स्तन

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

स्तन संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. स्त्रियों के वक्ष पर उभरनेवाला विशेष अंग । कुच ।

२. मादा पशुओं का थन या छाती जिसमें दूध रहता है । जैसे,—गौ का स्तन ।

३. कुच का अग्रभाग । चूचुक । स्तन की घुंडी (को॰) । मुहा॰—स्तन पिलाना = स्तन मुँह में लगाकर उसका दूध पिलाना । स्तन पीना = स्तन मुँह में लगाकर उसका दूध पीना ।