संबल

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

संबल संज्ञा पुं॰ [सं॰ सम्बल]

१. शाल्मली । सेमल का वृक्ष ।

२. रास्ते का भोजन । सफर खर्च ।

३. गेहूँ की फसल का एक रोग जो पूरब की हवा अधिक चलने से होता है ।

४. सेतु । बाँध (को॰) ।

५. संखिया । आखु पाषाण । सोमलक्षार । शेष अर्थ के लिये दे॰ 'शंवर' और 'शंबल' ।