साफी

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

साफी संज्ञा स्त्री॰ [अ॰ साफ़ी]

१. हाथ में रखने का रूमाल । दस्ती ।

२. वह कपड़ा जो गाँजा पीनेवाले चिलम के नीचे लपेटते हैं ।

३. भाँग छानने का कपड़ा । छनना । उ॰—साफी छानै सूरति अमल हरि नाम का ।—पलटू॰, भा॰ २, पृ॰ ९४ ।

४. एक प्रकार का रंदा जो लकड़ी को बिलकुल साफ कर देता है ।

५. वह कपड़ा जिससे चूल्हे पर से कड़ाही आदि उतारी जाय ।