पाँच वर्ष के लिए 18 वर्षीय नागरिकों द्वारा प्रत्यक्ष रूप से किया जाता है। इसके अधिकार और शक्तियाँ संसद के दूसरे सदन अर्थात् राज्य सभा से बहुत अधिक हैं। विधि-निर्माण और वित्तीय व्यवस्था में इसी का निर्णय अंतिम होता है। कार्यपालिका अर्थात् मंत्रिमंडल सामूहिक रूप से लोकसभा के प्रति ही उत्तरदायी होता है।
  • Machiavellism -- मैक्यावलीवाद
16 वीं शताब्दी के इतालवी राजनीतिज्ञ मैक्यावली के प्रसिद्ध ग्रंथ “द प्रिंस” में व्यक्त विचारों को हेय दृष्टि से मैक्यावलीवाद कहा जाता है। इनका सारांश यह है कि राजा को राज्य के संरक्षण और स्थायित्व के लिए कोई भी उपाय अपनाना, जिनमें छल, कपट, विश्वासघात भी शामिल हैं, अनुचित नहीं होगा। इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए वह धर्म और नैतिकता के सामान्य सिद्धांतों की भी उपेक्षा कर सकता है।
  • Macht politik ( = power politics) -- सत्तार्थ नीति, शक्ति नीति
ऐसी राजनीति जिसका केन्द्रबिन्दु शक्ति की प्राप्ति, शक्ति का प्रसार और शक्ति को दृढ़ करना होता है और जिसमें सार्वजनिक हित तथा जनमत गौण होकर रह जाते हैं। इस प्रकार की राजनीति में उन साधनों का उपयोग भी अनुचित नहीं माना जाता जिन्हें मैक्यावलीय साधन कहते हैं। परिणामस्वरूप राष्ट्रों, समूहों, दलों, गुटों और व्यक्तियों में शक्ति के लिए निरंतर संघर्ष बना रहता है।
  • Magna Carta -- मेग्रा कार्टा
सन् 1215 में अंग्रेज सम्राट जॉन द्वारा अपने सामंतों के दबाव के फलस्वरूप स्वीकृत एक घोषणापत्र जिसे संवैधानिक शासन की दिशा में प्रथम चरण कहा जा सकता है और जिसका लक्ष्य सम्राट की स्वेच्छाचारिता पर प्रतिबंध लगाना तथा प्रजा के अधिकारों को सुरक्षित करना था। इस घोषणा पत्र में 37 धाराएँ थीं जिनमें किसी व्यक्ति को मुकदमा चलाए बिना कारावास में न रखना, नागरिकों के घरों में बलात् सैनिकों को न ठहराया जाना आदि प्रमुख थीं।
  • Magnum Concilium -- मेग्नम काउन्सिलियम
इंग्लैंड में नार्मन राजाओं के समय अर्थात् ग्यारहवीं शताब्दी में सामंतों, धर्माधिकारियों एवं अन्य राजकीय विश्वासपात्र राजघराने के विशिष्ट सदस्यों की सभा जिसकी सहायता व परामर्श से राजा शासन करता था। मुख्यतः यह राजा को विधि-निर्माण और कराधान में परामर्श देती थी और न्याय-प्रशासन की भी सर्वोच्च निकाय थी। वस्तुतः इस परिषद को वर्तमानकालीन संसद मंत्रिमंडल प्रिवीकाउंसिल और उंच्च न्यायालय की जननी कहा जा सकता है।
  • Majority government -- बहुमत सरकार
जब किसी राजनैतिक दल को संसद के निचले सदन में आधे से अधिक स्थान प्राप्त हो जाते हैं तो उस दल की सरकार को “बहुमत सरकार” कहते हैं।
  • Majority rule -- बहुमत शासन
वह व्यवस्था जिसके अनुसार बहुमत का निर्णय ही मान्य होता है।
  • Malum prohibitum -- निषेधतो दोष
ऐसा कार्य जो परंपरा और नैतिकता के अनुसार अपराध न होने पर भी विधि तथा संविधान द्वारा निषिद्ध घोषित कर दिया गया हो।
  • Mandamus -- परमादेश
किसी न्यायालय द्वारा किसी लोक-कार्य के निष्पादनार्थ दिया गया विधिक आदेश। इस प्रकार के आदेश उच्च न्यायालय द्वारा किसी नीचे के अधिकरण निगम अथवा किसी व्यक्ति को भी दिए जा सकते हैं और उनसे लोक कार्यों को विधिवत् निष्पादित करने का आग्रह किया जा सकता है। ऐसा आदेश प्रायः उसी स्थिति में जारी किया जाता है जबकि संबंधित अधिकरण, निगम या व्यक्ति अपने लोक-कर्तव्य का जानबूझकर पालन न कर रहा हो।
  • Mandate -- अधिदेश
प्रथम विश्व युद्ध के बाद राष्ट्रसंघ के अधीन वह व्यवस्था जिसमें विजित राष्ट्रों के उपनिदेशों के नियंत्रण एवं शासन का अधिकार राष्ट्रसंघ द्वारा उन विजित राष्ट्रों को दिया गया था जो इसके लिए सहमत थे और जिसका उद्देश्य उन क्षेत्रों को स्वशासन के लिए तैयार करना था। जिस राज्य को यह उत्तरदायित्व सौंपा जाता था उसे अधिदेश प्राप्त राज्य (mandate power) कहते थे। इसके लिए राष्ट्रसंघ और अधिदेश प्राप्त राज्य के मध्य संपन्न समझैते के अधिदेशाधीन राज्य (mandate area) कहा जाता था।
  • Manifesto -- घोषणापत्र
किसी संस्था, राजनीतिक दल अथवा संप्रदाय की रीति-नीतियों अथवा विचारधारा की घोषणा करने वाला प्रपत्र। इस प्रकार का घोषणापत्र राजनीतिक दलों द्वारा प्रायः निर्वाचन के पूर्व जनता को अपनी नीतियों और कार्यक्रमों से अवगत कराके लोकमत को अपने पक्ष में करने के लिए जारी किया जाता है। इसे निर्वाचन घोषणा पत्र कहते हैं। 1848 में जारी किया गया “साम्यवादी घोषणापत्र” साम्यवादी साहित्य में एक विशिष्ट स्थान रखता है।
  • Manoeuvre -- युक्तिचालन, स्थिति-परिवर्तन-कौशल
चतुराई, धूर्तता अथवा मुस्तैदी के साथ किसी परिस्थिति विशेष को अपने अनुकूल करने अथवा उससे स्वयं को अलग करने के उपाय।
  • Maquis -- माकी, फ्रासीसी गुरिल्ला सैनिक
द्वितीय महायुद्ध के दौरान फ्रांस के जर्मन आधिपत्य वाले क्षेत्र में फ्रांसीसी गुरिल्ला दल जिसका उद्देश्य तोड़फोड़ की कार्रवाई द्वारा जर्मन अधिकारियों और सैनिकों का मनोबल गिराना था।
  • March land -- सीमांतभूमि
वह भूमि जो किन्ही दो या दो से अधिक राज्यों अथवा देशों के सीमावर्ती भू-भाग के मध्य स्थित हो।
  • Maritime belt -- समुद्रतटवर्ती पट्टी, भूभागीय समुद्र
किसी राज्य के तट से संलग्न वह समुद्रवर्ती क्षेत्र जो राज्य की संप्रभुता के अधीन माना जाता है और जिसे भूभागीय समुद्र अथवा प्रादेशिक समुद्र अथवा समुद्री पट्टी आदि अनेक नामों से जाना जाता है। परंपरा से इसकी दूरी तीन मील मानी जाती थी परन्तु अनेक राज्य उससे संतुष्ट नहीं थे और राष्ट्रीय दावे 12 से लेकर 200 मील तक की दूरी के थे। 1983 में स्वीकृत तृतीय समुद्र-विधि अनुबंध के अंतर्गत अब यह दूरी 12 मील निर्धारित कर दी गई है।
  • Maritime boundary -- समुद्री सीमा
किसी देश अथवा राज्य के तट से लगे समुद्र की वह सीमा जो अंतर्राष्ट्रीय क़ानून के अनुसार संबंधित राज्य के नियंत्रण व क्षेत्राधिकार में हो। 12 मील की दूरी का भूभागीय समुद्र तटवर्ती राज्य की संप्रभुता के अधीन होता है। उससे आगे और 12 मील तक के संलग्न क्षेत्र में उसे अनेक उद्देश्यों के लिए नियंत्रण के अधिकार प्राप्त होते हैं। इसके अतिरिक्त 200 मील दूर के अनन्य आर्थिक क्षेत्र के आर्थिक दोहन का उसे अनन्य अधिकार होता है। अतः अंतर्राष्ट्रीय विधि अनेक समुद्रवर्ती सीमाओं व क्षेत्रों को मान्यता देती है।
  • Maritime court -- समुद्री न्यायालय
विभिन्न देशों के समुद्री सीमा क्षेत्रों तथा उनमें होने वाले व्यापार, नौवहन आदि संबंधी विवादों की सुनवाई करने वाला न्यायालय।
  • Maritime flag -- समुद्री ध्वज, समुद्री पताका
किसी राज्य के वाणिज्यिक पोतों पर लगाया जाने वाला राष्ट्रीय झंडा। यह जलपोत की राष्ट्रीयता का सूचक होता है।
  • Maritime honours -- नाविक सम्मान
किसी राज्य के नौसैनिक बेड़े पर काम करने वाले नाविकों को, उनके साहस तथा वीरतापूर्ण कार्यों के लिए दिया गया सम्मान।
  • Maritime law -- समुद्री विधि, समुद्री क़ानून
समुद्री व्यवस्था एवं समुद्र के उपयोग संबंधी क़ानून व नियम जिनका निरूपण समय- समय पर स्वीकृत अंतर्राष्ट्रीय अनुबंधों में किया गया है। 1958 के चार जेनेवा अभिसमय और 1983 में तृतीय समुद्र विधि सम्मेलन द्वारा पारित अभिसमय इनके उदाहरण हैं।
  • Maritime territory -- समुद्री भूभाग, समुद्र तटवर्ती भू-भाग
किसी राज्य विशेष के तट से संलग्न समुद्र का वह भाग ज़िस पर तटवर्ती राज्यको संप्रभुता, नियंत्रण अथवा क्षेत्राधिकार प्राप्त होता है। भू-भागीय समुद्र में (तट से 12 मील की दूरी तक) राज्य को संप्रभुता का अधिकार होता है। परन्तु अन्य सीमाओं व क्षेत्रों में (जैसे, संलग्न क्षेत्र और अन्य आर्थिक क्षेत्र) में उसे केवल नियंत्रण और क्षेत्राधिकार का अधिकार होता है संप्रभुता का नहीं। समुद्री प्रदेशकी अवधारणा में भूभागीय समुद्र और ये विभिन्न सीमाएँ और क्षेत्र, सभी सम्मिलित किए जाते हैं।
  • Maritime war -- समुद्री युद्ध
सागरीय क्षेत्र में युद्ध के अभिन्न भाग के रूप में युद्धरत राज्यों की एक दूसरे के विरुद्ध होने वाली नौसैनिक संक्रियाएँ।
  • Martial law -- मार्शल लॉ, फौजी क़ानून
किसी देश में साधारण परिस्थितियों के कारण उत्पन्न वह स्थिति जब पूरे देश या उसके किसी एक या अधिक भाग का प्रशासन सैनिक अधिकारियों को सौंप दिया जाता है। इस अवस्था में सैनिक अधिकारी किसी भी प्रचलित क़ानून को निलंबित कर नए निर्देश अथवा अध्यादेश जारी कर सकते हैं और नियमित न्यायालयों को निलंबित कर विशेष सैनिक न्यायालय स्थापित कर सकते हैं। इस अवस्था में नागरिकों के अधिकारों और स्वतंत्रताओं पर भी आवश्यकतानुसार प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं, जैसे, बंदी प्रत्यक्षीकरण समादेश का निलंबन।
  • Mass movement -- जन आंदोलन
राजनीतिक तथा सामाजिक मुद्दों पर जन-साधारण द्वारा किया गया व्यापक संघर्ष जिसमें समाज के प्रायः सभी वर्गों की सहभागिता हो, जैसे गांधी जी के द्वारा संचालित अनेक असहयोग आंदोलन अथवा सविनय अवज्ञा आंदोलन।
  • Mercenary army -- भृतक सेना, भाड़े की सेना
भाड़े अथवा धनलाभ के लिए सेवा करना। यह पद विशेषतः उन सैनिकों के लिए प्रयुक्त होता है जो अपने देश की सेना के अतिरिक्त किसी अन्य देश की सेना में भाड़े पर सेवा के लिए भरती हो जाते हैं।
  • Merit system -- योग्यता पद्धति, योग्यता प्रणाली
1. विहित अर्हताओं के आधार पर प्रतियोगिता-परिक्षाओं के परीक्षाफल के क्रमानुसार सरकारी नौकरियों में भर्ती करने की पद्धति। इस व्यवस्था में नियुक्तियों के लिए किसी की सिफारिश अथवा पैरवी करना अवैध माना जाता है। 2. पदोन्नति के संदर्भ में योग्यता का मूल्यांकन अनेक विधियों द्वारा हो सकता है, जैसे वरिष्ठता, अभ्यर्थी का सेवा रिकार्ड, साक्षात्कार आदि।
  • Metropolis -- महानगर, महानगरी
किसी प्रदेश, राज्य अथवा उपनिवेश का बड़ा तथा प्रमुख नगर। ऐसे महानगर प्रायः व्यापक क्षेत्र में फैले रहते है और इनमें स्थानीय शासन के विभिन्न अंगों के बीच समन्वय स्थापित करना तथा जनपयोगी सुविधाएँ उपलब्ध कराना बहुधा प्रमुख समस्याएँ रहती हैं।
  • Midterm election -- मध्यावधि निर्वाचन
निर्धारित अवधि पूरी होने से पूर्व ही विधानपालिका के भंग होने पर नई विधानपालिका के लिए होने वाला निर्वाचन।
  • Militarism -- सैन्यवाद
नागरिक स्वतंत्रता तथा नागरिक मूल्यों की अवहेलना करते हुए युद्ध-शक्ति तथा सैन्यबल को अधिक महत्व देने का सिद्धांत। इस सिद्धांत के समर्थकों का मत है कि आक्रामक तत्परता की नीति तथा सैनिक गुणों वं आदर्शों का प्रसार एवं प्रोत्साहन ही “सैन्यवाद” है।
  • Militaristic regime -- सैन्यवादी शासन
सैन्य शक्ति में विश्वास करने वाला वह राज्य जहाँ के शासन की बागडोर सेना के किसी उच्चाधिकारी या सैन्य गुट के हाथ में हो और जिसमें नागरिक संस्थाओं तथा मूल्यों की उपेक्षा हो और सैन्यबल को प्राथमिकता दी जाती हो।
  • Military alliance ( = military pact) -- सैनिक मैत्री, सैनिक गठबंधन
वह गठबंधन जो किसी निश्चित अथवा संभावित शत्रु के विरुद्ध पारस्परिक सैनिक सहायतार्थ दो या दो से अधिक राष्ट्रों के बीच संपन्न हुआ हो जैसे, नाटों, सिएटो आदि।
  • Military attache -- सैनिक अताशे
किसी अन्य देश की राजधानी में राजनयिक प्रतिनिधि के साथ प्रतिनियुक्त सैनिक अधिकारी जो उस देश की सैनिक गतिविधियों का अध्ययन करता है और उनकी सूचना अपने देश को देता है।
  • Military base -- सैनिक अड्डा
सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण वह स्थान जहाँ सैनिकों का जमाव रहता हो और जहाँ से सैनिक कार्रवाई की तैयारियाँ की जाती हैं।
  • Military coup d’etat -- बलात् राजपरिवर्तन
किसी देश की सेना द्वारा बलपूर्वक सत्ता हथियाने के लिए की गई सैनिक कार्रवाई जिसका प्रयोजन संबंधित देश की वर्तमान सरकार को अपदस्थ कर वहाँ पर सैनिक शासन स्थापित करना होता है।
  • Military dictatorship -- सैनिक तानाशाही, सैन्य अधिनायकत्व
ऐसा स्वेच्छाचारी शासन जिसकी बागडोर सैनिक अधिकारियों के हाथ में हो।
  • Military government -- सैनिक सरकार
ऐसी शासन व्यवस्था जिसकी बागडोर सैनिक अधिकारियों के हाथ में हो, न कि किसी निर्वाचित सरकार के हाथों में।
  • Military law -- सैन्य विधि, फौजी क़ानून
किसी राज्य की सैनिक व्यवस्था के लिए विधायक मंडल द्वारा बनाए गए वे सामान्य क़ानून तथा उनके अंतर्गत जारी किए गए नियम, अधिनियम, आदेश, निर्देश, आदि जो सैनिक बलों के सदस्यों का आचरण नियमित करते हैं और जो सैनिक न्यायालयों और जाँच न्यायालयों द्वारा प्रस्तुत मामलों को निपटाने के लिए काम में लाए जाते हैं।
  • Military operations -- सैनिक कार्रवाई
सेना द्वारा युद्ध की स्थिति में शत्रु पक्ष के विरुद्ध की गई कार्रवाई। ये तीन प्रकार की हो सकती हैं-स्थलीय, नौसैनिक तथा आकाशी।
  • Military pact -- सैनिक समझौता, सैनिक गठबंधन, दे. Military alliance.
  • Militia -- नागरिक सेना, मिलिशिया
नागरिकों का एक बल जिसे आवधिक प्रशिक्षण, अनुशासन तथा परेड के लिए एक नियमित सैन्य-बल के रूप में भर्ती किया जाता है किन्तु आपातकालीन परिस्थिति को छोड़कर, सामान्यतः सक्रिय सेवा में नहीं लिया जाता।
  • Minority government -- अल्पमत सरकार, अल्पसंख्यक सरकार
संसदीय सरकार में ऐसे दल का शासन जिसे संसद के निचले सदन में बहुमत प्राप्त न हो। जैसे, 1923 में ब्रिटेन में श्रमिक दल की सरकार तथा 1969-70 में तत्कालीन भारत सरकार। 1989-90 के काल में राष्ट्रीय मोर्चे की सरकार भी एक अल्पमत सरकार थी। उसे 524 सदस्यों के सदन में केवल 145 के लगभग स्थान प्राप्त थे और जो भारतीय जनता पार्टी तथा वामपंथी दलों के समर्थन पर आश्रित थी।
  • Minority representation -- अल्पसंख्यक प्रतिनिधित्व
किसी राज्य की संसद तथा अन्य विधायी निकायों में उस राज्य के अल्पसंख्यकों का समुचित प्रतिनिधित्व और इस हेतु अपनाए गए उपाय।
  • Misgovernment -- कुशासन
वह सरकार जो अयोग्य हाथों में होने तथा इसी प्रकार के अन्य कारणों से न केवल जनता की अपेक्षाओं को पूरा करने में असमर्थ हो, बल्कि जनता का अहित कर रही हो और सरकार की अकुशलता, दुर्बलता, अनिश्चितता के कारण नेता को अनेक कष्ट झेलने पड़ रहे हों।
  • Mission -- 1. दूत मंडल, 2. सेवादल
1. व्यक्तियों का ऐसा दल जिसे राज्य द्वारा किसी विशिष्ट उद्देश्य के प्रयोजन से, तथा राजनयिक अथवा सांस्कृतिक वार्ता चलाने या मैत्रीपूर्ण अथवा वाणिज्यिक संबंध स्थापित करने की दृष्टि से विदेश भेजा जाए। विदेशों में दूतावासों के लिए भी यही पद प्रयुक्त होता है। 2. धार्मिक तथा परमार्थ के कार्य करने के लिए विशेषतः गरीबों, बीमारों तथा अज्ञान में डूबे हुए व्यक्तियों का नैतिक तथा सामाजिक उत्थान करने के लिए गठित संस्था।
  • Monarchomach -- राजतंत्र-विरोधी
वंश परंपरागत राजसत्ता का विरोध करने वाला व्यक्ति।
  • Monarchy -- राजतंत्र
वह शासन प्रणाली जिसका केंद्रबिन्दु सर्वसत्ता सम्पन्न राजा, रानी, बादशाह अथवा सुलतान आदि हो। इस प्रकार के राज्यों में प्रायः कोई संविधान नहीं होता। राजा की इच्छा ही संविधान होती है। यदि कहीं संविधान होता भी है तो वह शासक की इच्छा के सम्मुख तुच्छ होता है। राजा वंशानुगत होता है।
  • Monocratic -- एक शासकीय
ऐसी शासन व्यवस्था जिसमें केवल एक व्यक्ति एकाकी रूप से राज्य करता है और जिसकी शक्तियाँ असीमित एवं निरंकुश होती हैं। एक शासकीय व्यवस्था दो प्रकार की होती है : (1) आनुवंशिक, तथा (2) बल प्रयोग से प्राप्त। बल प्रयोग से स्थापित की गई सत्ता अधिनायकवाद का ही रूप है।
  • Monolithic bloc -- एकाश्मीय गुट
साम्यवादी अथवा किसी अन्य विचारधारा वाले राज्यों का ऐसा समूह जिसमें कोई मतभेद या सैद्धांतिक विषमता न हो।
  • Monolithic totalitarianism -- एकाश्मीय सर्वाधिकारवाद
साम्यवादी अथवा अधिनायकवादी शासन-व्यवस्था जहाँ एक ऐसी सुदृढ़ एवं शक्तिशाली केंद्रीय सरकार होती है जिसमें किसी अन्य विरोधी राजनीतिक दल का कोई प्रतिनिधित्व नहीं होता और न ही इस प्रकार के दल को कोई मान्यता प्राप्त होती है।
  • Motion -- प्रस्ताव
वह प्रक्रिया जिसके द्वारा किसी सभा के सम्मुख कोई प्रश्न अथवा समस्या विचार-विमर्श अथवा निर्णय के लिए रखी जाती है।
  • Motion of confidence -- विश्वास प्रस्ताव
व्यवस्थापिका द्वारा सरकार के प्रति आस्था प्रकट करने के लिए पारित किया गया प्रस्ताव जो प्रायः सरकार के अनुरोध पर पारित किया जाता है। सरकार ऐसा अपने बहुमत को प्रदर्शित करने और अपनी स्थिति को सुदृढ़ करने के लिए करती है। 7 नवम्बर, 1990 को भारतीय लोक सभा में विश्वनाथ प्रताप सिंह की सरकार द्वारा प्रेषित विश्वास प्रस्ताव 152 के मुकाबले 356 मतों से अस्वीकृत कर दिया गया। अतः प्रधानमंत्री को तुरन्त पद-त्याग करना पड़ा। परन्तु 16 नवम्बर, 1990 को लोक सभा ने नए प्रधान मंत्री श्री चन्द्रशेखर द्वारा प्रेषित विश्वास प्रस्ताव को 156 के मुकाबले 280 मतों से स्वीकार कर लिया।
  • Motion of no-confidence -- अविश्वास प्रस्ताव
संसदात्मक शासन प्रणाली में सरकार अथवा मंत्रिमंडल संसद के प्रति उत्तरदायी होता है। वह उसी समय तक पदासीन रह सकता है जब तक संसद में उसे बहुमत का समर्थन प्राप्त हो। संसद सरकार के विरुद्ध अविश्वास प्रकट करने के लिए निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार विधिवत् प्रस्ताव पारित कर सकती है जिसे अविश्वास प्रस्ताव कहा जाता है। प्रायः संसद के निचले सदन को ही यह अधिकार प्राप्त होता है। अविश्वास प्रस्ताव के पास होने पर सरकार को पदत्याग करना पड़ता है। अविश्वास प्रस्ताव और विश्वास प्रस्ताव एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। दोनों का उद्देश्य एक ही है। अंतर केवल इतना है कि विश्वास प्रस्ताव सरकार द्वारा रखा जाता है और अविश्वास प्रस्ताव विपक्ष द्वारा।
  • Motion of thanks -- धन्यवाद प्रस्ताव
संसदीय शासन प्रणाली में राष्ट्रपति या राज्याध्यक्ष के अभिभाषणोपरांत सदन को सदस्यों द्वारा आभार प्रकट करने के लिए पेश किया गया धन्यवाद प्रस्ताव जो वास्तव में विरोधी दलों द्वारा सरकार की सामान्य आलोचना का एक अवसर और माध्यम होता है। वैसे, यह प्रस्ताव सरकार की ओर से रखा जाता है।
  • Multilateral agreement -- बहुपक्षीय समझौता
दो से अधिक राज्यों के बीच पारस्परिक हित के किसी राजनीतिक, सांस्कृतिक, व्यापारिक, वाणिज्यिक अथवा अन्य किसी विषय पर किया गया समझौता जो सब हस्ताक्षरकर्ता राज्यों के लिए क़ानूनी रूप से बाध्यकारी होता है।
  • Multilateral convention -- बहुपक्षीय अभिसमय, दे. Multilateral treaty.
  • Multilateral treaty -- बहुपक्षीय संधि
अंतर्राष्ट्रीय समझौता, अनुबंध अथवा संधि जिसके पक्षकार दो से अधिक राज्य हों। प्रायः ऐसे अनुबंध अथवा संधियाँ अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलनों में विचार-विमर्श के उपरांत ही अपनाए जाते हैं। ये राज्यों द्वारा अपनी-अपनी संवैधानिक प्रक्रिया से संपुष्टि कर दिए जाने पर ही लागू माने जाते हैं।
  • Municipal board -- नगरपालिका
नगरीय स्थानीय स्वशासन की व्यवस्था का एक अंग जिसका निर्वाचन स्थानीय जनता द्वारा होता है और जो नगर प्रशासन एवं नागरिक सुविधाओं-जैसे पानी, रोशनी, सफाई, रोगों की रोकथाम आदि का प्रबंध करता है।
  • Municipal court ( = national courts) -- राष्ट्रीय न्यायालय
राज्य के संविधान अथवा क़ानून के अंतर्गत स्थापित नियमित न्यायालय जो राज्य के क़ानूनों के अनुसार न्याय प्रशासन का कार्य करते हैं। अंतर्राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य में इन्हें म्यूनिसिपिल न्यायालय कहा जाता है। यद्यपि तथ्य की दृष्टि से ये विशुद्ध राष्ट्रीय न्यायालय होते हैं।
  • Mutiny -- ग़दर
राज्य की वैध सत्ता विशेषतः सैनिक सत्ता के विरुद्ध बगावत करना या उसके आदेशों को मानने से इंकार कर देना अथवा किसी अधिकारी के वैध आदेशों अथवा अनुशासन के नियमों की बलपूर्वक अवहेलना करके पूरे शासन की सत्ता को चुनौती देने के लिए आवाहन करना और सशस्त्र प्रयास करना।
  • Nation -- राष्ट्र
ऐसा जनसमूह जो भौगोलिक, धार्मिक, भाषायी और प्रजातीय बंधनों से एक सूत्र में बंधा है और जिसकी समान परंपराएँ, ऐतिहासिक अनुभव तथा आकांक्षाएँ हैं। प्रायः प्रत्येक ऐसे जनसमूह-अर्थात् “राष्ट्र” का अपना राज्य होता है। प्रथम महायुद्ध के दौरान मित्र राष्ट्रों ने यह आश्वासन दिया था कि युद्ध के उपरांत प्रत्येक राष्ट्रीय समूह को राजनीतिक दृष्टि से आत्मानिर्णय आश्वासन दिया था कि युद्ध के उपरांत प्रत्येक राष्ट्रीय समूह को राजनीतिक दृष्टि से आत्मनिर्णय का अधिकार दिया जाएगा। “राष्ट्र” के जो तत्व ऊपर उल्लिखित हैं, यह आवश्यक नहीं है कि किसी एक राष्ट्रीय समूह में वे सब विद्यमान हों। उदाहरणार्थ, एक राष्ट्र में अनेक धर्मावलंबी हो सकते हैं और एक ही धर्म के अनुयायी अनेक राष्ट्रों में हो सकते हैं।
  • National anthem -- राष्ट्रगान
ऐसा गीत, जिसे राष्ट्र-विशेष द्वारा विशिष्ट औपचारिक एवं महत्वपूर्ण सार्वजनिक अवसरों पर गाने अथवा उसकी धुन बजाने के लिए अपनाया गया हो। उक्त गीत या धुन को राष्ट्र के प्रति निष्ठा व्यक्त करने के लिए गाया अथवा बजाया जाता है। भारतीय संविधान सभा ने 24 जनवरी, 1950 को महाकवि रवीन्द्रनाथ ठाकुर के गीत “जन-गण-मन . . . . . . . .” को राष्ट्रगान के रूप में स्वीकार किया था। इसके साथ श्री बंकिमचन्द्र चटर्जी के गीत “वंदेमातरम्” को भी राष्ट्रगीत का स्थान दिया गया है क्योंकि स्वतंत्रता संग्राम में उक्त गीत स्वतंत्रता सेनानियों का प्रेरणा-स्रोत रहा है। राष्ट्रगान गाए जाने अथवा उसकी धुन बजाए जाने के समय नागरिकों को “सावधान” की स्थिति में खड़े होकर उसके प्रति सम्मान व्यक्त करना आवश्यक होता है।
  • National assembly -- नेशनल असेंबली, राष्ट्रीय विधान मंडल
किसी देश के निर्वाचित सदस्यों की केंद्रीय अथवा राष्ट्रीय विधि-निर्मात्री सभा जिसका नाम और कार्यविधि विभिन्न देशों में अलग-अलग है। यथा, फ्रांस में संसद के निचले सदन को नेशनल असेंबली तथा स्विट्ज़रलैंड में फैडरल असेंबली कहते हैं।
  • National flag -- राष्ट्रध्वज, राष्ट्रीय झंडा
किसी राष्ट्र के प्रतीक चिह्न के रूप में प्रयुक्त किया जानेवाला झंडा या पताका। भारत की संविधान सभा ने 22 जुलाई, 1947 को राष्ट्रीय झंडे को अपनाया और इसे राष्ट्र को समर्पित कर दिया गया। सभा के प्रस्ताव में यह घोषणा की गई कि भारत का राष्ट्रीय झंडा तिरंगा होगा जिसमें समान अनुपात में केसरिया, सफेद तथा हरे रंग की क्षैतिज पट्टियाँ होंगी। सफेद पट्टी के बीच गहरे नीले रंग में सारनाथ का सिंह स्तंभवाला चक्र होगा। राष्ट्रीय झंडे को प्रायः सभी महत्वपूर्ण सरकारी भवनों, उच्च न्यायालयों, सचिवालयों, आयुक्तों के कार्यालयों, जिलाधीशों के कार्यालयों जेलों, जिलाबोर्डो तथा जिला परिषदों और नगरपालिकाओं आदि के कार्यालयों और राष्ट्रीय दिवसों पर फहराया जाता है। झंडे का दुरुपयोग दंडनीय अपराध है।
  • National government -- राष्ट्रीय सरकार
संसदीय शासन-व्यवस्था में ऐसी सरकार जिसमें सभी प्रमुख राजनीतिक दलों को शामिल किया जाता है और जो प्रायः आपत्तिकाल में गठित की जाती है जैसे, युद्ध अथवा आंतरिक संकट के समय। ब्रिटेन में, दोनों महायुद्धों के दौरान इस प्रकार की सरकार गठित की गई थी।
  • National budget -- केंद्रीय बजट
केंद्रीय सरकार द्वारा आगामी वित्त-वर्ष के लिए अनुमानित आय और व्यय के आँकड़ों का लेखा। इसमें दो वर्ष पूर्व के वास्तविक आँकड़े, विगत वर्ष के संशोधित और आगामी वर्ष के अनुमानित आँकड़े दिए होते हैं।
  • Nationalism -- राष्ट्रवाद
किसी राष्ट्रीय समूह के सदस्यों में व्याप्त एकता एवं सुदृढ़ता की भावना जो अंततः उन्हें एक स्वतंत्र राजनीतिक इकाई के रूप में संगठित होने के लिए प्रेरित करती है।
  • Nationalistic megalomania -- राष्ट्रमूलक महत्वोन्माद, राष्ट्रमूलक महामन्यता
उन्माद अपने देश के प्रति अत्याधिक प्रेम की भावना। अपनी संस्कृति, अपने राजनीतिक संगठन, धर्म, भाषा, इतिहास आदि को अनावश्यक रूप से महत्व देना तथा श्रेष्ठ मानना। साथ ही, अन्य देशों को हेय दृष्टि से देखना तथा वहाँ के धर्म, संस्कृति, राजनीतिक संगठन आदि को हीन मानने की प्रवृत्ति।
  • Nationality -- राष्ट्रिकता
किसी राष्ट्र विशेष का, जन्मतः अथवा एक निश्चित अवधि तक आवास के कारण, प्राप्त नागरिकता। किसी अन्य देश की नागरिकता प्राप्त हो जाने पर राष्ट्रिकता भी बदल जाती है। विदेशियों द्वारा नागरिकता अथवा राष्ट्रिकता राज्य के नियमानुसार ही प्राप्त की जा सकती है।
  • Nationalization -- राष्ट्रीयकरण
संसद के क़ानून अथवा राष्ट्रपति के अध्यादेश द्वारा किसी निजी उद्योग अथवा उद्यम के राष्ट्रहित की दृष्टि से सरकारी स्वामित्व में लेने की प्रक्रिया। राष्ट्रीयकरण का उद्देश्य निजी उद्योगों और उद्यमों की व्यवस्था को ठीक करऩा तथा उनसे होनेवाली आय को राष्ट्रहित के कामों में लगाना होता है।
  • National liberation -- राष्ट्रीय विमुक्ति
किसी राष्ट्र द्वारा विदेशी दासता से मुक्त होने तथा स्वतंत्रता प्राप्त करने की स्थिति। भारत में राष्ट्रीय विमुक्ति की शुरूआत सन् 1857 के आंदोलन से हुई जो कालांतर में राष्ट्रीय स्वतंत्रता आंदोलन का रूप धारण कर गई और अन्त में 1947 में देश ने स्वतंत्रता प्राप्त की।
  • National regeneration -- राष्ट्रीय पुनरूज्जीवन
किसी राष्ट्र का गुलामी अथवा स्वेच्छाचारिता या प्रमाद आदि के कारण पतन हो जाने पर उसे पुनः विभिन्न राजनीतिक या सामाजिक आंदोलनों द्वारा जागृत करने, स्वतंत्र कराने अथवा वहाँ उच्च मानकों एवं जीवन-मूल्यों की स्थापना करने की प्रक्रिया।
  • National security -- राष्ट्रीय सुरक्षा
आंतरिक झगड़ों, उपद्रवों, विप्लवों अथवा बाह्य आक्रमणों से देश की रक्षा करने तथा देश में शांति बनाए रखने के लिए राज्य द्वारा सेना अथवा पुलिस के माध्यम से की गई सुरक्षा व्यवस्था।
  • National self-determination -- राष्ट्रीय आत्मनिर्णय
प्रत्येक राष्ट्र को अपनी शासन प्रणाली स्वेच्छानुसार निर्धारित करने का अधिकार जिसके लिए उसका एक स्वतंत्र संप्रभुतायुक्त राज्य के रूप में गठित होना आवश्यक पूर्वदशा है।
  • National waters -- राष्ट्रीय जलक्षेत्र
किसी राज्य के प्रदेश में स्थित वे जलक्षेत्र जैसे, नदियाँ, खाड़ियाँ, बंदरगाह, नहरें, झीलें आदि जो राज्य के पूर्ण क्षेत्राधिकार एवं नियंत्रण में होते हैं। राष्ट्रीय जलक्षेत्रों में संभवतः देश के भूभागीय समुद्र एवं मत्स्यहरण-क्षेत्र को भी शामिल किया जा सकता है।
  • Nation in arms -- युद्धोद्यत राष्ट्र
वे राष्ट्र जो आसन्न युद्ध अथवा वास्तविक युद्ध की स्थिति में अपनी संपूर्ण जन-शक्ति तथा आयुध बल को युद्ध का मुकाबला करने में लगा देते हैं या उसके लिए तत्पर रहते हैं। ऐसी ही स्थिति द्वितीय विश्व युद्ध में ग्रेट ब्रिटेन, जापान तथा जर्मनी की थी।
  • Nation-state -- राष्ट्र-राज्य
राष्ट्रीयता की धारणा पर आधारित राज्य। राष्ट्र-राज्य के सिद्धांत का उदय यूरोपीय देशों में सन 1500 से 1900 के बीच हुआ। इसके उदय से मध्यकालीन सामन्ती व्यवस्था और चर्च – राज्य की अवधारणा समाप्त हो गई। विचारों के धरातल पर मैक्यावली राष्ट्र-राज्य का अग्रदूत कहा जा सकता है।
  • NATO ( = North Atlantic Treaty Organisation) -- नाटो, उत्तरी एटलांटिक संधि-संगठन
सोवियत संघ के बढ़ते हुए प्रभाव से पश्चिम तथा केन्द्रीय यूरोप के बचाव के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका के प्रयत्नों के फलस्वरूप सन् 1949 में विभिन्न राज्यों द्वारा आत्मरक्षार्थ गठित किया गया एक क्षेत्रीय संगठन। उक्त संगठन के सदस्य देशों में संयुक्त राज्य अमेरिका, युनाइटेड किंग्डम, कनाडा, फ्रांस, पश्चिम जर्मनी, इटली, पुर्तगाल, डेनमार्क, नार्वे, आइसलैंड, बेल्जियम, हॉलैंड, लक्सम्बर्ग, ग्रीस तथा टर्की शामिल हैं। इस संगठन का निर्माण सामूहिक सुरक्षा के सिद्धांत पर हुआ है। नाटो का अपना एक स्थायी सैनिक मुख्यालय है।
  • Natural boundary -- प्राकृतिक सीमा
दो राज्यों के भूभागों को पृथक् करने वाले प्राकृतिक विभाजन जैसे नदी-नाले, चट्टानें पर्वतमाला आदि।
  • Natural frontier -- प्राकृतिक सीमांत, राष्ट्रीय सरहद
जहाँ किन्हीं दो या दो से अधिक देशों की सीमाओं का निर्धारण प्रकृति द्वारा हुआ हो वहाँ ऐसी सीमा को प्राकृतिक सीमांत कहते हैं, जैसे, चीन और भारत के बीच हिमालय और भारत तथा श्रीलंका के बीच हिंद महासागर।
  • Naturalization -- देशीयकरण, नागरिकीकरण
व्यक्तियों द्वारा किसी विदेशी राज्य की नागरिकता प्राप्त करना। ऐसा विदेशी राज्य के क़ानूनों के अंतर्गत निर्धारित शर्तो को पूरा करके किया जा सकता है जैसे दीर्घ निवास से, अचल संपत्ति प्राप्त करके, विवाह आदि से। परन्तु विभिन्न देशों में इसके लिए विभिन्न नियम हैं। दे. Acquisition of citizenship और naturalized citizenship.
  • Naturalized citizenship -- विधित: प्राप्त नागरिकता
साधारणतः इस रीति के अनुसार नागरिकता प्राप्त करने के लिए संबंधित देश की सरकार को नागरिकता-प्राप्ति के आशय का आवेदन करना पड़ता है। आवेदक को कुछ निर्धारित शर्तें भी पूरी करनी होती हैं जो सामान्यतः इस प्रकार हैं :- (1) एक निश्चित अवधि तक संबंधित देश में निवास, अमेरिका, इंग्लैंड में यह अवधि 5 वर्ष तथा फ्रांस में 10 वर्ष है, (2) संबंधित देश का नागरिक बनने के संकल्प की घ़ोषणा, (3) देशभक्ति की शपथ, (4) ऋणी न होना, तथा (5) नैतिक चरित्र का श्रेष्ठ होना, आदि। भारतीय नागरिकता अधिनियम 1955 में भारतीय नागरिक बनने के विषय में विस्तृत ब्यौरा दिया गया है।
  • Natural law -- नैसर्गिक नियम, प्राकृतिक नियम
ऐसे सामान्य नियम या सिद्धांत जो मानव की सहज बुद्धिमत्ता से प्रस्फुटित होते हैं और जिनका स्रोत मानव की सामाजिकता तथा उसकी बौद्धिक प्रकृति एवं उसका विवेक है। नैसर्गिक नियमों को आदिकाल से नैतिकता का एक ऐसा मानक माना जाता रहा है जिसकी कसौटी पर मनुष्यों तथा सरकारों के कार्यकलापों की परीक्षा की जाती रही है।
  • Natural rights -- नैसर्गिक अधिकार
वे अधिकार जो मानव की मूलभूत प्रकृति से संबद्ध होते हैं। उक्त अधिकारों की विवेचना सर्वप्रथम सत्रहवीं शताब्दी में जान लॉक ने की ती। लॉक ने राजाओं के दैवी अधिकारों के तत्कालीन सिद्धांत के विरोध में उक्त सिद्धांत का प्रतिपादन किया था। अमेरिकी संविधान के प्रमुख शिल्पी जैफरसन पर लॉक के विचारों का गहरा प्रभाव पड़ा और उसने “जीवन, स्वतंत्रता तथा प्रसन्नता की खोज” को मानव के नैसर्गिक अधिकारों के रूप में स्वीकार किया । लॉक मनुष्य के तीन नैसर्गिक अधिकारों का उल्लेख किया था-जीवन का अधिकार, स्वतंत्रता का अधिकार और सम्पत्ति का अधिकार।
  • Naval blockade -- समुद्री नाकाबंदी
युद्धकारी द्वारा अपने शत्रु देश के बंदरगाहों एवं तट से आवागमन का मार्ग अवरुद्ध कर देना ताकि उसका संपूर्ण समुद्री व्यापार बंद हो जाए और उसे बाहर से कोई अस्त्र-शस्त्र अथवा रसद पूर्ति प्राप्त न हो सके और न ही उसके तट एवं बंदरगाहों से कोई जलपोत बाहर जा सके।
  • Naval race -- नौसैनिक प्रतिस्पर्धा
विभिन्न राष्ट्रों द्वारा अपनी-अपनी नौसेना की शक्ति को बढ़ाने एवं सुदृढ़ बनाने की होड़।
  • Naxalite revolt -- नक्सलबाड़ी विद्रोह
पश्चिम बंगाल के नक्सलबाड़ी ग्राम से साम्यवादी नेता श्री चारु मजूमदार द्वारा 1960 के उत्तरार्ध में शुरू किया गया साम्यवादी आंदोलन जिसका उद्देश्य इस आंदोलन के कार्यकारी नेता श्री कानू सान्याल के असार सशस्त्र कृषि-क्रांति द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों को मुक्त करना और फिर बाद में नगरों को घेर लेना तथा इस प्रकार देश को आजाद कराना था। एक समय नक्सलवादियों का आंतक काफ़ी बढ़ गया था और बंगाल के बाहर भी इसका प्रभाव शुरू हो चला था किंतु चूंकि उक्त आंदोलन आंतकवादी नीतियों पर आधारित था, अतः इसे सामान्य जनता का समर्थन प्राप्त न हो सका।
  • Nazism -- नात्सीवाद, नाज़ीवाद
तृतीय जर्मन रीश के कार्यकाल में राष्ट्रीय समाजवादी जर्मन दल द्वारा प्रतिपादित तथा कार्यान्वित राजनीतिक और आर्थिक विचारधारा। इसके सिद्धांतों में राज्य की समग्रवादिता, उद्योगों पर राज्य का नियंत्रण तथा जातीय दृष्टि से श्रेष्ठ जर्मन लोगों का आधिपत्य और साम्यवाद का प्रतिरोध आदि सम्मिलित रहे हैं। नाज़ीवाद का उदय प्रथम विश्वयुद्ध के बाद हुआ। वास्तव में फ़ासीवाद का जर्मन रूप ही नाज़ीवाद का प्रमुख प्रणेता प्रसिद्ध जर्मन राष्ट्रवादी हिटलर माना जाता है। नाज़ीवाद फ़ासीवाद की ही भांति उदारतावादी एवं जनवादी परंपराओं का विरोधी है। यह समानता के सिद्धांत को स्वीकार नहीं करता।
  • Negative vote -- नकारात्मक मत
किसी प्रस्ताव अथवा विधेयक के विरुद्ध दिया गया मत।
  • Negotistion -- वार्ता, संधिवार्ता, समझौते की बातचीत
दो या दो से अधिक देशों के अध्यक्षों अथवा उनके राजनयिक प्रतिनिधियों के बीच कोई राजनीतिक, वाणिज्यिक अथवा किसी भी विषय से संबंधित संधि संपन्न करने अथवा किसी अंतर्राष्ट्रीय मामले में मतैक्य स्थापित करने या किसी विवाद का हल ढूँढ़ निकालने की दृष्टि से की गई पारस्परिक चर्चा, वार्ता अथवा पत्राचार।
  • Neo-cololnialism -- नव उपनिवेशवाद
द्वितीय महायुद्ध के पश्चात् नवीन स्वतंत्रता-प्राप्त राज्यों पर पश्चिमी साम्राज्यवादी राष्ट्रों द्वारा अपना वाणिज्यिक, आर्थिक एवं सैनिक प्रभुत्व एवं नियंत्रण बनाए रखने की नीति। यह प्रभुत्व एवं नियंत्रण प्रायः आर्थिक सहायता, सैनिक सहायता आदि अन्य गैर राजनीतिक उपायों से स्थापित किया जाता है। इस प्रकार के प्रभुत्व को “नव-उपनिवेशवाद” कहा गया है। इस शब्द का प्रयोग प्रारंभ में साम्यवादी लेखनों में किया गया था।
  • Nepotism -- भाई-भतीजावाद, स्वजन-पक्षपात
राजनीतिज्ञों तथा अन्य सार्वजनिक अधिकारियों द्वारा प्रशासन तथा लोक सेवाओं में अपने नाते-रिश्तेदारों को भर्ती कराने तथा ठेके, रिंयायतें अथवा अनेक ऐसी सुविधाएँ दिलाने की परिपाटी जिसके लिए वे नियमानुसार योग्य व सक्षम न हों।
  • Neutral area -- तटस्थ क्षेत्र
वह क्षेत्र जिसे दो यह दो से अधिक राष्ट्रों द्वारा किसी अंतर्राष्ट्रीय संधि या समझौते के परिणामस्वरूप युद्धात्मक गतिविधियों से उन्मुख घोषित कर दिया जाए।
  • Neutral goods -- तटस्थ राज्य पण्य
ऐसा सामान जो तटस्थ राज्य के नागरिकों या स्वयं तटस्थ राज्य का हो, चाहे वह शत्रु पोत पर पाया जाए या तटस्थ पोत पर।
  • Nuetralism -- तटस्थवाद
तटस्थता का सिद्धांत । संघर्षरत राज्यों में से किसी भी राज्य का पक्ष न लेने तथा दोनों के प्रति समभाव बनाए रखने की नीति। कुछ लेखक इस शब्द का प्रयोग उन देशों के लिए कराते हैं जो द्वितीय महायुद्ध के उपरांत शीत युद्ध के परिप्रेक्ष्य में गुट-निरपेक्षता अथवा असंलग्रता की नीति अपना रहे थे।
  • Neutralist nation -- तटस्थवादी
राष्ट्र वह राष्ट्र जो दो या दो से अधिक युद्धरत राष्ट्रों में किसी एक का भी पक्ष न ले और किसी को भी किसी प्रकार की सहायता न दे।
  • Neutrality treaty -- तटस्थता संधि
किन्हीं दो या दो से अधिक राज्यों के बीच इस आशय से निष्पादित संधि या समझौता कि संधिकर्ता राज्यों में से किसी राज्य का किसी अन्य राज्य के साथ सैनिक संघर्ष होने की स्थिति में संघिकर्ता अन्य राज्य के साथ निष्पक्षं तथा तटस्थ रहेंगे और साथ ही, युद्धकारी राज्यों को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष, किसी भी रूप में सैनिक या आर्थिक सहायता प्रदान नहीं करेंगे।
  • Neutral waters -- तटस्थ जलक्षेत्र
वह जलक्षेत्र जिसे युद्ध की संक्रियाओं से उन्मुक्त रखने की दृष्टि से संबंधित तटवर्ती राज्यों की सरकारों द्वारा किसी संधि अथवा समझौते के अधीन तटस्थ घोषित कर दिया गया हो। इस प्रकार के जलक्षेत्र को युद्ध की गतिविधियों से अलग रखा जाता है ताकि इसके माध्यम से होनेवाले आयात-निर्यात में कोई वाधा उत्पन्न न हो।
  • New Deal -- नई व्यवस्था, न्यू डील
अमेरिकी राष्ट्रपति फैंकलिन डी. रूजवैंल्ट द्वारा 2 जुलाई 1932 को शिकागो में हुए डेमोक्रेटिक नेशनल कन्वेशन के सम्मुख अमेरिकी लोगों के लिए प्रस्तावित एक नवीन आर्थिक एवं सामाजिक कार्यक्रम जिसका उद्देश्य विश्वव्यापी आर्थिक मन्दी का सामना करना था। इस कार्यक्रम के अंतर्गत रूजवैल्ट प्रशासन ने ऐसे अधिनियम पारित किए जिनके प्रभावस्वरूप सरकार ने काफी सीमा तक कृषि तथा आर्थिक मामलों में हस्तक्षेप करने का अधिकार ले लिया तथा सामाजिक कल्याण के अनेक कार्यक्रमों का विस्तार भी किया। उक्त “नई व्यवस्था” पर्याप्त विवादास्पद रही। सरकार ने इस योजना के अधीन लोक-कल्याण के अनेक कार्यक्रम अपनाए जिनकी रूपरेखा लोक-निर्माण कार्य-प्रशासन द्वारा तैयार की गई। सरकारी आर्थिक सहायता से सामूहिक भवन-निर्माण का कार्यक्रम भी चलाया गया। मज़दूरों के ट्रेड यूनियन बनाने के अधिकार को क़ानूनी मान्यता दे दी गई और इस दिशा में राष्ट्रीय श्रम संबंध अधिनियम, 1935 पारित किया गया।
  • New left -- नव वामपंथ
नव वामपंथ एक ऐसी समाजवादी विचारधारा है जो न केवल पूँजीवादी व्यवस्था के विरोध बल्कि विश्व में विद्यमान समाजवादी एवं साम्यवादी व्यवस्थाओं के कार्यान्वयन के प्रति घोर असंतोष के कारण उत्पन्न हुई। इसके प्रवर्तकों में हरवर्ट कार्म्यूस, चे गेवेंरा व फ्रेज फेनन के नाम प्रमुख हैं। इन्होंने समाज में एक नई क्रांति का आहवान किया है तथा इसमें युवापीढ़ी की विशेष भूमिका का भी उल्लेख है।
  • Nihilism -- विनाशवाद, विध्वंसवाद
सामाजिक सिद्धांत के रूप में यह मान्यता कि प्रगति का मार्ग सभी वर्तमान सामाजिक तथा राजनीतिक संगठनों को समाप्त करके ही प्रशस्त हो सकता है। दूसरे शब्दों में, वर्तमान मानकों एवं संस्थाओं को नष्ट करके ही नए मूल्यों की स्थापना की जा सकती है। (दर्शन में) सत्य के निरपेक्ष न होने, उसे न जान सकने सकने तथा जानकर व्यक्त न किए जा सकने का सिद्धांत।
  • No-confidence motion -- अविश्वास प्रस्ताव
संसदीय शासन-व्यवस्था वाले राज्यों में विधान मंडल के निचले सदन के किसी सदस्य (प्रायः विरोधी दल के नेता) द्वारा सदन में रखा गया वह औपचारिक प्रस्ताव जिसमें राज्य की वर्तमान सरकार के किसी मंत्री विशेष या समूची सरकार की कटु आलोचना करते हुए उसमें अविश्वास व्यक्त किया गया हो। इस प्रकार के प्रस्ताव का प्रयोजन सरकार को त्याग पत्र देने के लिए विवश करना होता है। इसके पारित होने की स्थिति में सरकार को पदत्याग करना पड़ता है।
  • No lobbying -- “लॉबी-प्रचार” निषेध, “गोष्ठीकक्ष-प्रचार” निषेध
विभिन्न हितों को विधायकों से निजी संपर्क स्थापित करने से रोकना ताकि वे, उनसे किसी विधेयक का समर्थन अथवा उसका विरोध कराने के लिए उनके मत को प्रभावित न कर सकें। इसका उद्देश्य राजनीतिक भ्रष्टाचार को रोकना होता है।
  • No man’s land -- 1. अस्वाभिक भूमि 2. अवांतर भूमि
1. ऐसा भूभाग जिसका कोई स्वामी न हो। यह प्रायः दो राज्यों की सीमाओं के बीच सीमांकन के समय उन दोनों की परस्पर सहमति अथवा समझौते से छोड़ दिया जाता है और वहाँ कोई प्रशासन अथवा नियंत्रण नहीं रहता।
2. ऐतिहासिक दृष्टि से, वे भूभाग “अवांतर क्षेत्र” कहलाते थे जो पूर्णतः अविकसित थे और जहाँ की अपनी कोई सभ्यता या संस्कृति नहीं थी तथा जिन्हें विदेशी उपनिवेशी शक्तियों ने आबाद किया। ऐसे बड़े प्रदेशों में उत्तरी अमेरिका तथा लेटिन अमेरिका हैं जिन्हें यूरोपीय देशों के लोगों ने आबाद किया। आस्ट्रेलिया भी इसी प्रकार का महाद्वीप है।
  • Non aggression treaty ( = no war pact) -- अनाक्रमण संधि
किन्ही दो या दो से अधिक राज्यों के बीच युद्ध की संभावनाओं को पूर्णतः समाप्त करने की दृष्टि से किया गया पारसपरिक समझौता या संधि। इस प्रकार की संधि की बात प्रायः उन्हीं राज्यों के बीच उठती है जहाँ पारस्परिक तनाव की स्थिति बनी रहती हो। उक्त संधि में इस बात पर विशेष बल दिया जाता है कि संबंधित राज्य आपसी समस्याओं का समाधान पारस्परिक बातचीत से करेंगे और किसी भी स्थिति में एक दूसरे पर अग्र-आक्रमण नहीं करेंगे। उदाहरणार्थ, भारत के प्रथम् प्रधान मंत्री श्री जवाहरलाल नेहरू ने पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री लियाकत अली खाँ से “अनाक्रमण संधि” करने का प्रस्ताव किया था जिसे उन्होंने अस्वीकार कर दिया। बाद में, इस प्रकार के प्रस्ताव अनेक बार पाकिस्तान के सम्मुख रखे जा चुके हैं किंतु उन्हें सदैव अस्वीकार किया जाता रहा है।
  • Non-belligerency -- अयुद्ध स्थिति, अयुद्धकारिता
युद्धकाल में उन देशों की स्थिति जो युद्ध-कार्य में भाग नहीं लेते परंतु जिन्हें पूर्णरूपेण तटस्थ भी नहीं कहा जा सकता। प्रायः ऐसी स्थिति उस समय उत्पन्न हो सकती है जब संयुक्त राष्ट्र के तत्वावधान में कोई सशस्त्र कार्रवाई की जा रही हो जिसमें कुछ ही देशों के सैनिक सैनिक कार्रवाई में भाग ले रहे हों। अन्य देश, जो संयुक्त राष्ट्र के सदस्य तो हैं पर सैनिक कार्रवाई में भाग नहीं ले रहे हैं, न युद्धरत कहे जा सकते हैं और न तटस्थ। ऐसे देशों को गैर युद्धकारी कहा-जाता है और उनकी वैधिक स्थिति को अयुद्धकारिता की स्थिति कहा जाता है। दोनों महायुद्धों के प्रारंभिक चरणों में संयुक्त राज्य अमेरिका की युद्धकारी बनने से पूर्व यही स्थिति थी।
  • Non combatant -- अयोधी
युद्ध में सक्रिय भाग न लेनेवाला। इस प्रकार के लोग सैनिक सेवा में भी होते है यथा, धोबी, नाई, मोची, रसोइया, पूजारी आदि जिनका कार्य लड़ना न होकर सेना में काम करने वाले लोगों की सेवा करना तथा सैनिक संस्थानों की विभिन्न आवश्यकताओं को पूरा करना होता है।
  • Non-extradition -- अप्रत्यर्पण
किसी अपराधी द्वारा अपने देश से भागकर किसी अन्य देश में शरण ले लेने पर, दोनों देशों के बीच किसी प्रत्यर्पण संधि के अभाव में, संबंधित अपराधी को उसके मूलदेश को वापस न किए जाने की स्थिति।
  • Non interference -- अहस्तक्षेप
किसी राज्य के आंतरिक मामलों को किसी अन्य राज्य द्वारा प्रत्यक्ष अथवा परोक्ष रूप से, उसकी सहमति के विरुद्ध हस्तक्षेप न करने की नीति। अहस्तक्षेप की नीति भारत द्वारा प्रणीत “पंचशील” के सिद्धांतों का एक प्रमुख अंग है।
  • Non-intervention treaty -- अहस्तक्षेप संधि
किन्हीं दो या दो से अधिक राज्यों के बीच इस आशय से की गई संधि अथवा समझौता कि वे एक दूसरे के आंतरिक अथवा बाह्य मामलों को उनकी सहमति के विरुद्ध निर्देशात्मक ढंग से इस प्रकार प्रभावित करने का प्रयास नहीं करेंगे जो उनकी संप्रभुता, स्वतंत्रता अथवा अखंडता के प्रतिकूल हो।
  • Non party government -- निर्दलीय शासन/निर्दलीय सरकार
ऐसी सरकार जिसके सदस्य किसी राजनीतिक दल विशेष से संबंध न रखते हों तथा जिसमें समाज के विभिन्न हितों यथा, उद्योग, वाणिज्य, श्रमिक संगठन कृषि, बुद्धिजीवियों तथा अन्य सभी प्रधान वर्गों का प्रतिनिधित्व हो और जो दलगत राजनीति से हटकर व्यापक राष्ट्रीय कल्याण के लिए कार्य करें। इस प्रकार की सरकार तथा राष्ट्रीय सरकार में अंतर होता है। राष्ट्रीय सरकार प्रायः विभिन्न राजनीतिक दलों की मिली-जुली सरकार होती है जबकि निर्दलीय सरकार में राजनीतिक दलों का पूर्णतः अभाव होता है।
  • Non permanent member -- अस्थायी सदस्य
संयुक्त राष्ट्र की कार्यकारिणी, सुरक्षा परिषद् के पाँच स्थायी सदस्यों अर्थात्, रूस, अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस तथा चीन के अतिरिक्त अन्य 10 सदस्य। उक्त दस अस्थायी सदस्य राष्ट्रों का निर्वाचन संयुक्त राष्ट्र की महासभा द्वारा दो वर्षों के लिए किया जाता है। सुरक्षा परिषद् के स्थायी सदस्यों को निषेधाधिकार प्राप्त है जबकि अस्थायी सदस्यों को इस प्रकार का कोई अधिकार नहीं है। निर्णय के लिए 5 स्थायी सदस्यों सहित कुल नौ सदस्यों की सहमति आवश्यक है।
  • Non proliferation Treaty (NPT) -- परमाणु शस्त्र प्रसार-निरोधक संधि
एक अंतर्राष्ट्रीय समझौता जिसका लक्ष्य नाभिकीय अस्त्रों के प्रसार को रोकना है। इस समझौते को जून, 1968 में संयुक्त राष्ट्र की महासभा ने स्वीकृति प्रदान की थी और तीन नाभिकीय शक्तियों-ब्रिटेन, सोवियत संघ, संयुक्त राज्य अमेरिका का अनुमोदन पाकर यह 1969 से प्रभावकारी हो गया। इसके अंतर्गत नाभिकीय अस्त्रधारी राज्य इस बात के लिए वचनबद्ध हैं कि वे किसी ऐसे राज्य को जिसके पास नाभिकीय अस्त्र नहीं हैं, नाभिकीय शस्त्रास्त्रों के निर्माण में न कोई सहायता देंगे और न प्रोत्साहन और न ही नाभिकीय शस्त्रास्त्र उसे स्थानांतरित करेंगे। इस समझौते पर हस्ताक्षर करने वाले गैर नाभिकीय राज्य नाभिकीय शस्त्रों का निर्माण न करने और उन्हें प्राप्त न करने का वचन देते हैं।
  • Non violence -- अहिंसा
निजी, दलीय अथवा राजनीतिक उद्देश्यों की पूर्ति के लिए बल-प्रयोग अथवा बल-प्रयोग की धमकी का किसी भी रूप में प्रयोग न किया जाना। विश्व के विभिन्न धर्मों में सत्य और अहिंसा के आचरण का उपदेश दिया गया है। सम्राट अशोक ने कलिंग विजय के उपररांत “अहिंसा” की व्याख्या की और उसका उपयोग व्यापक पैमाने पर, व्यक्तिगत तथा सामाजिक एवं राजनीतिक, सभी क्षेत्रों में किया। उन्होंने अहिंसा को साधु-संन्यासियों का ही अलंकरण न मानकर इसे जीवन के व्यावहारिक दर्शन का तत्व माना। उनके अनुसार अहिंसा कोई निषेधात्मक अस्त्र नहीं है, वह तो सकारात्मक शक्तिस्रोत है। वे सभी प्रकार के अन्यायों पर अहिंसा द्वारा विजय प्राप्त करने में विश्वास रखते थे।
  • Non voter -- गैर मतदाता
1. प्रचलित क़ानून के अंतर्गत जिन नागरिकों को मताधिकार प्राप्त नहीं है वे “गैर मतदाता” कहलाते हैं।
2. वे मतदाता जिन्हें मताधिकार तो प्राप्त है पर जो किन्ही कारणों से जिनमें अरुचि तथा आलस्य प्रमुख हैं, मतदान करने का कष्ट नहीं करते।
  • Non war hostility -- सशस्त्र कार्रवाई, दे. Armed action.
  • Notaries Act -- नोटरी अधिनियम
1952 का वह अधिनियम जिसके अंतर्गत प्रलेखों को साक्ष्यांकित करने, उनकी प्रतिलिपियों को प्रामाणिक बनाने आदि की क्रियाविधि बताई गई है तथा ऐसा करने के लिए सक्षम व्यक्ति की अर्हताओं का उल्लेख किया गया है।
  • No taxation without representation -- बिना प्रतिनिधित्व कोई कर नहीं
1. करदाता का सरकार के निर्माण में भाग लेने के अधिकार का सिद्धांत।
2. संयुक्त राज्य अमेरिका के स्वतंत्र होने से पूर्व वहाँ की उपनिवेशी ब्रिटिश सरकार के विरुद्ध अमेरिकियों द्वारा, उन्हें ब्रिटिश पार्लियामेंट में प्रतिनिधित्व न मिलने के कारण, शुरू किया गया आंदोलन। उक्त आंदोलन का नेतृत्व अमेरिका के प्रथम राष्ट्रपति जार्ज वाशिंगटन द्वारा किया गया था। ब्रिटिश पार्लियामेंट में प्रतिनिधित्व की माँग का घोर विरोध किए जाने पर, अमेरिकियों ने अंग्रेज सरकार को कर देने से इंकार कर दिया। शनै: शनै: उक्त आंदोलन ने एक क्रांति का रूप ले लिया जिसके फलस्वरूप अमेरिका का एक स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में उदय हुआ।
  • Note of disent -- विसम्मति की टिप्पणी
किसी मामले पर निर्णय लेने के लिए गठित समिति के सदस्यों में से किसी एक या एक से अधिक सदस्यों द्वारा उसके बहुमत के निर्णय के विरुद्ध लिखी गई टिप्पणी।
  • Note of protest -- विरोध पत्र
किसी अप्रिय, अनुचित अथवा अवैध कार्य के विरोध में लिखा गया शिकायती पत्र जिसमें उक्त गतिविधियों के प्रति आक्रोश प्रकट किया जाता है तथा भविष्य में ऐसा न किए जाने की चेतावनी भी दी जाती है;
  • No trust motion -- अविश्वास प्रस्ताव, दे. No confidence motion.
  • No war pact -- युद्ध-वर्जन समझौता, दे. Non aggression treaty.
  • Nuclear club -- परमाणु क्लब, दे. Atomic Club.
  • Nuclear deterrence -- नाभिकीय भयावरोध
नाभिकीय अस्त्रों की विनाशकारी शक्ति इतनी भयावह है कि किसी राज्य के पास नाभिकीय अस्त्र होने पर भी वह इनका प्रयोग इस भय के कारण नहीं कर सकता कि यदि आक्रांत राज्य ने भी प्रतिशोध में इसी प्रकार के अस्त्रों का प्रयोग किया तो दोनों का ही समूल विनाश हो जाएगा। इस प्रकार नाभिकीय अस्त्रों का होना ही राज्यों को एक-दूसरे के विरुद्ध इनका प्रयोग करने से रोकता है। इसी स्थिति को “नाभिकीय भयावरोध” कहते है।
  • Nuclear free zone -- नाभिकीय अस्त्रमुक्त क्षेत्र
संसार के वे क्षेत्र जहाँ राष्ट्रों की संधियों और समझौतों के अंतर्गत नाभिकीय अस्त्रों का स्थापन वर्जित कर दिया गया है जैसे, अंटार्कटिका, समुद्रतल और बाह्य अंतरिक्ष।
  • Nuclear umbrella -- नाभिकीय छत
नाभिकीय अस्त्रधारी राज्यों द्वारा उन राज्यों को संरक्षण देने का आश्वासन जिनके पास नाभिकीय अस्त्रशस्त्र नहीं हैं। यह इस शर्त पर दिया जाता है कि वे राज्य 1969 की परमाणु अस्त्र प्रसार-निरोधक संधि को स्वीकार करेंगे और तदनुसार अपने यहाँ नाभिकीय अस्त्रों का निर्माण नहीं करेंगे।
  • Nuclear winter -- नाभिकीय शीत
वैज्ञानिकों ने अनुमान लगाया है कि नाभिकीय बमों के प्रयोग से जो ध्रुआँ, गर्द और गैसें निकलेंगी, वे इतनी तीव्र तथा गहन होंगी कि सूर्य को पूर्णतया ढक लेंगी जिसके परिणामस्वरूप सूर्य की किरणों तथा सूर्य का ताप धरती तक नहीं पहुँच पाएगा और धरती ठंड से लगभग जम जाएगी। इस स्थिति को “नाभिकीय शीत” कहा गया है।
  • Nulla peona sine lege -- विधि बिना दंड नहीं
किसी व्यक्ति को विधि-सिद्ध अपराध के अभाव में दंड न देने का सिद्धांत। इस सिद्धांत के अनुसार अभियुक्त पर लगाए गए आरोपों का प्रचलित विधि द्वारा सिद्ध किया जाना आवश्यक होता है। यदि उसका अपराध उक्त प्रकार से सिद्ध नहीं होता तो उसे दंडित नहीं किया जा सकता। उसे केवल उतना ही दंड दिया जा सकता है जितना कि प्रचलित विधि द्वारा निर्धारित हो, उससे अधिक नहीं।
  • Nullum crimen sine poena -- कोई अपराध दंडरहित नहीं, न कोsपि अपराधोयन्नदंड्यः
किसी अभियुक्त का अपराध सिद्ध हो जाने पर उसे अवश्य दंडित किए जाने का सिद्धांत। इस सिद्धांत के दो पक्ष हैं-एक तो अपराधकर्ता को उसके अवैध कृत्य के लिए दंडित करना ताकि वह भविष्य में ऐसा न करे और दूसरे, उक्त दंड-व्यवस्था समाज के अन्य सदस्यों के लिए निवारक-शक्ति का काम भी करती है। यदि अपराधी को दंड नहीं मिला तो अन्य लोग भी अपराध प्रिय हो जाएँगे और परिणामतः जनजीवन दुर्व्यवस्थित तथा निरुद्देश्य हो जाएगा।
  • Nuncio (papal) -- नन्सिओ
पोप द्वारा नियुक्त राजनथिक प्रतिनिधि। ये दो श्रेणी के होते हैं। एक प्रवर श्रेणी के जिन्हें नन्सिओ तथा दूसरे, अवर श्रेणी के जिन्हें इन्टरनन्सिओ कहा जाता है।
  • Oligarchy -- अल्पतंत्र
अरस्तु के द्वारा दिए गए सरकारों के वर्गीकरण में कुलीनतंत्र का भ्रष्ट स्वरूप जिसमें शासन सत्ता समाज के धनी वर्गों व सम्पत्तिशालियों के हाथों में होती है और राजनीतिक व्यवस्था उनके हितों के संरक्षण को प्रधानता देती है। अभिजनवादियों के अनुसार लोकतंत्र में भी राजनीतिक सत्ता स्वभावतः कुछ ही लोगों के हाथों में केंद्रित हो जाती है और इस प्रकार प्रत्येक लोकतंत्र, व्यव हार में, स्वाभाविक रूप से “अल्पतंत्र” को ही जन्म देता है।
  • One dominant party system -- एक दल प्राबल्य व्यवस्था
ऐसी दल-व्यवस्था जिसमें एक दल का प्रभुत्व इतना व्यापक और दृढ़ हो कि शेष दल संयुक्त रूप से भी उसके समक्ष प्रभावहीन हों। जैसे, भारत में स्वतंत्रता के उपरांत 1967 तक भारतीय राजनीति में कांग्रेस की स्थिति ऐसी ही थी।
  • Oost politik -- O
  • Open primary (= open primary election) -- खुला प्राथमिक निर्वाचन सम्मेलन
संयुक्त राज्य अमेरिका के अनेक राज्यों में राष्ट्रपति के निर्वाचन के लिए गठित निर्वाचक मंडल के उम्मीदवारों को नामांकित करने के लिए आयोजित किए गए राजनीतिक दलों के सम्मेलन जिनमें दल के सभी प्रारंभिक सदस्य भाग ले सकते हैं।
  • Open sea -- मुक्त सागर
समुद्र का वह भाग जो किसी देश विशेष के क्षेत्राधिकार में नहीं होता और जिसमें सभी राज्यों को नौपरिवहन, मत्स्यहरण, समुद्री तार बिछाने, उसमें ऊपरी आकाश से उड़ान भरने और वैज्ञानिक शोध के कार्यक्रम चलाने के अधिकार होते हैं। इन अधिकारों को सामूहिक रूप से “समुद्री स्वतंत्रताएँ” कहा जाता है।
  • Operative provisions -- प्रवर्तनशील
उपबंध किसी अंतर्राष्ट्रीय संधि अथवा समझौते की वे धाराएँ जिनमें संधि को लागू करने से संबंधित निर्देशों का उल्लेख होता है।
  • Opposition -- विरोधी दल, विपक्ष
संसदीय अथवा लोकतांत्रिक पद्धति वाले किसी राज्य में सत्ताघारी दल के अतिरिक्त अन्य ऐसे राजनीतिक दल जो अपनी अल्प संख्या के कारण सरकार बनाने में असमर्थ होते हैं तथा संसद अथवा विधान सभाओं में सत्ताधारी दल की रीति-नीतियों का प्रायः विरोध करते हैं। इनका उद्देश्य आगामी चुनाव के लिए अपने अनुकूल जनमत तैयार करना होता है।
  • Opposition benches -- विरोधी बैंच, विरोधी पक्ष
किसी राज्य की संसद अथवा विधान सभाओं में विरोधी दलों के सदस्यों के बैठने का स्थान जो सामान्यतः अध्यक्ष के आसन के बाईं ओर होता है।
  • Order-in-council -- परिषदीय राजाज्ञा, सपरिषद्-आदेश
ब्रिटेन में प्रिवी-काउंसिल के परामर्श से, सम्राट अथवा साम्राज्ञी की ओर से जारी किया गया आदेश। ब्रिटिश साम्राज्य के उपनिवेशों के मामलों में भी उक्त प्रकार से जारी किए गए आदेश “सपरिषद-आदेश” कहलाते हैं।
  • Order of precedence -- पूर्वता क्रम
किसी राज्य में पदों का, उनकी गरिमा एवं महत्ता की दृष्टि से क्रम निर्धारण।
  • Ordinance power -- अध्यादेश
शक्ति भारत में राष्ट्रपति या राज्यपाल को संविधान द्वारा प्रदत्त वह शक्ति जिसके अधीन वह अध्यादेश जारी कर सकता है। इस प्रकार के अध्यादेश केवल संसद अथवा विधानमंडल के सत्रों के अंतराल में जारी किए जा सकते हैं। राज्यों में राष्ट्रपति-शासन होने की दशा में अध्यादेश जारी करने का अधिकार राष्ट्रपति को प्राप्त है। राष्ट्रपति अथवा राज्यपाल द्वारा जारी किए गए इन अध्यादेशों का सदनों द्वारा अनुमोदन किया जाना आवश्यक होता है। कोई अध्यादेश संसद अथवा विधान मंडल का अनुमोदन प्राप्त करके अधिक-से-अधिक छह मास तक लागू रह सकता है परन्तु अनुमोदन न मिलने की दशा में वह विधान मंडल के सत्र के शुरू होने के बाद छह सप्ताह से अधिक लागू नहीं रह सकता। अध्यादेशों का वही प्रभाव है जो संसद अथवा विधान मंडल द्वारा निर्मित क़ानूनों का होता है। अध्यादेश को उन सभी विषयों पर जारी किया जा सकता है जिन पर संसद अथवा विधान मंडल को विधि-निर्माण का अधिकार है।
  • Organizational behaviour -- संगठनजन्य व्यवहार, संगठन-व्यवहार, संगठनात्मक व्यवहार
किसी राजनीतिक, प्रशासनिक या सरकारी संस्था अथवा संगठन में कार्यकर्ताओं की कार्यकुशलता बढ़ाने तथा उनके बीच सौहार्द बनाए रखने की दृष्टि से उनके प्रति उचित मानवीय व्यवहार। संगठन-व्यवहार में इस बात की अपेक्षा की जाती है कि संस्था के सभी सदस्यों के बीच सौहार्द एवं सहकारिता की भावना बनी रहे। संगठन का व्यवहार इस प्रकार का हो कि उसके लक्ष्यों की पूर्ति उसके सीमित साधनों में संभव हो सके तथा कार्य में किसी प्रकार का अपव्यय या क्षय न हो। कर्मचारियों की निजी समस्याओं तथा उनके काम करने की दशाओं पर भी उचित ध्यान दिया जाना चाहिए।
  • Organized force -- संगठित शक्ति
1. शक्ति-सिद्धांत के अनुसार राज्य शक्ति का पुंज है। अपने सभी तत्वों सहित राज्य शक्ति का सुसंगठित स्वरूप है। 2. राज्य की वह शक्ति जिसके आधार पर राज्य समाज को सुसंगठित रखता है तथा अपनी आज्ञा का पालन कराता है। इस शक्ति के बल पर ही राज्य अपराधियों को दंडित करता है तथा न्यायप्रिय नागरिकों के जीवन स्तर को समुन्नत करने के उपायों को क्रियान्वित करता है। संगठित शक्ति के आधार पर ही राज्य विभिन्न कल्याणकारी कार्यक्रमों को चलाता है और हर प्रकार के आंतरिक एवं बाहय संकटों से नागरिकों की रक्षा करता है।
  • Orgburean -- आर्गब्यूरो
सोवियत संघ के साम्यवादी दल के प्रमुख अंगों में से एक अंग जो प्रायः दल के संगठन संबंधी मामलों का संचालन करता था। अब इसका उन्मूलन कर दिया गया है।
  • Original members -- मूल सदस्य
किसी संगठन, संधि, संघ अथवा संस्था के संस्थापक सदस्य। जैसे, किसी संधि को सम्पादित करने वाले हस्ताक्षरकर्ता राज्य सान्फ्रान्सिसको सम्मेलन में संयुक्त राष्ट्र के चार्टर पर हस्ताक्षर करने वाले 50 राज्य।
  • Original occupation -- मूल आधिपत्य
विश्व के किसी ऐसे पूर्णतः अविकसित क्षेत्र अथवा भूभाग को जहाँ ज्ञान तथा सभ्यता का अभ्युदय न हुआ तथा जहाँ पर किसी अन्य राज्य की प्रभुसत्ता न रही हो, किसी राज्य द्वारा प्रथम बार अपने अधिकार में लिया जाना।
  • Ostracism -- देश निकाला
एथेंस तथा अन्य यूनानी शहरों में किसी खतरनाक समझे जाने वाले व्यक्ति को, उस पर बिना मुकदमा चलाए या किसी प्रकार का दोषारोपण किए, देश से बाहर निकाल देने की पद्धति। ऐसा प्राय: बहुमत के आधार पर किया जाता था और कभी-कभी ऐसा करने में बल-प्रयोग का सहारा भी लिया जाता था।
  • Outbreak of hostilities -- युद्धारंभ
युद्ध अथवा युद्धात्मक कार्रवाइयों का प्रारंभ होना। हेग अनुबंध (1907) के अनुसार युद्ध का प्रारंभ विधिवत् चेतावनी देकर किया जाना चाहिए। दूसरे महायुद्ध से पूर्व तक इस नियम का सामान्यतः पालन हुआ परन्तु 1939 में जर्मनी द्वारा पोलैंड पर बिना किसी चेतावनी के आक्रमण किया गया था और तब से अब तक प्रायः इस अनुबंध की अवहेलना होती रही है। इसका मुख्य कारण यह है कि 1928 के पश्चात् अग्र-आक्रामक युद्ध अवैध घोषित हो जाने से (जिसका अनुसमर्थन राष्ट्र संघ के प्रसंविदा और संयुक्त राष्ट्र के चार्टर में भी मिलता है) कोई राज्य युद्ध की घोषणा करके अग्र-आक्रमणकारी होने का दोष अपने ऊपर लेना नहीं चाहता।
  • Out law -- विधि-बहिष्कृत
वह व्यक्ति, राज्य अथवा संस्था जो अपनी आपराधिता के कारण क़ानून के संरक्षण से वंचित कर दी जाए जैसे, जलदस्युओं को पकड़ने पर कोई भी राज्य दंडित कर सकता है भले ही उन्होंने दंड देने वाले राज्य के विरुद्ध कोई अपराध न किया हो।
  • Outlawry of war -- युद्ध-निषेध, युद्ध-वर्जन
इसका अर्थ है संप्रभु राज्यों को युद्ध का परंपरागत अधिकार न रहना। सर्वप्रथम 1928 में पेरिस में अमेरिका और फ्रांस के बीच एक सधि हुई थी जिसे कॉलग ब्रिया पैक्ट अथवा पेरिस पैक्ट भी कहते हैं। इसके अनुसार राज्यों ने राष्ट्रीय नीति के उपकरण के रूप में युद्ध के अधिकार को सीमित करने की घोषणा की गई थी। संयुक्त राष्ट्र के चार्टर में युद्ध तो क्या, सभी प्रकार के बल प्रयोग अथवा बल प्रयोग की धमकी देने के अधिकार से भी राज्यों ने अपने आपको वंचित कर दिया है। इस प्रकार, आज की अंतर्राष्ट्रीय विधि के अनुसार युद्ध पूर्णतया अवैध हो गया है।
  • Overseas department -- समुद्रपार विभाग
ग्रेट ब्रिटेन के विदेश मंत्रालय का एक अनुभाग जिसके अधीक्षण, निर्देशन तथा नियंत्रण में अंग्रेजी साम्राज्य में सम्मिलित उपनिवेशों का प्रशासन किया जाता था।
  • Overseas empire -- समुद्रपारीय साम्राज्य
इंगलैंड, पुर्तगाल, जर्मनी, इटली, फ्रांस तथा स्पेन आदि देशों के औपनिवेशिक प्रदेश जिनमें से अधिकांश अब स्वतंत्र हो चुके हैं और संयुक्त राष्ट्र के सदस्य बन चुके हैं।
  • Overseas possessions -- समुद्रपारीय अधिकृत क्षेत्र
किसी राज्य के विदेशों में स्थित छोटे-मोटे भूक्षेत्र जो उसकी संप्रभूता के अधीन अथवा उसके नियंत्रण अथवा क्षेत्राधिकार में हों।
  • Overwhelming majority -- भारी बहुमत
किसी दल अथवा विचार के पक्ष में आधे से कहीं अधिक मत जैसे दो तिहाई या तीन चौथाई या इससे भी अधिक।
  • Pacific blockade -- शांतिक़ालीन नाकाबंदी
शांतिकाल में, किसी राज्य द्वारा दूसरे राज्य को दंड देने के उद्देश्य से अथवा प्रतिशोध की भावना से अथवा उस पर दबाव डालने के उद्देश्य से, उसके तटों और बंदरगाहों से जलपोतों के निकलने का मार्ग अवरुद्ध करना। कभी-कभी बाहर आने वाले और अन्दर जाने वाले दोनों ही प्रकार के जलपोतों को इस संक्रिया में रोका जा सकता है। इस प्रकार की शांतिकालीन नाकाबंदी राज्यों के मध्य पारस्परिक विवादों के समाधान के बलकारी उपायों में से एक उपाय समझी जाती है।
  • Pacific settlement -- शांतिपूर्ण समझौता, शांतिपूर्ण निर्णय
राज्यों के बीच उत्पन्न किसी विवाद के समाधान के लिए वार्तालाप अथवा अन्य शांतिमय उपायों से सम्पादित समझौता अथवा संधि। इन उपायों का उल्लेख सबसे पहले 1899 के हेग कन्वेन्शन में किया गया था जिन्हें अब संयुक्त राष्ट्र के चार्टर के अनुच्छेद 33 में उद्धृत कर दिया गया है। ये उपाय हैं – वार्ता, सत्सेवा, मध्यस्थता, सुलह, विवाचन, न्यायिक प्रक्रिया और संयुक्त राष्ट्र की कार्रवाई।
  • Pacifism -- P
  • Pacifist -- शांतिवादी, युद्ध विरोधी
युद्ध का विरोध करने वाला तथा शांति का पक्षधर। ऐसे व्यक्तियों ने संयुक्त राज्य अमेरिका आदि अनेक देशों में युद्धकाल में सरकार की अनिवार्य सैनिक भर्ती की नीति का सक्रिय विरोध किया है।
  • Pacta sunt servanda -- संधि का सद्भाव
यह पद लेटिन भाषा का है जिसका अर्थ है कि राज्यों द्वारा की गई संधियों का उनके द्वारा निष्ठापूर्वक पालन किया जाना चाहिए।
  • Panchayati Raj -- पंचायती राज
भारतवर्ष के विभिन्न राज्यों में गाँव एवं जिलों के स्थानीय स्वशासन की त्रिस्तरीय व्यवस्था। इसका प्रारंभ 1959 में बलवंतराय मेहता समिति के प्रतिवेदन (1957) के आधार पर किया गया था। इस व्यवस्था के अंतर्गत गाँवों और जिलों के स्थानीय स्वशासन की प्राचीन एवं परंपरागत संस्थाओं को पुनः संगठित किया गया। इस नई पंचायती राज्य व्यवस्था के तीन अंग हैं :- 1. ग्राम पंचायत, 2. पंचायत समिति, 3. जिला परिषद्। परंतु कुछ राज्यों में इस त्रिस्तरीय व्यवस्था के स्थान पर केवल द्विस्तरीय व्यवस्था पाई जाती है। पंचायती राज का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण स्वशासन की संस्थाओं को नियोजन एवं विकास की प्रक्रियाओं एवं कार्यक्रमों में सक्रिय रूप से भागीदार बनाना है।
  • Papal arbitration -- पोप द्वारा अधिनिर्णय
यूरोप में मध्य युग में धार्मिक तथा राजनीतिक क्षेत्रों में क्रमशः पादरियों और राजाओं की नियुक्ति अथवा उन्हें पदच्युत करने का पोप का अधिकार। यूरोपीय इतिहास में मध्यकाल में पोप का हस्तक्षेप समस्त ईसाई जगत में बहुत अधिक था। पोप का स्थान न केवल धर्मक्षेत्र ही में सर्वोच्च था अपितु राजनीति के क्षेत्र में भी उसका पूरा प्रभाव था। वह न केवल विभिन्न श्रेणियों के चर्चों के पादरियों की नियुक्ति करता था बल्कि कभी-कभी राजाओं को भी सिंहासनारूढ़ होने से पूर्व पोप की अनुमति लेनी पड़ती थी। वस्तुतः अनेक महत्वपूर्ण आध्यात्मिक एवं विवादास्पद मामलों में पोप का विवाचन सर्वमान्य होता था। धीरे-धीरे यूरोप के देशों में राजनीतिक जागृति के साथ पोप-सत्ता का प्रभाव कम होता चला गया।
  • Papal bull -- पोप का आदेश पत्र
धार्मिक राजनीतिक तथा अन्य मामलों में पोप द्वारा जारी किए गए आदेश-पत्र।
  • Paramoutcy -- परमोच्च शक्ति, सर्वोपरिता
वह स्थिति जिसमें एक राज्य द्वारा किसी दूसरे राज्य के अस्तित्व को समाप्त किए बिना उस राज्य के आंतरिक और बाहय मामलों पर, उस राज्य के साथ किए गए समझौते के अंतर्गत, अपना प्रभुत्व अथवा प्रभुसत्ता स्थापित कर ली गई हो। भारत में, ब्रिटिश साम्राज्य के देशी रियासतों के साथ संबंधों की यही प्रकृति थी।
  • Pardoning power -- क्षमादान का अधिकार
भारत के राष्ट्रपति और भारतीय गणतंत्र के विभिन्न राज्यों के राज्यपालों को संविधान द्वारा प्रदत्त क्षमा करने का अधिकार। भारतीय संविधान के उपबंधों के अनुसार राष्ट्रपति किसी भी अभियुक्त को, जिसे सर्वोच्च न्यायालय ने दोषी ठहराया हो, पूर्णतः या अंशतः क्षमा प्रदान कर सकता है। यही स्थिति उच्च न्यायालयों द्वारा दोषी घोषित किए गए अभियुक्तों को क्षमा प्रदान करने के मामले में राज्यपालों की भी है। राज्यपाल उच्च न्यायालय के निर्णय के विरुद्ध किसी भी अभियुक्त को पूर्णतः या अंशतः क्षमा कर सकता है, उसे दिए गए दंड को घटा सकता है तथा पूर्णतः समाप्त भी कर सकता है। इस प्रकार की शक्ति विश्व के लगभग सभी राज्याध्यक्षों को प्राप्त है और इसका प्रारंभ ब्रिटेन में राजा के विशेषाधिकारों से हुआ है। इसमें सामूहिक रूप से क्षमादान करने तथा दंड निष्पादन को स्थगित करने के अधिकार भी शामिल हैं।
  • Paliament -- papal bull
  • Parliamentarian -- 1. संसदवादी 2. संसदज्ञ
1. वह व्यक्ति जो संसदीय शासन व्यवस्था में आस्था रखता हो तथा उसका समर्थक हो।
2. वह व्यक्ति जो संसदीय कार्य पद्धति, उसके नियम-विनियमों आदि की अच्छी आनकारी रखता हो तथा अन्य विमर्शी संस्थाओं की परंपराओं एवं प्रक्रियाओं से भी भलीभांति परिचित हो।
  • Parliamentary affairs -- संसदीय कार्य
संसद द्वारा किए जाने वाले कार्य तथा संसदीय प्रक्रिया अथवा कार्यविधि से संबंधित मामले।
  • Parliamentary control -- संसदीय नियंत्रण
सरकार के वित्त-विधान तथा प्रशासनिक विषयों पर संसद का नियंत्रण 1 उक्त नियंत्रणों को विभिन्न उपायों द्वारा साकार बनाया जाता है। यह उपाय संसदीय कार्यप्रणाली के भाग हैं। इनमें विधि निर्माण प्रक्रिया, प्रश्नोत्तर व्यवस्था, अनेक प्रकार के प्रस्ताव जैसे, कामरोको प्रस्ताव, अविश्वास प्रस्ताव, आदि उल्लेखनीय हैं। संसद की वित्तीय समितियाँ-लोक लेखा समिति तथा प्राक्कलन समिति विशेष रूप से सरकार के आय-व्यय पर नियंत्रण रखने में संसद की सहायक होती है।
  • Parliamentary correspondent -- संसदीय संवाददाता
विभिन्न प्रतिष्ठित समाचार पत्रों के वे संवाददाता जो जो संसद की दिन-प्रतिदिन की कार्यवाहियों के विषय में, संबंधित पत्रों को जानकारी देने के लिए उनके प्रतिनिधि के रूप में संसद भवन में तैनात किए जाते हैं।
  • Parliamentary debate -- संसदीय वादविवाद
संसद के किसी सदन में किसी विधेयक अथवा प्रस्ताव (जैसे ध्यानाकर्षण या कामरोको प्रस्ताव) या किसी अन्य प्रश्न को लेकर सत्तारूढ़ दल के सदस्यों तथा विरोधी दल के सदस्यों के मध्य होने वाला विचार-विमर्श तथा वाद-विवाद।
  • Parliamentary government -- संसदीय शासन, संसदीय सरकार
शासन की वह पद्धति जिसमें कार्यपालिका (जिसे मंत्रिमंडल कहते हैं) के सदस्य (जिन्हें मंत्री कहते हैं) संसद के सदस्यों में से नियुक्त किए जाते हैं और जिनकी नियुक्ति प्रधान मंत्री के परामर्श पर राज्याध्यक्ष द्वारा की जाती है। ये मंत्री व्यक्तिगत तथा सामूहिक रूप से संसद के प्रति उत्तरदायी होते हैं। संसद में बहुमत न रहने पर उन्हें पद त्याग करना पड़ता है। इस पद्धति में वास्तविक सत्ता राज्याध्यक्ष के पास न होकर मंत्रियों के हाथों में होती है जिनमें प्रधान मंत्री प्रमुख होता है। इस प्रकार इस शासन पद्धति में निम्न मूल गुण पाए जाते हैं :- (1) राज्याध्यक्ष केवल नाममात्र का होता है तथा वास्तविक सत्ता प्रधान मंत्री के हाथों में होती है। (2) मंत्रिमंडल के सदस्य संसद के सदस्यों में से लिए जाते हैं। (3) मंत्रिपरिषद् व्यक्तिगत तथा सामूहिक रूप से संसद के प्रति उत्तरादायी होती है। (4) मंत्रिमंडल का कार्यकाल संसद के विश्वास पर निर्भर होने के कारण अनिश्चित होता है। (5) शासन का नेतृत्व प्रधान मंत्री करता है।
  • Parliamentary privileges -- parliamentary correspondent
  • Parliamentary procedure -- संसदीय कार्यविधि
संसद के दोनों सदनों में से किसी भी सदन में की जाने वाली कार्यवाही यथा, विधि-निर्माण विधेयक पारित करना, संसदीय प्रश्नोत्तर, ध्यानाकर्षण प्रस्ताव, कामरोको प्रस्ताव आदि के लिए विहित प्रक्रिया।
  • Parochialism -- संकीर्णतावाद, संकीर्णता, संकीर्णवृत्ति
संकीर्ण होने की अवस्था अथवा गुण। मात्र अपने क्षेत्रीय हितों की चिंता करने तथा वृद्धि के बारे में सोचने की प्रवृत्ति। यह प्रवृत्ति अंतर्राष्ट्रीयता, सह-अस्तित्व तथा भाईचारे की भावना के विरुद्ध है। भारत में भाषावाद, क्षेत्रीयतावाद, स्थानीयतावाद, आदि इसी प्रवृत्ति के विविध रूप हैं।
  • Parole -- पैरोल
किसी बन्दी को दंडावधि पूरी होने से-पूर्व इस शर्त के साथ रिहा करना कि वह एक निश्चित अवधि तक निहित शर्तों को पूरा करता रहेगा तथा नियमित रूप से या बुलाए जाने पर निर्दिष्ट अधिकारी के समक्ष उपस्थित होगा और पैरोल की अवधि पूरी होने पर स्वयं बंदीगृह लौट आएगा।
  • Particular international law -- विशिष्ट अंतर्राष्ट्रीय क़ानून, विशिष्ट अंतर्राष्ट्रीय विधि
राष्ट्रों के आचरण को नियमित करने वाले ऐसे क़ानून जो सामान्य रूप से सभी राज्यों पर लागू न होकर किसी क्षेत्र विशेष अथवा महाद्वीप विशेष के राज्यों के पारस्परिक संबंधों में ही लागू होते हैं।
  • Partyless democracy -- दलविहीन लोकतंत्र
वह राजनीतिक व्यवस्था जिसमें राजनीतिक दलों का संगठन वर्जित हो और चुनाव दलगत आधार पर न हो। इस प्रकार के लोकतंत्र के अनेक उदाहरण हैं जैसे, नेपाल में पंचायत व्यवस्था तथा अय्यूब के काल में पाकिस्तान में बुनियादी लोकतंत्र। निर्दलीय लोकतंत्र के समर्थकों में लोकनायक जयप्रकाश नारायण का नाम उल्लेखनीय है जिनका विश्वास था कि आदर्श लोकतंत्र में दलों की कोई आवश्यकता ही नहीं है।
  • Party politics -- दलगत राजनीति, दलपरक राजनीति
वर्तमान काल में, राजनीति को शक्ति के लिए संघर्ष कहा गया है और इस निरंतर चलने वाले संघर्ष में मुख्य कारक हैं राजनीतिक दल और उनकी परस्पर विरोधी नीतियाँ और कार्यक्रम जिनके आधार पर वे सत्ता पाने का प्रयास करते हैं और इसके लिए वैध-अवैध, उचित-अनुचित अनेक युक्तियाँ अपनाने में संकोच नहीं करते। इस प्रकार उत्पन्न स्थिति को दलगत राजनीति कहते हैं।
  • Perestroika -- पुनर्निर्माण, पेरेस्त्रोइका (रूसी भाषा का शब्द)
किसी राज्य (विशेषकर सोवियत रूस) की आर्थिक एवं राजनीतिक व्यवस्था में इस उद्देश्य से परिवर्तन कि अर्थ-व्यवस्था में उत्पादन, मात्रा और गुण की दृष्टि से अधिक श्रेष्ठ या कुशल हो और राजनीतिक व्यवस्था में जनता की वास्तविक सह-भागीदारी हो।
  • Persona non grata -- अवांछित व्यक्ति, अग्राह्य व्यक्ति
यह शब्द मूलतः राजनय का है और उस राजनयिक के लिए प्रयुक्त किया जाता है जो नियुक्ति के समय किन्ही कारणों से, प्रत्यायित राज्य को स्वीकार न हो अथवा कार्यकाल के दौरान स्वीकार्य न रहे। ऐसी दशा में प्रत्यायित राज्य उसे वापस बुलाए जाने की माँग करता है।
  • Plebiscite -- मतसंग्रह
किसी प्रदेश में किसी सार्वजनिक हित के प्रश्न पर वहाँ की समस्त जनता की राय जानने के लिए आयोजित किया जनमत-संग्रह। जैसे, नेपाल में सम्राट महेन्द्र ने इस प्रश्न पर जनमत – संग्रह कराया था कि वहाँ निर्दलीय पंचायत राज व्यवस्था बनी रहनी चाहिए या नहीं।
  • Plural executive -- बहुल कार्यपालिका
ऐसी कार्यपालिका जिसमें कार्यकारी शक्ति एक से अधिक व्यक्तियों में सामूहिक अथवा संयुक्त रूप से निहित हो। इस प्रकार की कार्यपालिका सिद्धांततः प्रायः साम्यवादी देशों में पाई जाती है। इसके अतिरिक्त स्विट्जरलैंड में भी इसी प्रकार की कार्यपालिका की व्यवस्था है। वहां कार्यकारीणी शक्ति एक व्यक्ति में निहित न होकर सात सदस्यों की एक परिषद् में निहित होती है। इन सदस्यों में से वरीयता के क्रम से प्रत्येक सदस्य बारी-बारी से एक वर्ष के लिए परिषद का अध्यक्ष नियुक्त होता है जो देश का राष्ट्रपति कहलाता है।
  • Pluralism -- बहुलवाद, अनेकवाद
राज्य की संप्रभुता को असीम एवं अविभाज्य न मानकर उसे राज्य में विद्यमान विभिन्न समुदायों एवं संगठनों में वितरित मानने वाला सिद्धांत। इस सिद्धांत के अनुसार राज्य भी अन्य समुदायों की भांति एक राजनीतिक समुदाय मात्र है। इसके अतिरिक्त राज्य की संप्रभुता अंतर्राष्ट्रीय विधि के नियमों से भी मर्यादित है। इस सिद्धांत के माननेवालों में लास्की, कोल, सर्विनी, सिजविक आदि हैं। परन्तु यह सिद्धांत बहुत अधिक लोकप्रिय नहीं हुआ, यहाँ तक कि बाद में तो स्वयं लास्की के विचारों में परिवर्तन आ गया था।
  • Pluralist -- बहुवादी, अनेकवादी, दे. Pluralism.
  • Plural voting -- बहुल मतदान
ऐसी निर्वाचन प्रणाली जिसमें मतदाता को एक से अधिक मत देने का अधिकार प्राप्त होता है। जैसे, लोकतंत्र के आरंभिक दिन में कतिपय देशों में सम्पत्तिशालियों अथवा शिक्षितों को एक से अधिक मत देने का अधिकार था। जॉन स्टुअर्ट मिल ने इसका समर्थन किया था। आनुपातिक प्रतिनिधित्व प्रणाली में भी मतदाता एक से अधिक उतने मत दे सकता है जितने उम्मीदवार निर्वाचन में खड़े हों। वह उनके प्रति अपनी वरीयता का संकेत करते हुए “बहुल मतदान” करता है।
  • Plutocracy -- धनिकतंत्र
ऐसी शासन प्रणाली जिसमें राजसत्ता पर व्यवहार में, धनी व्यक्तियों का प्रभुत्व हो जाता है।
  • Pocket veto -- पॉकिट वीटो
यह शब्द अमेरिकी संवैधानिक शब्दावली का है। इसका अभिप्राय यह है कि यदि राष्ट्रपति निर्धारित समय (10 दिन) के भीतर किसी विधेयक वर हस्ताक्षर न करे और न ही उसे कांग्रेस को लौटाए और इस अवधि में कांग्रेस का अधिवेशन स्थागित हो जाए तो वह विधेयक बिना किसी कार्यवाही के स्वतः निरस्त मान लिया जाएगा। इसे “पॉकिट वीटो” कहते हैं।
  • Policy of apartheid -- प्रजाति-पार्थक्य नीति
किसी राज्य की सरकार द्वारा शासक वर्ग के अतिरिक्त अन्य वर्गों के साथ प्रजाति के आधार पर भेदभाव करते हुए उन्हें अलग बस्तियों में बसाने अथवा सार्वजनिक पदों एवं राजनीतिक व्यवस्था में उनके विरुद्ध भेदभाव किए जाने की नीति। बहुधा इस प्रकार की नीति का पालन दक्षिण अफ्रीका में वहाँ की गोरी सरकार के द्वारा वहाँ के मूल निवासियों के विरुद्ध होता रहा है। इसी नीति के विरुद्ध महात्मा गांधी ने इस शताब्दी के आरम्भ में संघर्ष किया था और इस संघर्ष में सत्याग्रह का प्रयोग किया।
  • Policy of appeasement -- तुष्टीकरण की नीति
इस प्रकार की नीति राष्ट्रीय अथवा अंतर्राष्ट्रीय, दोनों क्षेत्रों में देखने को मिलती है। राष्ट्रीय क्षेत्र में बहुधा सरकार अल्पसंख्यकों, विशेष वर्गों एवं निहित स्वार्थों का समर्थन पाने के लिए उन्हें अनेक ऐसी सुविधाएँ एवं विशेषाधिकार दे सकती है जो विवेकपूर्ण न हों परन्तु राजनीतिक दृष्टि से सरकार के लिए लाभदायक हों। इनका उद्देश्य सरकार को राजनीतिक समर्थन दिलाना होता है। अंतर्राष्ट्रीय क्षेत्र में दूसरे महायुद्ध से पूर्व ब्रिटेन द्वारा जर्मनी के प्रति जो नीति अपनाई गई थी, उसे तुष्टीकरण की नीति का एक उदाहरण माना जाता है।
  • Policy of containment -- परिरोधन-नीति
साम्यवाद के प्रसार को रोकने के लिए अमेरिका तथा अन्य पाश्चात्य राष्ट्रों द्वारा अपनाई गई रूस-विरोधी नीति। इस नीति के अंतर्गत अमेरिका तथा अन्य पाश्चात्य देशों ने, विभिन्न प्रकार के सैनिक गठबंधनों के माध्यम से, इस बात का भरसक प्रयत्न किया कि साम्यवाद का प्रसार न हो और साम्यवादी आक्रमण का परस्पर मिलकर सफलतापूर्वक सामना किया जाए। निर्धन और विकासशील देशों को सैनिक एवं आर्थिक सहायता देना भी इस नीति का अंग था ताकि ये देश साम्यवाद के आकर्षण से मुक्त रहें और किसी साम्यवादी देश के आक्रमण का सामना कर सकें।
  • Policy of expansion -- विस्तारवादी नीति, प्रसारवादी नीति
अपना क्षेत्रीय विस्तार करने की नीति। इस नीति का अनुसरण करते हुए विस्तारवादी राज्य कूटनीतिक चालों अथवा युद्ध द्वारा अपने पड़ोसी राज्यों की भूमि को हथियाने का प्रयास करता है। 19वीं शताब्दी में सुदूर स्थित देशों पर यूरोपीय राज्यों द्वारा अपना आधिपत्य जमाने का कार्यक्रम भी इसी नीति के भाग थे। सामाज्यवाद इसी नीति का प्रतिफल है।
  • Policy of splendid isolation -- गौरवपूर्ण पार्थक्य की नीति
सन् 1896 में, इंग्लैंड के लार्ड सेलिसबरी द्वारा प्रतिपादित वह नीति जिसका प्रमुख उदे्दश्य ब्रिटेन को यूरोपीय झगड़ों में पृथक रखना था और जिसे राष्ट्रीय हितों की दृष्टि से उत्कृष्ट एवं अत्युत्तम बताया गया।
  • Polit bureau -- पोलित ब्यूरो
साम्यवादी दलों के संगठन में एक सर्वोच्च अंग जो प्रायः दल का प्रमुख नियंत्रक निकाय होता है और जिसके सदस्य दल के शीर्षस्थ नेता होते हैं। यही निकाय पार्टी की भूलभूत नीतियों और कार्यक्रमों को निर्धारित करता है।
  • Political agent ( = resident) -- पालिटिकल एजेन्ट, रेज़ीडेंट
स्वतंत्रता प्राप्ति से पूर्व भारत में देशी रियासतों, रजवाड़ों आदि में अंग्रेजी सरकार की ओर से वहाँ रहने वाला एक अधिकारी जो सिद्धांततः केवल राज्य का परामर्शदाता होता था परन्तु व्यवहार में राजा के लिए उसका परामर्श मानना अनिवार्य होता था।
  • Political asylum -- राजनीतिक शरण
किसी राज्य में अपने मत या विश्वासों के कारण अथवा राज्य विरोधी कार्य करने के कारण, उत्पीड़न के डर से किसी व्यक्ति का अन्य देशों में भाग जाना और वहाँ की सरकार द्वारा उसे आश्रय दिया जाना। ऐसा व्यक्ति-कभी-कभी इस प्रकार का आश्रय अपने ही देश में स्थित किसी विदेशी दूतावास में भी ले सकता है। यद्यपि अंतर्राष्ट्रीय विधि दूतावासों में शरण लेने के अधिकार को सामान्यतः मान्यता नहीं देती।
  • Political behaviour -- राजनीतिक आचरण
राजनीतिक व्यवस्था के विभिन्न अंगों के कारकों का आचरण जिसमें जनसमुदाय का राजनीतिक व्यवस्था से संबंधित आचरण भी शामिल है। जैसे, निर्वाचनों में मतदान-आचरण या राजनेताओं द्वारा निर्णय लेने की प्रक्रिया।
  • Political change -- राजनीतिक परिवर्तन
किसी समाज में राजसत्ता के उपयोग अथवा वितरण से संबंधित संरचनाओं, प्रक्रियाओं और लक्ष्यों में होने वाले परिवर्तन। जब इन संरचनाओं तथा प्रक्रियाओं में आमूल परिवर्तन हो जाते हैं, विशेष रूप से ऐसे उपायों द्वारा जो नियमित अथवा संवैधानिक उपाय न हों, तो इन परिवर्तनों को राजनीतिक क्रांति का नाम दिया जा सकता है।
  • Political communication -- राजनीतिक संचार
ऐसे समाचारों का प्रसारण अथवा प्रकाशन जिनका राजनीतिक व्यवस्था के संचालन से संबंध हो। दूरदर्शन, आकाशवाणी, समाचारपत्रों एवं पत्रिकाओं के अतिरिक्त इस प्रकार का संचार सांकेतिक कृत्यों अथवा दुष्कृत्यों द्वारा भी किया जा सकता है जैसे, प्रदर्शन, घेराव, बन्द राजनीतिक हत्याएँ आदि।
  • Political crime -- राजनीतिक अपराध
विधिवत् स्थापित सरकार का तख्ता पलटने या उसके कार्यकलापों अथवा प्रशासनकि गतिविधियों को अवरुद्ध करने की दृष्टि से अथवा किसी राजनीतिक विचारधारा से प्रेरित होकर किए गए अवैध कृत्य।
  • Political culture -- राजनीतिक संस्कृति
राजनीतिक व्यवस्था और उसकी संस्थाओं के प्रति सामान्य नागरिकों की अभिरुचि और प्रतिक्रियाएँ और इनमें उनकी आस्था, विश्वास व भागीदारी और समाज में स्वीकृत राजनीतिक मूल्य एवं विश्वास।
  • Political development -- राजनीतिक विकास
पाश्चात्य विचारकों के अनुसार राजनीतिक विकास का अर्थ है विकासशील देशों में राजनीतिक व्यवस्था का आधुनिक उदारवादी लोकतांत्रिक दिशा में निरन्तर गतिमान होना। प्रसिद्ध अमेरिकी विद्वान पाई ने राजनीतिक विकास प्रक्रिया के तीन महत्वपूर्ण तत्व बताए हैं-समानता, क्षमता तथा विभेदीकरण।
  • Political encirclement ( = capitalistic encirclement) -- राजनीतिक घेराबंदी, पूँजीवादी घेराबंदी
अंतर्राष्ट्रीय जगत में किसी राष्ट्र विशेष के बढ़ते हुए प्रभाव, प्रगति आदि को क्षीण अथवा अवरुद्ध करने के लिए किसी विरोधी राजनीतिक व्यवस्था वाले राज्य द्वारा संबंधित राज्य के पड़ोसी राज्यों के सहयोग से उसे एकाकी तथा निस्सहाय बनाने का प्रयत्न। इस प्रकार के प्रयत्नों में पड़ोसी राज्यों को सैनिक एवं आर्थिक सहायता देना, उसके मित्रों को तोड़ना, उसके सभी प्रकार के राजनीतिक एवं वाणिज्यिक संबंधों में बाधा उत्पन्न करना तथा अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर उसे नीचा दिखाने आदि के प्रयत्न भी शामिल रहते हैं। राजनीतिक घेराबंदी की शुरुआत मूलतः पूँजीवादी देशों द्वारा साम्यवादी राज्यों की प्रगति और प्रभाव को रोकने के लिए गई थी।
  • Political equality -- राजनीतिक समता
राजनीतिक व्यवस्था में प्रत्येक नागरिक को समान अधिकारों का दिया जाना जैसे, मताधिकार, पदों के लिए निर्वाचित होने का अधिकार, आदि।
  • Political executive -- राजनीतिक कार्यपालिका
लोकतांत्रिक पद्धति वाले राज्य के तीन प्रमुख अंगों-न्यायपालिका, विधानपालिका तथा कार्यपालिका में से एक अंग। राजनीतिक कार्यपालिका में प्रधानमंत्री व मंत्रिमंडल सम्मिलित होते हैं। अधिकारीतंत्र (नौकरशाही) राजनीतिक कार्यपालिका का भाग नहीं होता। अधिकारितंत्र को स्थायी कार्यपालिका कहा जाता है।
  • Political freedom/liberty -- राजनीतिक स्वतंत्रता
राज्य में नागरिकों को राजनीतिक व्यवस्था में भाग लेने से संबंधित अधिकार जैसे, वोट देने तथा निर्वाचित होने का अधिकार। राजनीतिक दल बनाने, सभा व बैठक करने और उसमें भाग लेने का अधिकार तथा विचार करने का अधिकार भी इसी में सम्मिलित है।
  • Political independence -- राजनीतिक स्वाधीनता
बाह्य एवं आंतरिक मामलों में स्वतंत्र अथवा स्वाधीन होने की स्थिति। विदेशी सत्ता से मुक्त, संप्रभुता की स्थिति।
  • Political modernization -- राजनीतिक आधुनिकीकरण
यह एक पाश्चात्य राजनीतिक अवधारणा है। इसके अनुसार परंपरावादी, रूढ़िवादी, सामंतवादी अथवा अधिनायकवादी राजनीतिक व्यवस्था का आधुनिक उदारवादी लोकतांत्रिक व्यवस्था में परिवर्तन “राजनीतिक आधुनिकीकरण” है।
  • Political party -- राजनीतिक दल
लोकहित की भावना से प्रेरित नागरिकों का ऐसा समूह जिसकी एक विचारधारा, संगठन, नेतृत्व व कार्यक्रम हो। राजनीतिक दल का मुख्य कार्य चुनाव में भाग लेकर राजसत्ता प्राप्त करना अथवा उसे प्रभावित करना होता है।
  • Political philosophy -- राजनीतिक मीमांसा/दर्शन
राजनीति शास्त्र का वह भाग जो मूलतः राज्य से संबंधित मूल्यों, मानकों एवं सिद्धांतों का आदर्श्यात्मक विश्लेषण एवं विवेचन प्रस्तुत करता है।
  • Political rights -- राजनीतिक अधिकार
वे अधिकार जो व्यक्ति को राजनीतिक व्यवस्था और राजनीतिक प्रक्रिया में भाग लेने के अवसर प्रदान करते हों और जो साधारणतया राज्य के नागरिकों को ही दिए जाते हैं, विदेशियों को नहीं। उदाहरण के लिए, मताधिकार, निर्वाचनों में खड़े होने का अधिकार, सभा-समितियाँ बनाने का अधिकार, सम्मेलन करने का अधिकार आदि।
  • Political science -- राजनीति विज्ञान, राजनीतिशास्त्र
राजनीतिशास्त्र वह शास्त्र है जो राज्य एवं सरकार के विभिन्न पक्षों का वैज्ञानिक विश्लेषण करता है। आधुनिक समय में इसे राजनीतिक व्यवस्था एवं सार्वजनिक नीति का अध्ययन करने वाला शास्त्र भी माना जाता है और औपचारिक संस्थाओं एवं वैधिक संबंधों के स्थान पर प्रक्रियाओं, भूमिकाओं एवम अनौपचारिक संरचनाओं को इसमें विशेष महत्व दिया जाने लगा है। शक्ति संघर्ष अब इसके अध्ययन का केन्द्र बिन्दु माना जाने लगा है। डेविड ईस्टन के अनुसार राजनीतिशास्त्र वह शास्त्र है जो किसी समाज में मूल्यों के अधिकृत वितरण से संबंधित है और जिसका आधार शक्ति है।
  • Political socialization -- राजनीतिक समाजीकरण
किसी राज्य की राजनीतिक संस्कृति में वहाँ की जनता का प्रशिक्षण और जनता द्वारा उसे आत्मसात् किया जाना।
  • Political sociology -- राजनीतिक समाजशास्त्र
वह शास्त्र जो राजनीतिक संस्थाओं एवं प्रक्रियाओं का अध्ययन सामाजिक परिवेश में करता है अर्थात् उन संस्थाओं एवं प्रक्रियाओं पर सामाजिक मूल्यों, विचारों, परंपराओं तथा संरचनाओं के प्रभाव को महत्व देने हुए उनका अध्ययन एवं मूल्यांकन करता है। साथ ही, समाज पर राजनीतिक क्रियाओं एवं गतिविधियों से पड़ने वाले प्रभाव का भी अध्ययन करता है। इस प्रकार, राजनीतिक समाजशास्त्र का विषय-क्षेत्र समाज व राजनीति की पारस्परिक अंतःक्रिया है।
  • Political stability -- राजनीतिक स्थिरता
किसी राज्य विशेष की राजनीतिक परिस्थितियों में स्थायित्व बने रहने की स्थिति अर्थात् बारबार सत्ता का परिवर्तन न होना। दूसरे शब्दों में स्थापित सरकार का अपने निर्धारित कार्यकाल तक बने रहना।
  • Political system -- राजनीतिक व्यवस्था
किसी समाज में संरचनाओं, भूमिकाओं एवं प्रक्रियाओं का ऐसा प्रबंध जिसके माध्यम से उस समाज में अविकृत निर्णय लिए एवं लागू किए जाते हैं। इस व्यवस्था के चार मूल तत्व हैं :- (1) इसका विषय क्षेत्र समूचा समाज होता है ; (2) इसे अधिकृत निर्णय लेने का अधिकार होता है; (3) इसे उन निर्णयों को क्रियान्वित करने तथा आवश्यकता पड़ने पर बल प्रयोग करने का अधिकार होता है ; और (4) समाज इस अधिकार के औचित्य को निर्विरोध रूप से स्वीकार करता है।
  • Political theory -- राजनीतिक सिद्धांत
राजनीतिशास्त्र का वह पक्ष जो राज्य से संबंधित विषयों जैसे, राज्य, सरकार, प्रभुसत्ता, विधि आदि के सिद्धांतों का अध्ययन करता है। इसका एक भाग आदर्शात्मक व विवेचनात्मक है जिसे राजनीतिक दर्शन कहते हैं और दूसरा भाग अनुभव, परख तथा व्यवहार पर आधारित है जो राजनीतिक गतिविधियों का मूल्यांकन, परीक्षण तथा विश्लेषण करता है।
  • Political thinker -- राजनीतिक विचारक
राजदर्शन, राज्यव्यवस्था अथवा राजनीतिक सिद्धांतों के विभिन्न पक्षों पर मौलिक चिंतन-मनन एवं विश्लेषण करने वाला बुद्धिजीवी।
  • Political thought -- राजनीतिक चिंतन
राज्य तथा शासन से संबंधित विभिन्न दार्शनिकों एवं चिंतकों के विचारों एवं उनके द्वारा प्रतिपादित सिद्धांतों का संग्रह।
  • Politician -- राजनीतिज्ञ, राजतंत्रविद्
1. राजनीतिक कार्यकर्ता अथवा राजनीतिक व्यवस्था में सक्रिय भाग लेने वाला। 2. राजतंत्र का सम्यक् ज्ञान रखने वाला या राजनीति में दक्ष व्यक्ति, राजमर्मज्ञ। 3. किसी राजनीतिक दल विशेष की गतिविधियों में सक्रिय भाग लेने वाला तथा राजनीतिक पदों की लालसा रखने वाला। वर्तमान काल में, राजनीति व्यावहारिक कार्य-साधकता का दूसरा नाम हो गया है और ऐसे व्यक्ति को राजनीतिज्ञ कहा जाता है जो अपनी स्वार्थ-सिद्धि के लिए कोई भी उपाय अपना सकता है।
  • Politics -- राजनीति “

राजनीति” शब्द की परिभाषा परिवर्तनशील रही है। प्राचीनकाल में समूचे राजनीतिशास्त्र के लिए केवल “राजनीति” शब्द का प्रयोग किया जाता था। अरस्तू के प्रसिद्ध ग्रंथ का नाम यही है। कुछ समय तक “राजनीति” और “राजनीतिक” शब्द एक दूसरे के पर्यायवाची समझे जाते रहे और आज भी, इन दोनों में स्पष्ट भेद है-यह निश्चित रूप से नहीं कहा जा सकता। विशेष रूप से व्यवहारवादी क्रांति के परिणामस्वरूप “राजनीति” शब्द का जो अर्थ प्रचलित हुआ, उसके अनुसार राजनीति से अभिप्राय किसी समाज में शक्ति संघर्ष से है। कुछ लेखक इसे “शासन कला” का पर्यायवाची मानते हैं। कुछ अन्य विद्वान, “राजनीति” को सार्वजनिक नीतिशास्त्र के रूप में लेते हैं जिसमें निर्णय-निर्माण एक प्रमुख अंग है।

  • Politique -- पोलिटीक
1. फ्रांस में सेंट बार्थेल्म्यू की हत्या के उपरांत गठित एक राजनीतिक दल जिसका निर्माण कैथोलिकों तथा प्रोटेस्टेंटों द्वारा मिलकर किया गया था। इन लोगों का मत था कि राज्य को इन दोनों ही धर्मों के प्रति सहिष्णुता का दृष्टिकोण रखना चाहिए। 2. धर्म के मामले में समझौते का या उदासीनता का दृष्टिकोण रखने वाला व्यक्ति।
  • Polity -- राज्य-व्यवस्था, राज्य
किसी राज्य का स्वरूप अथवा संगठन।
  • Polizeistaat -- पुलिस राज्य
1. वह राज्य जो केवल क़ानून और व्यवस्था स्थापित करने तक सीमित रहता है। 2. ऐसा राज्य जहाँ पुलिस, विशेषतः खुफिया पुलिस, सरकार की नीतियों अथवा सिद्धांतों का विरोधी प्रतीत होने वाले किसी व्यक्ति विशेष या समूह विशेष के कार्यों का दृढ़तापूर्वक दमन करती हो।
  • Poll -- मतदान
व्यक्तियों द्वारा किसी विशेष मुद्दे पर अथवा आम निर्वाचनों में मत देना। यह दो प्रकार का होता है-खुला अथवा गोपनीय। खुले मतदान का अर्थ है हाथ उठाकर मत व्यक्त करना। गुप्त मतदान सील बन्द पेटियों में मतपत्र डालकर किया जाता है।
  • Polling booth ( = polling station) -- मतदान केंद्र
चुनाव में मतदाताओं द्वारा मतदान करने के लिए बना स्थान। साधारणतः एक मतदान केंद्र में 900 से 1200 तक मतदाताओं के लिए व्यवस्था की जाती है।
  • Polling officer -- मतदान अधिकारी
किसी क्षेत्र विशेष में हो रहे निर्वाचन से संबंधित किसी मतदान केंद्र की देखरेख के लिए नियुक्त किया गया अधिकारी। यह अधिकारी संबंधित मतदान केंद्र पर डाले गए मत-पत्रों की सुरक्षा, उनकी गोपनीयता तथा केवल सही व्यक्तियों द्वारा मतदान किए जाने के लिए उत्तरदायी होता है। मत पेटिकाओं को मतगणना के लिए सरकार की सुरक्षित अभिरक्षा में पहुँचाना भी इसी अधिकारी का दायित्व होता है।
  • Polyarchy -- बहुतंत्र
अनेक हित-समूहों के प्रतिनिधियों से गठित सरकार जिसका उद्देश्य शासन-संचालन में समाज के विभिन्न वर्गों की भागीदारी लेना होता है।
  • Popular democracy -- जनवादी लोकतंत्र
वह शासन व्यवस्था जिसमें राज्य की सर्वोच्च शक्ति व्यक्ति विशेष या कुछ व्यक्तियों में निहित न होकर संपूर्ण समाज में निहित हो। जनवादी लोकतंत्र में जनसंख्या का एक बड़ा भाग शासन में हाथ बंटाता है। यहाँ शासन सत्ता किसी वर्ग विशेष के हाथ में नहीं होती। यह राजनीतिक समानता के सिद्धांत पर आधारित होता है। इसका संचालन बहुमत पर आधारित होता है। इसमें जाति, वर्ग, लिंग अथवा गरीबी और अमीरी के आधार पर नागरिकों में कोई भेद नहीं किया जाता। वास्तव में लोकतंत्र जनवादी ही होता है।
  • Popular government -- लोकप्रिय सरकार, जनप्रिय सरकार
वह सरकार जो राज्य के शासन को जनता की इच्छानुसार संचालित करती है। लोकतंत्रात्मक राज्यों में ही इस प्रकार की सरकारों का गठन संभव होता है क्योंकि वे जनता द्वारा चुने गए प्रतिनिधियों से निर्मित होती है और इस व्यवस्था में राज्य की सर्वोच्च शक्ति जनता में ही निहित रहती है।
  • Popular movement -- जन आंदोलन
कोई ऐसा आंदोलन जिसे अधिकांश जनता का समर्थन प्राप्त हो या जिस में जनता बहुत बड़ी संख्या में सक्रिय रूप से भाग ले रही हो-उदाहरणार्थ, गांधीजी द्वारा प्रवर्तित “भारत छोड़ो आंदोलन”। एशिया तथा अफ़्रीका के उपनिवेशों में स्वतंत्रता संग्राम के आंदोलनों का बहुधा यही स्वरूप था।
  • Popular sovereignty -- लोक-प्रभुता
राज्य की सर्वोच्च शक्ति जो मूल रूप से जनता में निहित है और जिसका प्रयोग, जनता अपने निर्वाचित प्रतिनिधियों के माध्यम से शासन-संचालन में करती है। इस अवधारणा का दार्शनिक आधार रूसों के महान ग्रंथ “सोशियल कान्टेक्ट” में पाया जाता है। इसको साकार बनाने के लिए रूसो ने “सामान्य इच्छा सिद्धांत” का प्रतिपादन किया था।
  • Portfolio -- विभाग, संविभाग
संसदीय शासन-प्रणाली में मंत्रिमंडल के सदस्यों को दिए जानेवाले विभाग जिनसे उनके कार्य-क्षेत्र का निर्देशन होता है।
  • Postulate -- अभिगृहित, अभ्युपगम
कोई ऐसी प्रस्थापना जिसे सुनिश्चित तथा स्वतः सिद्ध मान लिया गया हो और जिसे आधार मानकर किसी विषय विशेष के सिद्धांतों को प्रतिपादित किया जाए। पुरसिद्ध विचारक हॉब्स की यह प्रस्थापना थी कि व्यक्ति स्वभावतः कुटिल, स्वार्थी एवं झगड़ालू होता है। अतः उसे नियंत्रित करने के जिए राज्य के पास असीम सत्ता होनी चाहिए।
  • Potentate -- सत्तारूढ़, शक्तिशाली
यथार्थ में संपूर्ण सत्ताधारी राज्याध्यक्ष या शासक।
  • Power politics ( = macht politik) -- सत्ता की राजनीति, सत्तार्थ नीति, शक्ति-राजनीति
विश्व के सशक्त राष्ट्रों या किसी राज्य विशेष के सत्तारूढ़ दल द्वारा अपना प्रभुत्व बनाए रखने अथवा शासन की बागडोर संभाले रखने के लिए अपनाए गए उचितानुचित तरीके एवं युक्तियाँ।
  • Preferential vote -- अधिमानी मत
प्रभावी अल्पसंख्यक वर्गों को शासन में प्रतिनिधित्व देने के लिए निर्वाचन की एक पद्धति। मतदान में अपना मत व्यक्त करने के लिए मतदाता को बहुल मत अधिकार प्राप्त होता है और वह अपनी वरीयता का संकेत करते हुए उतने मत दे सकता है जितने उम्मीदवार निर्वाचन में भाग ले रहे हैं। जो उम्मीदवार निर्धारित कोटे के बराबर प्रथम वरीयता के मत प्राप्त कर लेता है, वह निर्वाचित घोषित कर दिया जाता है। प्रथम वरीयता के मत निर्धारित कोटे से कम रहने पर दूसरी वरीयता के मतों की गणना की जाती है और इस प्रकार, यह क्रम तब तक चलता रहता है जब तक कि कोई उम्मीदवार निर्धारित कोटे के बराबर मत प्राप्त नहीं कर लेता।
  • Presidential government -- अध्यक्षात्मक सरकार
वह शासन पद्धति जो शक्ति -पृथक्करण के सिद्धांत पर आधारित होती है अर्थात् जिसमें कार्यपालिका के सदस्य न तो विधान मंडल से लिए जाते हैं, न वे विधान मंडल के प्रति उत्तरदायी होते हैं और न ही उनके प्रति विधान मंडल का विश्वास न रहने पर उन्हें पदत्याग करना होता है। वास्तव में कार्यपालिका का कार्यकाल निश्चित अवधि के लिए होता है और कार्यपालिका का अध्यक्ष प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से जनता द्वारा निर्वाचित किया जाता है। प्रायः वह अपने मंत्रिमंडल का निर्माण करने में भी स्वतंत्र होता है। संयुक्त राज्य अमेरिका इसका विशुद्ध उदाहरण है।
  • Primary -- प्राथमिकी, प्राइमरी
संयुक्त राज्य अमेरिका में, किसी पद विशेषकर राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार का नामांकन करने के लिए निर्वाचन क्षेत्र विशेष के किसी राजनीतिक दल के मतदाताओं की बैठक या सम्मेलन।
  • Primus interpares -- समकक्षों में प्रथम
यह वाक्य संसदीय शासन व्यवस्था में प्रधान मंत्री की स्थिति को व्यक्त करने के लिए प्रयुक्त किया गया था। इस व्यवस्था में मंत्रिमंडल देश की वास्तविक कार्यकारिणी परिषद् होती है जिसका मुखिया प्रधान मंत्री होता है। मंत्रिमंडल का निर्माण और अन्त वस्तुतः प्रधान मंत्री ही करता है। अतः प्रधान मंत्री सहित सब मंत्री समान होते हुए भी, प्रधान मंत्री की स्थिति विशेष होती है। इस विशेष स्थिति को दर्शाने के लिए ब्रिटेन में “समकक्षों में प्रथम” वाक्य का प्रयोग किया गया था। वैसे व्यवहार में स्थिति बदल गई है और प्रधान मंत्री का पद अब वस्तुतः सर्वोच्च हो गया है।
  • Prisoners of war -- युद्धबंदी
युद्ध में एक युद्धकारी द्वारा दूसरे युद्धकारी की सेना के बंदी बनाए गए अधिकारी अथवा सैनिक। इनके प्रति 1949 के चतुर्थ जेनेवा कन्वेन्शन के अनुसार व्यवहार किया जाना चाहिए।
  • Private international law ( = conflict of laws) -- वैयक्तिक अंतर्राष्ट्रीय क़ानून,
किसी राज्य में उत्पन्न ऐसे विवाद जिनका संबंध राज्यों से न होकर व्यक्तियों से हो और विवाद से संबंधित इन व्यक्तियों के राष्ट्रीय या राजनीतिक इकाइयों के क़ानूनों में भिन्नता पाई जाती हो। ऐसी स्थितियों में लागू होने वाले नियमों के समूह को “वैयक्तिक अंतर्राष्ट्रीय विधि” कहते हैं।
  • Private members’ bills -- वैयक्तिक विधेयक, गैर सरकारी विधेयक
वह विधेयक जो मंत्रि परिषद् के सदस्यों को छोड़कर सदन के सत्तारूढ़ अथवा विरोधी पक्ष अथवा निर्दलीय, किसी भी सदस्य द्वारा प्रस्तावित किया जाता है। व र्तमान समय में कुछ ही गैर सरकारी विधेयक क़ानून बनने में सफल हो पाते हैं। भारतीय संसद में ऐसे विधेयक शुक्रवार को ही प्रस्तुत किए जा सकते हैं और नियम यह है कि एक पखवाड़े में एक शुक्रवार को गैर सरकारी प्रस्तावों तथा दूसरे शुक्रवार को गैर सरकारी विधेयकों पर विचार किया जाता है।
  • Privilege motion -- विशेषाधिकार प्रस्ताव
सदन अथवा उसके किसी सदस्य के विशेषाधिकारों के हनन अथवा उसकी मानहानि का प्रश्न उठाए जाने के लिए सदन में प्रस्तुत किया गया प्रस्ताव।
  • Privileges committee -- विशेषाधिकार समिति
संसद अथवा विधान सभाओं की समितियों में से एक समिति जिसका गठन स्पीकर द्वारा किया जाता है। इसका मुख्य कार्य सदन अथवा उसके किसी सदस्य के विशेषाधिकारों का किसी व्यक्ति या संस्था द्वारा हनन किए जाने पर उसकी जाँच करना होता है और इसके प्रतिवेदन के आधार पर सदन आवश्यक कार्रवाई करने के लिए निर्णय लेता है।
  • Prize -- नौजित माल
समुद्री युद्ध में नौसैनिक बेड़े द्वारा हस्तगत की गई शत्रु-संपत्ति जैसे, जलपोत, युद्ध सामग्री तथा अन्य माल। तटस्थ जलपोतों से पकड़े गए विनिषिद्ध माल को भी “नौजित माल” कहते हैं। अब वायुयानों से पकड़े गए शत्रु माल को भी इसी श्रेणी में रखा जाता है।
  • Public international law -- सार्वजनिक अंतर्राष्ट्रीय क़ानून, सार्वजनिक अंतर्राष्ट्रीय विधि
प्रभुतासंपन्न राज्यों के पारस्परिक संबंधों में लागू होनेवाली नियमावली। दे. International law.
  • Purge -- हिंसात्मक दलशोधन
राजनीतिक दल या आंदोलन विशेष से अविश्वसनीय अथवा अवांछनीय तत्वों को दूर करने के लिए उन्हें सामूहिक हत्याकांड या वध द्वारा हटाना या सदस्यता से निष्कासित कर देना।
  • Quadruple Alliance -- चतुर्राष्ट्र मैत्री, चतुर्राष्ट्र सहबंध
1. 2 अगस्त, 1718 को स्पेन के विरुद्ध इंग्लैंड, फ्रांस, नीदरलैंड (हालैंड) तथा ऑस्ट्रिया द्वारा हस्ताक्षरित मैत्री संधि। इसका उद्देश्य स्पेन द्वारा इटली पर आधिपत्य स्थापित करने के प्रत्यत्नों को रोकना और उन्हें विफल बनाना था।
2. 20 नवम्बर, 1815 को पेरिस की द्वितीय संधि के साथ-साथ चार राष्ट्रों के मध्य संपन्न हुई मैत्री की संधि। इसमें आस्ट्रिया, ग्रेट ब्रिटेन, प्रशिया तथा रूस सम्मिलित थे और बाद में कुछ अन्य देश सम्मिलित हो गए। वाटरलू के स्थान पर, ड्यूक ऑफ विलिंग्टन के नेतृत्व में, इन राष्ट्रों के समन्वित और समेकित प्रयत्नों के फलस्वरूप नैपोलियन को पदच्युत कर दिया गया। इस संधि का उद्देश्य पेरिस तथा वियना की संधियों के निर्णयों का अनुपालन कराना तथा फ्रांसीसी सैन्यवाद की रोकथाम कराना था। इसके अंतर्गत यह भी निर्णय किया गया था कि संशय संबंधी समस्याओं और पारस्परिक हितों के संबंध में विचार-विमर्श करने के लिए समय- समय पर चारों राष्ट्र एक-दूसरे से संपर्क स्थापित करेंगे। आगे चलकर इस गठबंधन ने राजतंत्र के विरुद्ध हुई क्रांतियों का दमन करने के लिए सैनिक हस्तक्षेप किया परन्तु स्पेन के उपनिवेशों के स्वाधीनता संग्राम के प्रश्न पर ब्रिटेन ने किसी सैनिक कार्यवाही का विरोध किया और गठबंधन में दरारें पड़ने लगीं। 3. सन् 1834 में ग्रेट ब्रिटेन, फ्रांस, स्पेन तथा पुर्तगाल द्वारा स्थापित मैत्री। ग्रेट ब्रिटेन तथा फ्रांस ने, पुर्तगाल में माइगल के विरुद्ध मैरिया तथा स्पेन में, कारलौस के विरुद्ध इसाबेला के राजसिहासन पर दावे का समर्थन किया था।
  • Quasi judicial -- अर्ध न्यायिक
विधि की व्यवस्था के अंतर्गत कार्यपालिका अधिकारियों अथवा अंगों द्वारा न्याय प्रशासन का कार्य। इसे प्रायः प्रशासकीय न्याय कहते हैं और इसकी प्रक्रिया अर्ध न्यायिक मानी जाती है। उदाहरणार्थ, किसी मामले की जाँच-पड़ताल (जिसमें साक्ष्य अथवा गवाही भी सम्मिलित है) पर विचार-विमर्श करने के पश्चात् किसी उच्च प्रशासकीय अधिकारी द्वारा दिया गया आदेश।
  • Queen’s Bench Division -- क्वींस बैन्च डिवीज़न
ब्रिटेन के उच्च न्यायालय की एक पीठ।
  • Queen’s consent -- रानी की सहमति
ब्रिटेन की पार्लियामेन्ट द्वारा पारित विभिन्न प्रकार के विधेयकों को प्रदान किया गया रानी अथवा राजा का अनुमोदन जिसके परिणामस्वरूप वे विधेयक राज्य की विधि का रूप धारण कर लेते हैं। अब यह मात्र औपचारिकता रह गई है और यह विश्वास किया जाता है कि रानी संसद द्वारा पारित किसी विधेयक को अस्वीकृत नहीं कर सकती।
  • Question hour -- प्रश्न काल
लोक सभा, राज्य सभा तथा विधान मंडलों की प्रत्येक बैठक का पहला घंटा जिसमें सदस्य मंत्रियों से उनके संबद्ध विभागों के विषय में प्रश्न पूछते हैं तथा मंत्री उन प्रश्नों का उत्तर देते हैं। संसदीय प्रश्न विधानांग द्वारा कार्यपालिका पर नियंत्रण रखने का एक महत्वपूर्ण उपाय है। भारत की लोकसभा के प्रक्रिया तथा कार्यसंचालन संबंधी नियम 41(2) में प्रश्नों की ग्राहयता की विभिन्न शर्तें वर्णित हैं जिनमें प्रमुख ये हैं-उसमें प्रतर्क, अनुमान, व्यंगात्मक पद, अभ्यारोप विशेषण तथा मानहानिकारक कथन नहीं होंगे। उसमें किसी व्यक्ति की पदेन या सार्वजनिक हैसियत के अतिरिक्त उसके चरित्र अथवा आचरण के विषय में प्रश्न नहीं पूछा जाएगा। उसमें व्यक्तिगत रूप से दोषारोपण नहीं किया जाएगा तथा न ही यह दोषारोपण ध्वनित होगा इत्यादि। प्रश्न तीन प्रकार के होते हैं – तारांकित प्रश्न, अतारांकित प्रश्न तथा अल्पसूचना प्रश्न। तारांकित प्रश्न वह है जिसका सदस्य सदन में मौखिक उत्तर चाहता है तथा जिस पर वह तारांक लगा देता है। अतारांकित प्रश्न पर पूरक प्रश्न नहीं पूछे जा सकते। अतारांकित प्रश्नों के उत्तर लिखित रूप में दिए जाते हैं। तारांकित अथवा अतारांकित प्रश्नों के उत्तर प्राप्त करने के लिए प्रत्येक सदस्य को 10 दिन पूर्व सूचना देनी पड़ती है। अल्प सूचना प्रश्न 10 दिन की अवधि से कम समय की सूचना पर भी पूछा जा सकता है। यदि लोकसभा के अध्यक्ष की यह राय हो कि संबद्ध प्रश्न अविलंबनीय प्रकार का है तो वह निर्देश दे सकता है कि मंत्री यह बताएँ कि वह उत्तर देने की स्थिति में हैं या नहीं और यदि हैं तो किस तिथि को। यदि संबंधित मंत्री उत्तर देने के लिए सहमत हो तो ऐसे प्रश्न का उत्तर उसके द्वारा दर्शाए गए दिन को दिया जाएगा और वह प्रश्न मौखिक उत्तर के लिए प्रश्न सूची में दिए गए प्रश्नों को निबटाए जाने के तुरन्त बाद पुकारा जाएगा। यदि मंत्री अल्पसूचना पर प्रश्न का उत्तर देने में असमर्थ है तथा अध्यक्ष की राय हो कि प्रश्न इतने लोक महत्व का है कि सदन में उका मौखिक उत्तर दिया जाना चाहिए तो वह निर्देश दे सकता है कि प्रश्न दस दिन की सूचना की अवधि पूरी होने पर प्रश्न-सूची में प्रथम प्रश्न के रूप में रखा जाए।
  • Quid pro quo -- प्रतिदान
किसी वस्तु या लाभ या रियायत के लिए प्रदत्त वस्तु, लाभ या रियायत। बहुधा राजनय में वार्तालाप के दौरान सौदेबाजी में यह प्रक्रिया अथवा युक्ति दृष्टिगोचर होती है।
  • Quisling -- क्विज़लिंग, देशद्रोही
नार्वे का राजनीतिज्ञ जिसका पूरा नाम विदकुन अब्राहम लारिटस क्विज़ालिंग था। उसका जन्म 18 जुलाई, 1887 अक्तूबर, 1945 को हुआ था। हिटलर ने मई, 1940 में नार्वे पर आक्रमण तथा अधिकार करने के पश्चात् उसे वहाँ का प्रधान मंत्री नियुक्त किया। क्विज़लिंग ने जर्मन आधिपत्यकारी सत्ताओं के साथ स्वैच्छिक सहयोग से कार्य किया जिसके फलस्वरूप उसका नाम देशद्रोह का प्रतीक बन गया। उसके देशवासियों ने उसके आचरण की निन्दा की। द्वितीय महायुद्ध की समाप्ति के पश्चात् उस पर मुकदमा चला तथा उसे प्राण-दंड दिया गया। अब यह शब्द “देशद्रोही” का पर्याय बन गया है।
  • Quo warranto -- अधिकार पृच्छा
यह उच्च न्यायालयों द्वारा जारी किए जाने वाले समादेशों में से एक है। अधिकार पृच्छा का समादेश न्यायालय उस स्थिति में जारी करता है जब कोई अवैध व्यक्ति किसी सार्वजनिक पद पर आसीन हो। न्यायालय मामले की जाँच करने के पश्चात यदि यह पाता है कि वास्तव में पदासीन व्यक्ति अवैध रूप से पदासीन है तो उसे पद से हटा दिए जाने का समादेश जारी कर सकता है। यही “अधिकार पृच्छा” समादेश होता है।
  • Racial groups -- प्रजातीय समूह
धर्म, वर्ण और मूलवंश के आधार पर अन्य प्रजातीय समूहों से अलग पहचाने जाने वाले समूह जैसे, काकेशियन, मंगोलियन आदि। इनकी प्रजातीय भावना इन्हें एकसूत्र में बांधे रखने में प्रेरक रहती है।
  • Racial myth -- प्रजातीय मिथक
जनमानस में व्याप्त किसी प्रजाति की श्रेष्ठता से संबंधित भावना जो उसके लीक साहित्य, संगीत तथा कला में प्रतिबिंबित होती है तथा जो समाज में अनेक प्रकार की मिथ्या धारणाओं तथा पूर्वाग्रहों को जन्म देती है।
  • Racial purity -- प्रजातीय विशुद्धता
किसी प्रजाती विशेष में, विशेषकर उसके नेताओं में, व्याप्त यह धारणा कि उनकी प्रजाति अपने मूल स्वरूप को बनाए हुए है और उसमें अन्य प्रजातियों का सम्मिश्रण नहीं हुआ है। वे उसके मूल विशुद्ध रूप को बनाए रखने के लिए अन्य प्रजातियों से सामाजिक संबंधों को वर्जित रखने का प्रयास करते हैं।
  • Racist -- प्रजातिवादी
वे लोग जो अपनी प्रजाति को अन्य प्रजातियों से श्रेष्ठ मानकर अन्य प्रजातियों को हीन भावना की दृष्टि से देखते है और राज्य की सब सुख-सुविधाओं से इनको वंचित करना चाहते हैं। इसके पीछे मुख्य उद्देश्य राज्य की राजनीतिक, सामाजिक एवं आर्थिक व्यवस्था पर अपनी प्रजाति का वर्चस्व बनाए रखना है। इसके सर्वश्रेष्ठ उदाहरण हैं जर्मनी के हिटलर और दक्षिण अफ्रीका के बोथा।
  • Radical humanism -- उग्र मानवतावाद
इस विचारधारा के प्रणेता प्रसिद्ध भारतीय क्रांतिकारी मानवेंद्र नाथ राय थे। ये प्रारंभ में अंतर्राष्ट्रीय साम्यवादी आंदोलन से जुड़े हुए थे परंतु कालांतर में अंतर्राष्ट्रीय साम्यवादी आंदोलन से जुड़े हुए थे परंतु कालांतर में साम्यवाद की अधिनायकवादी व्यवस्था से असंतुष्ट होकर इन्होंने एक नई विचारधारा को जन्म दिया जिसका लक्ष्य समाजवाद और मानवतावाद का समन्वय करना था। मानवेंद्र नाथ राय ने इसे “उग्र मानवतावाद” का नाम दिया। इस दशक में साम्यवादी राज्यों में होने वाली उथल-पुथल श्री राय की दूरदर्शिता को प्रमाणित करती है।
  • Rajya Sabha -- राज्य सभा
भारतीय संसद का उच्च सदन जिसमें अधिक से अधिक 250 सदस्य हो सकते हैं। इनमें से 12 सदस्य राष्ट्रपति द्वारा मनोनीत किए जाते हैं और शेष राज्य की विधान सभाओं द्वारा निर्वाचित किए जाते हैं। प्रत्येक सदस्य का कार्यकाल 6 वर्ष होता है। प्रत्येक दो वर्ष के पश्चात् इसके एक-तिहाई सदस्य पदनिवृत्त होते हैं और उनके स्थान पर नए सदस्य निर्वाचित किए जाते हैं। भारत का उपराष्ट्रपति राज्य सभा का पदेन सभापति होता है। विधायी और वित्तीय मामलों में यह सदन लोक सभा की अपेक्षा दुर्बल है परंतु संविधान-संशोधन में इसकी स्थिति लोक सभा के समान है। इसके सदस्य राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के निर्वाचनों में भी भाग लेते हैं। इसे कई ऐसे अधिकार प्राप्त हैं जो लोक सभा को नहीं है अतः एक दुर्बल सदन होते हुए भी यह इंग्लैंड की लार्ड सभा से कहीं अधिक शक्तिशाली है।
  • Realpolitic -- शक्तिपरक राजनीति, यथार्थपरक राजनीति
यथार्थवाद पर आधारित राजनीति। चूँकि राजनीति का केंद्र बिंदु शक्ति है अतः यह राजनीति शक्ति संचय व शक्तिप्रसार को राज्य का प्रधान लक्ष्य मानती है। इसके प्रणेता जर्मन विचारक हॉकशॉफर थे।
  • Real union -- वास्तविक संघ
ऐसी स्थिति जब दो या दो से अधिक राज्य अपनी आंतरिक स्वायत्तता बनाए रखते हुए एक दूसरे से मिल जाएँ और अंतर्राष्ट्रीय मामलों में एक इकाई बन जाएँ।
  • Real will -- आदर्श इच्छा
इस पद का प्रयोग आदर्शवादी विचारकों (रूसो, बोसांके) के दर्शन में मिलता है। रूसो के अनुसार मनुष्य में दो प्रकार की इच्छाएँ होती हैं :- (1) आदर्श इच्छा, और (2) यथार्थ इच्छा। “आदर्श इच्छा” विवेकपूर्ण और निःस्वार्थ होती है। विवेक पर आधारित होने के कारण यह सभी मनुष्यों में एक समान होती है। अतः सब मनुष्यों की “आदर्श इच्छाओं” के संग्रह से पूरे समाज की सामान्य इच्छा बनती है। “आदर्श इच्छा” के विपरीत “यथार्थ इच्छा” व्यक्तिगत स्वार्थ, लोभ और वासना पर आधारित होती है अतः एक मनुष्य की यथार्थ इच्छा प्रायः दूसरे मनुष्य की यथार्थ इच्छा की प्रतिद्वंद्वी होती है।
  • Rebellion -- विप्लव, बगावत
स्थापित राजकीय व्यवस्था के विरुद्ध व्यापक, संगठित एवं सशस्त्र विद्रोह जिसका उद्देश्य वर्तमान व्यवस्था को विस्थापित करना होता है।
  • Recess appointments -- मध्यावकाश नियुक्तियाँ
यह पद अमेरिकी संवैधानिक व्यवस्था से संबंधित है। संयुक्त राज्य अमेरिका में राष्ट्रपति द्वारा सभी सर्वोच्च पदों पर नियुक्तियाँ सीनेट के दो-तिहाई बहुमत से संपुष्ट होती है। सीनेट के अधिवेशन में न होने की अवधि में राष्ट्रपति अस्थायी रूप से नियुक्तियाँ कर सकता है जो सीनेट द्वारा संपुष्ट किए जाने तक वैध रहती हैं। ऐसी नियुक्तियों को “मध्यावकाश नियुक्तियों” कहते हैं।
  • Recognition of absentee government -- अन्यत्रवासी सरकार को मान्यता
दोनों महायुद्धों में शत्रु के आक्रमण होने पर अनेक यूरोपीय देशों की सरकारें अन्य देशों में शरण लेने को विवश हुईं। स्थानीय राज्यों द्वारा इन्हें अपने-अपने देशों की वैध सरकारों के रूप में मान्यता दी गई। ऐसी सरकारों की मान्यता को “अन्यत्रवासी सरकार को मान्यता” कहा जाता है क्योंकि ये सरकारें अपने देशों की भूमि पर विद्यमान नहीं थीं और न ही अपने देशों के शासन पर इनका कोई तथ्येन नियंत्रण था।
  • Recongnition of belligerency -- युद्धकारिता को मान्यता
किसी देश की स्थापित सरकार के विरुद्ध संगठित, व्यापक एवं सशस्त्र विद्रोह होने की अवस्था में विद्रोहकारियों को निम्नालिखित दशाएँ होने पर, अन्य देशों द्वारा युद्धकारियों के रूप में मान्यता दी जा सकती है जिसके फलस्वरूप इन्हें स्वतंत्र राज्यों के समान युद्धकारी अधिकार प्राप्त हो जाते हैं। ये दशाएँ हैं :- 1. विद्रोहकारियों का देश के एक बड़े भाग पर वास्तविक नियंत्रण होना, 2. विद्रोहकारियों का एक सेनाधिपति की अधीनता में सुव्यवस्थित रूप से संगठित होना, 3. इनके द्वारा युद्ध के नियमों का पालन किया जाना, तथा 4. ऐसी दशाएँ उत्पन्न हो जाना कि विदेशों के लिए विद्रोहकारियों के प्रति अपना दृष्टिकोण स्पष्ट करना आवश्यक हो जाए।
  • Recongnition of insurgency -- विद्रोहकारिता को मान्यता
लॉटर पैक्ट के अनुसार विद्रोहकारिता की मान्यता से कोई विधिक स्थिति उत्पन्न नहीं होती। गृहयुद्ध में विद्रोहकारियों को कुछ अधिकार दिए जा सकते हैं जो पूर्ण युद्धकारी अधिकारों से कम होते हैं। यह इसलिए किया जाता है कि विद्रोहकारियों को न तो युद्धकारियों वाली मान्यता दी जा सकती है और न ही उनकी पूर्णतया उपेक्षा की जा सकती है। अतः उन्हें मान्यता देनेवाला राज्य, परिस्थितियों के अनुसार, उन्हें युद्धकारियों के कुछ अधिकार देना स्वीकार कर सकता है। इस स्थिति को “विद्रोहकारियों को मान्यता” कहा जाता है। इसका उदाहरण है स्पेन के गृहयुद्ध में विद्रोहकारियों को ब्रिटेन द्वारा दी गई मान्यता। परंतु पिछले पचास वर्षों में इसका कोई उदाहरण नहीं मिलता।
  • Recognition of opposition -- विपक्ष को मान्यता
संसद में सत्तारूढ़ दल के अतिरिक्त सर्वाधिक स्थान पाने वाले दल या दलसमूह को विपक्ष के रूप में स्वीकार किया जाना। इसके नेता को विपक्ष का नेता माना जाता है और उसे मंत्री के समतुल्य दर्जा व सुविधाएँ प्राप्त होती हैं। भारतीय लोकसभा में स्पीकर श्री मावलंकर ने यह निर्णय दिया था कि विपक्ष के रूप में उसी दल या दल-समूह को मान्यता दी जाएगी जिसके सदस्यों की संख्या पूरे सदन की संख्या के कम से कम 1/10 भाग के बराबर हो।
  • Red Square -- लाल चौक
सोवियत संघ की राजधानी मास्को का प्रसिद्ध ऐतिहासिक चौक जहाँ क्रेमलिन सहित सोवियत सरकार के सभी कार्यालय स्थित है और जहाँ मृत लेनिन का शरीर ताबूत में सुरक्षित रखा गया है। इस चौक में प्रायः ऐतिहासिक अवसरों पर शीर्ष सोवियत नेताओं के सन्मुख सैनिक व असैनिक परेड और रैलियाँ आयोजित की जाती हैं जैसे कि मई दिवस तथा अक्तूबर क्रांति दिवस के समारोह।
  • Referendum -- परिपृच्छा, मतसंग्रह
किसी विधेयक अथवा संवैधानिक या सार्वजनिक महत्व के प्रश्न पर सर्वसाधारण की विधिवत् राय जानने की प्रक्रिया। कुछ देशों में संवैधानिक संशोधनों पर अनिवार्य रूप से मतसंग्रह कराना आवश्यक होता है परंतु साधारण विधेयकों पर एक निर्धारित अवधि के भीतर निर्धारित जनसंख्या की माँग पर ही मतसंग्रह कराया जाता है, अन्यथा नहीं। मतसंग्रह प्रत्यक्ष लोकतंत्र का एक अभिकरण माना जाता है।
  • Reform Act -- सुधार क़ानून
उन्नीसवीं शताब्दी में ब्रिटेन में कॉमनसभा को जनप्रतिनिधिमूलक बनाने के लिए एवं मताधिकार का प्रसार करने के लिए तीन क़ानून क्रमशः 1832, 1867 और 1884 में पारित किए गए। इनका उद्देश्य अधिकाधिक नागरिकों को मताधिकार प्रदान करना था। 1884 के क़ानून के उपरांत सभी वयस्क पुरुषों को मताधिकार प्राप्त हो गया। ये तीनों क़ानून ब्रिटिश संवैधानिक इतिहास में सुधार क़ानूनों के नाम से विख्यात हैं।
  • Reformation -- सुधार आंदोलन, धर्म सुधार
पंद्रहवीं शताब्दी में रोमन कैथोलिक चर्च में व्याप्त बुराइयों एवं अनाचार के विरुद्ध जर्मनी से प्रारंभ हुआ आंदोलन जिसका लक्ष्य ईसाई धर्म में सुधार लाना था। इसका श्रीगणेश बूर्तबर्ग के गिरजे के बाहर दीवार पर चिपकाई गई मार्टिन लूथर नामक पादरी की 22 अभिधारणाओं से हुआ। इनमें पोप, पादरियों एवं चर्च की कार्यप्रणाली में सुधार लाने की माँग प्रचारित की गई थी। लूथर द्वारा प्रारंभ किया गया यह आंदोलन पूरे यूरोप में प्रोटेस्टेन्ट आंदोलन के नाम से फैल गया। स्कॉटलैंड में काल्विन और स्विटजरलैंड में ज्विंगले ने इसका नेतृत्व किया। इस आंदोलन से कैथोलिक चर्च की नींव हिल गई और लगभग सभी यूरोपीय देशों में ईसाई धर्मावलंबियों में विभाजन हो गया। इस आंदोलन के फलस्वरूप पोप की तानाशाही समाप्त हो गई और ईसाई धर्म में फैली कुरीतियों के प्रति जनजागरण आरंभ हुआ।
  • Reformative theory of punishment -- दंड का सुधारात्मक सिद्धांत
यह दंड के तीन सिद्धांतों में से एक है। अन्य दो हैं- प्रतिशोधात्मक तथा निवारक सिद्धांत। सुधारात्मक सिद्धांत के अनुसार दंड का उद्देश्य न तो प्रतिशोध होना चाहिए और न भय उत्पन्न करना बल्कि अपराधी का सुधार करना होना चाहिए ताकि दंड की समाप्ति होने पर वह उपयोगी नागरिक बन सके। इस उद्देश्य से कारावास की अवधि में उसके मानसिक परिष्कार तथा व्यावसायिक प्रशिक्षण की व्यवस्था पर ध्यान दिया जाना जाहिए। इस प्रकार के अनेक प्रयोग, यहाँ तक कि खुली जेलों का प्रयोग, भारत सहित अनेक देशों में हो रहे हैं।
  • Regency -- प्रतिशासन व्यवस्था, रीजेन्सी, दे. regent.
  • Regent -- प्रतिशासक
किसी शासक की मृत्यु के पश्चात् उसका उत्तराधिकारी यदि वयस्क न हो ती एक अंतरिम व्यवस्था के रूप में राजघराने से संबंधित किसी वरिष्ठ सदस्य को कार्यवाहक शासक नियुक्त कर दिया जाता है जिसे प्रतिशासक या रीजेन्ट कहते हैं। जब यह उत्तरदायित्व एक व्यक्ति के स्थान पर एक परिषद् को सौंपा जाता है जो उसे “रीजेन्सी” कहते हैं।
  • Regimentation -- विबंधन
वह स्थिति जब शासक दल पूरे समाज को अपने अनुकूल मूल्यों, आदर्शों, संस्थाओं व सिद्धांतों के अनुरूप ढालने तथा आचरण करने के लिए प्रेरित प्रशिक्षित अथवा बाध्य करे।
  • Regional imbalance -- क्षेत्रीय असंतुलन
किसी देश के विभिन्न क्षेत्रों में आर्थिक व औद्योगिक विकास असमान होने से उत्पन्न विषमताएँ। यह स्थिति उन देशों में विशेष रूप से पाई जाती है जहाँ भौगोलिक, ऐतिहासिक तथा अन्य कारणों से कुछ क्षेत्र पिछड़े रह गए हैं और वर्तमान काल में देश के विकास-कार्य का समान रूप से लाभ नहीं पा सके हैं।
  • Regional organisation -- क्षेत्रीय संगठन
किसी क्षेत्र-विशेष में स्थित क्षेत्रीय स्तर पर संगठित राज्यों के अंतर्राष्ट्रीय संगठन जिनका उद्देश्य सदस्य राष्ट्रों का आर्थिक विकास तथा उनका सैनिक सुरक्षा एवं अन्य समान हितों के मामलों में पारस्परिक सहयोग सुनिश्चित करना होता है। मूल रूप से, इस प्रकार क संगठनों को दो भागों में बाँटा जाता है :- 1. सैनिक संगठन, 2. असैनिक संगठन। सैनिक संगठनों का मुख्य उदाहरण है उत्तरी एटलांटिक संधि संगठन (नाटो) और असैनिक संगठनों के प्रमुख उदाहरण है यूरोपीय आर्थिक समुदाय (ई. ई. सी.), दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क), दक्षिणी पूर्वी एशियाई राष्ट्रों का संगठन (एसियान)। यह उल्लेखनीय है कि क्षेत्रीय संगठन संयुक्त राष्ट्र की व्यवस्था के प्रतिकूल नहीं हैं।
  • Regional representation -- क्षेत्रीय प्रतिनिधित्व
इसका आशय है किसी इकाई की संस्थाओं में उसके भागों अथवा भूखंडों का समुचित प्रतिनिधित्व। संयुक्त राष्ट्र संघ के विभिन्न अंगों के संगठन में इस बात का प्रयास किया जाता है कि उनमें संसार के सभी भौगोलिक क्षेत्रों को प्रतिनिधित्व प्राप्त हो। इसी प्रकार राष्ट्रीय व्यवस्था में विधान मंडल, न्यायपालिका एवं कार्यपालिका के संगठन में इस बात का प्रयास किया जाता है कि यथा संभव देश के विभिन्न प्रदेशों को उनमें प्रतिनिधित्व प्राप्त हो।
  • Remedial rights -- उपचारात्मक अधिकार
समाज के दुर्बल वर्गों की सामाजिक एवं आर्थिक दशा को सुधारने तथा उनको समाज के अन्य वर्गों के समकक्ष लाने के उद्देश्य से दी गई विशेष वैधानिक सुविधाएँ एवं अधिकार जैसे नौकरियों और शिक्षा संस्थाओं में स्थान-आरक्षण, निःशुल्क शिक्षा आदि।
  • Renaissance -- पुनर्जागरण, पुनरोदय
चौदहवीं-पंद्हवीं शताब्दी में इटली तथा यूरोप के अनेक राज्यों में कला, साहित्य वाणिज्य, उद्योग आदि के क्षेत्रों में होनेवाली उथल-पुथल जिसके परिणामस्वरूप यूरोप में मध्ययुगीन धर्मांधता तथा जड़ता का युग समाप्त हुआ और विवेक एवं विज्ञान के आधार पर नई खोजों तथा आविष्कारों का युग प्रारंभ हुआ। नए-नए देशों तथा व्यापार-मार्गों की खोज हुई। कला, साहित्य एवं वास्तुकला के क्षेत्रों में एक बार पुनः यूनानी-रोमन शैली एवं पद्धति का प्रवर्तन हुआ। सामाजिक, आर्थिक, कला एवं साहित्य के क्षेत्रों में होने वाले इस संपूर्ण परिवर्तन को “पुनर्जागरण” के नाम से जाना जाता है।
  • Repairiation -- देश-प्रत्यावर्तन, प्रत्यावासन
किन्हीं व्यक्तियों अथवा व्यक्ति-समूहों को विदेश से उनके स्वदेश भेजे जाने की प्राक्रिया जैसे, शरणार्थियों अथवा युद्धबंदियों को उनके देश वापिस भेजा जाना। इस शब्द का प्रयोग विदेश में लगी पूँजी को स्वदेश भेजे जाने के लिए भी किया जाता है।
  • Representation of minorities -- अल्पसंख्यकों का प्रतिनिधित्व

राष्ट्रीय संस्थाओं, विशेष रूप से विधान मंडलों में धार्मिक, भाषायी अथवा जातीय अल्पसंख्यकों को स्थान प्रदान करना। इसके लिए अनेक प्रकार की निर्वाचन प्रणालियाँ अथवा प्रशासनिक पद्धतियाँ (जैसे, स्थान-आरक्षण) अपनाई जा सकती हैं। निर्वाचन-प्रणालियों में आनुपातिक प्रतिनिधित्व प्रणाली भी अल्पसंख्यकों (विशेषकर अल्पसंख्यक दलों व समूहों) को प्रतिनिधित्व प्रदान करने का एक उपाय है।

  • Representative democracy -- प्रतिनिधिक लोकतंत्र
ऐसी शासन-व्यवस्था जिसमें जनता प्रत्यक्ष रूप से शासन में भाग न लेकर अपने निर्वाचित प्रतिनिधियों के माध्यम से भाग लेती है। शासन व्यवस्था के इतिहास में राजनीतिक विकास एकतंत्रवाद से प्रतिनिधिमूलक लोकतंत्र की दिशा में हुआ है।
  • Representative government -- प्रतिनिधिक सरकार
आधुनिक युग के विशाल राज्यों में प्रत्यक्ष लोकतंत्रात्मक शासन-पद्धति के माध्यम से शासन संभव नहीं, अतः उनमें प्रतिनिधिमूलक सरकार की पद्धति द्वारा शासन करने की व्यवस्था की जाती है। इस पद्धति में जनता के निर्वाचित प्रतिनिधि सरकार की नीतियों एवं विधियों का निर्माण करते है। संसदात्मक प्रणाली के राज्यों में कार्यपालिका भी इनके प्रति उत्तरदायी होती है। कार्यपालिका के आय और व्यय भी इनके द्वारा ही निर्धारित किए जाते है। कुछ देशों मं न्यायपालिका का चुनाव (विशेषकर निम्न स्तर पर) भी जनता द्वारा होता है।
  • Republic -- गणराज्य
लोकतंत्र का वह स्वरूप जिसमें राष्ट्रध्यक्ष समेत सभी पद निर्वाचन द्वारा भरे जाते हों और साधारण से साधारण नागरिकों क लिए खुले हों। ग्रेट ब्रिटेन लोकतंत्र होते हुए भी गणराज्य नहीं है क्योंकि वहाँ राज्याध्यक्ष वंशक्रमानुगत होता है। इसके विपरीत, भारत एक गणतंत्र है।
  • Res communis -- सामुदायिक संपदा
वह संपत्ति, संपदा अथवा संसाधन जिस पर किसी एक राष्ट्र का क्षेत्राधिकार न हो और न ही कोई एक राष्ट्र अपनी संप्रभुता अथवा क्षेत्राधिकार का प्रसार उस पर कर सके और जो पूरे विश्व-समुदाय की संपदा अथवा धरोहर मानी जाए और जिसका उपयोग सभी राष्ट्र समान आधार पर कर सकें परंतु कोई एक राष्ट्र उसका स्वामित्वहरण न कर सके। सामुदायिक संपदा के उदाहरण हैं राष्ट्रीय क्षेत्राधिकार से परे गहरे समुद्र, अंतरिक्ष, चंद्रमा आदि।
  • Reserved constituency -- आरक्षित निर्वाचन क्षेत्र
वह निर्वाचन क्षेत्र जो किसी वर्ग, जाति अथवा समुदाय विशेष के लिए आरक्षित हो अर्थात् वहाँ से इस विशिष्ट वर्ग, जाति अथवा समुदाय का सदस्य ही उम्मीदवार हो सकता हो यद्यपि मतदान का अधिकार निर्वाचन-क्षेत्र की समग्र सक्षम जनता को होता है। भारत में लोकसभा तथा विधान सभाओं में अनुसूचित जातियों तथा जनजातियों के स्थान आरक्षित होने के कारण कुछ निर्वाचन-क्षेत्र इनके लिए आरक्षित कर दिए गए हैं जिन्हें “आरक्षित निर्वाचन क्षेत्र” कहा जाता है।
  • Resident -- रेज़ीडेन्ट
ब्रिटिश शासन काल में, उन देशी रियासतों में, जो ब्रिटिश सरकार के साथ “सब्सिडियरी एलायंस” करना स्वीकार करती थी, वह अधिकारी जो ऐसी रियासत में वायसराय के प्रतिनिधि के रूप में नियुक्त किया जाता था। उस अधिकारी को “रेज़ीडेन्ट” तथा उसके निवास को रेज़िडेन्सी कहते थे। वास्तव में रेज़ीडेन्ट का पद राजसत्ता का केन्द्र था।
  • Residuary powers -- अवशिष्ट शक्तियाँ, अवशिष्ट अधिकार
संघात्मक संविधानों में सूचीबद्ध अधिकारों के अतिरिक्त शेष अधिकार। भारतवर्ष में संघ सूची, राज्य सूची और समवर्ती सूची में उल्लिखित अधिकारों के अतिरिक्त यदि कोई अधिकार सूचीबद्ध होने से रह गया हो तो वह “अवशिष्ट अधिकार” की परिधि में आएगा और उस पर क़ानून बनाने का अधिकार संसद को होगा। अमेरिका में अवशिष्ट अधिकार राज्यों के क्षेत्राधिकार में आते हैं।
  • Resistance groups -- प्रतिरोधी समूह
किसी राज्य में समय-समय पर, विशेषकर विदेशी आधिपत्यकाल में, अनौपचारिक रूप से संगठित होने वाले तत्कालीन सत्ता एवं शासन विरोधी समूह जिनमें निम्नलिखित लक्षण पाए जाते हैं :- 1. ये संगठित होते हैं, 2. इनका निश्चित नेतृत्व होता है, 3. ये प्रायः सशस्त्र होते हैं, तथा 4. कभी-कभी ये समूह गुरिल्ला तरीकों को भी अपनाते हैं। इनके उदाहरण हैं फ्रांस में नाज़ी आधिपत्य के दौरान माकी (Maquis), यूगोस्लाविया में टीटो के नेतृत्व में पार्टीजां और वियतनाम युद्ध के प्रारंभिक काल में फ्रेंच और अमेरिकी उपस्थिति के विरुद्ध वियतकांग।
  • Responsible government -- उत्तरदायी शासन
वह शासन-पद्धति जिसके अंतर्गत कार्यपालिका अपने कार्यों तथा नीतियों के लिए राज्य की जनता द्वारा निर्वाचित विधान मंडल के प्रति उत्तरदायी होती है। विधान मंडल में बहुमत न रहने पर कार्यपालिका अपदस्थ हो जाती है।
  • Responsibility of state -- राज्य का दायित्व
अंतर्राष्ट्रीय विधि के अनुसार किसी राज्य में रहनेवाले विदेशी नागरिकों की जान-माल की सुरक्षा का दायित्व स्थानीय सरकार पर होता है। किसी विदेशी को शारीरिक क्षति पहुँचाए जाने पर या स्थानीय सरकार द्वारा उसके प्रति अन्याय किए जाने पर अथवा उसकी संपत्ति को हानि पहुँचने पर, स्थानीय सरकार का कर्त्तव्य है कि उसकी क्षतिपूर्ति करे। क्षतिपूर्ति होने या न्याय न मिलने पर उस विदेशी को अपनी सरकार से हस्तक्षेप की माँग करने का अधिकार है। ऐसी स्थिति में यह विवाद अंतर्राष्ट्रीय विवाद बन सकता है। इस विवाद का आधार है राज्य का अंतर्राष्ट्रीय दायित्व।
  • Restricted sufferage -- सीमित मताधिकार
यह वयस्क अथवा सार्वजनिक मताधिकार का विलोम है। इसका अर्थ है कि मताधिकार सभी वयस्कों को प्राप्त न होकर सीमित है। सीमित करने के कई आधार हो सकते हैं जैसे, लिंग, शिक्षा, संपत्ति आदि। संयुक्त राज्य अमेरिका के कुछ राज्यों में मताधिकार पाने के लिए संबंधित राज्य में निर्धारित अवधि तक निवास करना भी आवश्यक होता है। जॉन स्टुअर्ट मिल ने इस बात का समर्थन किया था कि मताधिकार शिक्षितों तक ही सीमित होना चाहिए। ब्रिटेन में 1918 में पहली बार महिलाओं को मताधिकार प्राप्त हुआ लेकिन इसके लिए आयु सीमा 30 वर्ष निर्धारित की गई। 1928 में जाकर इग्लैंड में वयस्क मताधिकार स्थापित हुआ। भारत में 1946 के चुनाव तक केवल 14 प्रतिशत जनता को मताधिकार प्राप्त था और मताधिकार के आधार शिक्षा, संपत्ति एवं अनेक विशिष्ट हित थे। अतः भारत के संविधान द्वारा वयस्क मताधिकार प्रदान किया जाना एक साहसिक राजनीतिक कदम था।
  • Retributive justice -- प्रतिकारी न्याय
ऐसी न्याय व्यवस्था जिसका आधार “आँख के बदले आँख” और “हाथ के बदले हाथ” हो अर्थात् जो प्रतिशोध के सिद्धांत पर आधारित हो।
  • Revealed law -- इलहामी क़ानून, स्वप्रकाशित विधि
शाश्वत विधि का वह भाग जो ईश्वर के पैग़म्बर या मसीहा द्वारा प्रगट किया गया हो। जैसे, मुसलमानों के ग्रंथ कुरान और ईसाइयों के दस समादेशों तथा यहूदियों के ओल्ड टेस्टामेन्ट में प्रस्फुटित विधि के नियम।
  • Reverse veto -- प्रतिवर्ती निषेधाधिकार
संयुक्त राज्य अमेरिका में जब राष्ट्रपति द्वारा प्रयुक्त निषेधाधिकार को कांग्रेस दो-तिहाई बहुमत से निरस्त कर देती है तो इसे “प्रतिवर्ती निषेधाधिकार” कहा जाता है। भारत के संविधान के अनुसार संसद् के साधारण बहुमत से ही राष्ट्रपति के निषेधाधिकार को निरस्त किया जा सकता है। तथापि भारत में राष्ट्रपति का निषेधाधिकार केवल सैद्धांतिक है और इस बात का प्रमाण यह है कि आज तक इस अधिकार का प्रयोग नहीं हुआ है।
  • Revisionism -- संशोधनवाद
मार्क्स के देहावसान के उपरांत यूरोप में अनेक विचारकों ने, जिनमें बर्नस्टाइन का नाम सर्वाधिक विख्यात है, मार्क्सवाद को मानवतावादी बनाने और प्रतिनिधिमूलक लोकतंत्र से उसका समन्वय करने के उद्देश्य से उसमें संशोधन के प्रस्ताव किए। इन विचारकों को संशोधनवादी और उनके दर्शन को “संशोधनवाद” कहा गया। आगे चलकर, लेनिन और स्टालिन ने सोवियत संघ में मार्क्सवाद को जो स्वरूप प्रदान किया उसे विशुद्ध मार्क्सवाद कहा जाने लगा और उससे हटकर अथवा उसमें शिथिलता उदार परिवर्तन लाने के प्रत्येक प्रयास को “संशोधनवाद” कहा जाने लगा। इसके बाद चीन में माओ के विचारों को विशुद्ध मार्क्सवाद और खुश्चेव के उपरांत सोवियत संघ में आनेवाले सुधारों को “संशोधनवाद” की संज्ञा दी जाने लगी। इस प्रकार “संशोधनवाद” एक स्थिर अवधारणा न होकर सापेक्ष संकल्पना है।
  • Revolutionary junta -- क्रांतिकारी परिषद, क्रांतिकारी गुट
किसी देश में सैनिक विप्लव अथवा क्रांति के समय विद्रोहकारियों का नेतृत्व एवं संचालन करने वाल गुट। इस पद का प्रयोग प्रायः दक्षिण अमेरिकी गणराज्यों में समय-समय पर होने वाली सैन्य क्रांतियों का संचालन करने वाली परिषद के लिए किया जाता रहा है।
  • Revolution of rising expectations -- बढ़ती आकांक्षाओं की क्रांति
तीसरी दुनिया के विकासशील देशों में औद्योगीकरण तथा आधुनिकरण के फलस्वरूप जीवन-स्तर में सुधार और राजनीतिक व्यवस्था में जनता की भागीदारी से जनमानस में आकांक्षाओं की बाढ़-सी आने लगी। आकांक्षाओं की संख्या और इनके बढ़ने की गति और तीव्रता इतनी अधिक थी कि इस स्थिति को “बढ़ती आकांक्षाओं की क्रांति” कहा जाने लगा। वर्तमान शताब्दी के छठे और सातवें दशक में यही स्थिति थी। इस पद का प्रयोग सबसे पहले बारबरा वार्ड ने किया था।
  • Right of dissolution -- विघटन का अधिकार
संसदीय शासन-प्रणाली में संसद के जननिर्वाचित अथवा निचले सदन का विघटन उसकी कार्यावधि पूरी होने से पहले भी किया जा सकता है। यह राज्याध्यक्ष का संवैधानिक अधिकार है। प्राय: इसका प्रयोग प्रधानमंत्री की सिफारिश पर किया जाता है। इस संबंध में दो प्रश्न अभी भी विवादग्रस्त हैं :- (1) क्या प्रधानमंत्री की सिफारिश के बावजूद राज्याध्यक्ष संसद का विघटन करना अस्वीकार कर सकता है ? (2) क्या राज्याध्यक्ष किन्हीं परिस्थितियों में, बिना प्रधानमंत्री की सिफारिश के, स्वेच्छा से सदन का विघटन कर सकता है ? संसदीय परंपरा के अनुसार यदि संसद में प्रधानमंत्री का पक्ष स्पष्ट बहुमत में हो तो राज्याध्यक्ष के सामने प्रधानमंत्री की विघटन संबंधी सिफारिश को मानने के अतिरिक्त कोई विकल्प नहीं रह जाता।
  • Right of expropriation -- स्वामित्वहरण का अधिकार, विसंपत्तिकरण अधिकार
सरकार का वह अधिकार जिसके अंतर्गत वह विदेशी स्वामित्व वाली सम्पत्ति को हस्तगत कर उसे अपने स्वामित्व में ले सकती है। ऐसा केवल राष्ट्रीय हित में ही किया जा सकता है और अंतर्राष्ट्रीय विधि के अनुसार इसके लिए उसके मूल स्वामी को उचित मुआवज़ा दिया जाना चाहिए।
  • Right of innocent passage -- निर्दोष गमन का अधिकार
अंतर्राष्ट्रीय विधि का यह एक सुस्थापित नियम है कि विदेशी भूभागीय समुद्र से राज्यों के जलपोत एवं युद्धपोत, युद्ध एवं शांतिकाल में बिना तटवर्ती राज्य की अनुमति के आ-जा सकते हैं। शर्त केवल यह है कि यह आवागमन तटवर्ती राज्य की शांति और सुरक्षा के लिए संकटमय न हो। युद्धकाल में तटवर्ती राज्य इस निर्दोष आवागमन को सीमित एवं नियमित कर सकते हैं परंतु इसके लिए बनाए गए नियम सभी युद्धकारियों पर समान रूप से लागू किए जाने चाहिएँ।
  • Right of interpellation -- प्रश्न पूछने का अधिकार
किसी विधान मंडल के सदस्यों का कार्यपालिका के सदस्यों से प्रश्न पूछने का अधिकार। इस प्रकार, यह भी कार्यपालिका पर संसदीय नियंत्रण का एक साधन है।
  • Right of resistance -- प्रतिरोध-अधिकार
ऐतिहासिक दृष्टि से, सभी युगों में व्यक्तियों ने अपने विवेक और चेतना के आधार पर स्थापित सत्ता का विरोध करने का दावा किया है। इस अधिकार का प्रायः आदर किया जाता रहा है। किंतु ऐसे उदाहरण भी मिलते हैं जहाँ विरोधी को राज्य में उत्पीड़न और यहाँ तक कि मृत्युदंड का भी भाजन बनना पड़ा है। वर्तमान काल में यह अधिकार लोकतंत्रात्मक शासन-व्यवस्था का एक लक्षण माना जाता है। यद्यपि यह व्यवस्था जन प्रतिनिधि-मूलक होती है पर फिर भी, नागरिक व्यक्तिगत अथवा सामूहिक रूप से सरकार के अनुचित, दमनकारी अथवा अन्यायपूर्ण कामों का शांतिमय उपायों से विरोध कर सकने का दावा करते हैं। इसे “प्रतिरोध करने का अधिकार” कहा जाता है। प्रतिरोध के अनेक रूप हो सकते हैं जैसे, प्रदर्शन, अनशन, सविनय अवज्ञा आदि। यह विवादग्रस्त है कि अधिकारियों का घेराव और उन पर दबाव या उनके प्रति अभद्र व्यवहार कहाँ तक प्रतिरोध के अधिकार की सीमा में आते हैं।
  • Right of visit, search and capture -- निरीक्षण, तलाशी एवं प्रग्रहण का अधिकार
युद्ध के दौरान महासमुद्र में तटस्थ जलपोतों को रोककर उनके निरीक्षण का अधिकार युद्धकारियों को होता है। यदि निरीक्षण मात्र से संतुष्टि न हो तो जलपोत की तलाशी ली जा सकती है और विनिषिद्ध सामग्री पाए जाने पर उसका तुरंत प्रग्रहण कर जलपोत को अंतिम निर्णय के लिए निकटस्थ नौजित माल न्यायालय (प्राइज़ कोर्ट) के समक्ष प्रस्तुत किया जाता है। निरीक्षण, तलाशी और प्रग्रहण अंतर्राष्ट्रीय विधि के अंतर्गत युद्धकारियों के सुस्थापित अधिकार हैं।
  • Right ordering of loyalties -- निष्ठाओं का उचित क्रम-निर्धारण
यह स्वाभाविक है कि सामाजिक प्राणी होने के नाते नागरिक की निष्ठा अनेक संस्थाओं या संगठनों के प्रति होती है किन्तु एक आदर्श नागरिक का आचरण ऐसा होना चाहिए कि वह अपनी निजी या क्षणिक लाभ देने वाली संस्थाओं के प्रति निष्ठा से ऊपर उठकर उच्चकोटि के हितों और संस्थाओं के प्रति निष्ठावान हों जैसे, इस क्रम में स्वयं की अपेक्षा समुदाय के प्रति, समुदाय की अपेक्षा प्रदेश के प्रति, प्रदेश की अपेक्षा राष्ट्र के प्रति और इन सबसे ऊपर मानव समाज के प्रति उसकी निष्ठा हो। इस प्रक्रिया को निष्ठाओं का उचित क्रम-निर्धारण कहते हैं।
  • Right wing party (rightist party) -- दक्षिणपंथी दल
ऐसे दल जो अनुदारवादी नीतियों का पालन करते हैं और प्रायः यथापूर्व स्थिति को बनाए रखने के पक्ष में होते हैं। सामाजिक और आर्थिक क्षेत्र में यदि वे परिवर्तन स्वीकार करते भी हैं तो उनका दृष्टिकोण यह होता है कि ये परिवर्तन धीरे-धीरे लाए जाएँ। वर्तमान समय में लोक-तंत्रात्मक राज्यों में राजनीतिक दलों का वर्गीकरण मोटे रूप से तीन भागों में किया जाता है :- 1. दक्षिणपंथी (अनुदार) 2. वामपंथी (समाजवादी/प्रगतिवादी) 3. मध्यपंथी (उदार) बहुधा दलों के आर्थिक व्यवस्था के प्रति दृष्टिकोण को देखकर उनको उपरोक्त वर्गों में से किसी एक वर्ग में रखा जाता है।
  • Rio Treaty -- रियो संधि
1947 में 21 अमेरिकी गणराज्यों के बीच हुई पारस्परिक सहायतार्थ अंतर-अमेरिकी संधि। इस संधि द्वारा इन राज्यों में यह समझौता हुआ कि यदि किसी अमेरिकी राज्य पर किसी अन्य राज्य द्वारा आक्रमण होता है तो यह इन सब पर आक्रमण माना जाएगा। ऐसी स्थिति में सारे राज्य आपसी विचारविमर्श के बाद यह निर्णय लेंगे कि अपनी व्यक्तिगत कार्रवाई की स्वतंत्रता रखते हुए वे सामूहिक रूप से कौन-से कदम उठाएँ। इस संधि में यह बात भी मानी गई कि अमेरिकी राज्य आपसी झगड़ों का समाधान शांतिमय उपायों से करेंगे जिनका उल्लेख भी इस संधि में किया गया है। इस संधि के अंतर्गत लिए गए निर्णयों को लागू करने का दायित्व अमेरिकी राज्य संगठन के अंगों पर है।
  • Riparian states -- तटवर्ती राज्य
समुद्र अथवा अंतर्राष्ट्रीय नदियों के तट पर बसे राज्य। अंतर्राष्ट्रीय विधि के अंतर्गत समुद्र अथवा अंतर्राष्ट्रीय नदियों में व्यवस्था बनाए रखने में तटवर्ती राज्यों का विशेष दायित्व होता है। अंतर्राष्ट्रीय नदियों के उपयोग के मामले में तटवर्ती राज्यों के अधिकार अंतर्राष्ट्रीय विधि एवं तत्संबंधी संधियों द्वारा नियमित होते हैं।
  • Roll call voting -- नामावली मतदान, नामोच्चारण
द्वारा मतदान यह प्रक्रिया जिसके अंतर्गत विधानमंडल में किसी विधेयक पर प्रत्येक सदस्य को “हाँ” या “न” कहकर अपना मत व्यक्त करने के लिए पुकारा जाता है। वर्तमान काल में विधान मंडलों में मतसंग्रह प्रायः सामूहिक रूप से “हाँ” या “न” कहकर कराया जाता है जिसे ध्वनि मतदान कहते हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका में विभिन्न दल राष्ट्रपति पद के लिए अपने उम्मीदवार का नामांकन करने के लिए राष्ट्रीय सम्मेलनों का आयोजन करते हैं। उनमें सभी राज्यों के प्रतिनिधि भाग लेते हैं। सम्मेलन का सभापति अंग्रेजी वर्णमाला के क्रमानुसार बारी-बारी से प्रत्येक राज्य के प्रतिनिधि से अपना मत व्यक्त करने के लिए कहता है। इसे भी नामोच्चारण द्वारा मतसंग्रह का एक दृष्टांत माना जा सकता है।
  • Rome-Berlin axis -- रोम-बर्लिन धुरी
दोनों युद्धों के अंतराल में विश्व की महाशक्तियाँ दो शिविरों में बंटती जा रही थीं जिनमें एक पक्ष का प्रणेता हिटलर के अधीन नाज़ी जर्मनी था और दूसरा पक्ष इंग्लैंड और फ्रांस के नेतृत्व में गठित हो रहा था। हिटलर ने अपनी प्रसारवादी नीति को साकार करने के लिए सर्वप्रथम समान विचारधारा वाले देश इटली से गठबंधन किया जिसे “रोम-बर्लिन घुरी” कहा जाता है। कुछ समय पश्चात् इसी विचारधारा का पक्षपाती जापान भी इस द्विपक्षीय पारस्परिक सहायता संधि मं शामिल हो गया और तब यह गठबंधन रोम-बर्लिन-टोकियो धुरी कहलाया जाने लगा। द्वितीय महायुद्ध में ये राष्ट्र धुरी युद्धकारी राष्ट्र कहलाए।
  • Roman Catholic Church -- रोमन कैथोलिक चर्च
ईसाइयों का वह विश्वव्यापी धार्मिक संगठन जिसके परमगुरु पोप माने जाते हैं। इनका निवास स्थान और मुख्यालय रोम के निकट वैटिकन नगर में है। यह माना जाता है कि परम गुरु पोप की गद्दी ईसा समीह के बारह शिष्यों में से एक संत पॉल से आरंभ होती है। मध्य युग में इस चर्च का वर्चस्व राजनीतिक, धार्मिक, शैक्षिक आदि सभी क्षेत्रों में था। सुधारवादी आंदोलन के बाद विश्व के ईसाई दो भागों में बंट गए-एक, प्रोटेस्टेन्ट और दूसरे कैथोलिक। अब केवल कैथोलिक संप्रदाय की निष्ठा ही रोमन कैथोलिक चर्च के प्रति है।
  • Roving ambassador -- भ्रमणशील दूत
वह विशिष्ट दूत जो किसी एक देश को प्रत्यायित न होकर राष्ट्रपति अथवा शासनाध्यक्ष के निजी प्रतिनिधि के रूप में देश की नीति अथवा नीतियों के पक्ष में समर्थन जुटाने के लिए विदेशों में भेजा जाता है। एक देश में स्थिर न रहने और विभिन्न देशों का दौरा करते रहने के कारण इसे “भ्रमणशील दूत” या राजदूत कहते हैं। इसके सर्वश्रेष्ठ उदाहरण हैं राष्ट्रपति रूजवेल्ट के प्रतिनिधि के रूप में हैरी हॉपकिन्स, राष्ट्रपति टुमैन के प्रतिनिधि के रूप में एवरैल हैरीमैन और भारतवर्ष में प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के प्रतिनिधि के रूप में कृष्ण मेनन।
  • Royal charter -- शाही फ़रमान, शाही प्राधिकार पत्र
ब्रिटिश इतिहास के संदर्भ में सम्राट द्वारा लिखित रूप से दी गई आज्ञा। इस प्रकार जारी किए गए प्राधिकारपत्र के द्वारा सम्राट किसी व्यक्ति या निकाय को किसी विशेष कार्य के लिए अधिकृत करते थे। इसमें उन अधिकारों तथा कर्त्तव्यों का उल्लेख रहता था जिनका पालन इसके प्राप्तकर्ता के लिए अनिवार्य था। 1600 ई. में ईस्ट इंडिया कंपनी की स्थापना भी शाही प्राधिकार पत्र द्वारा की गई थी।
  • Rule -- नियम
विधायिका के क़ानूनों के अधीन तथा उसके द्वारा प्रदत्त अधिकारों के अंतर्गत कार्यपालिका द्वारा बनाई गई विधियाँ जिन्हें प्रशासकीय विधियाँ अथवा अधीनस्थ विधि-निर्माण कहते हैं। प्रशासकीय विधियों का दृष्टांत और स्वरूप “नियम” है। नियमों के अतिरिक्त अधिनियम, उपनियम आदि भी प्रशासकीय विधियों के स्वरूप हैं। नियम आदि प्रायः प्रशासकीय अधिकारियों अथवा निकायों द्वारा बनाए जा सकते हैं। यह मूल विधायिनी व्यवस्था पर निर्भर करता है।
  • Rule adjudication -- नियम-अधिनिर्णय
निर्मित विधियों के आधार पर विवादों के समाधान हेतु निर्णय करने का कार्य। आमंड के अनुसार यह कार्य केवल औपचारिक न्यायालयों तक सीमित न होकर अन्य संगठनों अथवा निकायों के सक्षम अंगों द्वारा भी संपादित किया जा सकता है। इस प्रकार आमंड की “नियम अधिनिर्णय” की अवधारणा परंपरागत न्याय-प्रशासन से कहीं अधिक व्यापक है।
  • Rule application -- नियम प्रवर्तन
आमंड के तीन निर्गत कार्यों में से एक कार्य जो परंपरागत कार्यकारिणी कार्यों के समतुल्य है। नियम प्रवर्तन का कार्य परंपरागत कार्यकारिणी कार्य से केवल इस बात में भिन्न है कि यह केवल औपचारिक कार्यकारिणी अंगों द्वारा न किया जाकर अन्य निकायों एवं अभिकरणों द्वारा भी होता है जिनमें नगरपालिका, निगम, विश्वविद्यालय, श्रमिक संघ आदि उल्लेखनीय हैं।
  • Rule making -- नियम-निर्माण
इस पद का प्रयोग आधुनिक व्यवहारवादियों द्वारा किया गया है जिनमें आमंड का नाम प्रसिद्ध है। आमंड ने प्रत्येक राजनीतिक व्यवस्था के कार्यों को दो भागों में बांटा है जिन्हें वह आगत-निर्गत कार्य कहता है। निर्गत कार्य तीन प्रकार के होते हैं :- (1) नियम-निर्माण, (2) नियम-प्रवर्तन, तथा (3) नियमों के आधार पर निर्णय करना। इस प्रकार नियम-निर्माण आमंड के तीन निर्गत कार्यों में से एक है। यह परंपरागत विधि-निर्माण से भिन्न नहीं है। अंतर केवल इतना है कि परंपरागत अवधारणा में विधि-निर्माण का कार्य केवल विधायिका करती थी परंतु व्यवहारवादी अवधारणा में विधि-निर्माण का कार्य केवल औपचारिक संरचनाओं तक सीमित नहीं है बल्कि यह अन्य संरचनाओं जैसे, श्रमिक संघ, नगरपालिकाएँ, सार्वजनिक निगम आदि द्वारा भी संपादित किया जाता है।
  • Rule of unanimity -- सर्वसम्मति का नियम
वह नियम जिसके अनुसार किसी समिति, सभा, संघ अथवा इसी प्रकार के निकाय में किसी प्रश्न पर निर्णय करने के लिए यह आवश्यक है कि इसके सभी सदस्य प्रस्तावित निर्णय से सहमत हों। ऐतिहासिक दृष्टि से यह उल्लेखनीय है कि राष्ट्रसंघ की सभा में सर्वसम्मति से निर्णय लिए जाने का नियम था।
  • Rules of procedure and conduct of business -- प्रक्रिया एवं कार्य-संचालन के नियम
सभी देशों में विधायिका का यह स्वयंसिद्ध अधिकार है कि वह अपनी कार्य-प्रणली और अनुशासन संबंधी नियम निर्मित कर सकती है। सदन के द्वारा साधारण बहुमत से स्वीकार कर लिए जाने पर, यह नियमावली बाध्यकारी क़ानून के समकक्ष हो जाती है। भारतवर्ष में भी लोक सभा और राज्य सभा तथा राज्यों की विधान सभाएँ कार्य-प्रणाली एवं कार्य-संचालन तथा अनुशासन संबंधी नियम बनाने में स्वतंत्र हैं। इन्हें कार्य संचालन एवं प्रक्रिया संबंधी नियमावली कहा जाता है।
  • Ruling clique -- शासक गुट
देखने में आता है कि सभी देशों में सत्ता प्रायः सत्तारूढ़ दल अथवा शासन के शीर्षस्थ नेताओं अथवा शासक के परिवार के वरिष्ठ सदस्यों अथवा निकटवर्ती मित्रों में केंद्रित हो जाती है। सत्तारूढ़ पक्ष की ओर से और उसके नाम में सत्ता का वास्तव में उपयोग करने वाले इस छोटे समूह को “शासक गुट” कहा जाता है। इसे प्रायः आदर की दृष्टि से नहीं देखा जाता।
  • Run off primary -- अंतिम दौर का चुनाव
अमेरिकी राष्ट्रपति के निर्वाचन की प्रक्रिया का प्रारंभिक चरण जो केवल 11 दक्षिणी राज्यों में पाया जाता है। राष्ट्रपति पद के लिए नामांकन करने के वास्ते इन राज्यों में विभिन्न दल निर्वाचन कराते हैं जिन्हें प्राइमरी कहा जाता है। यदि निर्वाचन में किसी एक उम्मीदवार को दलीय सदस्यों के आधे से अधिक मत प्राप्त न हों तो मतों की प्राप्ति के अनुसार पहले दो उम्मीदवारों के बीच पुनः मतदान होता है जिसे अंतिम दौर का या निर्णायक चुनाव कहते हैं।
  • Rural localself government -- ग्रामीण स्थानीय स्वशासन
ग्रामीण क्षेत्रों के लिए स्थानीय जनता द्वारा निर्वाचित संस्थाओं के माध्यम से स्थानीय शासन-व्यवस्था। भारत में ग्रामीण स्थानीय स्वशासन की संस्थाओं का संगठन तीन स्तरों पर किया गया है :- (1) ग्राम पंचायत, (2) क्षेत्र समिति अथवा पंचायत समिति, तथा (3) जिला परिषद्। इस प्रकार की त्रिस्तरीय ग्रामीण स्थानीय स्वशासन की व्यवस्था की सिफारिश बलवंत समिति को हटाकर द्विस्तरीय व्यवस्था को अपनाया जा रहा है।
  • Sabotage -- तोड़फोड़, अंतर्ध्वंस
किसी योजना, व्यवस्था अथवा कार्यक्रम को क्षति पहुँचाने, अस्त-व्यस्त करने अथवा विशेष रूप से युद्धकाल या राष्ट्रीय आपात-स्थिति में किसी राष्ट्र या उसकी सरकार को निर्बल बनाने तथा उसके नियमित व कुशल संचालन में व्यवधान डालने के उद्देश्य से संपत्ति का विद्वेषपूर्ण एवं दुर्भावनापूर्ण विध्वंस अथवा उसे अत्यधिक क्षति पहुँचाने का कार्य।
  • Saboteur -- तोड़फोड़ करने वाला, अंतर्ध्वंसक
किसी योजना, व्यवस्था अथवा कार्यक्रम को क्षति पहुँचाने, आर्थिक पद्धति का विध्वंस करने अथवा युद्धकाल या राष्ट्रीय आपात-स्थिति में किसी राष्ट्र या उसकी सरकार को निर्बल बनाने तथा उसके नियमित एवं कुशल संचालन में व्यवधान डालने के उद्देश्य से संपत्ति का विद्वेषपूर्ण या दुर्भावनापूर्ण विध्वंस करने वाला अथवा उसे अत्यधिक आघात पहुँचाने वाला।
  • Sacerdotium -- S
  • Safeguards -- रक्षोपाय
किसी क़ानून अथवा संविधान के प्रावधान जिनका उद्देश्य समाज के किसी वर्ग विशेष जैसे, अल्पसंख्यक वर्ग, अनुसूचित जाति एवं जनजातीय वर्ग आदि के हितों की रक्षा करना होता है। ऐसा प्रायः उन्हें विशिष्ट सुविधाएँ, रियायतें अथवा अधिकार देकर किया जाता है।
  • Salvage ship -- उद्धार पोत
समुद्र में किसी जहाज़ के संकटग्रस्त होने पर उसके यात्रियों, कर्मियों तथा सामान को बचाने के लिए भेजा गया पोत।
  • Sanction -- अनुशास्ति
किसी विधि अथवा व्यवस्था में निहित या प्रतिपादित वह शक्ति जिसके भय से उस विधि अथवा व्यवस्था का अनुपालन किया जाता है।
  • Satellite state ( = surrogate state) -- अनुगामी राज्य
विश्व के किसी महान एवं सैनिक आर्थिक तथा वैज्ञानिक दृष्टि से अधिक शक्तिशाली राज्य का अनुगमन करने वाला अथवा पिछलग्गु राज्य जिसकी मुख्य विशेषताएँ निम्न होती हैं :- (1) अनुगामी राज्य द्वारा प्रधान राज्य की सामाजिक, आर्थिक तथा सांस्कृतिक पद्धतियों के साथ अपना समायोजन। (2) अनुगामी राज्य द्वारा प्रधान राज्य की विदेशनीति के प्रमुख उद्देश्यों का पूर्ण अनुकरण। (3) उसके द्वारा निर्मित क्षेत्रीय सैनिक संगठनों की सदस्यता का अनुसरण व समर्थन।
  • Scheduled castes and scheduled tribes -- अनुसूचित जातियाँ और अनुसूचित जनजातियाँ
सामाजिक तथा आर्थिक दृष्टि से निर्बल वे जातियाँ तथा जनजातियाँ जिन्हें भारत सरकार के आदेश के अंतर्गत सूचीबद्ध कर दिया गया और जिसका उद्देश्य इन्हें विशेष सुविधाएँ तथा संरक्षण प्रदान करना है। भारतीय संविधान ने राज्य सेवाओं में नियुक्तियों तथा लोक सभा और राज्यों की विधान सभाओं में स्थानों के आरक्षण के मामले में अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों के विषय में कुछ विशेष व्यवस्थाएँ की हैं।
  • Scientific socialism -- वैज्ञानिक समाजवाद
कार्ल मार्क्स द्वारा प्रतिपादित समाजवाद जिसकी विशेषता यह है कि यह स्वप्नलोकीय समाजवाद की भांति मात्र कल्पना, आकांक्षा अथवा सदिच्छा पर आधारित नहीं है बल्कि यह समाज में होने वाले परिवर्तनों और विकासक्रम का वैज्ञानिक ढंग से विश्लेषण करता है और उसके आधार पर भावी समाज की रूपरेखा का चित्रण भी करता है। “वैज्ञानिक समाजवाद” के प्रमुख तत्व निम्नलिखित हैं :- (1) द्वंद्वात्मक भौतिकवाद का सिद्धांत, (2) वर्ग-संघर्ष का सिद्धांत, (3) अतिरिक्त मूल्य का सिद्धांत, (4) सर्वहारा क्रांति, (5) राज्य का विघटन, और (6) साम्यवादी समाज की स्थापना।
  • Scorched earth policy -- सर्वक्षार नीति
किसी राज्य की सेनाओं द्वारा शत्रु राज्य की सेनाओं से युद्ध में पराजित होने की स्थिति में पीछे हटते हुए, संपूर्ण विध्वंस अथवा सर्वनाश करने का कार्य। उदाहरणार्थ, उस संपत्ति को नष्ट कर देना जो शत्रु राज्य की सेनाओं के हाथ लगने पर उनके प्रयोग में आ सके। इस प्रकार की ध्वंसात्मक कार्रवाइयों के अंतर्गत खानों में जल भर दिया जाता है, वृक्षों को काट कर गिरा दिया जाता है तथा सर्वत्र उत्पादन अथवा सर्वनाश की नीति का अनुसरण किया जाता है ताकि शत्रु पक्ष देश की संपदा का लाभ न उठा सके।
  • Sea power -- समुद्र शक्ति
1. प्रबल नौ सैनिक शक्ति प्राप्त राज्य।
2. नौ सैनिक शक्ति जिसमें वे समंस्त अस्त्र-शस्त्र, जहाजी बेड़े तथा भौगोलिक परिस्थितियाँ शामिल हैं जो किसी राज्य को समुद्र तथा उसके ऊपर के वायुमंडल पर अपना प्रभुत्व एवं नियंत्रण स्थापित करने के लिए सामर्थ्य प्रदान करती हैं।
  • Search and seizure -- तलाशी और अधिग्रहण
नागरिक स्वतंत्रताओं में से एक प्रमुख स्वतंत्रता जो नागरिक को यह अधिकार देती है कि मजिस्ट्रेट द्वारा जारी किए गए अधिपत्र के बिना न तो उसकी तलाशी ली जा सकती है और न ही उसका कोई माल हस्तगत किया जा सकता है। कामन लॉ वाले देशों में यह एक सामान्यतः स्वीकृत सिद्धांत है। संयुक्त राज्य अमेरिका में संविधान के चौथे संशोधन में भी इसका समावेश किया गया है।
  • Secession -- पृथक् होना, विलग्न हो जाना
राज्य के किसी प्रदेश का राज्य से अलग हो जाना, विशेषकर संघात्मक राज्य व्यवस्था में इकाइयों का संघ से अलग हो जाना। 1861-65 में संयुक्त राज्य अमेरिका में हुआ गृहयुद्ध दक्षिणी राज्यों के इसी प्रयोजन का परिणाम था परंतु यह विफल रहा। 1971 में बांग्लादेश पाकिस्तान से बलपूर्वक अलग होने में सफल रहा।
  • Second ballot -- द्वितीय मतदान
प्रथम मतदान में, किसी अभ्यर्थी द्वारा विधिसम्मत आवश्यक बहुमत प्राप्त न कर पाने पर सर्वाधिक मत प्राप्तकर्ता दो अथवा तीन अभ्यर्थियों के मध्य निर्णय करने के लिए किया गया दूसरा मतदान।
  • Second chamber -- द्वितीय सदन
संघ के अवयवों अथवा समाज के कुछ विशिष्ट हितों का प्रतिनिधित्व करने वाला विधान मंडल का उच्च सदन। विश्व के विभिन्न राज्यों के उच्च सदनों की संगठन पद्धतियों में पर्याप्त अंतर है, जैसे :- (1) कुछ उच्च सदन आनुवंशिक होते हैं, जैसे इंग्लैंड की लार्ड सभा। (2) कुछ उच्च सदन ऐसे हैं जिनमें सब अथवा अधिकांश सदस्यों को कार्यपालिका जीवन भर के लिए नियुक्त करती है। इटली, कनाडा और जापान के उच्च सदन इसी श्रेणी के अंतर्गत आते हैं। (3) संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्राजील, आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, स्वीडन तथा चिली जैसे राज्यों में द्वितीय सदन के सदस्यों का जनता द्वारा प्रत्यक्ष रूप से निर्वाचन किया जाता है। (4) फ्रांस और डेन्मार्क जैसे राज्यों में उच्च सदन के सदस्य परोक्ष रीति से निर्वाचित होते हैं। भारत संघ के उच्च सदन अर्थात् राज्य सभा के अधिकांश सदस्य भारत के अवयवी एककों की विधान सभाओं द्वारा निर्वाचित होते हैं। प्रायः उच्च सदन लोकतांत्रिक परंपरा के अनुरूप नहीं माने जाते। अनेक देशों में इनका महत्व बहुत गौण है। यहाँ तक कि क्रांतिकारी राजनीतिक व्यवस्था में इन्हें कोई स्थान नहीं दिया जाता। वित्तीय क्षेत्र में इनके अधिकार प्रायः नगण्य होते हैं। द्वितीय सदनों में संयुक्त राज्य अमेरिका की सीनेट सर्वाधिक शक्तिशाली मानी जाती है। भारत की राज्य सभा भी कुछ मामलों में काफी महत्वपूर्ण है।
  • Second Internationale -- द्वितीय इंटरनेशनाले
इसकी स्थापना 1899 में अंतर्राष्ट्रीय मजदूर संघ के रूप में पेरिस में की गई थी। प्रारंभ में इसने समाजवाद के संशोधनवादी स्वरूप का समर्थन किया परंतु 1905 में इसने संसदीय सरकारों में समाजवादियों की उदारवादियों के साथ भागीदारी का विरोध किया। इसने विश्व शांतिवाद का प्रचार किया। प्रथम विश्वयुद्ध आरंभ होते ही यह संघ समाप्त हो गया।
  • Secret agreement (=secret alliance = secret pact) -- गुप्त समझौता
दो अथवा अधिक राज्यों के राज्याध्यक्षों अथवा उनके प्रतिनिधियों के मध्य किसी उद्देश्य विशेष की पूर्ति के लिए गोपनीय अथवा अप्रकाशित समझौता या संधि।
  • Secret alliance -- गुप्त समझौता, दे. Secret agreement.
  • Secret ballot -- गुप्त मतदान
मतदान की वह व्यवस्था जिसमें यह ज्ञात न हो कि मतदाता ने किस उम्मीदवार के पक्ष में मत दिया। इस हेतु मतदाता मतपत्र पर इच्छित उम्मीदवार के नाम के आगे केवल चिहन बनाकर अपना मत व्यक्त करता है और मतपत्र पर उसका कहीं नाम नहीं होता। इस मतपत्र को सीलबंद पेटी में डाल दिया जाता है और गणना के समय यह पता नहीं चल सकता कि कौन-सा मतपत्र किसका है।
  • Secret clause -- गुप्त खंड
दो अथवा अधिक राज्यों के मध्य संपन्न किसी अंतर्राष्ट्रीय संधि का वह खंड जो पारस्परिक सुरक्षा अथवा किसी अन्य विशेष कारण से गोपनीय या अप्रकाशित रखा जाता है। आबद्ध राज्य इस प्रकार के खंड का उस समझौता अथवा संधि के अन्य खंडों के समान ही अनुपालन करने के लिए बाध्य होते हैं। अवसर आने पर संबद्ध राज्यों द्वरा गुप्त खंड का प्रकाशन किया जा सकता है।
  • Secret diplomacy -- गुप्त राजनय
विभिन्न राज्यों द्वारा पारस्परिक स्वार्थों की पूर्ति के लिए गोपनीय अथवा प्रच्छन्न रूप से अंतर्राष्ट्रीय वार्ताओं अथवा संधिवार्ताओं का संचालन करने की कला अथवा पद्धति इस गुप्त कला अथवा पद्धति के अंतर्गत संबद्ध राज्यों द्वारा विभिन्न प्रकार की छलपूर्ण अथवा कपटपूर्ण प्रक्रियाओं, युक्तियों एवं कार्यपद्धतियों का प्रयोग भी किया जाता है। प्रथम महायुद्ध के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति वुडरो विल्सन के चौदह सूत्रों में एक यह भी था कि भविष्य में किसी प्रकार के गुप्त समझौते नहीं किए जाएँगे। अतः राष्ट्रसंघ और संयुक्त राष्ट्र संघ दोनों के विधानों में यह प्रावधान किया गया कि अंतर्राष्ट्रीय संधियों और समझौतों का संघ के सचिवालय में पंजीकरण कराना होगा।
  • Secret emissary -- गुप्त प्रणिधि, गुप्त दूत
किसी एक राज्य द्वारा किसी अन्य राज्य में गुप्त अथवा अज्ञात रूप से भेजा गया दूत।
  • Sectionalism -- वर्गवाद
वह प्रवृत्ति जिसके अंतर्गत राषट्रीय हित की परवाह न करते हुए समाज के किसी वर्ग अथवा खंड विशेष की स्वार्थपूर्ति के लिए अनेक प्रकार की युक्तियाँ अपनाई जाएँ।
  • Secularism -- पंथ निरपेक्षता
आधुनिक अवधारणा के रूप में पंथ निरपेक्षता का प्रादुर्भाव पश्चिमी राजदर्शन में हुआ। इसके अनुसार धर्म का राजनीति से कोई सरोकार नहीं होना चाहिए और राज व्यवस्था में इस विचार का महत्व नहीं होना चाहिए कि किसी व्यक्ति का धर्म क्या है। मानवीय मामलों में नियामक तत्व विवेक जनित ज्ञान होना चाहिए, न कि धार्मिक विश्वास। अनेक आधुनिक लोकतांत्रिक देशों में इस आदर्श को अपनाया गया है। परंतु विभिन्न देशों में इसके विभिन्न रूप पाए जाते हैं। अतः यह पद एक विवादास्पद पद बन गया है। उन्नीसवीं शताब्दी ने पंथ निरपेक्षता में सब प्रकार की संकीर्णताओं के विरुद्ध सर्वदेशीय अथवा विश्वव्यापी भ्रातृत्व भावना को प्रोत्साहन दिया। भारत में अनेक लोग पंथनिरपेक्षता को “सर्व धर्म समभाव” के अर्थ में प्रयोग करते हैं जिससे अभिप्राय है कि राज्य का प्रत्येक धर्मावलंबी पंथ के प्रति समान भाव होना चाहिए और उसके द्वारा इन पंथों में किसी प्रकार का भेदभाव नहीं किया जाना चाहिए। इस विचारधारा के अनुसार राज्य का धर्म के मामलों में तटस्थ होना आवश्यक नहीं।
  • Security pact -- सुरक्षा अनुबंध
दो या अधिक राज्यों के बीच ऐसी अंतर्राष्ट्रीय संधि (या समझौता) जो उन राज्यों पर किसी शत्रु राज्य द्वारा सशस्त्र आक्रमण किए जाने की स्थिति में, उन राज्यों को एक-दूसरे को सैनिक एवं अन्य प्रकार की सहायता प्रदान करने के लिए वचनबद्ध करती है।
  • Sedition -- राजद्रोह
विधिवत स्थापित सत्ता के विरुद्ध इस प्रकार के लेखन, भाषण एवं अन्य कार्य जिनका उद्देश्य अवैध उपायों से उस सत्ता को विस्थापित करना हो अथवा उसके विरुद्ध विद्रोह, विप्लव, अशांति अथवा असंतोष उत्पन्न करना हो।
  • See saw policy -- डाँवाडोल नीति
किसी राज्य अथवा उसकी सरकार की ऐसी नीति जिसमें स्थिरता, सुदृढ़ता, संकल्प एवं निरंतरता का अभाव हो।
  • Select committee -- प्रवर समिति
किसी विशेष विषय अथवा विधेयक पर विस्तारपूर्वक विचार करने के लिए नियुक्त की गई संसदीय समिति। भारत की लोक सभा में इसका गठन स्पीकर द्वारा किया जाता है और इसमें सदन के सभी प्रमुख राजनीतिक दलों का प्रतिनिधित्व होता है। कभी-कभी दोनों सदनों की संयुक्त प्रवर समिति का गठन भी किया जाता है।
  • Self government -- स्वशासन
नागरिकों द्वारा निर्वाचित संस्थाओं के माध्यम से शासन संचालन।
  • Separatist movement -- पृथकतावादी आंदोलन, अलगाववादी आंदोलन
ऐसा आंदोलन या कार्यक्रम जिसका लक्ष्य मूल संगठन अथवा राज्य अथवा इकाई से अलग होकर एक स्वतंत्र सत्ता अथवा संगठन स्थापित करना हो।
  • Sessional committee -- सत्रीय समिति
ऐसी समिति जिसका अस्तित्व सदन के किसी सत्र विशेष तक ही सीमित रहता है। सदन के सत्र की समाप्ति के साथ ही उसका भी अंत हो जाता है।
  • Sine die -- अनिश्चित काल तक
अनियत काल के लिए अथवा बिना कोई अगली तिथि निर्धारित किए हुए (जैसे, संसद का अनिश्चित काल तक स्थगन)।
  • Single member constituency -- एक सदस्यीय निर्वाचन-क्षेत्र
वह निर्वाचन-क्षेत्र जहाँ से विधान मंडल के लिए केवल एक प्रतिनिधि निर्वाचित किया जाता है। यदि उत्तर प्रदेश की विधान सभा की सदस्य संख्या 430 है तो उत्तर प्रदेश को 430 एक सदस्यीय निर्वाचन-क्षेत्रों में बाँट दिया जाएगा और प्रत्येक क्षेत्र से एक-एक प्रतिनिधि निर्वाचित किया जाएगा। एक सदस्यीय निर्वाचन-क्षेत्र में जिस प्रत्याशी को निर्वाचन में सबसे अधिक मत मिलते है, वह निर्वाचित घोषित कर दिया जाता है।
  • Single transferable vote system (= Hare system) -- एकल हस्तांतरणीय मतदान
पद्धति वह प्रणाली जिसके अनुसार बहु सदस्यीय निर्वाचन क्षेत्रों में प्रतिनिधियों का निर्वाचन आनुपातिक प्रणाली से होता है। एक निर्वाचन-क्षेत्र के सभी प्रत्याशियों के नाम एक मतपत्र पर लिखे होते हैं। प्रत्येक मतदाता के पास प्रत्याशियों की संख्या के बराबर ही मत होते हैं। वह अपने मत एक, दो या अधिक प्रत्याशियों को डाल सकता है परन्तु यह आवश्यक है कि वह प्रत्याशियों के नामों के आगे 1, 2, 3, 4 लिखकर अपनी वरीयता प्रकट करे। वह जिस प्रत्याशी के नाम के आगे “1” लिखता है, उसे उसकी पहली पसंद का मत मिलता है। जिस प्रत्याशी के नाम के आगे वह “2” लिखता है उसे उसकी दूसरी पसंद का मत मिलता है और इसी प्रकार क्रम चलता रहता है। यदि कोई प्रत्याशी मतों का एक निश्चित कोटा प्राप्त कर लेता है तो वह निर्वाचित मान लि