शकट

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

शकट संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. छकड़ा । बैलगाड़ी ।

२. भार । बोझ ।

३. शकटासुर नामक दैत्य जिसे कृष्ण ने मारा था ।

४. तिनिश वृक्ष ।

५. धव का वृक्ष । धौ ।

६. शरीर । देह ।

७. दो हजार पल की तौल ।

८. रोहिणी नक्षत्र, जिसकी आकृति शकट या छकड़े के समान है ।

९. शकट के आकार का सैनिक व्यूह । दे॰ 'शकट व्यूह' (को॰) ।

१०. एक गाड़ी भार । बौझ जो दो हजार पल के बराबर होता है (को॰) ।

११. अन्न सिद्ध करने का एक उपकरण (को॰) ।