सरेस

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

सरेस ^१ संज्ञा पुं॰ [फ़ा॰ सरेश] एक लसदार वस्तु जो ऊट, गाय, भैस, आदि से चमड़े या मधली के पोटे को पकाकर निकालते हैं । सहरेस । सरेश । विशेष— यह कागज, कपड़े, चमड़े आदि को आपस में जोड़ने या चिपकाने के काम आता है । जिल्दबंदी में इसका व्यवहार बहुत होता है ।

सरेस ^२ वि॰ चिपकनेवाला । लसीला ।