सुरासार

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

सुरासार संज्ञा पुं॰ [सं॰] मद्य का सार जो अंगुर या माड़ी के खमीर से बनता है । इसके बिना शराब नहीं बनती । इसी में नशा होता है ।