शंकव्य

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

शंकव्य संज्ञा पुं॰ [सं॰ शङ्कव्य]

१. वह वस्तु जो शंकु या कील के योग्य हो । जैसे, काष्ठ आदि ।

२. वह जिसके संबंध में शंका या संदेह किया जा सके [को॰] ।