सुनना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

क्रिया

अनुवाद


प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

सुनना क्रि॰ स॰ [सं॰ श्रवण तुल॰ प्रा॰ सुनोतिं]

१. श्रवणोंद्रिय के द्वारा शब्द का ज्ञान प्राप्त करना । कानों के द्वारा उनका विषय ग्रहण करना । श्रवण करना । जैसे,—फिर आवाज दो, उन्होंने सुना नहोगा । संयो॰ क्रि॰—पड़ना ।—रखना । मुहा॰—सुनी अनसुनी कर देना=कोई बात सुनकर भी उसपर ध्यान न देना । किसी बात को टाल जाना । सुनी सुनाई= जिसे केवल सुनकर जाना गया हो, प्रत्यक्ष देखा न गया हो । जैसे, सुनी सुनाई बात ।

२. किसी के कथन पर ध्यान देना । किसी की उक्ति पर ध्यान- पूर्वक विचार करना । कान देना जैसे,—कथा सुनना, पाठ सुनना, मुकदमा सुनना ।

३. भली बुरी या उलटी सोधी बातें श्रवण करना । जैसे,—(क) मालूम होता है, तुम भी कुछ सुनना चाहते हो । (ख) जो एक कहेगा, वह चार सुनेगा ।