सँजोना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

सँजोना † क्रि॰ स॰ [सं॰ सज्जा अथवा सं॰ संयोजना]

१. सज्जित करना । अलंकृत करना । सजाना । उ॰—(क) कुल हमरे में होइ, यातें पाछें कौन जो । विधिवत कव्य सँजोइ, नित्त हमें तर्पित करे ।—लक्ष्मणसिंह (शब्द॰) । (ख) हे प्रेयंवदा, तू जा पैरों पर पड़कर जैसे बने इसे मना ला तबतक मैं अर्घ, जल सँजोती हूँ ।—लक्ष्मणसिंह (शब्द॰) ।

२. एकत्र करना । संचित करना ।

३. पूरा करना ।

४. सँभालना ।