शहर

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

संज्ञा[सम्पादन]

पु. स्थान वाचक

अनुवाद[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

शहर संज्ञा पुं॰ [फ़ा॰ शहर, शह्ल] मनुष्यों की वह बड़ी बस्ती जो कस्बे से बहुत बड़ी हो, जहाँ हर पेशो के लोग रहते हों और जिसमें अधिकतर पक्के मकान हों । उ॰—रघुराज गरीब नवाज दोऊ अवलोकन काज चले शहरै ।—रघुराज (शब्द॰) । मुहा॰—शहर की दाई = सबके घर का हाल चाल जानने या रखनेवाली स्त्री ।

यह भी देखिए[सम्पादन]