संक्षेप

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

संज्ञा

  1. लेख आदि का काट-छांटकर छोटा किया हुआ रूप, सार।

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

संक्षेप संक्षा पुं॰ [सं॰ सङ्क्षेप]

१. थोड़े में कोई बात कहना ।

२. संकोचन । घटाना । कम करना ।

३. समाहार । संग्रह । समास ।

४. चुंबक ।

५. एक साथ फेंकना ।

६. प्रेषण । भेजना (को॰) ।

७. संक्षिप्त करने का साधन (को॰) ।

८. अपहरण । ले लना (को॰) ।

९. किसी दूसरे व्यक्ति के कार्य में सहायता पहुँचाना (को॰) ।

१०. संहार (को॰) ।