सवार

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

सवार ^१ संज्ञा पुं॰ [फ़ा॰]

१. वह जो घोड़े पर चढ़ा हो । अश्वारोही ।

२. अश्वारोही सैनिक । रिसाले का सिपाही ।

३. वह जो किसी चीज, हाथी, घोड़ा, ऊँट यान आदि पर चढ़ा हो ।

४. घुड़सवार सिपही ।

सवार ^२ वि॰

१. किसी चीज पर चढ़ा या बैठा हूआ । जैसे,— वे गाड़ी पर सवार होकर घूमने निकलते हैं ।

२. नशे में मस्त या मतवाला ।

सवार पुं ^३ संज्ञा पुं॰ [हि॰]

१. प्रभात । सुबह । भोर ।

२. शीघ्र ।