स्त्री

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

संज्ञा

स्त्री.

अनुवाद

औरत

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

स्त्री ^१ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰]

१. नारी । औरत । जैसे,—लज्जाशीलता स्त्री जाति का आभुषण है ।

२. पत्नी । जोरू । जैसे,—वह अपनी स्त्री और बाल बच्चों के साथ आया है ।

३. मादा । जैसे,—स्त्री पशु ।

४. सफेद च्यूँटी ।

५. प्रियंगु लता ।

६. एक वृत्त का नाम जिसमें दो गुरु होते हैं । उसका दूसरा नाम 'कामा' है । उ॰— गंगा धावो कामा पावो ।

७. व्याकरण में स्त्रीलिंग या स्त्रीलिंग- बोधक कोई शब्द (को॰) ।

स्त्री ^२ संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ स्तरी] दे॰ 'इस्तिरी' ।

यह भी देखिए