संगजराहत

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

संगजराहत संज्ञा पुं॰ [फ़ा संग + अ॰ जराहत] एक प्रकार का सफेद चिकना पत्थर जो घाव भरने के लिये बहुत उपयोगी होता है । विशेष—इसे पीसकर बारीक चूर्ण बनाते हैं जिसे 'गच' कहते हैं और जो साँचा बनाने के काम में भी आता है । इसका गुण यह है कि पानी के साथ मिलने पर यह फूलता है और सूखने पर कड़ा हो जाता है । इसलिये इससे मूर्तियाँ आदि भी बनाते हैं । इसे कुलगार, कारसी, सफेद सुरमा या सिल- खड़ी भी कहते हैं ।